Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

4 January 2022

रक्षा मंत्री ने चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में कल्पना चावला सेंटर फॉर रिसर्च इन स्पेस साइन्स एंड टेक्नोलॉजी का उद्घाटन किया

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने 3 जनवरी, 2022 को चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में कल्पना चावला सेंटर फॉर रिसर्च इन स्पेस साइन्स एंड टेक्नोलॉजी (केसीसीआरएसएसटी) का उद्घाटन किया। इसके अलावा उन्होंने तीनों सेनाओं के रक्षा कर्मियों के बच्चों के लिए 10 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति योजना की भी शुरुआत की। अंतरिक्ष विज्ञान व उपग्रह विकास में छात्रों को प्रशिक्षण देने और अंतरिक्ष अनुसंधान में भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के उद्देश्य से स्थापित अत्याधुनिक केसीसीआरएसएसटी, चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्र उपग्रह (सीयूसैट) के लिए ग्राउंड कंट्रोल स्टेशन होगा। यह विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा डिजाइन की जा रही एक इन-हाउस विकसित नैनो-उपग्रह है और अन्य परियोजनाओं के अलावा अनुसंधान के लिए एक भू-स्थानिक केंद्र है। 2022 में 75वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर अंतरिक्ष में लॉन्च किए जाने वाले 75 छात्र-निर्मित उपग्रहों में से सीयूसैट भी एक होगा। चंडीगढ़ विश्वविद्यालय, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर, आईआईटी बॉम्बे जैसे 13 संस्थानों की सूची में शामिल हो गया है। साथ ही, अपने खुद के उपग्रह को डिजाइन व विकसित करने वाला उत्तर भारत का पहला विश्वविद्यालय बन गया है। इस परियोजना के लिए, विश्वविद्यालय के 75 छात्र प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिकों के मार्गदर्शन में चंडीगढ़ विश्वविद्यालय छात्र उपग्रह परियोजना पर काम कर रहे हैं। सीयूसैट को प्रक्षेपित करने के साथ, पंजाब अंतरिक्ष में अपना उपग्रह रखने वाला भारत का पहला सीमावर्ती राज्य बन जाएगा। यह सीमा पार घुसपैठ, कृषि, मौसम पूर्वानुमान, प्राकृतिक आपदा पूर्वानुमान से संबंधित डेटा को एकत्र करेगा, जो इन क्षेत्रों में विभिन्न समस्याओं के अनुसंधान व अध्ययन में सहायक होगा। इसे देखते हुए विश्वविद्यालय का नैनोसेटेलाइट - सीयूसैट का प्रक्षेपण देश के लिए महत्वपूर्ण कदम साबित होगा।

कोर सेक्टर इंडस्ट्रीज़ का उत्पादन नवंबर में आठ महीनों में सबसे धीमी गति 3.1% की दर से बढ़ा

आठ कोर इंडस्ट्रीज़ का उत्पादन नवंबर में आठ महीनों में सबसे धीमी गति 3.1% की दर से बढ़ा, जो भारतीय अर्थव्यवस्था की धीमी विकास दर को संकेतित करता है। कच्चे तेल और सीमेंट को छोड़कर अन्य सभी क्षेत्रों में सकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई। आठ कोर सेक्टर हैं: कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली। इनमें औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) में शामिल मदों के भार का 40.27 प्रतिशत शामिल है। आठ प्रमुख क्षेत्र के उद्योग उनके भार के घटते क्रम में: रिफाइनरी उत्पाद> बिजली> स्टील> कोयला> कच्चा तेल> प्राकृतिक गैस> सीमेंट> उर्वरक। IIP एक संकेतक है जो एक निश्चित अवधि के दौरान औद्योगिक उत्पादों के उत्पादन की मात्रा में परिवर्तन को मापता है। यह केंद्रीय सांख्यिकी संगठन (CSO), सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा मासिक रूप से संकलित और प्रकाशित किया जाता है। इसका उपयोग नीति-निर्माण उद्देश्यों के लिये वित्त मंत्रालय, भारतीय रिज़र्व बैंक आदि सहित सरकारी एजेंसियों द्वारा किया जाता है। त्रैमासिक और अग्रिम सकल घरेलू उत्पाद (सकल घरेलू उत्पाद) अनुमानों की गणना के लिये IIP अत्यंत प्रासंगिक बना हुआ है।

