Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

14 December 2021

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वाराणसी में पुररूद्धार किये गये श्री काशी विश्‍वनाथ धाम का लोकार्पण किया

प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने उत्‍तर प्रदेश के वाराणसी में श्री काशी विश्‍वनाथ धाम के पहले चरण का लोकार्पण किया। इस अवसर पर तीन हजार से अधिक संत और पदाधिकारी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री पहले काल भैरव मंदिर पहुंचे, जिसे काशी का रक्षक माना जाता है। उन्‍होंने मंदिर में पूजा-अर्चना भी की। उसके बाद प्रधानमंत्री गंगा जल लेकर काशी विश्‍वनाथ गलियारे से होते हुए काशी विश्‍वनाथ धाम गए। श्री काशी विश्‍वनाथ धाम के पहले चरण का निर्माण कार्य तीन अरब 39 करोड रुपये की लागत से पूरा किया गया है। यह परियोजना पांच लाख वर्ग फुट के व्‍यापक क्षेत्र में फैली हुई है। इससे पहले यह परिसर मात्र तीन हजार वर्ग फुट में था। काशी विश्‍वनाथ धाम प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के मार्गदर्शन में विकसित किया गया है। प्रधानमंत्री ने मार्च 2019 में काशी विश्‍वनाथ धाम परियोजना की आधारशिला रखी थी। इस परियोजना से काशी विश्‍वनाथ मंदिर को सीधे गंगा घाट से जोड़ा गया है। परियोजना के पहले चरण में 23 भवनों का उद्घाटन किया गया। इस परियोजना के तहत यात्री सुविधा केन्‍द्र, पर्यटक सुविधा केन्‍द्र, वैदिक केन्‍द्र, संग्रहालय, दर्शक दीर्घा, फूडकॉर्ट इत्‍यादि सुविधाएं उपलब्‍ध कराई गई हैं। इससे पहले काशी विश्‍वनाथ मंदिर का पुनर्निर्माण महारानी अहिल्‍या बाई होल्‍कर ने कराया था। काशी विश्वनाथ मंदिर भगवान शिव को समर्पित सबसे प्रसिद्ध हिंदू मंदिरों में से एक है। मंदिर पवित्र गंगा नदी के पश्चिमी तट पर स्थित है और बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है जो शिव मंदिरों में सबसे पवित्र है।

नई दिल्‍ली में शिकायतों के प्रबंधन के लिए डिजिटल प्‍लेटफार्म-लोकपाल ऑनलाइन का शुभारंभ

लोकपाल के अध्‍यक्ष न्‍यायमूर्ति पिनाकी चन्‍द्र घोष ने नई दिल्‍ली में शिकायतों के प्रबंधन के लिए डिजिटल प्‍लेटफार्म-लोकपाल ऑनलाइन का शुभारंभ किया। देश के सभी नागरिक डिजिटल प्‍लेटफार्म पर अपनी शिकायतें कर सकते हैं और किसी भी स्‍थान से, किसी भी समय www.lokpalonline.gov.in पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। लोकपाल और लोकायुक्‍त अधिनियम 2013 के अंतर्गत सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ शिकायतों के निवारण के लिए लोकपाल ऑनलाइन, एंड टू एंड डिजिटल सोल्‍यूशन है।

सीबीएफसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम, फिल्म्स डिविजन तथा चिल्ड्रन फिल्म सोसायटी ऑफ इंडिया का कार्यभार संभाला

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड-सीबीएफसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रवींदर भाकर ने राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम, फिल्म्स डिविजन तथा चिल्ड्रन फिल्म सोसायटी ऑफ इंडिया का कार्यभार संभाल लिया है। इंडियन रेलवे स्टोर सर्विस के 1999 बैच के अधिकारी श्री भाकर को सीबीएफसी के वर्तमान कार्य के अलावा यह प्रभार सौंपा गया है।

