Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

10 March 2022

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने जामनगर में डब्ल्यूएचओ वैश्विक पारंपरिक औषधि केंद्र की स्थापना को मंजूरी दे दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के बीच एक मेजबान देश समझौते पर हस्ताक्षर के साथ गुजरात के जामनगर में डब्ल्यूएचओ ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसिन (डब्ल्यूएचओ जीसीटीएम) की स्थापना को स्वीकृति दे दी है। आयुष मंत्रालय के तहत जामनगर में डब्ल्यूएचओ जीसीटीएम की स्थापना की जाएगी। यह दुनिया भर में पारंपरिक चिकित्सा के लिए प्रथम और एकमात्र आउटपोस्टिड वैश्विक केंद्र (कार्यालय) होगा। यह केन्‍द्र गुणवत्ता, सुरक्षा और प्रभावकारिता, पारंपरिक चिकित्सा की पहुंच और प्रासंगिक तकनीकी क्षेत्रों, उपकरणों और कार्यप्रणाली में मानदंड, मानकों और दिशानिर्देशों को विकसित करने के लिए काम करेगा। यह डेटा अंडरटेकिंग एनालिटिक्स एकत्र करने और प्रभाव का आकलन करने के लिए भी काम करेगा।

लद्दाख का विद्यालय शिक्षा विभाग, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबद्ध हो गया है

केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख का विद्यालय शिक्षा विभाग, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड-सी.बी.एस.ई. से संबद्ध हो गया है। पहले यह जम्मू-कश्मीर विद्यालय शिक्षा बोर्ड से संबद्ध था। जम्मू-कश्मीर के सरकारी विद्यालयों में 10वीं और 12वीं की परीक्षा के लिए जम्मू-कश्मीर विद्यालय शिक्षा बोर्ड से पहले से नामांकित छात्रों को छोड़कर लद्दाख के अन्‍य सभी छात्र इस वर्ष से सी.बी.एस.ई बोर्ड के तहत आ जाएंगे। सी.बी.एस.ई. ने लद्दाख के प्रधानाध्यापकों और प्रधानाचार्यों के लिए विशेष ऑनलाइन कार्यक्रम भी आयोजित किया। इस कार्यक्रम में उन्‍हें सम्‍बद्धता, परीक्षा प्रक्रिया, शिक्षण, अध्‍यापन, सीखने की कार्ययोजना और सूचना प्रौद्योगिकी से संबंधित आवश्‍यक गतिविधियों की जानकारी दी गई। लद्दाख से 40 शिक्षकों का एक समूह तीन दिन के शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए दिल्ली भेजा जा रहा है।

बंगलादेश की रिजवाना हसन को अंतर्राष्ट्रीय साहसी महिला पुरस्कार के लिए चुना गया

बंगलादेश की पर्यावरणविद अधिवक्ता रिजवाना हसन को वर्ष 2022 के अंतर्राष्ट्रीय साहसी महिला पुरस्कार के लिए चुना गया है। वे विश्व की उन 12 महिलाओं में शामिल हैं जिन्हें अपने समुदाय में बदलाव लाने के असाधारण साहस और नेतृत्व के लिए अमरीकी विदेश विभाग द्वारा सम्मानित किया जायेगा। अमरीका के विदेश मंत्री एंटनी जे ब्लिंकन 14 मार्च को एक वर्चुअल समारोह में इन 12 महिलाओं को पुरस्कृत करेंगे। रिजवाना हसन बंगलादेश पर्यावरण अधिवक्ता संघ की मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। उन्होंने वनों की कटाई, प्रदूषण, और अवैध भूमि विकास के खिलाफ कई मामले उठाए हैं। उन्हें पर्यावरण संरक्षण में सक्रिय रूप से कार्य करने के लिए वर्ष 2012 में रेमन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। अमरीकी विदेश विभाग ने इस पुरस्कार की शुरुआत वर्ष 2007 में की थी। अब तक 80 देशों की 170 महिलाओं को उनके साहस और हौसले के लिये सम्मानित किया जा चुका है।

भारत, बांग्लादेश और नेपाल ने मोटर वाहन संधि लागू करने के समझौता ज्ञापन को अंतिम रूप दिया

