Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

10 May 2022

APEDA के माध्यम से टिशू कल्चर प्लांट्स/पौधों के निर्यात को प्रोत्साहन

हाल ही केंद्र ने कृषि एवं प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA) के माध्यम से टिशू कल्चर प्लांट्स/पौधों (Tissue Culture Plants) के निर्यात को प्रोत्साहन देने के क्रम में बायोटेक्नोलॉजी विभाग (DBT) से मान्यता प्राप्त भारत भर की टिशू कल्चर लैबोरेटरीज़ के साथ मिलकर “वनस्पति, जीवित पौधों, कट फ्लॉवर्स जैसे टिशू कल्चर पौधों और रोपण सामग्री का निर्यात संवर्द्धन” पर एक वेबिनार का आयोजन किया। इसका उद्देश्य टिशू कल्चर प्लांट्स (Tissue Culture Plants) के निर्यात को बढ़ावा देना है। यह ‘उपयुक्त विकास माध्यम’ में पौधे के ऊतक के एक छोटे से टुकड़े से या पौधे की बढ़ती युक्तियों से कोशिकाओं को हटाकर नए पौधों के उत्पादन की एक प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में ‘विकास माध्यम’ या ‘कल्चर सॉल्यूशन’ बहुत महत्त्वपूर्ण है क्योंकि इसका उपयोग पौधों के ऊतकों को उगाने के लिये किया जाता है और इसमें 'जेली' के रूप में पौधों के विभिन्न पोषक तत्त्व होते हैं जिन्हें पौधों के हार्मोन के रूप में जाना जाता है जो पौधों की वृद्धि के लिये आवश्यक हैं।

IMD ने चक्रवात असानी के 'गंभीर चक्रवात' के रूप में बदलने की भविष्यवाणी की

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने चक्रवात असानी के बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्वी क्षेत्रों में 'गंभीर चक्रवात' के रूप में बदलने की भविष्यवाणी की है। चक्रवात असानी का नामकरण श्रीलंका ने किया है। सिंहली में इसका अर्थ 'क्रोध' होता है। 2020-21 में भारत में आने वाले चक्रवात थे: तौकते, यास, निसर्ग, अम्फान। भारत में द्विवार्षिक चक्रवात का मौसम होता है जो मार्च से मई और अक्तूबर से दिसंबर के बीच का समय है लेकिन दुर्लभ अवसरों पर जून और सितंबर के महीनों में भी चक्रवात आते हैं। उष्णकटिबंधीय चक्रवात एक तीव्र गोलाकार तूफान है जो गर्म उष्णकटिबंधीय महासागरों में उत्पन्न होता है और कम वायुमंडलीय दबाव, तेज़ हवाएँ व भारी बारिश इसकी विशेषताएँ हैं। उष्णकटिबंधीय चक्रवातों की विशिष्ट विशेषताओं में एक चक्रवात की आंँख (Eye) या केंद्र में साफ आसमान, गर्म तापमान और कम वायुमंडलीय दबाव का क्षेत्र होता है।

सरकार ने उच्‍चतम न्‍यायालय को बताया - वह राजद्रोह पर भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए के प्रावधानों पर पुनर्विचार और फिर से जांच करेगी

केन्‍द्र सरकार ने उच्‍चतम न्‍यायालय में बताया कि उसने राजद्रोह पर भारतीय दंड संहिता की धारा 124 क के प्रावधानों पर पुनर्विचार और फिर से जांच करने का फैसला किया है। सरकार ने शीर्ष न्‍यायालय से आग्रह किया है कि जब तक यह काम पूरा नहीं हो जाता, तब तक इससे संबंधित याचिकाओं पर सुनवाई न की जाए। गृह मंत्रालय ने एक शपथ पत्र में कहा है कि प्रधानमंत्री का मानना है कि इस समय देश आजादी का अमृत महोत्‍सव मना रहा है, ऐसे में यह जरूरी है कि अपनी उपयोगिता खो चुके औपनिवेशिक कानूनों का बोझ कम करने के प्रयास किए जाएं। उच्‍चतम न्‍यायालय इस संबंध में दायर याचिकाओं पर कल सुनवाई करेगा। सेवानिवृत्‍त मेजर जनरल एस जी वोमबतकेरे और एडिटर्स गिल्‍ड ऑफ इंडिया तथा अन्‍य ने याचिकाएं दायर कर धारा 124 क की संवैधानिक वैधता को चुनौती दी है। इस धारा के अंतर्गत अधिकतम आजीवन कारावास की सजा है। केन्‍द्र ने इन याचिकाओं पर अपना जवाब दाखिल किया है।

