Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

9 August 2022

प्रधानमंत्री 10 अगस्त को पानीपत में 2जी इथेनॉल संयंत्र राष्ट्र को समर्पित करेंगे

विश्व जैव ईंधन दिवस के अवसर पर, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 10 अगस्त, 2022 वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरियाणा के पानीपत में दूसरी पीढ़ी के (2जी) इथेनॉल संयंत्र को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इस संयंत्र को राष्ट्र को समर्पित करने का यह कदम देश में जैव ईंधन के उत्पादन एवं उपयोग को बढ़ावा देने हेतु सरकार द्वारा सालों से उठाए गए कदमों की एक लंबी श्रृंखला का हिस्सा है। यह कदम ऊर्जा क्षेत्र को अधिक किफायती, सुलभ, कुशल और टिकाऊ बनाने के प्रधानमंत्री के निरंतर प्रयासों के अनुरूप है। इस 2जी एथेनॉल संयंत्र का निर्माण इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) द्वारा 900 करोड़ रुपये से अधिक की अनुमानित लागत से किया गया है और यह पानीपत रिफाइनरी के निकट स्थित है। अत्याधुनिक स्वदेशी तकनीक पर आधारित, यह परियोजना सालाना लगभग तीन करोड़ लीटर इथेनॉल का उत्पादन करने हेतु सालाना लगभग दो लाख टन चावल के भूसे (पराली) का उपयोग करके भारत के कचरे से धन अर्जित करने के प्रयासों की दिशा में एक नए अध्याय की शुरुआत करेगी।

संस्कृति मंत्रालय और गूगल ने ‘इंडिया की उड़ान’ पहल शुरू की

संस्कृति मंत्रालय ने गूगल के सहयोग से “इंडिया की उड़ान” पहल शुरू की है। यह पहल पिछले 75 वर्षों में भारत की अटूट और अमर भावना और इसकी उपलब्धियों का जश्न मनाने का प्रयास करती है। आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में ‘इंडिया की उड़ान’ पहल शुरू की गई है। यह भारत की अटूट और अमर भावना का उत्सव है। इसका उद्देश्य अपने समृद्ध अभिलेखागार और कलात्मक चित्रों के माध्यम से नागरिकों को भारत की समृद्ध संस्कृति और विरासत के बारे में परिचित करवाना है। यह परियोजना ‘पिछले 75 वर्षों में भारत की अटूट और अमर भावना’ थीम पर आधारित है। इसे संस्कृति मंत्रालय के सहयोग से Google Arts and Culture द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। इस पहल के तहत, यूजर्स को भारत के उल्लेखनीय क्षणों को वर्चुअली देखने के लिए एक अनूठा दृश्य प्रदान किया जाएगा। यूजर्स भारतीय इतिहास के प्रतिष्ठित व्यक्तित्वों, प्रमुख महिला व्यक्तित्वों के साथ-साथ देश की वैज्ञानिक और खेल उपलब्धियों के बारे में अधिक जान सकेंगे।

उत्तर प्रदेश सरकार ने डेलॉइट इंडिया (Deloitte India) के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

उत्तर प्रदेश सरकार ने डेलॉइट इंडिया के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए, ताकि इसे उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को 1 ट्रिलियन अमरीकी डालर तक लाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एक सलाहकार के रूप में नियुक्त किया जा सके। डेलॉइट इंडिया को सलाहकार के रूप में नियुक्त करने का निर्णय 19 जुलाई, 2022 को एक उच्चाधिकार प्राप्त समिति की सिफारिश पर लिया गया था। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश को अपनी क्षमता का पूरा फायदा उठाने का समय आ गया है। यह भारत के बहुआयामी विकास का एक महत्वपूर्ण आधार बनने जा रहा है। 2027 तक, राज्य 1 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के साथ “सबका साथ, सबका विकास” नीति का एक बेंचमार्क बनने जा रहा है। डेलॉइट अगले 90 दिनों के भीतर गहन विचार-विमर्श के साथ भविष्य की कार्य योजना पेश करेगी। क्षेत्रवार अध्ययन करके यह योजना बनाई जाएगी। इस कार्य योजना की मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली एक उच्च स्तरीय समिति द्वारा जांच की जाएगी। मंत्रियों का समूह भी इस कार्य योजना की समीक्षा करेगा।