भारत, बांग्लादेश और नेपाल की दो दिवसीय BBIN बैठक नई दिल्ली में संपन्न हुई। भूटान ने पर्यवेक्षक देश के रूप में बैठक में भाग लिया। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यात्री वाहन, व्यक्तिगत वाहन और माल ढ़ुलाई वाहनों के यातायात नियमन के BBIN मोटर वाहन समझौते पर चर्चा के लिए बैठक आयोजित की गई। बैठक में BBIN समझौता ज्ञापन पर भारत, बांग्लादेश और नेपाल द्वारा अंतिम रूप दिया गया। भूटान द्वारा मोटर वाहन समझौता लंबित है। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव स्मिता पंत ने जबकि बांग्लादेश के शिष्टमंडल का नेतृत्व वहां के विदेश मंत्रालय के दक्षिण एशिया मामले के महानिदेशक ए.टी.एम. रोकेबुल हक ने किया। नेपाली पक्ष का नेतृत्व वहां के आधारभूत ढ़ांचे और परिवहन मंत्रालय के संयुक्त सचिव केशब कुमार शर्मा ने और भूटानी पर्यवेक्षक दल का नेतृत्व नई दिल्ली में रॉयल भूटानी दूतावास के प्रथम सचिव थिनले नोरबू ने किया। बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल (BBIN) मोटर वाहन समझौते (MVA) पर 2015 में सभी चार BBIN देशों द्वारा हस्ताक्षर किए गए थे, लेकिन अभी तक इसे लागू नहीं किया गया है। BBIN मोटर वाहन समझौते (MVA) पर जून 2015 में थिम्पू, भूटान में BBIN परिवहन मंत्रियों की बैठक में हस्ताक्षर किए गए थे। BBIN MVA इन चार देशों को कार्गो और यात्रियों के परिवहन के लिए एक दूसरे के देश में अपने वाहनों को चलाने की अनुमति देगा। दूसरे देश के क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए, वाहनों को एक ऑनलाइन इलेक्ट्रॉनिक परमिट प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। इस समझौते के तहत, सीमा पर एक देश के ट्रक से दूसरे देश के ट्रक में माल के ट्रांस-शिपमेंट की कोई आवश्यकता नहीं है। मालवाहक वाहनों पर इलेक्ट्रॉनिक सील लगेगी ताकि उन्हें ट्रैक किया जा सके। हर बार कंटेनर का दरवाजा खुलने पर रेगुलेटर अलर्ट हो जाएंगे। चूंकि कार्गो वाहनों में GPS ट्रैकिंग डिवाइस के साथ इलेक्ट्रॉनिक सील लगी होती है, इसलिए सीमा पर सीमा शुल्क निकासी की आवश्यकता नहीं होती है।

भारत के राष्ट्रपति ने "भारतीय संस्कृति में मानवीय जिजीविषा" पुस्तक की प्रथम प्रति प्राप्त की

भारत के राष्ट्रपति, श्री राम नाथ कोविन्द ने राष्ट्रपति भवन में आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी के निबंध संकलन "भारतीय संस्कृति में मानवीय जिजीविषा" की पहली प्रति आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी मेमोरियल ट्रस्ट की अध्यक्ष एवं निबंध संकलन की संपादक डॉ अपर्णा द्विवेदी से प्राप्त की। भारतीय परंपरा में आधुनिकता और आधुनिकता में परंपरा के अप्रतिम द्रष्टा, आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी ने भाषा विज्ञान, समालोचना, सांस्कृतिक विमर्श, उपन्यास तथा निबंध के क्षेत्र में नए मार्ग प्रशस्त किए। संत कबीर को महान साहित्यिक कवि के रूप में प्रतिष्ठित करने का श्रेय उन्हें ही दिया जाता है। गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर के सानिध्य में उनके योगदान ने हमारी साहित्यिक विरासत को समृद्ध किया है।

अमरीका, यूरोपीय संघ और ब्रिटेन ने रूस के तेल और गैस क्षेत्र पर नये प्रतिबंध लगा दिये

अमरीका, यूरोपीय संघ और ब्रिटेन ने यूक्रेन में सैन्‍य कार्रवाई के लिए रूस के तेल और गैस क्षेत्र पर नये प्रतिबंध लगा दिये हैं। अमरीका के राष्‍ट्रपति जो. बाइडेन ने व्‍हाइट हाउस में रूस से तेल और गैस के सभी आयातों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। उन्‍होंने कहा कि रूस का तेल अब अमरीकी बंदरगाहों पर स्‍वीकार्य नहीं होगा और अमरीकी लोग रूसी राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमिर पुतिन को एक और आर्थिक आघात पहुंचायेंगे। राष्‍ट्रपति बाइडेन ने कहा कि इस कदम से रूसी अर्थव्‍यवस्‍था को भारी क्षति पहुंचेगी। हालांकि उन्‍होंने स्‍वीकार किया रूस से तेल आयात बंद किये जाने से अमरीका में तेल की कीमतें बढेंगी। उन्‍होंने कहा कि यह निर्णय सहयोगी देशों और यूरोपीय साझेदारों के साथ परामर्श से लिया गया है। इससे पहले यूरोपीय संघ ने कहा था कि वह रूस से गैस के आयात में दो तिहाई की कमी करेगा। 27 देशों के यूरोपीय संघ को अपनी गैस जरूरतों के 40 प्रतिशत की आपूर्ति रूस से करनी पड़ती है। संघ ने कहा कि वह गैस ऊर्जा के अन्‍य विकल्‍प अपनायेगा और तेजी से स्‍वच्‍छ ऊर्जा स्रोतों का विस्‍तार करेगा। इस प्रकार 2030 से पहले जीवाश्‍म ईंधन के लिए रूस पर निर्भरता समाप्‍त कर लेगा।

