Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

4 December 2021

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वित्‍त प्रौद्योगिकी फिनटेक विचार शील नेतृत्‍व मंच इन्फिनिटी फोरम का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉफ्रेंस के माध्‍यम से वित्‍तीय प्रौद्योगिकी पर विचार नेतृत्‍व मंच-इन्फिनिटी फोरम का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम की मेजबानी गुजरात अंतरराष्‍ट्रीय वित्‍तीय प्रौद्योगिकी सिटी और ब्‍लूमबर्ग के सहयोग से अंतरराष्‍ट्रीय वित्‍तीय सेवा केन्‍द्र प्राधिकरण कर रहा है। भारत सरकार के तत्‍वावधान में हो रहे इस आयोजन की पहली कड़ी में इंडोनेशिया, दक्षिण अफ्रीका और ब्रिटेन साझेदार देश हैं। दो दिवसीय यह आयोजन फिनटेक से संबंधित पहलुओं पर ध्‍यान केन्द्रित करने और समावेशी विकास के लिए इसका उपयोग करने के लिए एक मंच प्रदान करेगा। इन्फिनिटी फोरम की थीम - बियोंड यानी सर्वोच्‍च है। जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है यह फोरम में भाग लेने वालों को पारंपरिक मानसिकता और दृष्टिकोण से परे सोचने और स्‍पेसटैक, ग्रीनटैक, एग्रीटैक, क्‍वांटम कम्‍प्‍यूटिंग जैसे नए रुझानों पर चर्चा करने के लिए प्रेरित करेगा। इन्फिनिटी फोरम, नीति, व्‍यापार और प्रौद्योगिकी में दुनिया के अग्रणी लोगों को एक साथ लाएगा। इस दौरान वे चर्चा करेंगे कि कैसे फिनटैक उद्योग द्वारा प्रौद्योगिकी और नवाचार का लाभ समावेशी विकास और बड़े पैमाने पर मानवता की सेवा के लिए किया जा सकता है। नीति आयोग, इन्‍वेस्‍ट इंडिया, फिक्‍की और नैस्‍कॉम इस साल के इन्फिनिटी फोरम के प्रमुख भागीदार हैं।

जम्मू-कश्मीर में पारंपरिक 'नमदा शिल्प’ को पुनर्जीवित करने के लिये पायलट परियोजना शुरू

सरकार ने हाल ही में जम्मू-कश्मीर में पारंपरिक 'नमदा शिल्प’ को पुनर्जीवित करने और बढ़ावा देने के लिये एक पायलट परियोजना शुरू की है, जिसका उद्देश्य राज्य के ‘कालीननिर्यात को 600 करोड़ रुपए से 6,000 करोड़ रुपए तक बढ़ाने का प्रयास करना है। ‘नमदा परियोजना’ से श्रीनगर, बारामूला, गांदरबल, बांदीपोरा, बडगाम और अनंतनाग सहित कश्मीर के छह ज़िलों के 30 नमदा समूहों के 2,250 लोगों को लाभ मिलेगा। ‘नमदा’ सामान्य बुनाई प्रक्रिया के बजाय फेल्टिंग तकनीक के माध्यम से भेड़ के ऊन से बना एक ‘गलीचा’ है। कच्चे माल की अनुपलब्धता, कुशल जनशक्ति और विपणन तकनीकों की कमी के कारण वर्ष 1998 से वर्ष 2008 के बीच इस शिल्प के निर्यात में लगभग 100 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।

G20 ट्रोइका में शामिल हुआ भारत

भारत हाल ही में G20 ट्रोइका में शामिल हुआ । G20 ट्रोइका इंडोनेशिया, भारत और इटली से बना है। यानी ट्रोइका वर्तमान अध्यक्ष इंडोनेशिया; पिछले अध्यक्ष इटली और भविष्य के अध्यक्ष भारत से बना है। ट्रोइका का अर्थ है एक साथ काम करने वाले तीन लोगों का समूह। यह एक अंग्रेजी शब्द है। G20 का ट्रोइका वर्तमान, अगले और तत्काल अतीत के मेजबान देशों से बना है। ट्रोइका निरंतरता सुनिश्चित करता है और अध्यक्ष पद का समर्थन प्रदान करता है। G20 स्थायी कर्मचारी या सचिवालय के बिना काम करता है। वर्तमान अध्यक्ष अस्थायी रूप से सचिवालय की स्थापना करता है। यह सचिवालय बैठकें आयोजित करता है और समूह के कामकाज का समन्वय करता है। इस प्रकार, सचिवालय के साथ मदद करने के लिए ट्रोइका की आवश्यकता है ताकि G20 के कार्यों में निरंतरता बनी रहे।

