Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

29 May 2022

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कलोल में विश्व के पहले नैनो यूरिया लिक्विड संयंत्र का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कलोल में विश्व के पहले नैनो यूरिया लिक्विड संयंत्र का वर्चुअली उद्घाटन किया। सहकार से समृद्धि विषय पर आयोजित विभिन्न सहकारी संस्‍थानों के प्रमुखों के सेमिनार में प्रधानमंत्री ने गुजरात के कलोल में इफ्को के नैनो यूरिया लिक्विड संयंत्र का उद्घाटन किया। यह संयंत्र लगभग एक अरब 75 करोड़ रूपये की लागत से बनाया गया है। नैनो यूरिया के उपयोग के माध्‍यम से फसल की उपज बढ़ाने के लिए यह संयंत्र बनाया गया है। यहां प्रतिदिन पांच सौ मिलीलीटर की लगभग डेढ़ लाख बोतलों का उत्‍पादन होगा। सम्मेलन में राज्य के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल और केन्द्रीय गृहमंत्री तथा सहकारिता मंत्री अमित शाह भी उपस्थित थे।

रक्षा मंत्री ने उत्तराखंड में रक्षा संपदा सर्किल को दी मंजूरी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तराखंड के लिए एक नया रक्षा संपदा सर्कल बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। राज्य में रक्षा भूमि के बड़े हिस्से के प्रबंधन में आने वाली कठिनाइयों और उत्तराखंड में स्थित छावनियों के निवासियों की मांग को देखते हुए देहरादून में एक रक्षा संपदा का स्वतंत्र कार्यालय और एक उप-कार्यालय रानीखेत में स्थापित करने की मंजूरी दी है। उत्तराखंड के लिए नए रक्षा संपदा सर्किल की स्थापना 'जीवन में सुगमता' और 'व्यापार करने में आसानी' के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए सरकार को लोगों के करीब लाने की दिशा में एक बड़ा कदम है। उत्तराखंड के लिए नए रक्षा संपदा सर्किल की स्थापना सरकार को 'ईज ऑफ लिविंग' और 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए लोगों के करीब लाने की दिशा में एक बड़ा कदम है। देहरादून में नए रक्षा संपदा सर्किल के निर्माण से निवासियों और संगठनों को रक्षा भूमि प्रबंधन की विभिन्न सेवाओं तक समय पर और शीघ्र पहुंचने में सुविधा होगी। रक्षा मंत्री ने कुमाऊं क्षेत्र के 6 जिलों के साथ विशेष रूप से निपटने के लिए रक्षा संपदा देहरादून के प्रशासनिक अधिकार क्षेत्र के तहत रानीखेत में एक उप-कार्यालय की स्थापना को भी मंजूरी दी है।

जापान के एमयूएफजी बैंक को गिफ्ट सिटी में शाखा खोलने की अनुमति मिली

जापान का MUFG बैंक गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंशियल टेक-सिटी (गिफ्ट सिटी) में अपनी शाखा खोलेगा। गिफ्ट सिटी में शाखा खोलने वाला एमयूएफजी जापान का प़हला बैंक है। इस शाखा के जरिये एमयूएफजी घरेलू और वैश्विक ग्राहकों को व्यापक बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराएगा।एमयूएफजी बैंक ने गिफ्ट सिटी में अपनी शाखा खोलने के लिए भारत में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण और जापान में वित्तीय सेवा एजेंसी से आवश्यक मंजूरी हासिल कर ली है। 1953 में एमयूएफजी ने मुंबई में अपनी पहली शाखा खोली थी। फिलहाल इसके मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु, चेन्नई और नीमराना में कार्यालय हैं।

मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में स्‍वतंत्रता की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्‍य में बांग्लादेश कंट्री ऑफ फोकस

मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव-एमआईएफएफ-2022 में बांग्लादेश स्‍वतंत्रता की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्‍य में इसे कंट्री ऑफ फोकस बनाया जाएगा। फिल्म महोत्सव के 17वें संस्करण के दौरान समीक्षकों द्वारा सराही गई फिल्म हसीना- ए डॉटर्स टेल सहित बांग्लादेश की 11 फिल्में दिखाई जाएंगी। दुनियाभर की वृत्‍तचित्र, लघु कथा फिल्‍म और एनिमेशन फिल्मों का जश्न मुंबई में शुरू हो रहा है।

अरुणाचल प्रदेश में पाई गई प्राचीन बंदर की एक नई प्रजाति का नाम ‘सेला दर्रा’ के नाम पर रखा गया

अरुणाचल प्रदेश में पाई गई प्राचीन बंदर की एक नई प्रजाति का नाम सेला मकाक रखा गया है, यह नाम ‘सेला दर्रा’ के नाम पर रखा गया है, जो समुद्र तल से 13,700 फीट की ऊंँचाई पर एक रणनीतिक पहाड़ी दर्रा है। इसकी पहचान ज़ूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ZSI) और कलकत्ता विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा की गई थी। सेला पश्चिमी अरुणाचल प्रदेश में दिरांग और तवांग शहरों के बीच स्थित है। इस क्षेत्र में पाए जाने वालें मकाक की अन्य प्रजातियों से यह आनुवंशिक रूप में भिन्न है। अध्ययन में सेला मकाक को आनुवंशिक रूप से अरुणाचल प्रदेश के मकाक प्रजाति का करीबी बताया गया है।

भुवनेश्वर में राष्ट्रीय खनिज कॉन्ग्रेस का आयोजन

कोयला मंत्रालय ने विद्युत मंत्रालय, इस्पात मंत्रालय और खान मंत्रालय के सहयोग से भुवनेश्वर में राष्ट्रीय खनिज कॉन्ग्रेस का आयोजन किया। वर्चुअल माध्यम से कॉन्ग्रेस को संबोधित करते हुए कोयला मंत्रालय में सचिव श्री अनिल कुमार जैन ने राष्ट्रीय खनिज कॉन्ग्रेस की सफलता की कामना की और हितधारकों के विचार-विमर्श के माध्यम से मूल्यवान परिणाम प्राप्त करने की आशा व्यक्त की। कोयला मंत्रालय ने वर्ष 2030 तक 100 मीट्रिक टन कोयला गैसीकरण प्राप्त करने के लिये एक राष्ट्रीय मिशन दस्तावेज़ तैयार किया है। कोयला गैसीकरण एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें ‘फ्यूल गैस’ बनाने के लिये कोयले को वायु, ऑक्सीजन, वाष्प या कार्बन डाइऑक्साइड के साथ आंशिक रूप से ऑक्सीकृत किया जाता है। इस गैस का उपयोग पाइप्ड प्राकृतिक गैस, मीथेन और अन्य के स्थान पर ऊर्जा प्राप्त करने हेतु किया जाता है। कोयले का ‘इन-सीटू’ गैसीकरण या भूमिगत कोयला गैसीकरण कोयले को गैस में परिवर्तित करने की तकनीक है, इसे कुओं के माध्यम से निकाला जाता है। कोयला गैसीकरण से प्राप्त हाइड्रोजन का उपयोग विभिन्न उद्देश्यों हेतु किया जा सकता है, जैसे- अमोनिया का निर्माण, हाइड्रोजन इकॉनमी को मज़बूती प्रदान करने में। कोयले को जलाने की तुलना में कोयला गैसीकरण को स्वच्छ विकल्प माना जाता है। गैसीकरण कोयले के रासायनिक गुणों के उपयोग की सुविधा प्रदान करता है।

रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कारवाड़ में स्टेल्थ सबमरीन ‘आईएनएस खंडेरी’ में समुद्री यात्रा की

रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह ने 27 मई, 2022 को कर्नाटक में कारवाड़ नौसेना बेस की यात्रा के दौरान भारतीय नौसेना के शक्तिशाली प्लेटफॉर्म में से एक ‘आईएनएस खंडेरी’ पर समुद्र की यात्रा की। ऑपरेशन सॉर्टी के साथ पश्चिमी बेड़े के जहाज़ों की तैनाती, पी-81 एमपीए द्वारा एंटीसबमरीन मिशन सॉर्टी और सी-किंग हेलीकॉप्टर, मिग 29-के युद्धक विमानों द्वार फ्लाइपास्ट तथा खोज और बचाव क्षमता का प्रदर्शन भी किया गया। रक्षामंत्री द्वारा 28 सितंबर, 2019 को आईएनएस खंडेरी को कमीशन किया गया था। INS खंडेरी गहरे समुद्र में बिना आवाज़ किये 12 हज़ार किमी. तक सफर कर सकती है। इसकी लंबाई लगभग 67.5 मीटर और चौड़ाई 12.3 मीटर है। 40 से 45 दिन तक पानी में रहने की क्षमता वाली यह पनडुब्बी 350 मीटर की गहराई तक उतर सकती है तथा इसमें सभी अत्याधुनिक उपकरण लगे हैं। प्रोजेक्ट 75 सबमरीन की इस दूसरी सबमरीन का निर्माण ‘मेक इन इंडिया’ पहल के अंतर्गत मझगाँव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड में 7 अप्रैल, 2009 को शुरू हुआ था। 12 जनवरी, 2017 को इसे लॉन्च किया गया और इसका नामकरण किया गया। इस पनडुब्बी में कुल 360 बैटरियाँ लगी हैं, जिनमें से प्रत्येक का वज़न 750 किग्रा. है। इसमें 6 टॉरपीडो ट्यूब लगे हैं। इसमें से 2 ट्यूब से मिसाइल भी दागी जा सकती है। इसके भीतर कुल 12 टॉरपीडो रखने की व्यवस्था है। इसे ‘खंडेरी’ नाम मराठा सेना के द्वीपीय किले के नाम पर दिया गया है। इसके अलावा खंडेरी को ‘टाइगर शार्क ’ भी कहते हैं। स्कॉर्पीन श्रेणी की बनी पहली पनडुब्बी INS कलवरी है। देश में वर्तमान में 49 जहाज़ों और पनडुब्बियों का निर्माण किया जा रहा है।

सोने के आयात को लेकर RBI ने जारी किए नए दिशानिर्देश

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने योग्य ज्वैलर्स को इंडिया इंटरनेशनल बुलियन एक्सचेंज IFSC लिमिटेड (IIBX) या किसी अन्य एक्सचेंज के माध्यम से सोना आयात करने की अनुमति देने के लिए नए दिशानिर्देशों की घोषणा की है। IFSCA और DGFT, भारत सरकार को अन्य एक्सचेंजों को मंजूरी देनी चाहिए। आरबीआई के अनुसार, आईआईबीएक्स के माध्यम से सोने के आयात के लिए अधिकृत ज्वैलर्स द्वारा सभी भुगतान आईएफएससी अधिनियम और विनियमों के अनुसार आईएफएससीए द्वारा मान्यता प्राप्त विनिमय तंत्र का उपयोग करके किया जाना चाहिए ।