डोनर मंत्रालय ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर ’उत्तर-पूर्वी क्षेत्र की नारी शक्ति’ कार्यक्रम का आयोजन किया

भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत उत्तर-पूर्वी क्षेत्र विकास मंत्रालय (डोनर मंत्रालय) ने सोशल मीडिया पर योजनाबद्ध गतिविधियों की एक श्रृंखला और ऑफलाइन गतिविधियों के साथ अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस उत्साहपूर्वक मनाया। अभियान की शुरुआत डोनर मंत्रालय की महिला कर्मियों और एनईसी और एनईआरसीआरएमएस सहित उसके सहयोगी संगठनों के ग्रीटिंग पोस्टर और स्निपेट के साथ हुई। डोनर मंत्रालय के सोशल चैनलों पर ’थैंक यू नारी शक्ति ऑफ नॉर्थ ईस्ट’ विषय के साथ एक सोशल मीडिया अभियान चलाया गया। इस अभियान ने उत्तर-पूर्व क्षेत्र से हमारी नारी शक्ति की महान उपलब्धियों का उत्सव मनाया। महिला दिवस के लिए अभियान ’उत्तर-पूर्व की नारी शक्ति’ को आधिकारिक तौर पर डोनर मंत्रालय के सोशल मीडिया चैनलों पर केंद्रीय मंत्री श्री जी किशन रेड्डी द्वारा 4 मार्च को लांच किया गया था।

चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष ने मैकग्रेगर मेमोरियल मेडल प्रदान किए

जनरल एमएम नरवणे, कार्यवाहक अध्यक्ष चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (सीओएससी) और सेनाध्यक्ष ने चार पुरस्कार विजेताओं को प्रतिष्ठित यूएसआई मैकग्रेगर मेमोरियल मेडल प्रदान किया, जिनमें से भारतीय थलसेना से दो और भारतीय नौसेना व भारतीय वायुसेना से एक-एक विजेता शामिल थे। इन्हें सामरिक गतिविधि संबंधी सैनिक सर्वेक्षण और चरम साहसिक खेलों में उनकी उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए पदक प्रदान किए गए। राष्ट्रीय सुरक्षा और सैन्य मामलों पर शोध और परिचर्चा के लिए 1870 में स्थापित भारत के सबसे पुराने तीनों सेना के थिंक टैंक यूनाइटेड सर्विस इंस्टीट्यूशन (यूएसआई) में पुरस्कार समारोह का आयोजन किया गया। मैकग्रेगर मेमोरियल मेडल की स्थापना 3 जुलाई 1888 को मेजर जनरल सर चाल्र्स मेटकाफ मैकग्रेगर, केसीबी, सीएसआई, सीआईई, यूएसआई के संस्थापक की स्मृति में की गई थी। आरंभ में यह पदक सैन्य टोही और मध्य एशिया, अफगानिस्तान, तिब्बत और बर्मा में ब्रिटिश सेना के अभियानों जैसे खोजी यात्रा के लिए प्रदान किया जाता था। स्वतंत्रता के बाद साहसिक गतिविधियों के लिए भी यह पदक देने का निर्णय लिया गया। यह पदक भारतीय सशस्त्र बलों, प्रादेशिक सेना और असम राइफल्स के सेवारत और सेवानिवृत्त सभी रैंकों के लिए खुला है।

ऑस्ट्रेलियाई सेना अनुसंधान केंद्र (आर्क) ने भारत के सेंटर फॉर लैंड वारफेयर स्टडीज (क्लॉज़) के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए

ऑस्ट्रेलियाई सेना प्रमुख ने 09 मार्च 2022 को नई दिल्ली में भारतीय सेना के थिंक टैंक सेंटर फॉर लैंड वारफेयर स्टडीज (क्लॉज़) का दौरा किया, जहां पर उन्होंने थल सेना के वाइस चीफ लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे, अध्यक्ष, बोर्ड ऑफ गवर्नर्स, क्लॉज़ और लेफ्टिनेंट जनरल (डॉ.) रणबीर सिंह (सेवानिवृत्त), निदेशक सेंटर फॉर लैंड वारफेयर स्टडीज के साथ बातचीत की। ऑस्ट्रेलियाई जनरल को क्लॉज़ की अनुसंधान गतिविधियों और इसके आउटरीच क्रिया-कलापों के बारे में जानकारी दी गई। अकादमिक सहयोग और जुड़ाव स्थापित करने के लिए ऑस्ट्रेलियाई सेना अनुसंधान केंद्र (आर्क) और सेंटर फॉर लैंड वारफेयर स्टडीज (क्लॉज़) के बीच एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर भी हस्ताक्षर किए गए।