जम्मू-कश्मीर सरकार ने परवाज़ मार्केट लिंकेज योजना लांच की

जम्मू और कश्मीर सरकार ने हाल ही में “परवाज़ मार्केट लिंकेज स्कीम” (PARVAZ Market Linkage Scheme) शुरू की। यह एक अभिनव मार्केट लिंकेज योजना है, जिसमें पूरे जम्मू और कश्मीर के किसानों की आर्थिक स्थिति के उत्थान की जबरदस्त क्षमता है। परवाज़ योजना को जम्मू और कश्मीर से कृषि और बागवानी की जल्दी खराब होने वाली वस्तुओं (perishables) के शिपमेंट के लिए बाजार लिंकेज समर्थन बनाने के उद्देश्य से शुरू किया गया था। इस योजना के तहत, सरकार एयर कार्गो के माध्यम से जल्दी खराब होने वाले फलों को ले जाने के लिए माल ढुलाई शुल्क पर 25% की सब्सिडी प्रदान करेगी। किसानों को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण मोड के माध्यम से सब्सिडी प्रदान की जाएगी। यह योजना जम्मू और कश्मीर बागवानी उत्पाद विपणन और प्रसंस्करण निगम (JKHPMC) द्वारा कार्यान्वित की जा रही है। JKHPMC परवाज़ योजना के महत्व के बारे में किसानों के बीच जागरूकता फैला रहा है ताकि वे इसका लाभ उठा सकें।

दलाई लामा को लद्दाख के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा गया

तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा को लद्दाख के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'डीपाल आरएनजीम डस्टन' पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार विशेषकर केंद्र शासित प्रदेश के लिए मानवता की सेवा के क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए लद्दाख स्वायत्त पहाड़ी विकास परिषद (एलएएचडीसी) द्वारा प्रदान किया गया है।

यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक ने इंद्रजीत कैमोत्रा को अपना MD और CEO नियुक्त किया

यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक (एसएफबी) लिमिटेड (यूनिटी बैंक) ने इंद्रजीत कैमोत्रा ​​को बैंक का प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (एमडी और सीईओ) नियुक्त किया है। भारत भर में 25 से अधिक वर्षों के अनुभव के साथ वरिष्ठ बैंकर, कैमोत्रा ने स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक में विभिन्न नेतृत्व पदों पर कार्य किया। जनवरी 2022 में, बैंक ने भारत के पूर्व CAG विनोद राय को अपना अध्यक्ष नियुक्त किया। कैमोत्रा ​​ने न्यूयॉर्क में क्लार्कसन विश्वविद्यालय से एमबीए किया। कैमोत्रा ​​पहले सेंट्रम फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक थे, और उन्होंने कंपनी को बैंक में बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

श्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने आकाश एयर की मुंबई से अहमदाबाद तक पहली उड़ान को हरी झंडी दिखाई

नागर विमानन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया और नागर विमानन राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी. के. सिंह ने आकाश एयर की मुंबई से अहमदाबाद के लिए पहली उड़ान (क्यूपी 1101) का वर्चुअल माध्यम से शुभारम्भ किया। श्री सिंधिया ने नागर विमानन राज्यमंत्री, जनरल (डॉ.) वी के सिंह (सेवानिवृत्त) और एमओसीए सचिव श्री राजीव बंसल के साथ दिल्ली से आकाश एयर की पहली उड़ान को हरी झंडी दिखाई, जो मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (टी1) से रवाना हुई। इस कार्यक्रम में एमओसीए में संयुक्त सचिव श्रीमती ऊषा पधी, आकाश एयर के संस्थापक श्री राकेश झुनझुनवाला, सुश्री रेखा झुनझुनवाला और आकाश एयर के सीईओ और संस्थापक श्री विनय दुबे, आकाश एयर की सह संस्थापक और वरिष्ठ उपाध्यक्ष नीलू खत्री उपस्थित रहे। एसएनवी एविएशन के ब्रांड नाम के साथ आकाश एयर 7वीं अनुसूचित विमानन कंपनी है, जिसका कॉर्पोरेट मुख्यालय मुंबई में है और उसके पास बोइंग मैक्स-8 एयरक्राफ्ट है। आकाश एयर की सिंगल फ्लीट के साथ एक किफायती कैरियर बनने की है और इसकी सभी सीट इकोनॉमी क्लास की होंगी।

सरकार ने अगले छह महीनों के लिए यानी जनवरी, 2023 तक भारत सरकार की मान्यता प्राप्त स्टार्ट-अप्स और एमएसएमई को स्वदेशी 5जी टेस्ट बेड का नि:शुल्क उपयोग करने की पेशकश की

