Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

13 November 2021

आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत संस्कृति मंत्रालय अखिल भारतीय नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन करेगा

संस्कृति मंत्रालय आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में एक अखिल भारतीय नृत्य प्रतियोगिता ‘वंदे भारतम्-नृत्य उत्सव’ आयोजित करेगा। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य उन नर्तकों का चयन करना है, जो 2022 के गणतंत्र दिवस परेड में सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान नृत्य प्रस्तुत करेंगे। नृत्य का अंतिम प्रदर्शन 26 जनवरी, 2022 को राजपथ पर इंडिया गेट पर होगा। संस्कृति राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने बताया कि राष्ट्रीय स्तर की अंतिम प्रतियोगिता अगले महीने की 19 तारीख को नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसमें भाग लेने वाले कलाकार शास्त्रीय, लोक, जनजातीय और फ्यूजन या समकालीन नृत्‍य कला का प्रदर्शन कर सकते हैं। इस दौरान श्रीमती लेखी ने आजादी का अमृत महोत्सव एप का भी शुभारंभ किया।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने भारतीय रिज़र्व बैंक की उपभोक्‍ता संबंधी दो नवाचार योजनाओं का शुभारंभ किया

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने भारतीय रिजर्व बैंक की दो नई उपभोक्‍ता केंद्रित पहल का वर्चुअल माध्‍यम से शुभारंभ किया। ये योजनाएं हैं--खुदरा प्रत्यक्ष योजना और रिजर्व बैंक-एकीकृत लोकपाल योजना। आरबीआई खुदरा प्रत्यक्ष योजना का उद्देश्य, खुदरा निवेशकों के लिए सरकारी प्रतिभूति बाजार तक पहुंच बढ़ाना है। यह उन्हें केन्‍द्र और राज्य सरकारों द्वारा जारी प्रतिभूतियों में सीधे निवेश का अवसर प्रदान करती है। निवेशक आसानी से आरबीआई के साथ अपना सरकारी प्रतिभूति खाता मुफ्त में ऑनलाइन खोल सकेंगे । रिज़र्व बैंक - एकीकृत लोकपाल योजना का उद्देश्य रिज़र्व बैंक द्वारा विनियमित संस्थाओं के बारे में ग्राहकों की शिकायतों के समाधान के लिए शिकायत निवारण तंत्र में और सुधार करना है। ग्राहकों की शिकायत दर्ज कराने की यह योजना एक पोर्टल, एक ईमेल और एक पते के साथ एक राष्ट्र-एक लोकपाल पर आधारित है। बहुभाषी टोल-फ्री नंबर पर शिकायत निवारण और शिकायत दर्ज करने में सहायता के बारे में सभी प्रासंगिक जानकारी प्राप्‍त की जा सकेगी।

दिल्ली में एंटी-ओपन बर्निंग कैंपेन

दिल्ली सरकार ने हाल ही में प्रदेश में खुले में अपशिष्ट जलाने और वायु प्रदूषण की घटनाओं पर अंकुश लगाने हेतु 11 नवंबर से 11 दिसंबर, 2021 तक दिल्ली में ‘एंटी-ओपन बर्निंग कैंपेन’ शुरू करने की घोषणा की। यह घोषणा दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) के 'खतरनाक' स्तर पर पहुँचने के बाद की गई। ज्ञात हो कि बीते दिनों दीपावली के अवसर पर राजधानी में ‘वायु गुणवत्ता सूचकांक’ 503 के गंभीर स्तर पर पहुँच गया था। दिल्ली में वायु प्रदूषण के मुद्दे पर एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद दिल्ली सरकार द्वारा इस अभियान को शुरू करने का निर्णय लिया गया। इस अभियान के हिस्से के रूप में दिल्ली सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा ऐसे स्थानों की पहचान की जाएगी, जहाँ खुले में अपशिष्ट जलाने संबंधी घटनाएँ होती हैं और साथ ही इन घटनाओं को रोकने का भी प्रयास किया जाएगा। दिल्ली सरकार ने अपने सभी विभागों को एक विशिष्ट ‘एंटी डस्ट सेल’ बनाने का भी निर्देश दिया है। साथ ही सरकार द्वारा ‘ग्रीन दिल्ली एप’ भी शुरू किया जाएगा, जो कि आम लोगों को खुले में अपशिष्ट जलाने की किसी भी घटना की रिपोर्ट करने की सुविधा प्रदान करेगा, ताकि संबंधित टीम द्वारा तत्काल कार्रवाई की जा सके।