भारत-ब्रिटेन अंतरिक्ष परामर्श आयोजित किया गया

भारत-ब्रिटेन अंतरिक्ष परामर्श आयोजित किया गया। भारत की ओर से विदेश मंत्रालय और अंतरिक्ष विभाग तथा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन-इसरो ने भाग लिया। दोनों देशों ने अपनी-अपनी राष्‍ट्रीय अंतरिक्ष प्राथमिकताओं, द्विपक्षीय सहयोग संभावनाओं और बाहरी अंतरिक्ष क्षेत्र में अंतर्राष्‍ट्रीय मंचों पर हुए विचार-विमर्श पर सूचना का आदान-प्रदान किया।

अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति पर अत्याचार रोकने के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन शुरू

सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता मंत्री डॉक्‍टर वीरेन्‍द्र कुमार ने नई दिल्‍ली में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों पर अत्‍याचार रोकने के लिए राष्‍ट्रीय हेल्‍पलाइन का शुभांरभ किया। यह हेल्‍पलाइन टोल फ्री नंबर 14566 पर 24 घंटे देशभर में उपलब्‍ध है। यह हिंदी और अंग्रेजी तथा राज्‍यों तथा केन्‍द्र शासित प्रदेशों की क्षेत्रीय भाषा में उपलब्‍ध है। यह हेल्‍पलाइन अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्‍याचार के रोकथाम) अधिनियम 1989 का समुचित कार्यान्‍वयन सुनिश्चित करेगी। देशभर के किसी भी टेलीकॉम ऑपरेटर के मोबाइल या लैंडलाइन से इस हेल्‍पलाइन पर वॉयस कॉल की जा सकती है।

इसरो और ओप्पो ने NavIC संदेश सेवा के अनुसंधान एवं विकास को मजबूत करने के लिए सहयोग किया

NaVIC या भारतीय क्षेत्रीय नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (IRNSS) संदेश सेवा के अनुसंधान और विकास (R&D) को मजबूत करने के लिए, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने Oppo India के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। NavIC एक मैसेजिंग सर्विस प्लेटफॉर्म है, जो पूरे देश को कवर करते हुए क्षेत्रीय नेविगेशन सेवाएं प्रदान करता है और भारतीय सीमाओं से परे 1,500 किमी तक का क्षेत्र प्रदान करता है। विशेष रूप से, मैसेजिंग प्लेटफॉर्म मुख्य रूप से समुद्र में खराब या बिना संचार वाले क्षेत्रों में लघु संदेशों (जीवन की सुरक्षा अलर्ट) प्रसारित करने की क्षमता के साथ-साथ PNT (स्थिति, नेविगेशन और समय) सेवाएं प्रदान करता है। मेमोरेंडम ऑफ अंडरटेकिंग (एमओयू) के अनुसार, इसरो और ओप्पो इंडिया दोनों तेजी से, रेडी-टू-यूज, एंड-टू-एंड एप्लिकेशन-विशिष्ट समाधान बनाने के लिए एनएवीआईसी मैसेजिंग सेवाओं की तकनीकी जानकारी का आदान-प्रदान करेंगे। यह भारतीय उपयोगकर्ताओं की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए मोबाइल हैंडसेट प्लेटफॉर्म के साथ NavIC मैसेजिंग सेवा को एकीकृत करने में सक्षम होगा। ओप्पो इंडिया की विनिर्माण इकाई नोएडा में है और एक अनुसंधान एवं विकास केंद्र हैदराबाद में है।