ग्रामीण विकास मंत्रालय और फ्लिपकार्ट ने स्थानीय व्यवसायों को सशक्त बनाने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये

भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय और फ्लिपकार्ट ने दीनदयाल अंत्योदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (DAY-NRLM) के लिए एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए हैं। मंत्रालय और फ्लिपकार्ट के बीच समझौता ज्ञापन स्थानीय व्यवसायों और स्वयं सहायता समूहों (SHGs) को ई-कॉमर्स के दायरे में लाकर उन्हें सशक्त बनाने में मदद करेगा। यह भागीदारी DAY-NRLM के स्वरोजगार और उद्यमिता के लिए ग्रामीण समुदायों की क्षमताओं को मजबूत करने के उद्देश्य के अनुरूप है। इस प्रकार, यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्म निर्भर भारत के दृष्टिकोण को और गति प्रदान करता है। यह MoU फ्लिपकार्ट समर्थ कार्यक्रम (Flipkart Samarth Program) का एक हिस्सा है। फ्लिपकार्ट मार्केटप्लेस का उपयोग करके बुनकरों, शिल्पकारों और कारीगरों के कुशल और कम सेवा वाले समुदायों को राष्ट्रीय बाजार तक पहुंच प्रदान करने के उद्देश्य से इस पर हस्ताक्षर किए गए। यह उन्हें ज्ञान और प्रशिक्षण के लिए समर्पित सहायता भी प्रदान करेगा। फ्लिपकार्ट समर्थ कार्यक्रम ऑनबोर्डिंग, मार्केटिंग, बिजनेस इनसाइट्स, कैटलॉगिंग, अकाउंट मैनेजमेंट और वेयरहाउसिंग के साथ समयबद्ध ऊष्मायन और समर्थन प्रदान करके स्थानीय समुदायों के लिए प्रवेश बाधाओं को तोड़ने का प्रयास करता है। यह व्यापार और व्यापार समावेशन के अवसरों में वृद्धि करेगा और साथ ही बेहतर आजीविका के अवसरों को बनाने में मदद करेगा।

गीता गोपीनाथ बनीं IMF की पहली उप प्रबंध निदेशक

भारतीय अमेरिकी गीता गोपीनाथ अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की पहली उप प्रबंध निदेशक बन गई हैं। वह संगठन में शीर्ष भूमिका निभाने वाली पहली भारतीय हैं। उप प्रबंध निदेशक IMF में प्रबंध निदेशक के बाद दूसरा शीर्ष पद है। गीता गोपीनाथ अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की पहली महिला मुख्य अर्थशास्त्री थीं। उनका जन्म 1971 में कोलकाता में हुआ था। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय में स्नातक की पढ़ाई पूरी की और वाशिंगटन विश्वविद्यालय में परास्नातक और प्रिंसटन विश्वविद्यालय में पीएचडी की। 2018 में, उन्हें IMF का मुख्य अर्थशास्त्री नियुक्त किया गया था। उन्होंने COVID-19 के कारण 2020 की विश्वव्यापी मंदी को “द ग्रेट लॉकडाउन” नाम दिया। उन्हें भारत के राष्ट्रपति द्वारा 2019 में प्रवासी भारतीय सम्मान से सम्मानित किया गया था। प्रवासी भारतीय सम्मान प्रवासी भारतीय दिवस पर प्रस्तुत किया जाता है। यह प्रवासी भारतीयों को दिया जाने वाला सर्वोच्च पुरस्कार है।