मिस्र अगले साल COP27 जलवायु शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा

ग्लासगो में COP26 सम्मेलन के दौरान, यह निर्णय लिया गया कि मिस्र 2022 में COP27 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन की मेजबानी करेगा। मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सीसी ने सितंबर में अफ्रीकी महाद्वीप की ओर से COP27 की मेजबानी करने में मिस्र की रुचि दिखाने के बाद यह निर्णय लिया था। इसके अलावा, संयुक्त अरब अमीरात (UAE) को वर्ष 2023 में COP28 अंतर्राष्ट्रीय जलवायु सम्मेलन की मेजबानी के लिए चुना गया था। जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (UNFCCC) पर 1992 में पर्यावरण और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन में हस्ताक्षर किए गए थे। पर्यावरण और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन को रियो शिखर सम्मेलन, रियो सम्मेलन या पृथ्वी शिखर सम्मेलन के रूप में भी जाना जाता है। भारत उन कुछ देशों में शामिल है, जिन्होंने जलवायु परिवर्तन, जैव विविधता और भूमि पर तीनों रियो सम्मेलनों के COP की मेजबानी की है। UNFCCC को 21 मार्च , 1994 को लागू किया गया था। अब तक 197 देशों ने इसकी पुष्टि की है। UNFCCC 2015 पेरिस समझौते के साथ-साथ 1997 क्योटो प्रोटोकॉल की मूल संधि है। UNFCCC सचिवालय एक संयुक्त राष्ट्र इकाई है जिसे जलवायु परिवर्तन के खतरे के लिए वैश्विक प्रतिक्रिया का समर्थन करने का काम सौंपा गया है। इसका मुख्यालय बॉन, जर्मनी में है।

नायका की फाल्गुनी नायर बनी भारत की सबसे अमीर स्व-निर्मित महिला अरबपति

ब्यूटी और फैशन ईकामर्स प्लेटफॉर्म नायका (Nykaa) की सीईओ और संस्थापक फाल्गुनी नायर (Falguni Nayar) भारत की सबसे अमीर सेल्फ मेड महिला बन गई हैं। उन्होंने साल 2012 में Nykaa की स्थापना की थी। Nykaa में उनकी 53.5% हिस्सेदारी है और उनकी कुल संपत्ति 7.48 बिलियन अमरीकी डॉलर है। यह FSN ई-कॉमर्स वेंचर्स के IPO के बाद आया है जो Nykaa की मूल इकाई है। यह स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होने वाली पहली महिला-नेतृत्व वाली गेंडा भी है। FSN ई-कॉमर्स वेंचर्स (Nykaa) के IPO का इश्यू साइज 5,351.92 करोड़ रुपये था, जिसका अंकित मूल्य 1 रुपये प्रति शेयर था।

यू.एन.एच.सी.आर. ने कहा--इस वर्ष वैश्विक स्तर पर जबरन विस्थापित किए गए लोगों की संख्या आठ करोड़ से अधिक

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी-यू.एन.एच.सी.आर. ने कहा है कि इस वर्ष वैश्विक स्तर पर जबरन विस्थापित किए गए लोगों की संख्या आठ करोड़ 40 लाख से अधिक हो गई है। विस्थापन का कारण हिंसा, असुरक्षा और जलवायु परिवर्तन के कारक शामिल है। एजेंसी की अर्धवार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि बडे पैमाने पर आंतरिक विस्थापन में वृद्धि हुई है। कोविड के कारण सीमा प्रतिबंधों के बावजूद विशेष रूप से अफ्रीका सहित दुनिया भर में लोग पलायन कर रहे हैं। शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त फिलिपो ग्रांदी ने कहा कि संघर्ष, कोविड, गरीबी, खाद्य असुरक्षा और जलवायु परिवर्तन ने विस्थापितों की मानवीय दुर्दशा को बढ़ा दिया है।