सूडान के प्रधानमंत्री अब्दुल्ला हमदोक ने राजधानी खार्तूम में लगातार हो रहे विरोध प्रदर्शनों के बाद त्‍यागपत्र दिया

सूडान के प्रधानमंत्री अब्दुल्ला हमदोक ने राजधानी खार्तूम में लगातार हो रहे विरोध प्रदर्शनों के बाद त्‍यागपत्र दे दिया है। सैंकड़ों लोगों ने प्रधानमंत्री हमदोक के सेना के साथ सत्ता साझा करने के लिए किए गए एक हाल के एक समझौते का विरोध किया था जिसके बाद अक्तूबर में तख्तापलट किया था। प्रदर्शनकारियों ने सूड़ान में पूर्ण नागरिक शासन की वापसी का आह्वान किया। सेनाओं ने इसका बलपूर्वक जवाब दिया और इसमें दो लोगों की मौत हो गई।

देश भर में 15 से 18 वर्ष तक के बच्‍चों का कोविड टीकाकरण शुरू

15 से 18 वर्ष के किशोरों के लिए तीन जनवरी से देशभर में टीकाकरण शुरू हो गया है। केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि वर्ष 2004 या इससे पहले जिन बच्‍चों का जन्‍म हुआ है, वे कोविशील्‍ड सहित सभी टीके लगवा सकते हैं लेकिन 2005 से लेकर 2007 तक जन्‍म लेने वाले 15 से 17 वर्ष के किशारों को केवल को-वैक्‍सीन लगाया जायेगा। अब तक 15 से 18 आयु वर्ग के करीब आठ लाख किशोरों ने टीकाकरण के लिए कोविन पोटर्ल पर पंजीकरण कराया है। इस आयु वर्ग के लिए पंजीकरण एक जनवरी से कोविन पोर्टल पर उपलब्‍ध है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने 25 दिसम्‍बर को राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए कहा था कि 15 से 18 वर्ष के किशोरों के लिए कोविड टीकाकरण तीन जनवरी से आंरभ हो जाएगा। पिछले वर्ष 16 जनवरी को राष्‍ट्रीय कोविड टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से देश में 90 प्रतिशत पात्र लोगों को पहला और 65 प्रतिशत लोगों को दूसरा टीका लगाया जा चुका है।

प्रधानमंत्री बुधवार को पंजाब में कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच जनवरी को पंजाब के दौरे पर फिरोजपुर जाएंगे और 42 हजार सात सौ 50 करोड़ रुपये से अधिक की लागत की कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे। इन परियोजनाओं में दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेसवे, चार लेन का अमृतसर-ऊना खंड, मुकेरियां-तलवाड़ा नई ब्रॉड गेज रेल लाइन, पी.जी.आई. सैटेलाइट सेंटर तथा कपूरथला और होशियारपुर में दो नए मेडिकल कॉलेज शामिल हैं। छह सौ 69 किलोमीटर लंबा दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस-वे को विकसित किया जाएगा जिसकी कुल लागत साढे 39 हजार करोड़ रुपये होगी। इसे दिल्ली से अमृतसर और दिल्ली से कटरा तक की यात्रा का समय कम हो जाएगा। ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे से सुल्तानपुर लोधी, गोइंदवाल साहिब, खडूर साहिब, तरनतारन तथा कटरा में वैष्णो देवी मंदिर को प्रमुख सिख धार्मिक स्थल जुड जाएंगे। एक्सप्रेसवे तीन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों हरियाणा, चंडीगढ़, पंजाब और जम्मू-कश्मीर के प्रमुख आर्थिक केंद्रों को भी जोड़ेगा। यह एक्‍सप्रेस-वे तीन राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों - हरियाणा, चंडीगढ, पंजाब और जम्‍मू-कश्‍मीर के आर्थिक केंद्रों को भी जोडेगा।

शिक्षा और कौशल विकास मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने नेशनल एजुकेशनल एलायन्‍स फॉर टेक्‍नोलॉजी के तीसरे चरण का शुभारंभ किया