यूनिसेफ-डब्ल्यूएचओ ने सहायक प्रौद्योगिकी पर पहली वैश्विक रिपोर्ट जारी की

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने पहली ग्लोबल रिपोर्ट ऑन अस्सिसटिव टेक्नोलॉजी (GReAT) जारी की है। पेपर, जिसे यूनिसेफ के अनुसंधान कार्यालय - इनोसेंटी के संयोजन में बनाया गया था, में सभी बच्चों के लिए सहायक तकनीक तक पहुंच बढ़ाने के लिए 10 महत्वपूर्ण कार्रवाई योग्य सुझाव, साथ ही साक्ष्य-आधारित सर्वोत्तम अभ्यास उदाहरण शामिल हैं। शैक्षणिक संस्थानों, शोधकर्ताओं, नीति निर्माताओं, दाताओं और चिकित्सकों के एक नेटवर्क के माध्यम से, यूनिसेफ ऑफिस ऑफ रिसर्च - इनोसेंटी विकलांग बच्चों और युवाओं की आवाज को बढ़ाने के लिए ग्लोबल रिसर्च एजेंडा और प्लेटफॉर्म फॉर चिल्ड्रन की स्थापना में सबसे आगे है। यूनिसेफ के अनुसंधान कार्यालय - इनोसेंटी की मदद से, यूनिसेफ और डब्ल्यूएचओ ने रिपोर्ट के साथ 11 फ्री-एक्सेस बैकग्राउंड पेपर्स की एक श्रृंखला बनाई।

डाक विभाग और भारतीय डाक भुगतान बैंक (आईपीपीबी) आरोहण 4.0 शिमला में शुरू

डाक विभाग और इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी), आरोहण 4.0 के वरिष्ठ पदाधिकारियों की दो दिवसीय बैठक हिमाचल प्रदेश के शिमला में शुरू हुई। बैठक का एजेंडा देश में वित्तीय समावेशन अभियान को और गहरा करने और भारत के प्रत्येक नागरिक को बैंकिंग समाधान प्रदान करने के तरीकों पर चर्चा और विचार-विमर्श करना है। डाक विभाग आईपीपीबी के साथ मिलकर डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने और देश के कोने-कोने में डिजिटल बैंकिंग सेवाओं को ग्राहक-अनुकूल तरीके से लाने के लिए प्रधानमंत्री की डिजिटल इंडिया पहल के विजन पर काम कर रहा है। आईपीपीबी डाक विभाग के दुनिया के सबसे बड़े डाक नेटवर्क का लाभ उठाता है ताकि वरिष्ठ नागरिकों, किसानों, प्रवासी मजदूरों और महिलाओं सहित अन्य लोगों को उनके दरवाजे पर इंटरऑपरेबल बैंकिंग सेवाएं प्रदान की जा सकें। बैठक का उद्घाटन श्री आलोक शर्मा, महानिदेशक डाक सेवा ने आईपीपीबी के एमडी और सीईओ श्री जे वेंकटरामू, 23 पोस्टल सर्किलों के मुख्य पीएमजी और विभाग और आईपीपीबी के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में किया। डाकघर और आईपीपीबी संचालन के बीच तालमेल को और मजबूत करने के लिए आज चर्चा हुई।

पीएम मोदी के नेतृत्व में फिर से गठित अंतरराज्यीय परिषद

अंतर-राज्य परिषद का गठन किया गया है, जिसमे प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी अध्यक्ष और सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और छह केंद्रीय मंत्री सदस्य होंगे । अंतरराज्यीय परिषद में दस केंद्रीय मंत्री स्थायी रूप से आमंत्रित होंगे। सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के अध्यक्ष के रूप में अंतर-राज्य परिषद की स्थायी समिति को भी फिर से स्थापित किया है। प्रधान मंत्री मोदी अध्यक्ष के रूप में कार्य करते हैं, विधानसभाओं के साथ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ-साथ विधानसभाओं के बिना केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासकों को सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया है। राजनाथ सिंह, अमित शाह, निर्मला सीतारमण, नरेंद्र सिंह तोमर, वीरेंद्र कुमार, हरदीप सिंह पुरी, नितिन गडकरी, एस जयशंकर, अर्जुन मुंडा, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, प्रल्हाद जोशी, अश्विनी वैष्णव, गजेंद्र सिंह शेखावत, किरेन रिजिजू और भूपेंद्र यादव केंद्रीय मंत्रियों में शामिल हैं।