भारत में 5जी इकोसिस्टम को बढ़ावा देने और आत्मनिर्भर भारतमेक इन इंडिया पहल के उद्देश्यों को प्राप्त करने के उद्देश्य से भारत सरकार ने जनवरी, 2023 तक यानी अगले छह महीनों के लिए भारत सरकार की मान्यता प्राप्त स्टार्ट-अप्स और एमएसएमई को स्वदेशी 5जी टेस्ट बेड के नि:शुल्क उपयोग की सुविधा देने का निर्णय लिया है। यह अन्य सभी हितधारकों के लिए बहुत ही सामान्य दर पर उपलब्ध है। भारत सरकार के दूरसंचार विभाग ने सभी 5जी हितधारकों से अनुरोध किया है कि वे नेटवर्क में अपने उत्पादों के तेजी से विकास और कार्यान्वयन को लेकर परीक्षण व सुविधा के लिए 5जी परीक्षण सुविधाओं और विशेषज्ञता का उपयोग करें। इन हितधारकों में उद्योग, अकादमिक, सेवा प्रदाता, अनुसंधान व विकास संस्थान, सरकारी निकाय और उपकरण निर्माता आदि हैं। इसके लिए इच्छुक हितधारक वेब पोर्टल- https://user.cewit.org.in/5gtb/index।jsp के माध्यम से 5जी टेस्ट बेड की पहुंच और उसका उपयोग करने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इंडो-इजरायल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर वेजिटेबल का केंद्रीय कृषि मंत्री द्वारा वर्चुअल शिलान्यास

चंदौली (उत्तर प्रदेश) में इंडो-इजरायल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर वेजिटेबल का केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने वर्चुअल शिलान्यास किया। भारत-इजरायल कार्य योजना (आईआईएपी) के तहत इज़राइल द्वारा इज़राइली विशेषज्ञों के माध्यम से उत्कृष्टता केंद्र को प्रौद्योगिकी प्रदान की जाती है, जिन्हें प्रदर्शित करने की दृष्टि से अवसंरचना निर्माण के लिए राशि एमआईडीएच से उपलब्ध कराई जाती है। इज़राइली प्रौद्योगिकियों के आधार पर राज्यों में उत्कृष्टता केंद्र (सीओई) स्थापित किए जा रहे हैं। ये उत्कृष्टता केंद्र बागवानी क्षेत्र में नवीनतम तकनीकों के लिए प्रदर्शन व प्रशिक्षण केंद्र के रूप में कार्य करते हैं। ये संरक्षित खेती के लिए फलों व सब्जियों की पौध के लिए रोपण सामग्री के स्रोत के रूप में भी काम करते हैं।

भारतीय सेना ने ड्रोन फेडरेशन ऑफ इंडिया के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

भारतीय सेना की ओर से आर्मी डिजाइन ब्यूरो ने ड्रोन, काउंटर-ड्रोन और संबद्ध तकनीकों के अनुसंधान, विकास, परीक्षण व निर्माण को बढ़ावा देने की दिशा में सहयोगात्मक रूप से काम करने के लिए ड्रोन फेडरेशन ऑफ इंडिया के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। इससे भारतीय सेना को इनके परिचालन में सहायता मिल सकती है। यह समझौता ज्ञापन हमारे उद्योग को सहायता देने में भारतीय सेना की प्रमाणित प्रतिबद्धता और रक्षा निर्माण में आत्मनिर्भरता प्राप्त करने की सोच के अनुरूप स्वदेशी उपकरण व हथियार प्रणालियों को विकसित करने के लिए व्यापक इकोसिस्टम को भी दिखाता है।

अमेरिका के विशेष सैन्य बलों के साथ बकलोह, हिमाचल प्रदेश में संयुक्त अभ्यास “वज्र प्रहार, 2022” शुरू

भारत-अमेरिका संयुक्त विशेष सैन्य बलों के 13वें संस्करण का अभ्यास “वज्र प्रहार, 2022स्पेशल फोर्सेज ट्रेनिंग स्कूल (एसएफटीएस), बकलोह (हिमाचल प्रदेश) में शुरू हो गया। अमेरिकी दल का प्रतिनिधित्व यूएस स्पेशल फोर्सेज के फर्स्ट स्पेशल फोर्सेज ग्रुप (एसएफजी) और स्पेशल टैक्टिक्स स्क्वाड्रन (एसटीएस) के जवानों ने किया और भारतीय सैन्य दल का गठन एसएफटीएस की अगुआई में विशेष सैन्य बलों को निकालकर किया गया था। वज्र प्रहार की श्रृंखला के संयुक्त अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों के विशेष बलों के बीच संयुक्त मिशन योजना और परिचालन रणनीतियों जैसे क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ परिपाटियों और अनुभवों को साझा करने के साथ ही अंतर संचालन में सुधार करना है। इस वार्षिक अभ्यास की मेजबानी भारत और अमेरिका बारी बारी से करते रहे हैं। इसका 12वां संस्करण अक्टूबर, 2021 में ज्वाइंट बेस लेविस मैकॉर्ड, वाशिंगटन (यूएसए) हुआ था।