शी जिनपिंग का अगले वर्ष से देश के नेता के रूप में तीसरे कार्यकाल का रास्ता साफ

चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने देश के राजनीतिक इतिहास में राष्ट्रपति शी जिनपिंग के कद को मजबूत करने वाला असाधारण प्रस्ताव पारित किया है। इससे शी जिनपिंग का अगले वर्ष से देश के नेता के रूप में तीसरे कार्यकाल का रास्ता साफ हो गया है। छठे पूर्ण सत्र के रूप में जानी जाने वाली वार्षिक राजनीतिक बैठक के समापन अवसर पर यह निर्णय लिया गया। शी जिनपिंग 1945 में माओत्से तुंग और 1981 में देंग शियाओपिंग के बाद अपने राष्ट्रपति पद के दौरान ऐतिहासिक प्रस्ताव पारित करने वाले तीसरे नेता हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और रसायन एवं उर्वरक मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने लखनऊ में 32वें हुनर हाट का उद्घाटन किया

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और रसायन एवं उर्वरक मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने लखनऊ में देश की पारंपरिक कला और शिल्प को बढ़ावा देने तथा संरक्षित करने के लिए “हुनर हाट”, “परफेक्ट प्लेटफॉर्म” के 32 वें संस्करण का उद्घाटन किया। लखनऊ में "हुनर हाट" में 30 से अधिक राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के 600 से अधिक कारीगर और शिल्पकार भाग ले रहे हैं। "हुनर हाट" में देश के विभिन्न हिस्सों के पारंपरिक खाद्य पदार्थ भी उपलब्ध हैं। हुनर हाट में "विश्वकर्मा वाटिका" के अलावा, "सर्कस" भी दिखाया जाएगा, जहां भारतीय सर्कस कलाकार शानदार विविध पारंपरिक मनोरंजन शो करेंगे।

भारतीय खगोलविदों ने सौर-मंडल से बाहर के ग्रहों को सटीक रूप से समझने के लिए कार्यप्रणाली विकसित की

भारतीय खगोलविदों ने एक ऐसी कार्य प्रणाली विकसित की है जो पृथ्वी के वायुमंडल से हो रहे संदूषण और उपकरणीय प्रभावों तथा अन्य कारकों के कारण होने वाली गड़बड़ी को कम करके हमारे सौर-मंडल से बाहर के ग्रहों (एक्सोप्लैनेट्) से मिलने वाले डेटा की सटीकता को बढ़ा सकता है। इस प्रणाली को क्रिटिकल नॉइज़ ट्रीटमेंट एल्गोरिथम कहा जाता है और यह बेहतर सटीकता के साथ एक्सोप्लैनेट्स के पर्यावरण का अध्ययन करने में मदद कर सकती है। अत्यधिक सटीकता के साथ हमारे सौर-मंडल से बाहर के ग्रहों (एक्सोप्लैनेट्स) के भौतिक गुणों की समझ उन ग्रहों का पता लगाने में मदद कर सकती है जो पृथ्वी के समान हो सकते हैं और इसलिए भविष्य में रहने योग्य हो सकते हैं। इस उद्देश्य के साथ ही भारतीय खगोल भौतिकी संस्थान, बैंगलोर में खगोलविदों का एक समूह भारत में उपलब्ध भू-सतह पर आधारित ऑप्टिकल दूरबीनों और अंतरिक्ष दूरबीन "ट्रांजिटिंग एक्सोप्लैनेट सर्वे सैटेलाइट" या टीईएसएस द्वारा प्राप्त आंकड़ों का उपयोग कर रहा है।

जलवायु परिवर्तन हेतु अमेरिका-चीन समझौता

कार्बन डाइऑक्साइड के दुनिया के दो सबसे बड़े उत्सर्जक चीन और संयुक्त राज्य अमेरिका ने जलवायु परिवर्तन से निपटने हेतु सहयोग बढ़ाने के लिये एक समझौता किया है, जिसमें मीथेन उत्सर्जन को कम करना, जंगलों की रक्षा करना और कोयले का उपयोग चरणबद्ध तरीके से समाप्त करना शामिल है। ग्लासगो में आयोजित ‘संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन’ (COP26) के दौरान इस समझौते की घोषणा की गई। दो सबसे बड़े कार्बन-प्रदूषणकर्त्ताओं ने कहा कि यह समझौता वर्ष 2015 के पेरिस जलवायु समझौते के दिशा-निर्देशों का उपयोग करते हुए ‘2020 के दशक में उन्नत जलवायु कार्रवाई’ पर ज़ोर देगा, जिसमें वर्ष 2025 में एक नया मज़बूत उत्सर्जन कटौती लक्ष्य भी शामिल है। यह समझौता डीकार्बोनाइज़ेशन में ‘ठोस और व्यावहारिक’ नियमों के निर्माण का भी आह्वान करता है, साथ ही इसमें मीथेन उत्सर्जन को कम करना और वनों की कटाई का मुकाबला करना भी शामिल है। गौरतलब है कि वर्ष 2015 का समझौता सभी देशों को व्यापक उत्सर्जन कटौती के माध्यम से वैश्विक तापमान वृद्धि को 1.5oC और 2oC के बीच सीमित करने की दिशा में काम करने हेतु प्रतिबद्ध करता है।