श्रीलंका में महिन्‍दा राजपक्षे ने प्रधानमंत्री पद से इस्‍तीफा दिया, पूरे देश में कर्फ्यू

श्रीलंका में श्री महिन्‍दा राजपक्षे ने, देशभर में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बाद प्रधानमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री प्रोफेसर चन्‍ना जयसुमना ने भी अपना त्‍याग पत्र राष्‍ट्रपति को सौंप दिया है। श्रीलंका में आर्थिक संकट को लेकर कोलम्‍बो में हुई हिंसक झडपों के बाद इन्‍होंने त्‍याग पत्र दिया है। सत्‍ताधारी दल के समर्थकों ने कोलम्‍बो में मुख्‍य विरोध प्रदर्शन स्‍थल पर धावा बोला। उन्‍होंने सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों पर हमला किया। इस दौरान पुलिस के साथ झडपें भी हुईं। इस बीच, समूचे श्रीलंका में कर्फ्यू लगा दिया गया है। राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने शुक्रवार को आपातकाल स्थिति घोषित कर दी थी।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई), प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) और अटल पेंशन योजना (एपीवाई) ने सामाजिक सुरक्षा प्रदान करते हुए 7 वर्ष पूरे किए

तीन सामाजिक सुरक्षा (जन सुरक्षा) योजनाओं, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई), प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) और अटल पेंशन योजना (एपीवाई) की 7 वीं वर्षगांठ मना रहे हैं, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 9 मई, 2015 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल से पीएमजेजेबीवाई, पीएमएसबीवाई और एपीवाई को लॉन्च किया गया था। उपरोक्त तीन सामाजिक सुरक्षा योजनाएं अप्रत्याशित जोखिमों / नुकसानों और वित्तीय अनिश्चितताओं से मानव जीवन को सुरक्षित करने की आवश्यकता की पहचान करते हुए नागरिकों के कल्याण के लिए समर्पित हैं। देश के असंगठित क्षेत्र के लोगों को आर्थिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने दो बीमा योजनाएं शुरू कीं - प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) तथा इसके साथ ही वृद्धावस्था में जरूरतों को पूरा करने के लिए अटल पेंशन योजना (एपीवाई) की शुरुआत की गयी। पीएमजेजेबीवाई और पीएमएसबीवाई लोगों को कम लागत वाली जीवन/दुर्घटना बीमा कवर की सुविधा देतीं हैं, जबकि एपीवाई बुढ़ापे में नियमित पेंशन प्राप्त करने के लिए वर्तमान में बचत करने का अवसर प्रदान करती है।

भारतीय मूल के नंद मूलचंदानी बने CIA के पहले CTO

भारतीय मूल के नंद मूलचंदानी को संयुक्त राज्य अमेरिका की रक्षा की फर्स्ट लाइन, केंद्रीय खुफिया एजेंसी (CIA) का पहला मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी (CTO) नियुक्त किया गया है। इससे पहले, उन्होंने अमेरिकी रक्षा विभाग के तहत संयुक्त आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सेंटर के सीटीओ और कार्यवाहक निदेशक के रूप में कार्य किया। इउन्होंने ओब्लिक्स (ओरेकल द्वारा अधिग्रहित), डेटर्मिना, ओपन DNS, और ScaleXtreme और स्केलएक्सट्रीम जैसे कई सफल स्टार्टअप के सीईओ के रूप में भी कार्य किया। सीआईए में शामिल होने से पहले, मूलचंदानी ने हाल ही में अमेरिकी रक्षा विभाग के संयुक्त आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सेंटर के सीटीओ और कार्यवाहक निदेशक के रूप में कार्य किया।

कौशल विकास मंत्रालय ने अपना प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू करने के लिए इसरो के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (MSDE), इसरो के अंतरिक्ष विभाग में तकनीकी कार्यबल को बढ़ाने के लक्ष्य के साथ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर करता है। श्री राजेश अग्रवाल, MSDE सचिव ई, और श्री एस. सोमनाथ, सचिव अंतरिक्ष विभाग/इसरो अध्यक्ष ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस पहल का उद्देश्य उद्योग की आवश्यकताओं के अनुसार देश में अंतरिक्ष क्षेत्र में इसरो तकनीकी पेशेवरों के कौशल विकास और क्षमता निर्माण के लिए प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए अल्पकालिक पाठ्यक्रमों के लिए एक औपचारिक ढांचा स्थापित करना है। कार्यक्रम में अगले पांच वर्षों में 4000 से अधिक इसरो तकनीकी पेशेवरों को पढ़ाया जाएगा।

दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म पुनरोद्धार परियोजना के लिए लगभग तीन सौ 63 करोड़ रुपये आवंटित- अनुराग ठाकुर

सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रीय फिल्म विरासत मिशन के तहत दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म पुनरोद्धार परियोजना के लिए लगभग तीन सौ 63 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। इस मिशन को 2016 में पांच सौ 97 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य सिनेमा की विरासत को संरक्षित, पुनर्स्थापित और डिजिटाइज़ करना है। पुणे में भारतीय राष्ट्रीय फिल्म संग्रह की अपनी यात्रा के दौरान, श्री ठाकुर ने कहा कि फिल्में हमारी संस्कृति का हिस्सा हैं और पिछले 100 वर्षों में फिल्म उद्योग द्वारा किए गए महत्वपूर्ण योगदान ने भारत को दुनिया का सबसे बड़ा फिल्म उद्योग बना दिया है।

Regional Rapid Transit System (RRTS) की पहली ट्रेन NCRTC को सौंपी गई

भारत के पहले क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम Regional Rapid Transit System – RRTS) की पहली ट्रेन को हाल ही में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (NCRTC) को सौंपा गया। ये ट्रेनें 100% स्वदेशी हैं। यह सरकार के मेक इन इंडिया कार्यक्रम और आत्मनिर्भर भारत की महत्वाकांक्षा के अनुरूप है। ट्रेनसेट को एल्सटॉम के हैदराबाद इंजीनियरिंग केंद्र में डिजाइन किया गया था और सावली (गुजरात) में एल्सटॉम के कारखाने में निर्मित किया गया है। मानेजा (गुजरात) में प्रणोदन प्रणाली और इलेक्ट्रिकल्स का निर्माण किया जाता है। दिल्ली-मेरठ क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (RRTS) दिल्ली, गाजियाबाद और मेरठ को जोड़ने वाला 82.15 किमी लंबा सेमी-हाई स्पीड रेल कॉरिडोर है। यह कॉरिडोर निर्माणाधीन है। यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (NCRTC) की क्षेत्रीय रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम (RRTS) परियोजना के पहले चरण के तहत नियोजित तीन रैपिड रेल कॉरिडोर में से एक है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम (NCRTC) भारत सरकार और दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश राज्यों की एक संयुक्त उद्यम कंपनी है। यह आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) के प्रशासनिक नियंत्रण में है।

एयर मार्शल संजीव कपूर बनें महानिदेशक (निरीक्षण और सुरक्षा)

एयर मार्शल संजीव कपूर ने वायु सेना मुख्यालय नई दिल्ली में भारतीय वायु सेना के महानिदेशक (निरीक्षण और सुरक्षा) के रूप में पदभार ग्रहण किया है। एयर मार्शल राष्ट्रीय रक्षा अकादमी से स्नातक हैं और उन्हें दिसंबर 1985 में एक ट्रांसपोर्ट पायलट के रूप में भारतीय वायुसेना की फ्लाइंग शाखा में नियुक्त किया गया था। वायु सेना अधिकारी, भारतीय वायु सेना की सूची में दर्ज विभिन्न विमानों पर उड़ान का 7700 घंटे से अधिक का अनुभव रखते हैं और एक योग्य उड़ान प्रशिक्षक हैं।

यूनाइटेड किंगडम में ‘मंकीपॉक्स’ के मामले की पुष्टि

हाल ही में यूनाइटेड किंगडम में स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक व्यक्ति में ‘मंकीपॉक्स’ के मामले की पुष्टि की है, जो चेचक के समान एक दुर्लभ वायरल संक्रमण है, इस व्यक्ति ने हाल ही में नाइजीरिया की यात्रा की थी। मंकीपॉक्स एक वायरल ज़ूनोसिस (जानवरों से मनुष्यों में प्रसारित होने वाला वायरस) है, जिसमें चेचक के रोगियों में अतीत में देखे गए लक्षणों के समान लक्षण होते हैं, हालाँकि यह चिकित्सकीय रूप से कम गंभीर है। वर्ष 1980 में चेचक के उन्मूलन और बाद में चेचक के टीकाकरण की समाप्ति के साथ यह सबसे महत्त्वपूर्ण ऑर्थोपॉक्सवायरस के रूप में उभरा है। ‘जीनस ऑर्थोपॉक्सवायरस’ (Genus Orthopoxvirus) की चार प्रजातियाँ होती हैं जो मनुष्यों को संक्रमित करती हैं: वेरियोला (चेचक), मंकीपॉक्स, वैक्सीनिया (बफेलो पॉक्स) और काऊ पॉक्स। मंकीपॉक्स एक वायरल ज़ूनोटिक रोग (Zoonotic Disease- जानवरों से मनुष्यों में संचरण होने वाला रोग) है और बंदरों में चेचक जैसी बीमारी के रूप में पहचाना जाता है, इसलिये इसे मंकीपॉक्स नाम दिया गया है। यह नाइजीरिया की स्थानिक बीमारी है।