अंजू बॉबी जॉर्ज ने वर्ल्ड एथलेटिक्स से वुमन ऑफ द ईयर का पुरस्कार जीता

भारतीय एथलीट अंजू बॉबी जॉर्ज (Anju Bobby George) ने वर्ल्ड एथलेटिक्स से वूमन ऑफ द ईयर (Woman of the Year Award) का पुरस्कार जीता है। उन्होंने युवा लड़कियों को खेल के लिए तैयार करने के लिए पुरस्कार जीता है। वह 2005 IAAF वर्ल्ड एथलेटिक्स फ़ाइनल में स्वर्ण पदक विजेता हैं। वह 2013 में पेरिस में आयोजित विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में लंबी कूद में कांस्य पदक जीतने वाली पहली भारतीय एथलीट थीं। 2004 के ओलंपिक में, वह छठे स्थान पर रही। अंजू को 2002 में अर्जुन पुरस्कार, 2004 में पद्मश्री, 2003 में खेल रत्न से सम्मानित किया गया था। 2021 में, उन्होंने सर्वश्रेष्ठ एथलीट की श्रेणी में बीबीसी लाइफ़टाइम अचीवमेंट पुरस्कार जीता।

एनसीसी का 'पुनीत सागर अभियान' के तहत समुद्र तटों को प्लास्टिक व अन्य कचरे से मुक्त करने के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान

राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) समुद्र तटों को प्लास्टिक और अन्य अपशिष्ट पदार्थों से मुक्त करने और इन्हें साफ रखने के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान चला रहा है। 01 दिसंबर, 2021 से महीने भर चलने वाले इस अभियान का उद्देश्य स्थानीय आबादी और भावी पीढ़ी के बीच 'स्वच्छ समुद्र तट के महत्व' के संदेश का प्रचार-प्रसार करना है । इस अभियान का मुख्य उद्देश्य तटीय क्षेत्रों में समुद्र के किनारे प्लास्टिक कचरे को साफ करना, जागरूकता पैदा करना और लक्षित आबादी को समुद्र तटों के साथ प्लास्टिक प्रदूषण के संरक्षण और प्रभाव के उपायों के बारे में शिक्षित करना तथा स्थानीय आबादी को प्रदूषण की रोकथाम के प्रति संवेदनशील बनाना और एकजुट करना है।

निजामुद्दीन बस्ती परियोजना को दो यूनेस्को विरासत पुरस्कार मिले

यूनेस्को ने हाल ही में निजामुद्दीन बस्ती परियोजना (Nizamuddin Basti Project) के लिए दो विरासत पुरस्कार प्रदान किए हैं। इस परियोजना को इसके संरक्षण प्रयासों के लिए सम्मानित किया गया था। इसे सतत पुरस्कार (Sustainable Award) और उत्कृष्टता पुरस्कार (Award of Excellence) के लिए विशेष मान्यता से सम्मानित किया गया। इस परियोजना ने 14वीं सदी के सूफी संत हजरत निजामुद्दीन औलिया के आसपास स्थित 20 से अधिक ऐतिहासिक स्मारकों का जीर्णोद्धार किया। निजामुद्दीन क्षेत्र में हुमायूं का मकबरा और बताशेवाला का मकबरा और 16वीं सदी के कवि रहीम का मकबरा है। इन क्षेत्रों को अलग कर दिया गया और क्षतिग्रस्त कर दिया गया। उन्हें निजामुद्दीन बस्ती परियोजना द्वारा भी नवीनीकृत किया गया था। यह परियोजना 2007 में आगा खान ट्रस्ट फॉर कल्चर, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण, दिल्ली शहरी विरासत फाउंडेशन और दिल्ली नगर निगम द्वारा शुरू की गई थी। निजामुद्दीन बस्ती परियोजना एक शहरी नवीकरण परियोजना है। इसने निजामुद्दीन बस्ती और इसके आसपास की 70 एकड़ की सात-सदी पुरानी बस्ती के अलग-अलग क्षेत्रों को सफलतापूर्वक एकीकृत किया। इसने इन क्षेत्रों में सामाजिक-आर्थिक विकास, संरक्षण और पर्यावरण विकास के उद्देश्यों को एकीकृत किया। इसने तीन प्रमुख स्थलों अर्थात् सुंदर नर्सरी, निजामुद्दीन बस्ती और हुमायूँ मकबरे को एकीकृत किया।

सूचना और प्रसारण मंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में दूरदर्शन केंद्र के अर्थ स्टेशन का उद्धाटन किया

सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में दूरदर्शन केंद्र के अर्थ स्टेशन का उद्धाटन किया। उन्होंने वर्चुअल माध्यम से इटावा, लखीमपुर खीरी और बहराइच जिलों में आकाशवाणी के तीन एफएम स्टेशनों का भी उद्धाटन किया। श्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि इस अर्थ स्टेशन के शुरू होने से गोरखपुर से प्रसारित होने वाले कार्यक्रम देश भर में देखे जा सकेंगे। उन्होंने घोषणा की कि इस महीने की 11 तरीख से गोरखपुर दूरदर्शन केंद्र से भोजपुरी में एक घंटे का कार्यक्रम प्रसारित किया जाएगा। सूचना और प्रसारण मंत्री ने कहा कि देश में एफएम रेडियो के श्रोताओं की बढ़ती संख्या के मद्देनजर सरकार ने इसे बढ़ावा देने का फैसला किय़ा है। उन्होंने बताया कि जल्द ही उत्तर प्रदेश के तीन जिलों- सुल्तानपुर, रामपुर और महाराजगंज में एफएम रेडियो स्टेशन स्थापित किय़े जाएगे।

संसद में बांध सुरक्षा विधेयक 2019 पारित

संसद ने बांध सुरक्षा विधेयक 2019 पारित कर दिया। राज्‍य सभा में इस विधेयक को चर्चा और पारित कराने के लिए पेश किया गया था। सरकार द्वारा इस विधेयक में संशोधन की स्‍वीकृति के बाद इस विधेयक को राज्‍यसभा ने पारित कर दिया। लोकसभा इसे पहले ही पारित कर चुकी है। विधेयक में विशिष्‍ट बांध की सुरक्षा के लिए निगरानी, निरीक्षण, कामकाज और रख-रखाव का प्रावधान है। इससे बांधों के सुरक्षित संचालन के लिए संस्‍थागत ढांचा तैयार करने में मदद मिलेगी। केन्‍द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्‍द्र सिंह शेखावत ने विधेयक को सदन में प्रस्‍तुत किया। चर्चा का उत्‍तर देते हुए श्री शेखावत ने कहा कि बांध सुरक्षा के नियम जारी करने के उद्देश्‍य से यह विधेयक लाया गया है। उन्‍होंने कहा कि देश में 90 प्रतिशत बांध अंतराज्‍यीय नदियों पर बने हैं और उनकी सुरक्षा अत्‍यंत आवश्‍यक है। श्री शेखावत ने कहा कि बांध के नुकसान से बड़े जानमाल की हानि हो सकती है। श्री शेखावत ने केन्‍द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि अब तक 42 बांधों से रिसाव की घटना हुई है और भविष्‍य में इस तरह की घटना को रोकने के लिए आवश्‍यक प्रयास किए जाने की जरूरत है। इस विधेयक में दो राष्ट्रीय निकाय हैं। वे राष्ट्रीय बांध सुरक्षा समिति (National Committee on Dam Safety) और राष्ट्रीय बांध सुरक्षा प्राधिकरण (National Dam Safety Authority) हैं। बांध सुरक्षा पर राष्ट्रीय समिति नीतियां तैयार करेगी और बांध सुरक्षा से संबंधित नियमों की सिफारिश करेगी। राष्ट्रीय बांध सुरक्षा प्राधिकरण राष्ट्रीय समिति द्वारा बनाई गई नीतियों को लागू करता है। साथ ही, यह राज्य बांध सुरक्षा संगठनों को तकनीकी सहायता प्रदान करेगा। इस विधेयक में दो राज्य निकाय भी होंगे। वे बांध सुरक्षा और राज्य बांध सुरक्षा प्राधिकरण पर राज्य समिति हैं। इन समितियों और प्राधिकरणों के कार्य राज्य स्तर पर सीमित हैं और वे राष्ट्रीय समितियों और प्राधिकरणों के समान कार्य करते हैं। अनुच्छेद 252 संसद को राज्य सूची के विषयों पर कानून बनाने की अनुमति देता है यदि दो या दो से अधिक राज्य कानून की आवश्यकता वाले प्रस्ताव पारित करते हैं। इस मामले में पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश ने प्रस्ताव पारित कर बांध सुरक्षा पर कानून बनाने की मांग की है।