शिक्षामंत्री और कौशल विकास मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने प्रौद्योगिकी के लिए राष्‍ट्रीय शैक्षणिक सहयोग, नेशनल एजुकेशनल एलायंस फॉर टेक्‍नोलॉजी- एनईएटी के तीसरे चरण की शुरूआत की है। यह देश के विद्यार्थियों को सर्वोत्तम विकसित एड-टेक समाधान और पाठ्यक्रम प्रदान करने का मंच है। उन्‍होंने प्रौद्योगिकी के लिए राष्‍ट्रीय शैक्षणिक सहयोग द्वारा क्षेत्रीय भाषाओं में निर्धारित तकनीकी पुस्तकों का विमोचन भी किया। 58 वैश्विक और भारतीय स्टार्ट-अप एड-टेक कंपनियां एनईएटी पर हैं और रोजगार प्रदान करने वाले कौशल विकसित करने के लिए एक सौ पाठ्यक्रम और ई-संसाधनों की पेशकश कर रही हैं।

बलदेव प्रकाश ने संभाला जेके बैंक के पहले एमडी और सीईओ का दायित्व

बलदेव प्रकाश ने जम्मू और कश्मीर बैंक के पहले प्रबंध निदेशक (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) का कार्यभार संभाल लिया। बलदेव प्रकाश को एसबीआई में बैंकिंग के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में नीति बनाने, मस्कट (ओमान) में ट्रेजरी संचालन समेत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापक कामकाज का अनुभव है। बलदेव प्रकाश को तीन साल के लिए जम्मू और कश्मीर बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (एमडी और सीईओ) के रूप में नियुक्त किया गया है। उनकी नियुक्ति कार्यभार ग्रहण करने की तिथि या 10 अप्रैल, 2022, जो भी पहले हो, से प्रभावी होगी। उनके अलावा आर के छिब्बर को बैंक के बोर्ड में अतिरिक्त निदेशक नियुक्त किया गया है।

बिहार के पहले खाद्य प्रसंस्करण कार्यालय का पटना में केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री श्री पशुपति कुमार पारस ने किया उदघाटन

केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री, भारत सरकार, श्री पशुपति कुमार पारस ने राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमशीलता एवं प्रबंधन संस्थान, कुंडली, सोनीपत (हरियाणा) द्वारा बिहार एवं पूर्वोतर राज्यों में खाद्य प्रसंस्करण के संवर्धन हेतु ‘क्षमता अभिवृद्धि केन्द्र' का बिहार की राजधानी पटना में उदघाटन किया। साथ ही उन्होंने सादा और चटपटा स्वाद वाला मखाना किंग- मखाना आधारित वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) ब्रांड लांच किया। ये दोनों पहल प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना (पीएमएफएमई) का हिस्सा हैं। इस मौके पर उन्होंने घोषणा की कि उत्तर बिहार में खाद्य प्रसंस्करण को लेकर एक विश्वविद्यालय, हाजीपुर में ‘क्षमता अभिवृद्धि केन्द्र’ का एक बड़ा कार्यालय और खाद्य प्रसंस्करण का एक कारखाना खोला जाएगा।

श्री जी. अशोक कुमार ने राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के नए महानिदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया

जल शक्ति मंत्रालय के अपर सचिव श्री जी. अशोक कुमार ने जल शक्ति मंत्रालय के राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के नए महानिदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया। श्री कुमार भारतीय प्रशासनिक सेवा के तेलंगाना कैडर के 1991 बैच के अधिकारी हैं। इससे पूर्व, उन्होंने भारत सरकार के नागर विमानन मंत्रालय में संयुक्त सचिव और विद्युत मंत्रालय में निदेशक जैसे कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है। उन्होंने राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन में कार्यकारी निदेशक (परियोजना) के रूप में भी काम किया है।