दुनिया भर में मौजूदा पक्षी प्रजातियों की आबादी में लगभग 48% की गिरावट हुई है या होने का संदेह : स्टेट ऑफ द वर्ल्ड्स बर्ड्स

'स्टेट ऑफ द वर्ल्ड्स बर्ड्स' की नई समीक्षा के अनुसार दुनिया भर में मौजूदा पक्षी प्रजातियों की आबादी में लगभग 48% की गिरावट हुई है या होने का संदेह है। स्टेट ऑफ द वर्ल्ड्स बर्ड्स पर्यावरण संसाधनों की वार्षिक समीक्षा है। चूंँकि पक्षी अत्यधिक दृश्यमान और पर्यावरणीय स्वास्थ्य के संवेदनशील संकेतक होते हैं, अतः इनका नुकसान जैव विविधता के व्यापक नुकसान तथा मानव स्वास्थ्य एवं कल्याण हेतु खतरे का संकेत देता है। प्राकृतिक दुनिया और जलवायु परिवर्तन पर मानव फुटप्रिंट के बढ़ते प्रभाव के कारण को पक्षियों की 10,994 मान्यता प्राप्त मौजूदा प्रजातियों में से लगभग आधे पर संकट के लिये ज़िम्मेदार ठहराया गया है। लगभग 4,295 या 39% प्रजातियों में जनसंख्या रुझान स्थिर थे, वहीं 7% या 778 प्रजातियों में जनसंख्या की प्रवृत्ति बढ़ रही थी, जबकि 37 प्रजातियों की जनसंख्या प्रवृत्ति अज्ञात थी। अध्ययन ने सभी वैश्विक पक्षी प्रजातियों के रुझानों में परिवर्तन को प्रकट करने के लिये प्रकृति की लाल सूची के संरक्षण के लिये अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ(IUCN) के डेटा का उपयोग कर एवियन जैव विविधता में परिवर्तन की समीक्षा की।

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के परिसरों की छतों पर सौर ऊर्जा के पैनल लगाने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

भारतीय सौर ऊर्जा निगम ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के परिसरों की छतों पर सौर ऊर्जा के पैनल लगाने के लिए गृह मंत्रालय के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। गृह सचिव अजय कुमार भल्ला और नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय में सचिव मौजूद थे। समझौता ज्ञापन देश के सुरक्षा बलों को हरित ऊर्जा की आपूर्ति की दिशा में एक बड़ा कदम है और एक स्थायी भविष्य के प्रति सरकार के संकल्‍प की पुष्टि करता है।

कृषि मंत्री के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने इज़राइल स्थित कृषि कंपनियों का दौरा किया

कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने इज़राइल स्थित ग्रीन 2000 - एग्रीकल्चरल इक्विपमेंट एंड नो हाउ लिमिटेड और नेटाफिम लिमिटेड, कृषि कंपनियों का दौरा किया। श्री तोमर ने कृषि विकास के क्षेत्र में संबंधित हितधारकों के साथ विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की। प्रतिनिधिमंडल ने इन कंपनियों के विशेषज्ञों और संसाधन व्यक्तियों से आधुनिक कृषि पद्धति संबंधित विभिन्न विकासात्मक पहलुओं पर बातचीत की। उन्‍होंने नर्सरी पद्धतियों, फलदार पेड़ और अंगूर के बागों की रोपण सामग्री, कटाई के बाद की तकनीक, ग्रीनहाउस खेती, सूक्ष्म और स्मार्ट सिंचाई प्रणाली, और उन्नत डेयरी तथा मुर्गी पालन विषयों पर प्रमुखता से चर्चा की।