‘Mentorship Programme for Young Innovators’ लॉन्च किया गया

केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने 8 नवंबर, 2021 को पहली बार मेंटरशिप प्रोग्राम की शुरुआत की। भारत की स्वतंत्रता के 75वें वर्ष को चिह्नित करने के लिए यंग इनोवेटर्स के लिए मेंटरशिप प्रोग्राम शुरू किया गया। यह परामर्श कार्यक्रम भारत में वैज्ञानिक अनुसंधान और नवाचार प्रयासों को मजबूत करके जनता के बीच वैज्ञानिक सोच को बढ़ावा देने में मदद करेगा। यह कार्यक्रम एक अखिल भारतीय योजना है, जिसमें जैव प्रौद्योगिकी विभाग (Department of Biotechnology – DBT) द्वारा समर्थित हर जिले में स्टार कॉलेज की परिकल्पना की गई है। DBT-स्टार कॉलेज मेंटरशिप प्रोग्राम नेटवर्किंग, आउटरीच और हैंड होल्डिंग की अवधारणा की दिशा में मदद करेगा। यह कार्यशालाओं का आयोजन, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में कॉलेजों में हैंडहोल्ड, प्रति माह बैठकें और सरकारी स्कूलों में आउटरीच गतिविधियों का संचालन करेगा। स्टार स्टेटस कॉलेज नए कॉलेजों को हैंड-होल्डिंग और पीयर लर्निंग के माध्यम से सलाह देकर UG विज्ञान पाठ्यक्रमों को मजबूत करने के लिए डीबीटी के दृष्टिकोण को शामिल करने में मदद करेंगे। यह इन कॉलेजों को स्टार कॉलेज योजना के तहत लाएगा।

शिरडी हवाईअड्डे को प्रमुख हवाईअड्डा घोषित किया गया

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 10 नवंबर, 2021 को हवाईअड्डा आर्थिक नियामक प्राधिकरण अधिनियम, 2008 के तहत शिरडी हवाई अड्डे को एक प्रमुख हवाई अड्डा घोषित किया। 2008 अधिनियम की धारा 2 की उप-धारा (i) द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करके अनुमोदन दिया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 2 अक्टूबर, 2017 को शिरडी हवाई अड्डे का उद्घाटन किया था। यह हवाई अड्डा कम समय में बहुत लोकप्रिय हो गया क्योंकि यह साईं नगर जाने का एक बढ़िया विकल्प था। इस एयरपोर्ट पर सिर्फ तीन साल में 9 लाख से ज्यादा यात्रियों ने एयरलाइन सेवाओं का लाभ उठाया है। शिरडी हवाई अड्डा चेन्नई, बैंगलोर, मुंबई, हैदराबाद, दिल्ली और कई अन्य राज्यों के हवाई अड्डों पर सेवाएं प्रदान करता है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने शिरडी हवाई अड्डे को एक प्रमुख हवाई अड्डा घोषित किया है। इस घोषणा के साथ, हवाईअड्डा आर्थिक नियामक प्राधिकरण (Airports Economic Regulatory Authority – AERA) अब इस हवाई अड्डे पर वैमानिकी सेवाओं के लिए शुल्क निर्धारित करेगा।