Kyhytysuka Sachicarum: नई समुद्री सरीसृप

हाल ही में शोधकर्त्ताओं की एक अंतर्राष्ट्रीय टीम ने क्यह्युटिसुका सचिकारुम (Kyhytysuka Sachicarum) नामक एक नए समुद्री सरीसृप की खोज की है। Kyhytysuka का आशय तेज़ काटने वाले उस जीव से है जिसे मध्य कोलंबिया के उस क्षेत्र की एक स्थानीय भाषा में यह नाम दिया गया है जहाँ इसके जीवाश्म पाए गए थे। इसका नाम प्राचीन मुइस्का संस्कृति (Muisca culture) का सम्मान करने के लिये रखा गया है जो वहाँ सहस्राब्दियों से मौजूद थी। इस संरक्षित जीवाश्म की खोपड़ी एक मीटर लंबी है, जो अंतिम जीवित ‘इचथ्योसोर’ (Ichthyosaur) में से एक है- प्राचीन जानवर जो जीवित स्वॉर्डफिश की तरह दिखते हैं।

अमेरिकी सीनेट ने सरकारी शटडाउन को टालने के लिए विधेयक पारित किया

अमेरिकी कांग्रेस ने हाल ही में सरकारी शटडाउन को रोकने के लिए एक स्टॉप गैप बिल पारित किया। इस बिल ने फरवरी के मध्य तक फंडिंग को बढ़ा दिया। यह बिल आमतौर पर इसलिए पारित किया जाता है ताकि अमेरिकी सरकार के पास पैसे की कमी न हो। सरल शब्दों में, अमेरिकी सरकार के पास व्यापक COVID-19 वैक्सीन उपायों के कारण धन समाप्त हो रहा था। इसलिए, अतिरिक्त धन की मांग में की गई। और इस तरह स्टॉपगैप बिल पास किया गया। स्टॉपगैप का अर्थ है एक अस्थायी उपाय या अल्पकालिक सुधार। अमेरिका में सरकारी शटडाउन तब होता है जब अमेरिकी संसद एक वित्त पोषण कानून बनाने में विफल रहती है। वित्त पोषण अगले वित्तीय वर्ष के लिए या अस्थायी हो सकता है। इससे पहले, राष्ट्रपति ओबामा की अवधि (16 दिनों के लिए), राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की अवधि (21 दिन) और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की अवधि (35 दिन) के दौरान इस तरह का शटडाउन हुआ था। शटडाउन सरकारी कार्यक्रमों और सेवाओं को बाधित करता है। इसमें संस्थानों और राष्ट्रीय उद्यानों को बंद करना शामिल है। साथ ही, श्रम की हानि के कारण बड़ा नुकसान होता है। यह महत्वपूर्ण आर्थिक विकास का भी कारण बनता है।

SpaceX ने ब्लैकस्काई और स्टारलिंक उपग्रहों को ले जाने वाला रॉकेट लॉन्च किया

SpaceX ने ने हाल ही में 50 उपग्रह लॉन्च किए हैं। इन उपग्रहों को स्टारलिंक मेगा तारामंडल में शामिल किया जायेगा। इन उपग्रहों को फाल्कन 9 रॉकेट पर लॉन्च किया गया। स्पेसएक्स ने 48 स्टारलिंक उपग्रह और ब्लैकस्काई ग्लोबल नामक दो पृथ्वी अवलोकन उपग्रह लॉन्च किए। ब्लैकस्काई ग्लोबल एक उपग्रह तारामंडल का निर्माण कर रहा है जो पृथ्वी के किसी भी हिस्से की छवियां प्रदान करने में सक्षम है। यह 60 उपग्रहों का समूह है। इन उपग्रहों को फ्लोरिडा से लॉन्च किया गया। स्टारलिंक तारामंडल का उद्देश्य बड़े पैमाने पर पृथ्वी तक इंटरनेट की पहुंच प्रदान करना है। इसमें 1600 उपग्रह शामिल हैं। हाई-स्पीड इंटरनेट कवरेज प्रदान करने के लिए स्पेसएक्स स्टारलिंक तारामंडल (SpaceX Starlink Constellation) का निर्माण किया जा रहा है। दिसंबर 2021 तक, स्पेसएक्स ने 1,900 ब्रॉडबैंड उपग्रह लॉन्च किए हैं। इसे 30,000 और उपग्रहों को लॉन्च करने की मंजूरी है।