केंद्र सरकार ने जनगणना 2021 को सितम्बर, 2022 तक स्थगित किया

केंद्र सरकार ने कम से कम सितंबर, 2022 तक राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (National Population Register – NPR) को अपडेट करने के लिए जनगणना के पहले चरण और विवरण के संग्रह को स्थगित कर दिया है। इससे पहले दिसंबर 2021 में जिलों, उप-जिलों, तालुक, तहसीलों, पुलिस स्टेशनों आदि की सीमाओं को फ्रीज़ करने के कार्य को जून 2022 तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। जनगणना के संचालन के लिए प्रशासनिक इकाइयों की सीमाओं को फ्रीज करना एक पूर्व-आवश्यकता है। यह कम से कम तीन महीने पहले किया जाता है। भारत के महापंजीयक (Registrar General of India – RGI) द्वारा जून 2021 तक संकलित अनंतिम आंकड़ों के अनुसार, जिलों की संख्या 2011 में 640 से बढ़कर 736 हो गई है। उप-जिले 2011 में 5,925 से बढ़कर 2021 में 6,754, जनगणना शहर 3,892 से बढ़कर 5,050 और वैधानिक शहर 4,041 से बढ़कर 4,657 हो गए हैं। हालांकि, इसी अवधि में गांव 6,40,934 से घटकर 6,39,083 हो गए हैं।

“वन नेशन वन ग्रिड” की उपलब्धि की वर्षगांठ

पावरग्रिड कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के एक भाग के रूप में “वन नेशन वन ग्रिड” की उपलब्धि की वर्षगांठ मनाई। इस अवसर पर 70 स्थानों पर निःशुल्क स्वास्थ्य जांच एवं चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। भारत में, क्षेत्रीय आधार पर ग्रिड प्रबंधन 60 के दशक में शुरू हुआ। प्रारंभ में, क्षेत्रीय ग्रिड बनाने के लिए ग्रिड को आपस में जोड़ा गया था। इसके बाद, भारत को ग्रिड के आधार पर 5 क्षेत्रों में विभाजित किया गया था :

  1. उत्तरी ग्रिड
  2. पूर्वी ग्रिड
  3. पश्चिमी ग्रिड
  4. उत्तर पूर्वी ग्रिड
  5. दक्षिणी क्षेत्र
उत्तर पूर्वी और पूर्वी ग्रिड को अक्टूबर 1991 में जोड़ा गया था। मार्च 2003 में पश्चिमी और उत्तर पूर्वी ग्रिड को आपस में जोड़ा गया। 2006 में, उत्तर और पूर्व ग्रिड आपस में जुड़े हुए थे। इस प्रकार, 4 क्षेत्रीय ग्रिड उत्तरी, पूर्वी, पश्चिमी और उत्तर पूर्वी ग्रिड एक आवृत्ति पर संचालित एक केंद्रीय ग्रिड बनाने के लिए आपस में जुड़े हुए थे। 2013 में 765kV रायचूर-सोलापुर ट्रांसमिशन लाइन के चालू होने के साथ दक्षिणी क्षेत्र को मध्य ग्रिड से जोड़ा गया था। इससे ‘वन नेशन’-‘वन ग्रिड’-‘वन फ्रीक्वेंसी’ का उद्देश्य हासिल किया गया। वर्तमान में, भारत की कुल अंतर-क्षेत्रीय पारेषण क्षमता (inter-regional transmission capacity) लगभग 1,12,250 मेगावाट है। इसके 2022 तक बढ़कर लगभग 1,18,740 मेगावाट होने की संभावना है। पावर ग्रिड एक भारतीय वैधानिक निगम है, जो बिजली मंत्रालय के अधीन काम करता है। इसका मुख्यालय गुरुग्राम में है।

दानिश सिद्दीकी को मरणोपरांत मिला मुंबई प्रेस क्लब का रेडइंक अवार्ड 2020

फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी, जिनकी अफगानिस्तान में एक असाइनमेंट के दौरान मृत्यु हो गई, को मरणोपरांत मुंबई प्रेस क्लब द्वारा 2020 के लिए 'जर्नलिस्ट ऑफ द ईयर' के रूप में सम्मानित किया गया है। CJI एन वी रमना ने वार्षिक 'रेडइंक अवार्ड्स फॉर एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म' प्रस्तुत किया। उन्होंने सिद्दीकी को "खोजी और प्रभावशाली समाचार फोटोग्राफी के अपने स्पेक्ट्रम के लिए" प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान किया। दानिश सिद्दीकी की पत्नी फ्रेडरिक सिद्दीकी (Frederike Siddiqui) ने पुरस्कार ग्रहण किया। वरिष्ठ पत्रकार प्रेम शंकर झा (Prem Shankar Jha), 83, को "उनके तीक्ष्ण और विश्लेषणात्मक लेखन के लंबे और विशिष्ट करियर के लिए" लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