केन्द्रीय मंत्री श्री कैलाश चौधरी ने किया पूसा कृषि विज्ञान मेला–2022 का शुभारंभ

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याणमंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर के मार्गदर्शन में, भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (IARI) द्वारा आयोजित तीन दिवसीय पूसा कृषि विज्ञान मेले का उद्घाटन केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी ने किया। डेयर के सचिव व भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् के महानिदेशक (ICAR) डॉ. त्रिलोचन महापात्र ने अध्यक्षता की। इस अवसर पर, श्री चौधरी ने दो एकड़ क्षेत्र में विकसित “पूसा एग्री कृषि हाट परिसर” राष्ट्र को समर्पित किया। मेले में देश के विभिन्न भागों से पधारे हजारों प्रगतिशील किसान, महिला उद्यमी व स्टार्ट-अप्स शामिल हुए हैं।

केंद्र ने राष्ट्रीय खेल संघों को दी जाने वाली वित्तीय सहायता के नियमों में बदलाव किया है

केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय खेल संघों -एनएसएफ को विभिन्न खेल गतिविधियों के लिए दी जाने वाली वित्तीय सहायता के नियमों में समय की आवश्‍यकताओं के अनुरूप बदलाव किया है। खेल और युवा मामलों के मंत्रालय ने इसके तहत भारतीय खिलाड़ियों और टीमों के अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में प्रशिक्षण और भागीदारी के लिए वित्‍तीय सहायता से संबंधित नियमों को संशोधित किया है जो 1 मार्च 2022 से प्रभावी हो गए हैं। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि जिन नियमों में संशोधन किया गया है वे 2015 से लागू थे लेकिन अब समय के हिसाब से पर्याप्त नहीं हैं। उन्होंने कहा कि नए नियम, विशेष रूप से विकलांग खिलाड़ियों की मदद , देश में अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों की मेजबानी करने और यह सुनिश्चित करने के लिए बनाए गए है क‍ि सभी भारतीय खेल प्रशि‍क्षकों को नवीनतम प्रशिक्षण मिल सके।

वैज्ञानिकों ने सूर्य के क्रोमोस्फीयर में प्लाज़्मा जेट के पीछे के विज्ञान का पता लगाया

भारतीय तारा भौतिकी संस्थान (Indian Institute of Astrophysics- IIA) के वैज्ञानिकों ने हाल ही में सूर्य के क्रोमोस्फीयर में प्लाज़्मा जेट के पीछे के विज्ञान का पता लगाया है। क्रोमोस्‍फीयर वायुमंडलीय परत है जो कि सूर्य की दिखाई देने वाली सतह के ठीक ऊपर होती है। IIA भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग का एक स्वायत्त संस्थान है। सोलर जेट या स्पिक्यूल्स, पतली घास जैसी प्लाज़्मा संरचनाओं के रूप में दिखाई देते हैं जो सतह से लगातार ऊपर उठते रहते हैं और फिर गुरुत्त्वाकर्षण द्वारा नीचे लाए जाते हैं। इन स्पिक्यूल्स द्वारा वहन की जाने वाली ऊर्जा की मात्रा और गति सौर प्लाज़्मा भौतिकी में मौलिक रुचि का विषय है। जिन प्रक्रियाओं द्वारा सौर पवन को प्लाज़्मा की आपूर्ति की जाती है और सौर वायुमंडल एक मिलियन डिग्री सेल्सियस तक गर्म हो जाता है, उनके बारे में अभी तक कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है। वैज्ञानिकों ने विस्तार पूर्वक यह बताया कि दिखाई देने वाली सौर सतह (फोटोस्फीयर) के ठीक नीचे प्लाज़्मा संवहन की स्थिति में होता है जो कि निचली सतह पर किसी बर्तन में उबलते हुए गर्म पानी के समान प्रतीत होता है। यह गर्म-सघन कोर में परमाणु ऊर्जा द्वारा संचालित होता है।