CNG, LNG और 98 अन्य उन्नत तकनीकें ऑटो PLI योजना के तहत शामिल की गईं

केंद्र सरकार ने ऑटोमोबाइल के लिए प्रोडक्शन-लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) योजना के तहत कंप्रेस्ड नेचुरल गैस (CNG) और लिक्विड नेचुरल गैस (LNG) जैसी वैकल्पिक ईंधन प्रणालियों सहित 100 से अधिक उन्नत तकनीकों को जोड़ा। अब यह योजना सुरक्षा के लिए भारत स्टेज VI के अनुरूप फ्लेक्स ईंधन इंजन, उन्नत ड्राइवर सहायता प्रणाली, ई-क्वाड्रिसाइकिल और इलेक्ट्रॉनिक नियंत्रण इकाइयों (ECU) को भी कवर करेगी। इस कदम से पहले, सरकार ने केवल दोपहिया और चार पहिया वाहनों को PLI योजना के तहत शामिल किया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सितंबर 2021 में 25,938 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ ऑटोमोबाइल के लिए PLI योजना को मंजूरी दी थी। इस योजना का उद्देश्य उच्च मूल्य वाले उन्नत ऑटोमोटिव प्रौद्योगिकी वाहनों, सनरूफ, टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, स्वचालित ब्रेकिंग और उत्पादों जैसे उत्पादों को प्रोत्साहित करना है। इसका उद्देश्य हाइड्रोजन और इलेक्ट्रिक ईंधन सेल वाहनों सहित ऑटोमोबाइल क्षेत्र में विनिर्माण क्षमता को बढ़ावा देना है।

सेला सुरंग” नामक दुनिया की सबसे लंबी द्वि-लेन सड़क सुरंग

प्रोजेक्ट वर्तक (Project Vartak) के तहत सीमा सड़क संगठन (BRO) द्वारा बालीपारा-चारदुआर-तवांग (Balipara-Charduar-Tawang – BCT) सड़क पर “सेला सुरंग” नामक दुनिया की सबसे लंबी द्वि-लेन सड़क सुरंग का निर्माण किया जा रहा है। सेला सुरंग का निर्माण भारत-चीन सीमा के पास 13,800 फीट की ऊंचाई पर किया जा रहा है। इसका निर्माण 317 किमी लंबी BCT रोड पर किया जा रहा है। BCT सड़क अरुणाचल प्रदेश के पूर्वी कामेंग, पश्चिम कामेंग और तवांग जिलों को शेष भारत से जोड़ती है। इसे असम में गुवाहाटी और अरुणाचल प्रदेश के तवांग के बीच हर मौसम में संपर्क प्रदान करने के लिए बनाया जा रहा है। सुरंग वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के साथ विभिन्न स्थानों पर सैनिकों और हथियारों की बेहतर आवाजाही सुनिश्चित करेगी।

IRCTC ने श्री रामायण यात्रा स्पेशल ट्रेन शुरू की

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) ने 7 नवंबर, 2021 को श्री रामायण यात्रा स्पेशल ट्रेन शुरू की। यह ट्रेन केंद्र सरकार की धार्मिक पर्यटन और ‘देखो अपना देश’ पहल को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है। IRCTC ने पहले 17 दिवसीय दौरे की शुरुआत नई दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से की। श्री रामायण यात्रा एक्सप्रेस – मदुरै स्पेशल स्ट्रेन 13 रात/14 दिन की स्पेशल ट्रेन होगी। यह 16 नवंबर को रवाना होगी और 29 नवंबर को अपना दौरा पूरा करेगी। यह ट्रेन हम्पी – नासिक – चित्रकूट धाम – वाराणसी – गया – सीतामढ़ी – जनकपुर (नेपाल) – अयोध्या – नंदीग्राम – प्रयागराज – श्रृंगवेरपुर से होकर गुजरेगी। एक व्यक्ति के लिए यात्रा की लागत 14,490 रुपये होगी। बोर्डिंग पॉइंट हैं- मदुरै, डिंडीगुल, तंजावुर, तिरुचिरापल्ली, चिदंबरम, कुंभकोणम, मयिलादुथुराई जंक्शन, विल्लुपुरम जंक्शन, कुड्डालोर पोर्ट, दावणगेरे, चेन्नई एग्मोर, काटपाडी जंक्शन, जोलारपेट्टई जंक्शन, यशवंतपुर, अर्सिकेरे जंक्शन और हुबली, गडग।

LMDC देशों ने जलवायु वित्त में धनी देशों से प्रति वर्ष लगभग 1.3 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर मांगे