GJ 367b : खगोलविदों ने खोजा अल्ट्रा शॉर्ट प्लेनेट

खगोलविदों ने हाल ही में GJ 367b की खोज की, जो एक छोटा ग्रह है जो एक मंद लाल बौने तारे (dim red dwarf star) की परिक्रमा कर रहा है। यह तारा सूर्य से 31 प्रकाश वर्ष दूर है। GJ 367b एक चट्टानी ग्रह है। यह पृथ्वी के आकार का 70% है। और यह पृथ्वी के द्रव्यमान का 55% है। यह GJ 367b को सबसे हल्के ज्ञात बाह्यग्रहों में से एक बनाता है। यह ग्रह 7.7 घंटे में अपनी परिक्रमा पूरी करता है। इसलिए इसे अल्ट्रा शॉर्ट पीरियड प्लेनेट कहा जाता है। इस ग्रह पर लोहे की कोर का प्रभुत्व है। इस कारण से ग्रह का घनत्व अधिक है। इसका कोर लोहे और निकल से बना है। ग्रह का यह विशेष गुण बुध के समान है। साथ ही, बुध का यही गुण इसे सौरमंडल के अन्य ग्रहों से अलग करता है।

INSACOG ने बूस्टर शॉट्स के लिए सलाह दी

INSACOG (Indian SARS CoV – 2 Genomics Consortium) ने हाल ही में एक COVID-19 वैक्सीन बूस्टर खुराक का सुझाव दिया। यह सलाह 40 साल से ऊपर के लोगों के लिए है। देश में ऑमिक्रॉन जोखिमों को बेअसर करने के लिए यह सलाह दी गई है। ऑमिक्रॉन एक COVID -19 संस्करण है जिसकी हाल ही में दक्षिण अफ्रीका में पहचान की थी है। इसे विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा “चिंताजनक संस्करण” घोषित किया गया था। INSACOG के अनुसार, देश में इसके प्रवेश के पहले चरणों में इस संस्करण की उपस्थिति का पता लगाना मुश्किल है। बूस्टर शॉट टीके की अतिरिक्त खुराक हैं। मूल शॉट्स द्वारा प्रदान की गई सुरक्षा कम होने के बाद बूस्टर शॉट्स लगाए जाते हैं। बूस्टर शॉट्स लोगों में प्रतिरक्षा स्तर को बनाए रखने में मदद करते हैं। सभी टीकों में बूस्टर शॉट होते हैं।

तीन डोज़ वाले ZyCov-D को 7 राज्यों में लॉन्च किया जाएगा

ZyCov-D COVAXIN के बाद दूसरा स्वदेशी टीका है। ZyCov-D की अनूठी विशेषता यह है कि यह सुई रहित टीका है। सबसे पहले ZyCov-D वैक्सीन को सात राज्यों में लॉन्च किया जायेगा। वे तमिलनाडु, बिहार, महाराष्ट्र, झारखंड, पंजाब, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश हैं। यह टीका केवल 12 से 19 वर्ष के आयु वर्ग के व्यक्तियों को ही दिया जायेगा। ZyCov-D को सुई-मुक्त एप्लीकेटर का उपयोग करके प्रशासित किया जाता है। यह तीन खुराक वाला टीका है। इसे पहली खुराक के 28वें दिन और 56वें दिन लगाया जाता है । ZyCov-D की कीमत 376 रुपये है। ZyCov-D ने 66.6% प्रभावशीलता दिखाई है। इस वैक्सीन को कैडिला हेल्थकेयर नामक भारतीय फार्मास्युटिकल कंपनी द्वारा विकसित किया गया है। ZyCov-D वैक्सीन को प्लास्मिड डीएनए पर विकसित किया गया है। सरल शब्दों में, इसे कमजोर या मारे गए वायरस के डीएनए के एक टुकड़े का उपयोग करके विकसित किया गया है। जब यह डीएनए टुकड़ा शरीर में इंजेक्ट किया जाता है, तो मानव प्रतिरक्षा प्रणाली वायरस के खिलाफ प्रतिक्रिया करना सीखती है। प्लास्मिड ई कोलाई (E Coli) कोशिकाओं का उपयोग करके निर्मित किया जाता है।