केंद्र सरकार ने राज्यों को 7,183.42 करोड़ रुपये का राजस्व घाटा अनुदान जारी किया

हाल ही में, व्यय विभाग (वित्त मंत्रालय) ने 14 राज्यों को राजस्व घाटा अनुदान के रूप में 7,183.42 करोड़ रुपये जारी किए। यह राज्यों को Post Devolution Revenue Deficit (PDRD) अनुदान की दूसरी मासिक किस्त है। पंद्रहवें वित्त आयोग द्वारा 2022-23 के दौरान हस्तांतरण के बाद राजस्व घाटा (PDRD) अनुदान के लिए जिन 14 राज्यों की सिफारिश की गई है, वे हैं आंध्र प्रदेश, असम, हिमाचल प्रदेश, केरल, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, त्रिपुरा, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल। राज्यों की पात्रता का निर्धारण राज्य के राजस्व और व्यय के आकलन के बीच के अंतराल के आधार पर निर्धारित हस्तांतरण को ध्यान में रखते हुए पंद्रहवें आयोग द्वारा किया गया था।

राष्ट्रीय युवा नीति का नया मसौदा तैयार किया गया

भारत की केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय युवा नीति (National Youth Policy) का एक नया मसौदा तैयार किया गया है। सरकार द्वारा मौजूदा राष्ट्रीय युवा नीति, 2014 की समीक्षा के बाद नया मसौदा तैयार किया गया है। इस मसौदा नीति में युवाओं के विकास के लिए दस साल के दृष्टिकोण की कल्पना की गई है, जिसे भारत वर्ष 2030 तक हासिल करना चाहता है। युवा मामलों के विभाग ने राष्ट्रीय युवा नीति के मसौदे के संबंध में देश भर के सभी हितधारकों से सुझाव और टिप्पणियां मांगी हैं। सुझाव, साथ ही नई मसौदा नीति के संबंध में टिप्पणियां, 45 दिनों के भीतर अर्थात 13 जून 2022 तक भेजी जानी चाहिए। इस नीति को देश के सतत विकास लक्ष्यों के साथ जोड़ा गया है और यह देश के युवाओं की क्षमता को अनलॉक करने का भी प्रयास करती है।

L&T Infotech और Mindtree का विलय किया गया

हाल ही में, लार्सन एंड टुब्रो (L&T) ने अपनी दो सॉफ्टवेयर कंपनियों, लार्सन एंड टुब्रो इंफोटेक (LTI) और माइंडट्री के विलय की घोषणा की। लार्सन एंड टुब्रो इंफोटेक (LTI) का बाजार पूंजीकरण 1.03 लाख करोड़ रुपये है, जबकि माइंडट्री का बाजार पूंजीकरण 65,285 करोड़ रुपये है। अब इस संयुक्त इकाई को LTIMindtree कहा जायेगा। माइंडट्री के सीईओ देबाशीष चटर्जी “LTIMindtree” की संयुक्त इकाई का नेतृत्व करेंगे।

महाराणा प्रताप सिंह की जयंती

महाराणा प्रताप सिंह की जयंती 9 मई को मनाई जाती है। महाराणा प्रताप मेवाड़ (वर्तमान राजस्थान) के 13वें राजा थे। राणा प्रताप सिंह, जिन्हें महाराणा प्रताप के नाम से भी जाना जाता है, का जन्म 9 मई, 1540 में राजस्थान के कुंभलगढ़ में हुआ था। महाराणा उदय सिंह द्वितीय ने अपनी राजधानी चित्तौड़ से मेवाड़ राज्य पर शासन किया। उदय सिंह द्वितीय द्वारा उदयपुर (राजस्थान) शहर की स्थापना की गई। वर्ष 1576 में मेवाड़ के महाराणा प्रताप सिंह और मुगल सम्राट अकबर की सेना के मध्य हल्दीघाटी का युद्ध लडा गया था, जिसमें मुगल सेना का नेतृत्त्व आमेर के राजा मान सिंह द्वारा किया गया था। महाराणा प्रताप ने इस युद्ध को वीरतापूर्वक लड़ा, लेकिन मुगल सेना ने उन्हें पराजित कर दिया। ऐसा कहा जाता है कि महाराणा प्रताप को युद्ध के मैदान से बाहर निकालने के दौरान ‘चेतक’ (Chetak) नामक उनके वफादार घोड़े ने अपनी जान दे दी, वर्ष 1579 के बाद मेवाड़ पर मुगलों का प्रभाव कम हो गया और महाराणा प्रताप ने कुंभलगढ़, उदयपुर और गोगुन्दा सहित पश्चिमी मेवाड़ को पुनः प्राप्त कर लिया। इस अवधि के दौरान उन्होंने वर्तमान डूंगरपुर के पास एक नई राजधानी चावंड (Chavand) का निर्माण भी किया। 19 जनवरी, 1597 को महाराणा प्रताप का निधन हो गया। महाराणा प्रताप की मृत्यु के बाद उनके पुत्र राणा अमर सिंह ने उनका स्थान लिया और मुगलों के विरुद्ध वीरतापूर्वक संघर्ष किया, हालाँकि वर्ष 1614 में राणा अमर सिंह ने अकबर के पुत्र सम्राट जहाँगीर के साथ संधि कर ली।