अजीम प्रेमजी को मिला डॉ. इडा एस. स्कडर ओरेशन अवार्ड

विप्रो लिमिटेड के संस्थापक अध्यक्ष और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के संस्थापक अजीम प्रेमजी इस साल 10वें वार्षिक डॉ इडा एस स्कडर ह्यूमैनिटेरियन ओरेशन (Dr Ida S. Scudder Humanitarian Oration) के प्राप्तकर्ता हैं, जिसे क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लोर (CMC) और अमेरिका स्थित वेल्लोर सीएमसी फाउंडेशन द्वारा संयुक्त रूप से स्थापित किया गया है। यह पुरस्कार श्री प्रेमजी को समाज में उनके योगदान के सम्मान में प्रदान किया जाता है। 2001 में स्थापित, फाउंडेशन ने शिक्षा के क्षेत्र में बहुत योगदान दिया है, बेंगलुरु में अजीम प्रेमजी विश्वविद्यालय चलाता है और वित्तीय अनुदान के साथ कई गैर-लाभकारी संगठनों का भी समर्थन करता है। फाउंडेशन ने स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में संगठनों को भी वित्त पोषित किया।

भारत ने ओडिशा में व्हीलर द्वीप से सुपरसोनिक मिसाइल एसिस्टेड टारपिडो का सफल प्रक्षेपण किया

भारत ने ओडिशा में व्‍हीलर द्वीप से सुपरसोनिक मिसाइल अस्सिटिड टोरपेडो का प्रक्षेपण किया। इस शस्‍त्र प्रणाली को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन-डी आर डी ओ ने भारतीय नौसेना के लिए विकसित किया है। यह अगली पीढी की मिसाइल है जो स्‍टैण्‍ड ऑफ टोरपेडो डिलीवरी सिस्‍टम पर आधारित है। इस प्रणाली का डिजाइन, टोरपेडो की पारम्‍परिक मारक क्षमता से आगे के लिए पनडुब्‍बी- रोधी युद्धक क्षमता के विस्‍तार के लिए किया गया है। इस मिसाइल को भूमि पर स्थित मोबाइल लांचर से प्रक्षेपित किया गया और यह विभिन्‍न प्रकार की दूरियों के क्षेत्र को कवर कर सकती है।

नासा का IXPE मिशन

हाल ही में ‘नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन’ (NASA) ने ‘इमेजिंग एक्स-रे पोलारिमेट्री एक्सप्लोरर’ (IXPE) नाम से एक नया मिशन लॉन्च किया। IXPE वेधशाला नासा और इटालवी अंतरिक्ष एजेंसी का संयुक्त प्रयास है। यह "ब्रह्मांड में सबसे चरम और रहस्यमय वस्तुओं-सुपरनोवा अवशेष, सुपरमैसिव ब्लैक होल" तथा दर्जनों अन्य उच्च-ऊर्जा वस्तुओं का अध्ययन करेगा। इस मिशन की प्राथमिक अवधि दो वर्ष है और इसकी वेधशाला पृथ्वी की भूमध्य रेखा के चारों ओर परिक्रमा करते हुए 600 किलोमीटर की ऊँचाई पर स्थित होगी। इसके द्वारा पहले वर्ष में लगभग 40 खगोलीय पिंडों का अध्ययन करने की उम्मीद है। यह अन्य एक्स-रे दूरबीनों जैसे चंद्रा एक्स-रे वेधशाला और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी की एक्स-रे वेधशाला, एक्सएमएम-न्यूटन का पूरक होगा। यह न्यूट्रॉन सितारों और सुपरमैसिव ब्लैक होल से ध्रुवीकृत एक्स-रे का निरीक्षण करने में मदद करेगा। इन एक्स-रे के ध्रुवीकरण को मापकर हम यह अध्ययन कर सकते हैं कि प्रकाश का स्रोत क्या है और प्रकाश स्रोत की ज्यामिति और आंतरिक कार्यप्रणाली को समझ सकते हैं।

कर्नाटक बैंक ने MeitY द्वारा 2 डिजीधन पुरस्कार जीते

कर्नाटक बैंक को केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) द्वारा स्थापित दो डिजीधन पुरस्कारों (DigiDhan awards) से सम्मानित किया गया है। पुरस्कार नई दिल्ली में डिजिटल भुगतान उत्सव के दौरान दिए गए। पुरस्कार ने दो साल 2019-20 और 2020-21 के लिए लगातार निजी क्षेत्र की बैंक श्रेणी के तहत भीम-यूपीआई लेनदेन में उच्चतम प्रतिशत के साथ लक्ष्य प्राप्त करने के लिए बैंकों को मान्यता दी। कर्नाटक बैंक अपने उत्पादों के लिए नवीनतम डिजिटल तकनीक को अपनाने में हमेशा आगे रहा है ताकि हमारे ग्राहकों को सर्वोत्तम सेवा प्रदान की जा सके।