चीन की टेनिस खिलाड़ी पेंग शुआई के मुद्दे को लेकर चीन में सभी महिला टेनिस टूर्नामेंट को तत्‍काल निलंबित करने की घोषणा

महिला टेनिस एसोसि‍एशन-डब्‍ल्‍यू.टी.ए. ने चीन की टेनिस खिलाड़ी पेंग शुआई के मुद्दे को लेकर चीन में सभी महिला टेनिस टूर्नामेंट को तत्‍काल निलंबित करने की घोषणा की है। सुश्री पेंग ने चीन के शीर्ष अधिकारियों पर दुष्‍कर्म का आरोप लगाया था और वे बाद में तीन हफ्ते के लिए सार्वजनिक रूप से गायब हो गयी थीं। डब्‍ल्‍यू.टी.ए. के प्रमुख स्‍टीव साइमन ने कहा है कि उन्‍हें पेंग की सुरक्षा को लेकर गंभीर आशंकाएं हैं। डब्‍ल्‍यू.टी.ए. ने पेंग के आरोपों की बार-बार जांच की मांग की है। हाल में अंतरराष्‍ट्रीय समिति के अध्‍यक्ष थॉमस बाच के साथ वीडियो कॉल के दौरान पेंग ने कहा था कि वह सुरक्ष‍ित और स्‍वस्‍थ हैं। लेकिन डब्‍ल्‍यू.टी.ए. ने कहा कि पेंग की सुरक्षा को लेकर यह वीडियो अपर्याप्‍त सबूत है। निलंबन में हांगकांग में होने वाले टूर्नामेंट भी शामिल हैं।

भारत के पहले राष्‍ट्रपति डॉक्‍टर राजेन्‍द्र प्रसाद की जयंती

3 दिसंबर, 2021 को उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने भारत के पहले राष्‍ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी है। 3 दिसंबर, 1884 को जन्मे डॉ. राजेंद्र प्रसाद एक स्वतंत्रता कार्यकर्त्ता, वकील, विद्वान और भारत के पहले राष्ट्रपति थे। वे भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भारतीय राष्ट्रीय काॅन्ग्रेस का हिस्सा और बिहार तथा महाराष्ट्र के एक प्रसिद्ध नेता थे। जब भारत एक गणतंत्र बना, तो डॉ. राजेंद्र प्रसाद को संविधान सभा का अध्यक्ष चुना गया। डॉ. राजेंद्र प्रसाद वर्ष 1950 से वर्ष 1962 तक देश के राष्ट्रपति रहे। वह देश के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले राष्ट्रपति हैं। इसके अलावा वे राष्ट्रपति के तौर पर दो पूर्ण कार्यकालों तक सेवा देने वाले एकमात्र राष्ट्रपति भी हैं। स्वतंत्रता आंदोलन के एक कार्यकर्त्ता होने के नाते राजेंद्र प्रसाद को ब्रिटिश अधिकारियों द्वारा नमक सत्याग्रह और भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान जेल भेज दिया गया। राजेंद्र प्रसाद को वर्ष 1962 में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार ‘भारत रत्न’ से भी सम्मानित किया गया था। राजेंद्र प्रसाद का 78 वर्ष की आयु में 28 फरवरी, 1983 को निधन हो गया। पटना में राजेंद्र स्मृति संग्रहालय उन्हें समर्पित है।

3 दिसंबर : अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस

हर साल, संयुक्त राष्ट्र और दुनिया भर में फैले कई अन्य संगठनों द्वारा 3 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष यह दिवस “Leadership and participation of persons with disabilities toward an inclusive, accessible and sustainable post-COVID-19 world” थीम के साथ मनाया जा रहा है। अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस पहली बार 1992 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा घोषित किया गया था। इसका उद्देश्य दिव्यांग व्यक्तियों के कल्याण और अधिकारों को बढ़ावा देना है। दुनिया में 1 अरब से अधिक दिव्यांग व्यक्ति हैं। इनमें से 80% विकासशील देशों में रहते हैं। दुनिया में दिव्यांग व्यक्तियों में से 46% 60 वर्ष से अधिक उम्र के हैं। दिव्यांग व्यक्ति COVID-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.