8-9 मई 2022: द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अपनी जान गंवाने वालों के लिए स्मरण और सामंजस्य का समय

संयुक्त राष्ट्र प्रत्येक वर्ष 8-9 मई के दौरान 'द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अपनी जान गंवाने वालों के लिए स्मरण और सामंजस्य का समय' के रूप में चिह्नित किया है। इस दिन द्वितीय विश्व युद्ध के सभी पीड़ितों को श्रद्धांजलि दी जाती है। इस वर्ष द्वितीय विश्व युद्ध की 77वीं वर्षगांठ है। 2 मार्च, 2010 को, 64/257 रिजोल्यूशन द्वारा, महासभा ने सभी सदस्य राज्यों, संयुक्त राष्ट्र प्रणाली के संगठनों, ग़ैर-सरकारी संगठनों और व्यक्तियों को 8-9 मई को उचित तरीके से द्वितीय विश्व युद्ध के सभी पीड़ितों के लिए श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए आमंत्रित किया। युद्ध के सभी पीड़ितों की स्मृति में महासभा की एक विशेष बैठक मई 2010 के दूसरे सप्ताह में आयोजित की गई थी। उस दिन द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति की पैंसठवीं वर्षगांठ थी।

रूस में विजय दिवस मनाया गया

9 मई को रूस में “विजय दिवस” ​​​​के रूप में मनाया जाता है। द्वितीय विश्व युद्ध में नाजी जर्मनी को हराने में सोवियत संघ की भूमिका की स्मृति में विजय दिवस दिवस मनाया जाता है। यह पहली बार 1965 में सोवियत नेता लियोनिद ब्रेजनेव के तहत मनाया गया था। विजय दिवस को मास्को में एक सैन्य परेड द्वारा चिह्नित किया जाता है, और रूसी नेता पारंपरिक रूप से इसे देखने के लिए रेड स्क्वायर में व्लादिमीर लेनिन की कब्र पर खड़े होते हैं। 22 जून, 1941 को जर्मन सेना ने सोवियत संघ पर आक्रमण शुरू किया था। ऑपरेशन बारब्रोसा (Operation Barbarossa) सोवियत संघ पर जर्मन आक्रमण का कोड नाम है। पश्चिमी सोवियत संघ को जीतना और जर्मनी के लिए अधिक लेबेन्सराम (रहने की जगह) बनाना जर्मनी के आक्रमण का मुख्य कारण था। सोवियत संघ को फिर से स्थापित किया। हिटलर को विश्वास था कि युद्ध तीन महीने से अधिक नहीं चलेगा; उसके सैनिकों ने सर्दियों के कपड़े लाने की भी जहमत नहीं उठाई। 1943 तक, भयंकर रूसी सर्दियों और छापामारों के आक्रमण के जर्मनों को भारी नुकसान उठाना पड़ा।

प्रधानमंत्री ने प्रख्यात साहित्यकार डॉ. रजत कुमार कर के निधन पर शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रख्यात साहित्यकार डॉ. रजत कुमार कर के निधन पर दुख व्यक्त किया है। प्रतिष्ठित उड़िया साहित्यकार रजत कुमार कर का भुवनेश्वर के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। रजत कुमार कर को साहित्य और शिक्षा के लिए 2021 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। वह छह दशकों तक टीवी और रेडियो पर वार्षिक रथ यात्रा के दौरान अपनी टिप्पणी के लिए जाने जाते थे। जगन्नाथ संस्कृति के वे कुशल वक्ता थे। उन्होंने पाला की ओडिशा की मरणासन्न कला के पुनरुद्धार में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह उपेंद्र भांजा साहित्य पर एक विपुल लेखक थे। उन्होंने सात गैर-कथाएं भी लिखीं हैं। उन्होंने भगवान जगन्नाथ पर कुछ पुस्तकें भी लिखी हैं।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.