एलआईसी को इंडसइंड बैंक में हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए आरबीआई की मंजूरी मिली

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) को निजी क्षेत्र के ऋणदाता की कुल जारी और चुकता पूंजी में इंडसइंड बैंक में अपनी हिस्सेदारी 9.99 प्रतिशत तक बढ़ाने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक से मंजूरी मिल गई है। यह मंजूरी 1 साल के लिए यानी 8 दिसंबर 2022 तक वैध होगी। फिलहाल इंडसइंड बैंक में एलआईसी की 4.95 फीसदी हिस्सेदारी है। हाल ही में एलआईसी को भी इसी तरह की मंजूरी कोटक महिंद्रा बैंक में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 9.99 फीसदी करने के लिए आरबीआई से मिली थी। एलआईसी भारत के शेयर बाजार में सबसे बड़े संस्थागत निवेशकों में से एक है और कई निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में इसकी हिस्सेदारी है। कैपिटललाइन के आंकड़ों से पता चलता है कि 24 अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों में इसकी हिस्सेदारी है। आईडीबीआई बैंक में इसकी 49.24 फीसदी हिस्सेदारी है। अन्य प्रमुख बैंकों में एलआईसी की केनरा बैंक में 8.8 फीसदी, पंजाब नेशनल बैंक और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में 8.3 फीसदी, एक्सिस बैंक में 8.2 फीसदी और आईसीआईसीआई बैंक में 7.6 फीसदी हिस्सेदारी है।

एडीबी ने भारत की शहरी सेवाओं में सुधार के लिए 350 मिलियन अमरीकी डालर के ऋण को मंजूरी दी

एशियाई विकास बैंक (ADB) ने भारत में शहरी सेवाओं में सुधार के लिए 2653.05 करोड़ रुपये (350 मिलियन अमरीकी डालर) के नीति-आधारित ऋण को मंजूरी दी है। यह ऋण शहरी गरीबों, आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों और कम आय वाले समूहों को लाभ पहुंचाने के लिए आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) द्वारा तैयार की गई नीतियों का समर्थन करता है। एडीबी कार्यक्रम कार्यान्वयन, निगरानी और मूल्यांकन में एमओएचयूए को ज्ञान और सलाहकार सहायता भी प्रदान करेगा। यह ऋण पाइप से जलापूर्ति और बेहतर स्वच्छता के सार्वभौमिक कवरेज में तेजी लाने के लिए आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा स्थापित नीतियों का समर्थन करता है।

भारत ने RATS SCO की परिषद की अध्यक्षता ग्रहण की

भारत ने (28 अक्टूबर, 2021 से 1 वर्ष के लिए) शंघाई सहयोग संगठन के क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी संरचना (RATS-SCO) की अध्यक्षता ग्रहण की है। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय (NSCS), भारत सरकार ने ज्ञान भागीदार के रूप में भारतीय डेटा सुरक्षा परिषद (DSCI) के सहयोग से एससीओ सदस्य राज्य के प्रतिनिधियों के लिए 'समकालीन खतरे के माहौल में साइबर स्पेस की सुरक्षा' पर दो दिवसीय व्यावहारिक संगोष्ठी का आयोजन किया। संगोष्ठी RATS SCO की परिषद की अध्यक्षता के दौरान भारत द्वारा आयोजित किया जाने वाला पहला इवेंट है। इस संगोष्ठी ने नीतियों और रणनीतियों, साइबर आतंकवाद, रैंसमवेयर और डिजिटल फोरेंसिक जैसे प्रमुख क्षेत्रों को संबोधित किया।