भारतीय सेना ने "हिम-ड्रोन-ए-थॉन" लॉन्च किया

भारतीय सेना ने भारतीय ड्रोन संघ के सहयोग से 08 अगस्त, 2022 को 'हिम ड्रोन-ए-थॉन' कार्यक्रम शुरू किया है। रक्षा विनिर्माण में आत्मनिर्भरता के अनुरूप इस पहल का उद्देश्य भारतीय ड्रोन परितंत्र को उत्प्रेरित करना और उसे केंद्रित अवसर प्रदान करना है ताकि अग्रिम पंक्ति के सैन्य-दल की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अग्रणी ड्रोन क्षमताओं का विकास किया जा सके। स्वदेशी ड्रोन परितंत्र के लिए भारतीय सेना का समर्थन इस सिद्धांत पर आधारित है कि 'स्वदेश में निर्मित उपलब्ध अच्छा' 'विश्व स्तर पर उपलब्ध सर्वोत्तम' से बेहतर है। हालांकि, रक्षा बलों द्वारा मांग की गई प्रौद्योगिकी में क्रमिक वृद्धि से पहले से बेहतर और अधिक सक्षम ड्रोन उत्पादों के निर्माण को प्रोत्साहन मिलने की संभावना है।

डेफ-एक्सपो का 12वां संस्करण 18-22 अक्टूबर, 2022 के बीच गांधीनगर, गुजरात में आयोजित किया जाएगा

भू-आधारित, नौसेनिक और होमलैंड सुरक्षा प्रणालियों पर भारत की प्रमुख प्रदर्शनी डेफएक्सपो का 12वां संस्करण दिनांक 18-22 अक्टूबर, 2022 के बीच गुजरात के गांधीनगर में आयोजित किया जाएगा। पांच दिवसीय कार्यक्रम में तीन व्यावसायिक दिनों के बाद दो दिन आम जनता के लिए होंगे। इन सभी पांच दिनों के दौरान साबरमती रिवर फ्रंट में सशस्त्र बलों, डीपीएसयू और उद्योग जगत के उपकरणों एवं कौशल सेट का प्रदर्शन सभी स्तरों पर सक्रिय भागीदारी और समेकित प्रयासों के माध्यम से किया जाएगा। डेफएक्सपो 2022 रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता हासिल करने और 2025 तक 5 अरब डॉलर का निर्यात हासिल करने के प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के दृष्टिकोण के अनुरूप है। भारत ने सफलतापूर्वक खुद को एक उभरते रक्षा विनिर्माण केंद्र के रूप में स्थापित किया है, जिसमें हाल के वर्षों में भारतीय कंपनियों को कई अंतरराष्ट्रीय ऑर्डर मिले हैं। भारतीय रक्षा उद्योग डेफएक्सपो-2022 का बेसब्री से इंतजार कर रहा है जो रक्षा क्षेत्र में एशिया का सबसे बड़ा आयोजन है। प्रतिभागियों के समक्ष पेश आ रही रसद संबंधी समस्याओं के कारण इसे मार्च 2022 में स्थगित कर दिया गया था।

भारत सरकार ने मलेशिया को 18 LCA तेजस बेचने की पेशकश की

भारत सरकार ने मलेशिया को 18 हल्के लड़ाकू विमान (LCA) "तेजस" बेचने की पेशकश की है। अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, मिस्र, अमेरिका, इंडोनेशिया और फिलीपींस इन छह देशों ने सिंगल-इंजन तेजस फाइटर जेट को खरीदने में अपनी दिलचस्पी दिखाई है। भारत सरकार ने वर्ष 2021 में राज्य के स्वामित्व वाली हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड को तेजस जेट विमानों की वर्ष 2023 तक डिलीवरी हेतु 6 बिलियन अमेरिकी डॉलर का अनुबंध दिया था। लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (LCA) कार्यक्रम को भारत सरकार द्वारा वर्ष1984 में शुरू किया गया था, जिसके बाद सरकार द्वारा LCA कार्यक्रम का प्रबंधन करने हेतु वैमानिकी विकास एजेंसी (Aeronautical Development Agency-ADA) की स्थापना की गई। यह पुराने मिग 21 लड़ाकू विमानों का स्थान लेगा। LCA का डिज़ाइन 'रक्षा अनुसंधान और विकास विभाग' के तहत संचालित 'वैमानिकी विकास एजेंसी' द्वारा तैयार किया गया है। LCA का विनिर्माण सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) द्वारा किया गया है।