हाल ही में चीन, भारत और अफ्रीकी देशों जैसे अधिकांश विकासशील देशों ने जलवायु वित्त में धनी देशों से प्रति वर्ष लगभग 1.3 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर मांगे हैं। 24 देशों के समूह, खुद को Like Minded Developing Countries (LMDCs) कहते हैं, और अफ्रीका के देशों ने वित्त प्रवाह को बढ़ाने के प्रस्ताव में इस मांग को आगे रखा है। भारत चीन, इंडोनेशिया, ईरान, मलेशिया, श्रीलंका, बांग्लादेश और फिलीपींस जैसे देशों के साथ LMDC समूह का हिस्सा है। LMDC विकासशील देशों का एक समूह है, जो संयुक्त राष्ट्र और विश्व व्यापार संगठन जैसे अंतर्राष्ट्रीय संगठनों में एक ब्लॉक वार्ताकार के रूप में संगठित है। LMDC दुनिया की लगभग 50% आबादी का प्रतिनिधित्व करता है। समान विचारधारा वाले समूह के सदस्य देशों में बांग्लादेश, अल्जीरिया, भूटान, बेलारूस, क्यूबा, ​​चीन, भारत, मिस्र, ईरान, इंडोनेशिया, मलेशिया, नेपाल, म्यांमार, श्रीलंका, पाकिस्तान, फिलीपींस, सीरिया, सूडान, वियतनाम और जिम्बाब्वे शामिल हैं।

चिली के राष्ट्रपति पर महाभियोग चलाया गया

चिली के राष्ट्रपति सेबेस्टियन पिनेरा (Sebastian Pinera) पर पेंडोरा पेपर्स (Pandora Papers) के आरोपों के कारण 9 नवंबर, 2021 को चिली के कांग्रेस के निचले सदन द्वारा महाभियोग चलाया गया। इस महाभियोग ने चिली की सीनेट में एक मुकद्दमा चलाया गया कि क्या उन्हें पद से हटाया जाए क्योंकि उन्होंने पद पर रहते हुए पारिवारिक संपत्ति की बिक्री का समर्थन किया था। 155 सदस्यीय चैंबर ऑफ डेप्युटी के पक्ष में ट्रायल को न्यूनतम 78 वोट मिले। विपक्ष के सदस्यों सहित 67 विधायकों ने संवैधानिक आरोपों के खिलाफ मतदान किया है। अन्य अनुपस्थित रहे। लीक हुए दस्तावेजों से पता चला है कि उनके एक बेटे ने डोमिंगा खनन परियोजना को बेचने के लिए ब्रिटिश वर्जिन द्वीप समूह में अपतटीय कंपनियों का इस्तेमाल किया, जो उनके परिवार के सह-स्वामित्व में है। जब मामले की जांच की जा रही थी, पिनेरा ने कंपनियों के प्रबंधन में शामिल होने और डोमिंगा के साथ अपने संबंध से इनकार किया।

स्पेसएक्स ने भारतीय मूल के अंतरिक्ष यात्री राजा चारी के नेतृत्व वाले क्रू 3 मिशन को लॉन्च किया

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा और एलोन मस्क के स्वामित्व वाली निजी रॉकेट कंपनी स्पेसएक्स (SpaceX) ने 10 नवंबर, 2021 को "क्रू 3 (Crew 3)" मिशन लॉन्च किया है। "क्रू 3" मिशन में भारतीय मूल के नासा के अंतरिक्ष यात्री राजा चारी (Raja Chari) इसके मिशन कमांडर के रूप में शामिल हैं। अन्य तीन अंतरिक्ष यात्री नासा के टॉम मार्शबर्न (Tom Marshburn) (पायलट); और कायला बैरन (Kayla Barron) (मिशन विशेषज्ञ); साथ ही ईएसए (यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी - European Space Agency) अंतरिक्ष यात्री मैथियस मौरर (Matthias Maurer) (मिशन विशेषज्ञ) हैं। इस मिशन के तहत चार अंतरिक्ष यात्रियों को अप्रैल 2022 तक छह महीने के विज्ञान मिशन के लिए अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (International Space Station - ISS) भेजा गया है। अंतरिक्ष यात्रियों के चार सदस्यीय अंतर्राष्ट्रीय दल ने फ्लोरिडा में नासा के कैनेडी स्पेस सेंटर के लॉन्च कॉम्प्लेक्स 39 ए से स्पेसएक्स क्रू ड्रैगन कैप्सूल जिसको एंड्योरेंस नाम दिया गया को फाल्कन 9 रॉकेट के जरिए लॉन्च किया गया।