RBI ने सीमा पार सौदों के लिए 20 अंकों का एलईआई लागू किया

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अगले साल 1 अक्टूबर से 50 करोड़ रुपये और उससे अधिक के पूंजी या चालू खाता लेनदेन के लिए सीमा पार लेनदेन के लिए कानूनी इकाई पहचानकर्ता (Legal Entity Identifier - LEI) अनिवार्य कर दिया है। एलईआई एक 20-अंकीय संख्या है जिसका उपयोग वित्तीय डेटा सिस्टम की गुणवत्ता और सटीकता में सुधार के लिए दुनिया भर में वित्तीय लेनदेन के लिए पार्टियों की विशिष्ट रूप से पहचान करने के लिए किया जाता है। पहचानकर्ता मानदंड को चरणबद्ध तरीके से काउंटर (over the counter - OTC) व्युत्पन्न, गैर-व्युत्पन्न बाजारों, बड़े कॉर्पोरेट उधारकर्ताओं और केंद्रीकृत भुगतान प्रणालियों में बड़े मूल्य के लेनदेन में प्रतिभागियों के लिए पेश किया गया है। 1 अक्टूबर, 2022 से, बैंकों को किसी भी पूंजी या चालू खाता लेनदेन करने वाली निवासी संस्थाओं (गैर-व्यक्तियों) से `एलईआई` नंबर प्राप्त करना होगा। एलईआई धारकों के लिए, लेन-देन के आकार पर ध्यान दिए बिना सभी लेनदेन में नंबर प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा।

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के साथ एयर बबल समझौते पर हस्ताक्षर किए

भारत सरकार ने ऑस्ट्रेलिया के साथ एक एयर बबल समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसके तहत सभी पात्र यात्रियों को दोनों देशों के बीच यात्रा करने की अनुमति होगी। एक द्विपक्षीय हवाई बुलबुला एक तंत्र है, जिसके तहत देश कोविड-19 महामारी के दौरान पूर्व शर्त के साथ उड़ानें फिर से शुरू करते हैं। वर्तमान में, भारत ने 31 जनवरी, 2022 तक सभी निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ान संचालन को निलंबित कर दिया है। इसलिए बबल समझौते के तहत, चुनिंदा देशों के साथ समर्पित कार्गो उड़ानें संचालित होती रहेंगी। भारत ने ऑस्ट्रेलिया, अफगानिस्तान, भूटान, बहरीन, बांग्लादेश, कनाडा, फ्रांस, इथियोपिया, फिनलैंड, इराक, जर्मनी, केन्या, जापान, मालदीव, कुवैत, नेपाल, मॉरीशस, नाइजीरिया, नीदरलैंड, कतर, ओमान, रवांडा, रूस, सेशेल्स, सिंगापुर, तंजानिया, स्विटजरलैंड, श्रीलंका, अमेरिका, यूके, यूएई, यूक्रेन और उज्बेकिस्तान सहित लगभग 33 देशों के साथ द्विपक्षीय हवाई बबल समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। भारत ने कोविड -19 महामारी के बाद 23 मार्च, 2020 से अंतर्राष्ट्रीय उड़ान संचालन को निलंबित कर दिया था।