पाल-दाधवाव नरसंहार के 100 साल पूरे हुए

7 मार्च, 2022 को पाल-दाधवाव हत्याकांड के 100 साल पूरे हुए। पाल-दाधवाव हत्याकांड अंग्रेजों द्वारा लगभग 1,200 आदिवासी क्रांतिकारियों (भील) की हत्या को संदर्भित करता है। यह 7 मार्च 1922 को साबरकांठा जिले के पाल-चितरिया और दाधवाव गांवों में हुआ था, जो उस समय इदर राज्य (वर्तमान गुजरात राज्य) का हिस्सा था। अमलकी एकादशी पर, ग्रामीण ‘एकी आंदोलन’ के हिस्से के रूप में हीर नदी के तट पर एकत्र हुए थे। एकी आंदोलन का नेतृत्व मोतीलाल तेजावत (Motilal Tejawat) ने किया था और इसका उद्देश्य अंग्रेजों और सामंतों द्वारा उन पर लगाए गए भू-राजस्व कर का विरोध करना था। इससे पहले, उदयपुर राज्य (राजस्थान) ने मोतीलाल तेजावत को गैरकानूनी घोषित कर दिया था और उनके सिर पर 500 रुपये का इनाम घोषित किया था। अंग्रेजों की मेवाड़ भील कोर (MBC) मोतीलाल तेजावत की तलाश कर रही थी। आदिवासियों के जमा होने की सूचना MBC को मिली और वे मौके पर गए। जैसे ही आदिवासियों ने भू-राजस्व कर के खिलाफ नारे लगाए, ब्रिटिश सैनिकों ने उन पर गोलियां चला दीं। मारे गए आदिवासियों की संख्या का ठीक-ठीक पता नहीं है। अंग्रेजों का दावा है कि 22 लोग मारे गए थे। लेकिन आदिवासियों का मानना ​​है कि उनमें से करीब 1,200 की मौत हो गई थी। गुजरात सरकार के अनुसार, पाल-दाधवाव हत्याकांड जलियांवाला बाग की घटना से भी बड़ा है। जलियांवाला बाग हत्याकांड में, जनरल डायर की सेना द्वारा की गई गोलीबारी के बाद 500-1,000 लोग मारे गए थे।

बोधगया में बनाई जा रही है शयन मुद्रा में भारत में भगवान बुद्ध की सबसे बड़ी मूर्ति

भारत में शयन मुद्रा में भगवान बुद्ध की सबसे बड़ी मूर्ति बिहार के बोधगया में बन रही है। भारत के बौद्ध तीर्थयात्रा सर्किट को सक्रिय रूप से पुनर्जीवित किया जा रहा है और बोधगया इसका एक अभिन्न अंग है। इस प्रतिमा का निर्माण बुद्ध इंटरनेशनल वेलफेयर मिशन द्वारा किया जा रहा है। यह प्रतिमा 30 फीट ऊंची और 100 फीट लंबी होगी। इस प्रतिमा में भगवान बुद्ध शयन मुद्रा में हैं। इस विशाल प्रतिमा का निर्माण वर्ष 2019 में शुरू हुआ था। इस प्रतिमा को फाइबरग्लास से बनाया जा रहा है और इसे कोलकाता के मूर्तिकारों द्वारा बनाया जा रहा है। फरवरी 2023 से भगवान बुद्ध की विशाल प्रतिमा भक्तों के लिए खोल दी जाएगी। बोधगया वह स्थान है जहां भगवान बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी, इसलिए यहां मूर्ति बनाई जा रही है। बोधगया बिहार के गया जिले में एक तीर्थ स्थल और धार्मिक स्थल है और महाबोधि मंदिर परिसर से जुड़ा हुआ है।

तेलंगाना सरकार की दलित बंधु योजना

दलित बंधु तेलंगाना सरकार का प्रमुख कार्यक्रम है। यह प्रति परिवार 10 लाख रुपये के प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से राज्य के दलित परिवारों को सशक्त बनाने और उनमें उद्यमिता को सक्षम करने के लिए एक कल्याणकारी योजना है। तेलंगाना सरकार ने अपने राज्य के बजट में वर्ष 2022-23 के लिए दलित बंधु योजना के लिए 17,700 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। इस योजना की घोषणा राज्य सरकार ने 2021 में की थी। अगस्त 2021 में इस योजना को पहले तुर्कपल्ली मंडल के वसलामरी गांव में शुरू किया गया था, और बाद में इसे हुजुराबाद विधानसभा क्षेत्र में लॉन्च किया गया था। इसे दलित परिवारों की सहायता के उद्देश्य से एक सामाजिक कल्याण योजना के रूप में तैयार किया गया है। इस पहल से राज्य में दलित उद्यमिता को प्रोत्साहन मिलेगा और उन सभी लोगों को प्रति परिवार 10 लाख रुपये का प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण प्रदान किया जाएगा, जिनके पास व्यवसाय स्थापित करने के लिए बैंक गारंटी नहीं है। यह किसी भी प्रकार का ऋण नहीं है, इसलिए पुनर्भुगतान की कोई आवश्यकता नहीं है। इस लेन-देन में कोई बिचौलिया नहीं होगा। पात्र लाभार्थी अपने बैंक खातों में राशि प्राप्त करेंगे।