निर्मला सीतारमण ने दिल्ली में 46वीं जीएसटी परिषद की बैठक की अध्यक्षता की

केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों की मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में जीएसटी परिषद की 46वीं बैठक नई दिल्ली में हुई। जीएसटी परिषद ने 45वीं जीएसटी परिषद की बैठक में अनुशंसित वस्त्रों की दरों में बदलाव के फैसले को टालने की सिफारिश की है। नतीजतन, कपड़ा क्षेत्र में 12% के बजाय 5% की मौजूदा जीएसटी दरें जारी रहेंगी। यह सम्मेलन विशेष महत्व प्राप्त करता है क्योंकि यह सीतारमण द्वारा 1 फरवरी को बहुप्रतीक्षित केंद्रीय बजट 2022-23 पेश करने से कुछ दिन पहले आया है, जिसके लिए वह हितधारकों के साथ बजट पूर्व परामर्श की एक श्रृंखला आयोजित कर रही है।

ऑनलाइन पॉलिसी बिक्री के लिए एलआईसी ने डिजी जोन का उद्घाटन किया

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने अपने डिजिटल फुटप्रिंट को बढ़ाने के अपने प्रयास के तहत बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स, मुंबई में "डिजी जोन (Digi Zone)" का उद्घाटन किया है। एलआईसी के डिजी जोन का उपयोग ग्राहक ऑनलाइन पॉलिसी खरीदने, प्रीमियम का भुगतान करने और अन्य सेवाओं का लाभ उठाने के लिए कर सकते हैं। टेक-संचालित जीवन बीमाकर्ता बनने के अपने प्रयासों के एक हिस्से के रूप में, एलआईसी डिजी जोन परिसर में स्थापित कियोस्क के माध्यम से अपने उत्पादों और सेवाओं से संबंधित जानकारी प्रदान करेगा।

एसबीआई कार्ड ने कार्ड टोकनाइजेशन के लिए पेटीएम से हाथ मिलाया

एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विसेज ने कार्डधारकों के डेटा की सुरक्षा के लिए कार्ड टोकनाइजेशन के लिए पेटीएम (Paytm) के साथ करार किया है। एसबीआई कार्ड ने पेटीएम के साथ गठजोड़ किया है ताकि कार्डधारक उपकरणों पर अपने कार्ड को टोकन कर सकें और पेटीएम के माध्यम से भुगतान कर सकें। टोकनाइजेशन से तात्पर्य मूल कार्ड नंबर को अद्वितीय वर्णों के एक सेट के साथ बदलकर मास्किंग करना है, जिसे टोकन कहा जाता है, जो लेनदेन की प्रक्रिया के दौरान ग्राहक के कार्ड के विवरण को सुरक्षित करता है।

ओडिशा में पेंशनभोगियों 2022 के लिए डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र प्रणाली शुरू

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य सरकार के पेंशनभोगियों के लिए पहचान के सत्यापन और जीवन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए एक ऑनलाइन सेवा शुरू की है। मुख्यमंत्री ने ओडिशा सिविल सेवा के नए भर्ती किए गए 153 अधिकारियों के लिए अभिविन्यास कार्यक्रम में भाग लेने के दौरान आभासी रूप से नई पहल की शुरुआत की। पेंशनभोगी अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस-आधारित वीडियो-सत्यापन प्रक्रिया का उपयोग करके पहचान और जीवन प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। यह पेंशनभोगियों के लिए बहुत मददगार होगा क्योंकि वे अपने मोबाइल फोन का उपयोग करके किसी भी सरकारी कार्यालय में आए बिना अपनी पहचान और जीवन प्रमाण पत्र डिजिटल रूप से जमा कर सकते हैं। यह सुविधा राज्य भर में स्थित 'मो सेवा केंद्रों (Mo Seva Kendras)' पर भी उपलब्ध होगी। पटनायक ने कहा कि डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र और ई-डेयरी की शुरुआत उनकी सरकार की 5टी और 'मो सरकार (Mo Sarkar)' पहल का हिस्सा है। 5T में टीम वर्क, प्रौद्योगिकी, पारदर्शिता, परिवर्तन और समय सीमा शामिल है, जिस पर सरकारी अधिकारियों और परियोजनाओं के प्रदर्शन को आंका जाता है, जबकि 'मो सरकार' पहल नागरिकों से सीधे यादृच्छिक प्रतिक्रिया प्रणाली के माध्यम से सार्वजनिक कार्यालयों में व्यावसायिकता और व्यवहार परिवर्तन लाने का प्रयास करती है।