भारतीय सेना ने ‘स्काईलाइट’ (Skylight) अभ्यास का आयोजन किया

भारतीय सेना ने हाल ही में अपनी अंतरिक्ष डोमेन क्षमताओं को बढ़ाने के लिए “स्काईलाइट मेगा-एक्सरसाइज” (Skylight Mega-Exercise) का आयोजन किया। यह अपनी तरह का पहला बड़े पैमाने पर अभ्यास था। स्काईलाइट अभ्यास का उद्देश्य उपग्रह संचार परिसंपत्तियों की परिचालन तत्परता का परीक्षण करना और इन परिसंपत्तियों का प्रबंधन करने वाले कर्मियों को प्रशिक्षण देना था। स्काईलाइट मेगा एक्सरसाइज अखिल भारतीय अभ्यास था, जिसमें लक्षद्वीप और अंडमान द्वीप समूह शामिल थे। इसने भारत की उत्तरी सीमाओं के ऊंचे इलाकों को भी कवर किया जहां भारतीय सेना ने 25-29 जुलाई, 2022 तक सभी उपग्रह संचार संपत्तियों को सक्रिय कर दिया था। इस अभ्यास के दौरान, अंतरिक्ष क्षेत्र में कई तकनीकी और परिचालन परिदृश्यों के बारे में बताया गया। इस अभ्यास में इसरो और अंतरिक्ष और जमीनी क्षेत्रों के लिए जिम्मेदार अन्य एजेंसियों की भागीदारी देखी गई। फील्ड फॉर्मेशन में 280 से अधिक प्लेटफॉर्म की जांच की गई। भारतीय सेना इसरो द्वारा कई उपग्रहों की सेवाओं का उपयोग करती है। इन उपग्रहों का उपयोग विभिन्न प्रकार के कई संचार टर्मिनलों को जोड़ने के लिए किया जाता है, जिसमें परिवहन योग्य वाहन माउंटेड टर्मिनल, स्थिर टर्मिनल, छोटे फॉर्म फैक्टर आदि शामिल हैं।

Commonwealth Games 2022 : भारत ने 22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य समेत कुल 61 पदक जीते

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत ने 22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य समेत कुल 61 पदक जीते हैं। भारत ने पदक तालिका (Medal tally) में चौथे स्थान पर रहते हुए अपना अभियान खत्म किया। वहीं, ऑस्ट्रेलिया 67 स्वर्ण, 57 रजत और 54 कांस्य समेत कुल 178 पदकों के साथ पहले स्थान पर रहा। इंग्लैंड 57 स्वर्ण, 66 रजत और 53 कांस्य समेत 176 पदकों के साथ दूसरे और कनाडा 26 स्वर्ण, 32 रजत और 34 कांस्य समेत 92 पदकों के साथ तीसरे स्थान पर रहा। समापन समारोह में भारत के अचंता शरत कमल और निकहत जरीन ध्वजवाहक रहे। यह प्रदर्शन भारत के लिए शानदार है क्योंकि इस बार के खेलों में निशानेबाजी (शूटिंग) शामिल नहीं था। साल 2018 गोल्ड कोस्ट खेलों में भारत ने शूटिंग के साथ 66 मेडल जीते थे। बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को पहला पदक संकेत महादेव सरगर ने वेटलिफ्टिंग के 55 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीतकर दिलाया। भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने 49 किग्रा वर्ग में शीर्ष पर रहने के बाद राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में भारत का पहला स्वर्ण पदक जीता। पैडलर शरथ कमल ने टेबल टेनिस पुरुष एकल प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक के साथ राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भारत का आखिरी स्वर्ण पदक जीता। बर्मिंघम 2022 राष्ट्रमंडल खेल अब आधिकारिक रूप से समापन हो चुका है। अब 2026 में ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया में अगले संस्करण का आयोजन होगा।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.