छत्तीसगढ़ सरकार ने लांच की कौशल्या मातृत्व योजना

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ‘कौशल्या मातृत्व योजना’ (Kaushalya Matritva Yojana) की शुरुआत की है। इस अवसर पर राज्य स्तरीय सम्मेलन में पांच महिला लाभार्थियों को सुरक्षित मातृत्व के लिए पांच-पांच हजार रुपये के चेक भी दिए गए। इस योजना के तहत दूसरी बालिका के जन्म पर महिलाओं को 5000 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री द्वारा ‘कन्या विवाह योजना’ कॉफी टेबल बुक, महिला सशक्तिकरण से संबंधित योजनाओं के ब्रोशर और सखी वन स्टॉप सेंटर टेलीफोन निर्देशिका का भी विमोचन किया गया। यह योजना आर्थिक भागीदारी में पुरुषों से पिछड़ रही महिलाओं के मुद्दों को संबोधित करने के लिए भी शुरू की गई है। छत्तीसगढ़ की महिलाएं बिजली का उत्पादन करेंगी और गाय के गोबर से पेंट का निर्माण करेंगी। इससे रोजगार के अवसर पैदा होंगे और महिलाओं की आय में वृद्धि होगी। छत्तीसगढ़ सरकार ने ‘तीजा-पोरा’ के अवसर पर स्वयं सहायता समूहों के 13 करोड़ रुपये के ऋण माफ किए और महिला कोष के माध्यम से उनकी ऋण सीमा भी दोगुनी की गई।

श्रीनगर रिंग रोड के निर्माण के लिए मिट्टी प्राप्त करने के लिए करेवा की खुदाई

करेवा कश्मीर घाटी में पाए जाने वाले अत्यधिक उपजाऊ जलोढ़ मिट्टी के भंडार हैं। कश्मीरी बोली में, करेवा का अर्थ है “ऊपर उठी हुई भूमि।गॉडविन-ऑस्टिन (1859) करेवा शब्द का उपयोग करने वाले पहले व्यक्ति थे। करेवा तलछट कश्मीर बेसिन के पैलियोज़ोइक-मेसोज़ोइक तलछट के ऊपर पाए जाते हैं और वे छतों, पठारों और टीले के रूप में होते हैं। आम तौर पर, वे हिमालय की पीर पंजाल रेंज जैसे पहाड़ों की तहों में स्थित हो सकते हैं। करेवा तलछट में मानव सभ्यताओं के अवशेष, जीवाश्म, और उपजाऊ मिट्टी जमा होते हैं। इस प्रकार वे विशाल पुरातात्विक और कृषि महत्व रखते हैं। करेवा केसर, बादाम, सेब और अन्य नकदी फसलों की खेती के लिए सबसे उपयुक्त हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि करेवा अत्यधिक उपजाऊ जलोढ़ मिट्टी और बलुआ पत्थर जैसे अन्य तलछट से बना है। करेवा कश्मीरी केसर के लिए सबसे प्रसिद्ध हैं। मई 2020 में, कश्मीरी केसर के गहरे लाल रंग, उच्च सुगंध और स्वाद जैसी अनूठी विशेषताओं के लिए एक भौगोलिक संकेत (GI) टैग दिया गया था। मुख्य रूप से मिट्टी के खनन के लिए विकास के नाम पर करेवा नष्ट किया जा रहा है। 1995 और 2005 के बीच, 125 किलोमीटर लंबी काजीगुंड-बारामूला रेलवे लाइन के निर्माण की सुविधा के लिए करेवा को नष्ट कर दिया गया था। श्रीनगर हवाई अड्डे के निर्माण के लिए बडगाम में दामोदर करेवा को नष्ट किया गया था। पिछले साल, बारामूला प्रशासन ने श्रीनगर रिंग रोड के निर्माण के लिए मिट्टी प्राप्त करने के लिए करेवा की खुदाई की अनुमति दी थी।

असम : स्थानीय चुनावों में बैलट पेपर की जगह EVM का इस्तेमाल किया जायेगा

असम के मंत्रिमंडल ने मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा की अध्यक्षता में हुई बैठक में गुवाहाटी नगर निगम के चुनावों में कागजी मतपत्रों को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) से बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। गुवाहाटी नगर निगम (संशोधन) विधेयक, 2022 को मतपत्रों को EVM से रीप्लेस करने के लिए जो मंजूरी दी गई थी, यह घोषणा चुनावों में दक्षता और पारदर्शिता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से की गई है। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) वोटिंग मशीन हैं जो वोट डालने और गिनने में मदद करती हैं। मतदान इकाई और नियंत्रण इकाई ईवीएम के दो भाग हैं। एक केबल इन इकाइयों को आपस में जोड़ती है। पीठासीन अधिकारी या मतदान अधिकारी EVM की कंट्रोल यूनिट का प्रभारी होता है। बैलेट यूनिट को वोटिंग कंपार्टमेंट में रखा जाता है ताकि कोई व्यक्ति अपना वोट डाल सके। ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि मतदान अधिकारी किसी की पहचान की पुष्टि कर सके। मशीन पर उम्मीदवारों के नाम और/या प्रतीकों की एक सूची होती है जिसके आगे नीले बटन का बटन होता है। व्यक्ति उम्मीदवार के नाम के आगे वाले बटन को दबाकर वोट कर सकता है।