विश्व निमोनिया दिवस : 12 नवंबर

जागरूकता बढ़ाने, रोकथाम और उपचार को बढ़ावा देने और बीमारी से निपटने की कार्रवाई करने के लिए हर साल 12 नवंबर को दुनिया भर में विश्व निमोनिया दिवस (World Pneumonia Day) मनाया जाता है। विश्व निमोनिया दिवस 2021 एक वार्षिक कार्यक्रम है जिसे पहली बार वर्ष 2009 में मनाया गया था। यह दिवस 12 नवंबर 2009 को ग्लोबल कोएलिशन अगेंस्ट चाइल्ड न्यूमोनिया (Global Coalition against Child Pneumonia) द्वारा मनाया गया था। तब से इसने दुनिया को बीमारी के खिलाफ एक साथ खड़े होने के लिए एक वार्षिक मंच प्रदान किया है। निमोनिया से संबंधित विभिन्न घटनाओं और गतिविधियों के माध्यम से पूरे विश्व में यह दिन मनाया जाता है।

लोक सेवा प्रसारण दिवस

प्रत्‍येक वर्ष 12 नवम्‍बर को लोक सेवा प्रसारण दिवस मनाया जाता है। वर्ष 1947 में 12 नवम्‍बर के दिन महात्‍मा गांधी एक बार आकाशवाणी भवन आये थे और इस स्‍मृति में प्रत्‍येक वर्ष बारह नवम्‍बर को यह दिवस मनाया जाता है। महात्‍मा गांधी ने नई दिल्‍ली के आकाशवाणी भवन से हरियाणा में कुरूक्षेत्र में अस्‍थायी शिविरों में रह रहे विस्‍थापितों को संबोधित किया था।

आचार्य कृपलानी

हाल ही में प्रधानमंत्री ने आचार्य कृपलानी को उनकी जयंती (11 नवंबर) पर श्रद्धांजलि दी। उनका जन्म 11 नवंबर,1888 को सिंध (हैदराबाद) में हुआ था। उनका मूल नाम जीवतराम भगवानदास कृपलानी था, लेकिन उन्हें आचार्य कृपलानी के नाम से जाना जाता था। वह एक स्वतंत्रता सेनानी, भारतीय राजनीतिज्ञ और शिक्षाविद् थे। वर्ष 1912 से 1927 तक उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन में पूरी तरह से शामिल होने से पूर्व विभिन्न स्थानों पर अध्यापन का कार्य किया। वर्ष 1922 के आसपास जब वे महात्मा गांधी द्वारा स्थापित गुजरात विद्यापीठ में अध्यापन कर रहे थे, तब उन्हें 'आचार्य' उपनाम प्राप्त हुआ। कृपलानी जी विनोबा भावे के साथ 1970 के दशक में पर्यावरण के संरक्षण एवं बचाव गतिविधियों में शामिल थे। वह असहयोग आंदोलन (1920-22) और सविनय अवज्ञा आंदोलनो (1930 में शुरू) और भारत छोड़ो आंदोलन (1942) का हिस्सा रहे। स्वतंत्रता के समय वे भारतीय राष्ट्रीय कॉन्ग्रेस (INC) के अध्यक्ष थे। उन्होंने भारत की अंतरिम सरकार (1946-1947) और भारत की संविधान सभा में योगदान दिया। आज़ादी के बाद कॉन्ग्रेस छोड़कर वह किसान मज़दूर प्रजा पार्टी (KMPP) के संस्थापकों में से एक बन गए। वह 1952, 1957, 1963 और 1967 में प्रजा सोशलिस्ट पार्टी के सदस्य के रूप में लोकसभा के लिये चुने गए। उन्होंने भारत-चीन युद्ध (1962) के तुरंत बाद वर्ष 1963 में लोकसभा में पहली बार अविश्वास प्रस्ताव पेश किया। वर्ष 1963 में एक कॉन्ग्रेसी नेता सुचेता कृपलानी, उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री बनीं, जो देश की प्रथम महिला मुख्यमंत्री थीं, जबकि उनके पति आचार्य कृपलानी कॉन्ग्रेस के विरोधी बने रहे। वह नेहरू की नीतियों और इंदिरा गांधी के शासन के आलोचक थे। उन्हें आपातकाल (1975) के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया था। उनकी आत्मकथा 'माई टाइम्स' (My Times) वर्ष 2004 में मरणोपरांत प्रकाशित हुई।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.