इजरायल के प्रधानमंत्री की यूएई की पहली आधिकारिक यात्रा

12 दिसंबर, 2021 को इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने क्षेत्रीय तनाव के समय में खाड़ी संबंधों को मजबूत करने के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की पहली आधिकारिक यात्रा शुरू की। नफ्ताली बेनेट ने जून 2021 में इजरायल की गठबंधन सरकार के प्रमुख के रूप में पदभार ग्रहण किया था। उन्होंने यूएई के वास्तविक नेता, क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल-नाहयान के साथ बातचीत करने की योजना बनाई है। यह कूटनीतिक आउटरीच उस समय आई है जब विश्व शक्तियां ईरान के साथ 2015 के परमाणु समझौते पर बातचीत कर रही हैं, जिसका इजरायल विरोध कर रहा है। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा 2018 में परमाणु समझौते को छोड़ दिया गया है। “अब्राहम समझौते” (Abraham Accord) नामक एक अमेरिकी प्रायोजित पहल के तहत यूएई, बहरीन, सूडान और मोरक्को के साथ इजरायल संबंधों को सामान्य करने के लिए अगस्त 2020 से कदम उठा रहा है। बेनेट की संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा अब्राहम समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद से किसी भी देश की किसी भी इजरायली प्रधानमंत्री द्वारा पहली यात्रा है।

बक्सा रिजर्व में देखा गया रॉयल बंगाल टाइगर

पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार जिले में बक्सा टाइगर रिजर्व में स्थापित एक कैमरा ट्रैप ने रॉयल बंगाल टाइगर का एक दृश्य कैद किया है, जो इस क्षेत्र में दो दशकों से अधिक समय से नहीं देखा गया है। बक्सा रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर बुद्धराज शेवा ने बाघ देखे जाने की पुष्टि के बाद बताया कि 150 के अलावा 70 और ट्रैप कैमरे लगाने की योजना है। बंगाल टाइगर का दिखना महत्वपूर्ण है क्योंकि बक्सा रिजर्व में 23 साल से अधिक समय से किसी भी बाघ की तस्वीर नहीं ली गई थी। आखिरी ज्ञात बाघ की तस्वीर 1998 में ली गई थी। बक्सा टाइगर रिजर्व उत्तरी पश्चिम बंगाल में स्थित है। यह 760 वर्ग किमी के क्षेत्र को कवर करता है। यह गंगा के मैदानों में 60 मीटर से लेकर उत्तर में हिमालय की सीमा से लगे 1,750 मीटर तक है। यह रिजर्व लगभग 284 पक्षी प्रजातियों का घर है। यह एशियाई हाथी, गौर, तेंदुए, सांभर हिरण और भारतीय तेंदुए जैसे स्तनधारियों का भी घर है। बक्सा टाइगर रिजर्व की स्थापना 1983 में भारत के 15वें टाइगर रिजर्व के रूप में की गई थी।

कोरियाई युद्ध के समापन की औपचारिक घोषणा करने पर चारोंं देश सैद्धांतिक रूप से सहमत

उत्‍तर और दक्षिण कोरिया, अमरीका तथा चीन कोरियाई युद्ध की समाप्ति की औपचारिक घोषणा करने पर सैद्धांतिक रूप से सहमत हो गए हैं। दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति मून जाए-इन ने कहा कि उत्‍तर कोरिया की मांगों के कारण बातचीत अभी शुरू होनी है। कोरिया युद्ध 1950 से 1953 तक चला। यह युद्ध-विराम के साथ समाप्‍त तो हो गया था, लेकिन शांति संधि नहीं हुई थी। तब से ही उत्‍तर और दक्षिण कोरिया तकनीकी रूप से युद्ध में शामिल रहे हैं और दोनों देशों के संबंध तनावपूर्ण बने रहे। चीन, उत्‍तर कोरिया और अमरीका, दक्षिण कोरिया का समर्थन करता रहा है।

ऑस्‍ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया ने 72 अरब डॉलर के रक्षा समझौते पर हस्‍ताक्षर किये

ऑस्‍ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया ने 72 अरब डॉलर के रक्षा समझौते पर हस्‍ताक्षर किये हैं। महामारी शुरू होने के बाद दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति मून जेई पहले विदेशी नेता हैं जिन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया का दौरा किया। एक अरब ऑस्‍ट्रेलियाई डॉलर सौदे में दक्षिण कोरिया की रक्षा कम्‍पनी हान्‍वाह ऑस्‍ट्रेलिया की सेना को गोला बारूद, वाहन और राडार उपलब्‍ध करायेगी।