फ्रेंच रिवेरा फिल्म फेस्टिवल: नवाजुद्दीन सिद्दीकी को एक्सिलेंस इन सिनेमा पुरस्कार से सम्मानित किया गया

बॉलीवुड अभिनेता, नवाजुद्दीन सिद्दीकी को सिनेमा में उनके योगदान के लिए एक अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। प्रतिष्ठित फ्रेंच रिवेरा फिल्म फेस्टिवल में, एमी पुरस्कार विजेता अमेरिकी अभिनेता विंसेंट डी पॉल ने सिद्दीकी को सम्मान दिया। लेकिन यह पहली बार नहीं है जब नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने घर-घर वाहवाही बटोरी है। इससे पहले, अभिनेता को कान फिल्म समारोह में राष्ट्र की ओर से पुरस्कार प्राप्त करने के लिए प्रतिनिधियों में से एक के रूप में चुना गया था। सिद्दीकी के शानदार करियर में कुछ शानदार फिल्में हैं, जिनमें गैंग्स ऑफ वासेपुर, रमन राघव 2.0, द लंचबॉक्स और मुंटो शामिल हैं। वह दुनिया के एकमात्र ऐसे अभिनेता हैं, जिनकी आधिकारिक तौर पर कान्स फिल्म फेस्टिवल में आठ फिल्मों का चयन और प्रदर्शन हुआ है। फिल्मों के साथ-साथ वह सैक्रिड गेम्स और मैक माफिया जैसी वेब सीरीज में भी नजर आए।

भारतीय अधिकारी अनवर हुसैन शेख बने WTO समिति के नए अध्यक्ष

भारत सरकार के एक अधिकारी, अनवर हुसैन शेख को व्यापार पर तकनीकी बाधाओं पर विश्व व्यापार संगठन की समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। मिस्टर शेख यह भूमिका मेक्सिको की एलिसा मारिया ओल्मेडा डी एलेजांद्रो से लेंगे। विश्व व्यापार संगठन एक 164 सदस्यीय बहुपक्षीय निकाय है जो वैश्विक निर्यात और आयात के लिए नियम तैयार करता है और व्यापार से संबंधित मुद्दों पर देशों के बीच विवादों का निर्णय करता है। भारत 1995 से इसका सदस्य है।

एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने लॉन्च किया रोबो-सलाहकार प्लेटफॉर्म 'एचडीएफसी मनी'

एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने एक रोबो-सलाहकार निवेश मंच एचडीएफसी मनी (HDFC Money) लॉन्च किया है जो डीमैट खाते की आवश्यकता के बिना म्यूचुअल फंड योजनाओं और अन्य वित्तीय उत्पादों की पेशकश करेगा। म्यूचुअल फंड के अलावा, कोई भी वित्त के अन्य पहलुओं का प्रबंधन कर सकता है जैसे पोर्टफोलियो तक पहुंच, प्रबंधन और ट्रैकिंग, लक्ष्य योजना शुरू करना, बीमा योजना बनाना, ई-विल बनाना और करों का प्रबंधन या दाखिल करना।

सीसीईए ने हिंदुस्तान जिंक में भारत सरकार की 29.5% हिस्सेदारी की बिक्री को मंजूरी दी

आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) ने हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड (एचजेडएल) में सरकार की 29.5% हिस्सेदारी बिक्री को मंजूरी दे दी है। 29.58% हिस्सेदारी की बिक्री 124.96 करोड़ से अधिक शेयरों का प्रतिनिधित्व करती है जो मौजूदा बाजार मूल्य पर लगभग 38,000 करोड़ रुपये जुटाएगी। इस फैसले से चालू वित्त वर्ष में सरकार के विनिवेश अभियान को मजबूती मिलेगी। सरकार ने पीएसयू विनिवेश और रणनीतिक बिक्री से 65,000 करोड़ रुपये का बजट रखा है। एचजेडएल के शेयर बीएसई पर 3.14% ऊपर रु 305.05 पर बंद हुए। दिन के दौरान, शेयर ने रु 317.30 प्रति शेयर के उच्च स्तर को छुआ।