सावित्रीबाई फुले

03 जनवरी, 2022 को प्रख्यात समाजसेवी और भारत में महिला शिक्षा की प्रबल समर्थक सावित्रीबाई फुले को देश भर में श्रद्धांजलि अर्पित की गई। महाराष्ट्र में इस दिवस को ‘बालिका दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। सावित्रीबाई फुले का जन्म 3 जनवरी, 1831 को महाराष्ट्र स्थित नायगाँव (सतारा ज़िला) में हुआ था और उन्हें भारत की प्रारंभिक आधुनिक नारीवादियों में से एक माना जाता है। वर्ष 1848 में उन्होंने देश में लड़कियों के लिये पुणे के भिडेवाडा में पहला विद्यालय शुरू किया था। महिला शिक्षा के बारे में जागरूकता फैलाने के उनके प्रयासों के कारण उन्हें पुरुष प्रधान समाज से बहिष्कार और अपमान का सामना करना पड़ा। मात्र 9 वर्ष की उम्र में सामाजिक कार्यकर्त्ता और समाज सुधारक, ज्योतिराव फुले के साथ उनका बाल विवाह कर दिया गया, और महिला शिक्षा को बढ़ावा देने की दिशा में सावित्रीबाई फुले के संघर्ष में ज्योतिराव फुले ने उनका पूरा समर्थन किया तथा उन्हीं की सहायता से सावित्रीबाई फुले पढ़ना और लिखना सीख सकीं। उस समय लड़कियों को पढ़ाना एक कट्टरपंथी विचार माना जाता था। जब वह स्कूल जाती थीं तो लोग अक्सर उन पर गोबर और पत्थर फेंकते थे लेकिन फिर भी वह अपने कर्त्तव्य पथ से विमुख नहीं हुईं। वह एक कवयित्री भी थीं, उन्हें आधुनिक मराठी काव्य का अग्रदूत माना जाता है। 10 मार्च, 1897 को प्लेग के कारण सावित्रीबाई फुले का निधन हो गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीर रानी वेलू नचियार को उनकी जयंती पर याद किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीर रानी वेलू नचियार को उनकी जयंती (3 जनवरी) पर याद किया। श्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि वेलू नचियार का अदम्य साहस आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करता रहेगा। उन्होंने कहा कि उपनिवेशवाद से लड़ने के लिए रानी वेलु नचियार की प्रतिबद्धता उल्लेखनीय थी। रानी वेलू नचियार (3 जनवरी 1730- 25 दिसम्बर 1796) 1780-1790 के समय में तमिलनाडु के शिवगंगा रियासत की रानी थीं। वह भारत में अंग्रेजी औपनिवेशिक शक्ति के खिलाफ लड़ने वाली पहली वीरांगना थीं। उन्हें तमिलनाडु में "वीरमंगई" नाम से भी जाना जाता हैं।

उपराष्ट्रपति संत कुरियाकोस एलियास चावरा की 150वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में शामिल हुए

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू केरल के कोट्टायम में संत कुरियाकोस एलियास चावरा की 150वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में शामिल हुए। इस अवसर पर उपराष्ट्रपति ने कहा कि संत चावरा हर मायने में एक सच्‍चे दूरदर्शी संत थे। उन्‍होंने 19वीं शताब्दी में केरल में आध्यात्मिक, शैक्षिक, सामाजिक और सांस्कृतिक सुधार के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। कुरिआकोसी इलिआस चावारा (जन्म- 10 फ़रवरी, 1805, अलप्पुझा, केरल; मृत्यु- 3 जनवरी, 1871, कोचीन) केरल के सीरियन कैथॉलिक संत तथा समाज सुधारक थे। 23 नवम्बर, 2014 को पोप फ़्राँसिस ने सेंट पीटर स्क्वायर पर उन्हें मरणोपरान्त संत की उपाधि दी।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.