मानस राष्ट्रीय उद्यान में बाघों की आबादी में वृद्धि दर्ज की गई

असम में मानस नेशनल पार्क और टाइगर रिजर्व में गैंडों और बाघों की आबादी में तेज वृद्धि देखी गई है। राष्ट्रीय उद्यान के अधिकारियों को उम्मीद है कि 2021 की जनगणना के अनुसार बाघों की आबादी 48 से बढ़कर 60 से अधिक हो जाएगी। 2010 में, इस पार्क की बाघों की आबादी 10 दर्ज की गई थी जबकि 2020 में यह बढ़कर 30 हो गई थी। 2010 में, मानस राष्ट्रीय उद्यान में पहली बाघ गणना के बाद बाघ संरक्षण प्राधिकरण ने अपने विश्लेषण के दौरान कहा था कि राष्ट्रीय उद्यान की बाघों की आबादी 2020 में दोगुनी हो जाएगी और यह 30 तक पहुंच जाएगी। 2021 की जनगणना में, पार्क में 48 बाघों की गिनती की गई थी, जिसका मतलब है कि एक साल के भीतर बाघों की आबादी में 18 की वृद्धि हुई थी। 2022 की जनगणना चल रही है और यह मार्च तक समाप्त हो जाएगी और उम्मीद की जा रही है कि यह जनसंख्या 60 से अधिक हो जाएगी। इस पार्क की गैंडे आबादी में भी वृद्धि हुई है। इंडियन राइनो विजन 2020 (IRV 2020) के तहत, असम सरकार ने 2005 में मानस नेशनल पार्क में गैंडों को फिर से लाने का फैसला किया, और 2006 में काजीरंगा के पास सेंटर फॉर वाइल्डलाइफ रिहैबिलिटेशन एंड कंजर्वेशन (CWRC) से पहले गैंडे को पार्क में स्थानांतरित किया गया था।

दिल्ली शहरी खेती अभियान

दिल्ली सरकार द्वारा शहरी खेती के लिए एक मेगा अभियान शुरू किया जाएगा और 25 अप्रैल को एक गोलमेज सम्मेलन भी आयोजित किया जाएगा जिसमें भविष्य की कार्रवाई पर चर्चा की जाएगी। इस पहल को जन आंदोलन बनाने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली पर्यावरण संरक्षण समिति का भी गठन किया जाएगा। इस अभियान का नोडल विभाग उद्यान विभाग होगा। इस अभियान के माध्यम से दिल्ली के लोग अपने दैनिक जीवन में अत्यधिक रासायनिक उत्पादों की खपत को कम करने में सक्षम होंगे और इसलिए उनके स्वास्थ्य में सुधार होगा। 25 अप्रैल को विभिन्न विशेषज्ञों के साथ एक गोलमेज सम्मेलन आयोजित किया जाएगा जिसमें चर्चा की जाएगी कि यह अभियान को कैसे शुरू किया जा सकता है। दिल्ली सचिवालय में आयोजित होने वाले इस सम्मेलन में सरकारी अधिकारियों के साथ पूसा संस्थान और अन्य संगठनों के विशेषज्ञ भी मौजूद रहेंगे। इस उद्देश्य के लिए दो कारकों पर आधारित एक प्राथमिक प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा। सबसे पहले, पूसा संस्थान की सहायता से, दिल्ली के निवासियों को वार्ड-दर-वार्ड आधार पर प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। दिल्ली में 300 वार्ड हैं।

प्रियंका नुटक्की बनी भारत की 23वीं महिला ग्रैंडमास्टर

19 वर्षीय प्रियंका नुटक्की ने MPL की सैंतालीसवीं राष्ट्रीय महिला शतरंज चैंपियनशिप में अपना अंतिम WGM-मानदंड हासिल कर लिया है। वह भारत की तेईसवीं महिला ग्रैंडमास्टर बनीं। वह आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा की रहने वाली हैं। प्रियंका नुटक्की ने जनवरी 2019 में अपना पहला WGM-मानदंड हासिल किया और अगले दो महीनों में 2300 रेटिंग मानदंड को पार कर लिया। हालाँकि, बहुत सारे खिलाड़ियों की तरह, कोविड -19 महामारी ने उनके खिताब की उम्मीदों में देरी की।