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान संयुक्त रूप से प्रशांत महासागर में अंडरसी केबल को फंड करेंगे

पश्चिमी मित्र राष्ट्रों अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने संयुक्त रूप से प्रशांत महासागर में एक अंडरसी केबल के निर्माण के लिए धन देने की घोषणा की है। प्रशांत क्षेत्र में अंडरसी केबल का उपयोग तीन छोटे प्रशांत देशों में इंटरनेट की पहुंच को बढ़ावा देने के लिए किया जाएगा, क्योंकि पश्चिमी सहयोगी इस क्षेत्र में बढ़ते चीनी प्रभाव का मुकाबला करना चाहते हैं। यह सहयोगी देश किरिबाती, नाउरू और माइक्रोनेशिया के संघीय राज्यों को तेज इंटरनेट प्रदान करने के लिए केबल विकसित करेंगे। यह सेवा बढ़ी हुई आर्थिक वृद्धि का समर्थन करेगी, जीवन स्तर में सुधार करने और विकास के अवसरों को बढ़ाने में मदद करेगी, क्योंकि यह क्षेत्र COVID-19 के कठोर प्रभावों से उबर रहा है। इस परियोजना की लागत अभी ज़ाहिर नहीं की गई है। 2017 में, ऑस्ट्रेलिया ने सोलोमन द्वीप और पापुआ न्यू गिनी में बेहतर इंटरनेट एक्सेस विकसित करने के लिए लगभग 137 मिलियन ऑस्ट्रेलियाई डॉलर खर्च किए हैं।

रेडबुल के मैक्‍स वेरेस्‍टाप्‍पेन ने आबु धाबी फॉर्मूला वन रेस जीती

रेडबुल के मैक्‍स वेरेस्‍टाप्‍पेन ने आबु धाबी फॉर्मूला वन रेस जीत ली है। उनकी जीत पर विवाद हुआ, लेकिन फॉर्मूला वन अधिकारियों ने रेस के परिणाम पर दो विरोध खारिज कर दिए। मर्सिडीज ने परिणाम पर आपत्ति प्रकट की। मैक्‍स ने आखिरी लैप में मर्सिडीज के लुईस हेमिल्‍टन को पछाड़कर फॉर्मूला वन खिताब जीता। मर्सिडीज का कहना था कि रेस के निदेशक माइकल मासी ने नियमों को सही तरह से लागू नहीं किया।

चंदीप सिंह ने पैरा विश्‍व ताइक्‍वांडो चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया

पैरा-एथलीट चंदीप सिंह ने पैरा विश्‍व ताइक्‍वांडो चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। तुर्की के इस्‍तांबुल में चंदीप सिंह ने पुरुषों के 80 किलो भार वर्ग में यह उपलब्धि हासिल करने वाले जम्‍मू-कश्‍मीर के पहले पैरा एथलीट बन गए। उन्होंने जम्मू-कश्मीर खेल परिषद के ताइक्‍वांडो कोच अतुल पंगोत्रा से प्रशिक्षण लिया था।