सरकार ने एक अक्‍टूबर से कागज के आयात के लिए पंजीकरण अनिवार्य किया

सरकार ने कागज आयात निगरानी प्रणाली के अंतर्गत पहली अक्टूबर से आयात पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है। प्रमुख कागज उत्पादों की आयात नीति में संशोधन किया गया है। इस आशय की अधिसूचना DGFT द्वारा जारी की गई है। न्यूज़प्रिंट, हस्तनिर्मित कागज, वॉलपेपर बेस, डुप्लीकेटिंग पेपर, कोटेड पेपर, चर्मपत्र पेपर, कार्बन पेपर, अनकोटेड पेपर, लिथो और ऑफ़सेट पेपर, टिशू पेपर, वॉल पेपर, लिफाफे, टॉयलेट पेपर, कार्टन, अकाउंट बुक, लेबल, बॉबिन, और अन्य कागज उत्पादों को इस आदेश द्वारा कवर किया जाता है। यह नीति आने वाले सभी आयातों पर लागू होगी।

एसबीआई की रिपोर्ट के अनुसार, FY22 में भारत की GDP ग्रोथ 8.2-8.5 प्रतिशत रहेगी

भारतीय स्टेट बैंक के शोध पत्र Ecowrap के अनुसार, वित्त वर्ष 22 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की वृद्धि दर 8.2 से 8.5 प्रतिशत के बीच रहने का अनुमान है। Q4FY22 जीडीपी अनुमानों में अनिश्चितताएं लाजिमी हैं, जैसा कि सामान्य तिमाही डेटा समायोजन थाह पाना कठिन है, लेकिन एसबीआई के आर्थिक अनुसंधान विभाग द्वारा किए गए शोध में भविष्यवाणी की गई है कि यह 3 से 3.5 प्रतिशत मार्क को पूरा करेगा।

टोक्यो कांस्य पदक विजेता लवलीना बोर्गोहेन बनी आईबीए एथलीट समिति की अध्यक्ष

टोक्यो कांस्य पदक विजेता, लवलीना बोर्गोहेन को IBA की एथलीट समिति अध्यक्ष के रूप में चुना गया था। अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (आईबीए) ने घोषणा की कि भारतीय मुक्केबाज और टोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन ने 2022 महिला विश्व चैंपियनशिप में हुए चुनाव के दौरान सबसे अधिक वोट प्राप्त किए हैं और इस प्रकार IBA की एथलीट समिति के निदेशक मंडल में अध्यक्ष और एक मतदान सदस्य के रूप में चुनी गई हैं। इसके अलावा, भारतीय मुक्केबाज शिव थापा को भी 2021 आईबीए पुरुष विश्व चैंपियनशिप के दौरान हुए चुनाव के बाद आईबीए एथलीट समिति के सदस्य के रूप में चुना गया है।

हरमनप्रीत की सुपरनोवाज ने तीसरी बार जीता विमेंस T20 चैलेंज

पुणे में सुपरनोवाज और वेलिसिटी के बीच खेले गए विमेंस T-20 चैलेंज के फाइनल मुकाबले में सुपरनोवाज ने वेलोसिटी को रोमांचक मैच में 4 रन से हराकर खिताब पर कब्जा कर लिया। हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली सुपरनोवाज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 165 रन बनाए, जिसके जवाब में वेलोसिटी की टीम 8 विकेट खोकर 161 रन ही बना सकी।