डीएन पटेल टीडीसैट के अध्यक्ष नियुक्त

केंद्र सरकार ने दूरसंचार विवाद निपटान और अपीलीय न्यायाधिकरण (TDSAT) के अध्यक्ष के रूप में दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति धीरूभाई नारनभाई पटेल को नियुक्त किया है। उन्हें 7 जून, 2019 को दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था, और अब उन्हें 12 मार्च, 2022 को उनकी सेवानिवृत्ति से कुछ दिन पहले TDSAT का अध्यक्ष बनाया गया है।

बैंक बोर्ड ब्यूरो ने पीएसबी के प्रबंधन के लिए विकास कार्यक्रम पेश किया

बैंक बोर्ड ब्यूरो (BBB) ने बैंक बोर्डों की गुणवत्ता बढ़ाने के लक्ष्य के साथ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक प्रबंधन के लिए एक विकास कार्यक्रम शुरू किया है। बैंक बोर्ड ब्यूरो के अनुसार, नौ महीने का निदेशक विकास कार्यक्रम (Directors' Development Programme - DDP) सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और वित्तीय संस्थानों के निदेशकों के लिए बनाया गया है, जिसका मुख्य उद्देश्य निदेशक की प्रभावशीलता में सुधार करना और बोर्डों पर उनके प्रभाव को बढ़ाना है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य निदेशकों को व्यवसाय के भविष्य के बारे में सोचने में मदद करना और विश्व परिदृश्य में पीएसबी के प्रदर्शन के स्तर में सुधार के लिए प्रबंधन और हितधारकों के लिए ज्ञान और परामर्श का स्रोत बनने के लिए खुद को उन्नत करना है। आईबीए और अन्य के साथ साझेदारी में विकसित पाठ्यक्रम, निदेशक मंडल को सशक्त बनाने और समृद्ध करने में सहायता करेगा, जो निर्णय लेने के लिए महत्वपूर्ण है। वित्तीय सेवा सचिव संजय मल्होत्रा, जो बीबीबी सदस्य भी हैं, ने टिप्पणी की कि इस पाठ्यक्रम के दौरान जो सीखा जा सकता है उसका कोई अंत नहीं है। इसमें कहा गया है कि कार्यक्रम में संगोष्ठी, आमने-सामने संवादात्मक सत्र और स्व-गति वाले ऑनलाइन मॉड्यूल शामिल हैं, और यह पद्धति क्रमशः नए और अनुभवी निर्देशकों के लिए परिचय और पुनश्चर्या भागों के साथ एक अभ्यासकर्ता दृष्टिकोण पर आधारित है। घोषणा के अनुसार, प्रतिभागी केस स्टडी, सिमुलेशन और रोल प्ले के माध्यम से अपने नए ज्ञान को व्यवहार में लाने में सक्षम होंगे। रिपोर्ट के अनुसार, कॉरपोरेट नेताओं और उद्योग के विशेषज्ञों के साथ बातचीत से प्रमुख मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ेगी।

RIL ने मुंबई में खोला भारत का सबसे बड़ा व्यापार और सांस्कृतिक केंद्र

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने जियो वर्ल्ड सेंटर (Jio World Center) खोलने की घोषणा की है, जो भारत का सबसे बड़ा और सबसे प्रतिष्ठित बहुआयामी गंतव्य होगा। केंद्र, जो मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में 18.5 एकड़ में फैला है और इसकी परिकल्पना रिलायंस इंडस्ट्रीज की निदेशक और रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक-अध्यक्ष नीता अंबानी ने की थी और यह एक ऐतिहासिक व्यवसाय, वाणिज्य और संस्कृति गंतव्य बनने के लिए तैयार है, जो भारत के लोगों को विश्व स्तरीय मील का पत्थर प्रदान करेगा।

भारत के डिजिटल इकोसिस्टम को बढ़ावा देने के लिए एक्सिस बैंक और एयरटेल का समझौता

एक्सिस बैंक (Axis Bank) और भारती एयरटेल (Bharti Airtel) ने वित्तीय समाधानों की एक श्रृंखला के माध्यम से भारत में डिजिटल पारिस्थितिकी तंत्र के विकास को मजबूत करने के लिए एक रणनीतिक साझेदारी में प्रवेश किया है। साझेदारी एयरटेल के 340 मिलियन से अधिक ग्राहकों के लिए एक्सिस बैंक से क्रेडिट और विभिन्न डिजिटल वित्तीय पेशकशों तक पहुंच को सक्षम करेगी। इनमें उद्योग के अग्रणी लाभों के साथ अपनी तरह का पहला सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड 'एयरटेल एक्सिस बैंक क्रेडिट कार्ड (Airtel Axis Bank Credit Card)', प्री-अप्रूव्ड इंस्टेंट लोन, बाय नाउ पे लेटर ऑफरिंग और कई अन्य शामिल होंगे।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.