महाकवि सुब्रह्मण्य भारती

11 दिसंबर, 2021 को उप-राष्ट्रपति ने महान स्वतंत्रता सेनानी और महाकवि सुब्रह्मण्य भारती को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी। माना जाता है कि तमिल कविता और गद्य में भारती के अभिनव योगदान ने 20वीं सदी में तमिल साहित्य में पुनर्जागरण को जन्म दिया। उन्होंने अंग्रेज़ी में भी व्यापक स्तर पर लिखा। सुब्रमण्यम भारती का जन्म 1882 में सी. सुब्रमण्यम के रूप में ‘एट्टायपुरम’ में हुआ था, जो कि वर्तमान तमिलनाडु के ‘थूथुकुडी’ में स्थित है। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा वाराणसी से प्राप्त की थी। वह मात्र 11 वर्ष के थे, जब एट्टायपुरम के तत्कालीन राजा ने उनकी कविता से प्रभावित होकर उन्हें 'भारती' की उपाधि दी थी, जिसका अर्थ है ‘देवी सरस्वती का आशीर्वाद’। यद्यपि उनकी कुछ सबसे प्रसिद्ध कृतियाँ उनकी मातृभाषा तमिल में हैं, किंतु माना जाता है कि सुब्रमण्यम भारती को तीन विदेशी भाषाओं सहित 14 भाषाओं में प्रवीणता प्राप्त थी। उन्होंने बाल विवाह के विरुद्ध चिंता ज़ाहिर की और ब्राह्मणवाद की समाप्ति तथा धार्मिक सुधार की वकालत की। उन्हें अपने लेखन के कारण ब्रिटिश सरकार की कार्यवाही का सामना करना पड़ा और अपना अधिकांश जीवन निर्वासन में बिताया। बाद में वह पांडिचेरी (वर्तमान पुद्दुचेरी) चले गए, जो कि उस समय फ्राँसीसी शासन के अधीन था। वहाँ उन्होंने साप्ताहिक पत्रिकाओं का संपादन और प्रकाशन किया। वर्ष 1921 में 38 वर्ष की अल्प आयु में उनका निधन हो गया।

अंतर्राष्ट्रीय सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज दिवस :12 दिसंबर

अंतर्राष्ट्रीय सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज दिवस एक संयुक्त राष्ट्र का मान्यता प्राप्त अंतर्राष्ट्रीय दिवस है जो हर साल 12 दिसंबर को मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज दिवस का उद्देश्य बहु-हितधारक भागीदारों के साथ मजबूत और लचीली स्वास्थ्य प्रणालियों और सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज की आवश्यकता के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। प्रत्येक वर्ष 12 दिसंबर को, यूएचसी के अधिवक्ता उन लाखों लोगों की कहानियों को साझा करने के लिए अपनी आवाज उठाते हैं, जो अभी तक स्वास्थ्य चैंपियन की प्रतीक्षा कर रहे हैं, जो हमने अब तक हासिल किया है, नेताओं से स्वास्थ्य में बड़ा और बेहतर निवेश करने और विभिन्न समूहों को 2030 तक दुनिया को यूएचसी के करीब ले जाने में मदद करने के लिए प्रतिबद्धता बनाने के लिए प्रोत्साहित करे। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज दिवस का विषय है "किसी के स्वास्थ्य को पीछे न छोड़ें: सभी के लिए स्वास्थ्य प्रणालियों में निवेश करें।"

अंतर्राष्ट्रीय तटस्थता दिवस: 12 दिसंबर 2021

अंतर्राष्ट्रीय तटस्थता दिवस (International Day of Neutrality) एक संयुक्त राष्ट्र द्वारा मान्यता प्राप्त दिवस है जो अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में तटस्थता के मूल्य के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रत्येक वर्ष 12 दिसंबर को आयोजित किया जाता है। इसे आधिकारिक तौर पर फरवरी 2017 में अपनाए गए संयुक्त राष्ट्र महासभा के प्रस्ताव द्वारा घोषित किया गया था और पहली बार 12 दिसंबर, 2017 को मनाया गया था। तटस्थता को देशों के बीच युद्ध में सभी भागीदारी से एक देश के संयम से उत्पन्न होने वाली कानूनी स्थिति के रूप में परिभाषित किया गया है, जो जुझारू लोगों के प्रति निष्पक्षता के दृष्टिकोण का रखरखाव, और इस अमूर्तता और निष्पक्षता के जुझारू लोगों द्वारा मान्यता गंभीर रूप से महत्वपूर्ण है संयुक्त राष्ट्र के लिए स्वतंत्र रूप से और प्रभावी रूप से संचालित करने के लिए सभी के विश्वास और सहयोग को हासिल करने और बनाए रखने के लिए, विशेष रूप से उन स्थितियों में जो राजनीतिक रूप से चार्ज किए जाते हैं।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.