एमनेस्टी इंटरनेशनल दिवस

प्रतिवर्ष 28 मई को ‘एमनेस्टी इंटरनेशनल दिवस’ का आयोजन किया जाता है। ‘एमनेस्टी इंटरनेशनल' (Amnesty International) लंदन स्थित एक गैर-सरकारी संगठन है, जिसकी स्थापना 28 मई, 1961 को ‘पीटर बेन्सन’ नामक एक ब्रिटिश वकील द्वारा की गई थी। इस संगठन का प्राथमिक लक्ष्य मानवाधिकारों की रक्षा और उनकी वकालत करना है। पीटर बेन्सन ने एक जनांदोलन के रूप में इस संगठन की स्थापना मुख्य तौर पर दुनिया भर में उन कैदियों को रिहा कराने के उद्देश्य से की थी, जिन्हें अपनी राजनीतिक, धार्मिक या अन्य धर्मनिरपेक्ष मान्यताओं की शांतिपूर्ण अभिव्यक्ति के लिये जेल में कैद किया गया हो, भले ही उन्होंने न कभी हिंसा का इस्तेमाल किया और न ही इसकी वकालत की। विश्व भर में इस संस्था के तीस लाख से अधिक सदस्य और समर्थक हैं। संगठन का उद्देश्य मानवाधिकारों के विरुद्ध हो रहे अत्याचारों पर रोक लगाना तथा प्रताड़ित लोगों को न्याय दिलाना है। यह संगठन ऐसी दुनिया के निर्माण की दिशा में आगे बढ़ रहा है, जहाँ प्रत्येक व्यक्ति मानवाधिकारों की सार्वभौम घोषणा (UDHR) और अन्य अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संबंधी दस्तावेज़ों में निर्धारित अधिकारों का उपयोग करने में सक्षम हो। साथ ही यह संगठन मानवाधिकारों के मुद्दे पर शोधकार्य भी करता है। संगठन को वर्ष 1977 में शांति के लिये नोबेल पुरस्कार और वर्ष 1978 में मानवाधिकारों के संरक्षण के लिये संयुक्त राष्ट्र का पुरस्कार भी प्रदान किया गया है।

विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस

प्रतिवर्ष 28 मई को विश्व भर में ‘विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस’ का आयोजन किया जाता है। इस दिवस की शुरुआत जर्मनी स्थिति एक गैर-लाभकारी संगठन ‘वाॅॅश यूनाइटेड’ द्वारा वर्ष 2013 में की गई थी। ‘मासिक धर्म स्वच्छता दिवस’ एक वैश्विक अभियान है, जो विश्व भर की महिलाओं और लड़कियों के लिये बेहतर मासिक धर्म स्वास्थ्य एवं स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिये गैर-लाभकारी संस्थाओं, सरकारी एजेंसियों, निजी क्षेत्र तथा मीडिया आदि को एक साथ- एक मंच पर लाता है। इस दिवस का प्राथमिक लक्ष्य मासिक धर्म स्वच्छता के संबंध में जागरूकता को बढ़ावा देना और मासिक धर्म से संबंधित नकारात्मक धारणाओं को समाप्त करना है। साथ ही यह दिवस वैश्विक, राष्ट्रीय व स्थानीय स्तरों पर नीति निर्माताओं को मासिक धर्म स्वास्थ्य एवं स्वच्छता से संबंधित नीतियों के निर्माण के लिये भी प्रेरित करता है। मासिक धर्म एक महिला के शरीर की सबसे महत्त्वपूर्ण प्रक्रियाओं में से एक है, हालाँकि इस महत्त्वपूर्ण प्रक्रिया के दौरान प्रायः महिलाओं द्वारा विशेष तौर पर ग्रामीण इलाकों में मासिक स्वच्छता पर ध्यान नहीं दिया जाता है, जो कि फंगल या जीवाणु संक्रमण जैसी कई समस्याओं को जन्म दे सकता है। भारत में यूनिसेफ द्वारा किये गए एक अध्ययन के मुताबिक, मासिक धर्म स्वच्छता के बारे में अपर्याप्त जागरूकता के कारण 23 प्रतिशत लड़कियाँ मासिक धर्म शुरू होने के बाद स्कूल छोड़ने के लिये मजबूर होती हैं।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.