Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

13 September 2022

प्रधानमंत्री ने विश्व डेयरी सम्मेलन का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली के पास ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर और मार्ट में विश्व डेयरी सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए कहा कि भारत का डेयरी क्षेत्र बड़े पैमाने पर उत्पादन की बजाय बड़े जन समूह द्वारा उत्पादन करने के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि छोटे डेयरी किसानों के सामूहिक प्रयासों से भारत दुनिया में सबसे अधिक डेयरी उत्पादन वाला देश बन गया है। श्री मोदी ने कहा कि 2014 में देश में 14 करोड़ 60 लाख टन दूध का उत्पादन किया था जो अब बढ़कर 21 करोड़ टन हो गया है। यह करीब 44 प्रतिशत की वृद्धि है। सम्मेलन 15 सितंबर तक चलेगा, इसमें उद्योगपति, विशेषज्ञ, किसान और नीति नियोजक भाग ले रहे हैं । सम्मेलन का विषय है 'पोषण और आजीविका के लिए डेयरी'। सम्मेलन में 50 देशों के लगभग 1500 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। इस तरह का शिखर सम्मेलन भारत में 1974 में आयोजित किया गया था। भारतीय डेयरी उद्योग सहकारी मॉडल पर आधारित है जो छोटे और सीमांत डेयरी किसानों, विशेष रूप से महिलाओं को सशक्त बनाता है। वैश्विक दुग्‍ध उत्‍पादन में भारत के डेयरी उद्योग का योगदान लगभग 23 प्रतिशत है। यहां लगभग 21 करोड टन दूध का वार्षिक उत्‍पादन होता है और आठ करोड से अधिक डेयरी किसान हैं।

नई दिल्‍ली के सेना अस्‍पताल में आरंभिक हस्‍तक्षेप केन्‍द्र- प्रयास की स्‍थापना

नई दिल्‍ली के सेना अस्‍पताल में आरंभिक हस्‍तक्षेप केन्‍द्र- प्रयास की स्‍थापना की गई है। विशेष रूप से सक्षम बच्‍चों के माता-पिताओं का विश्‍वास बढ़ाने और बच्‍चों की समस्‍याओं के उन्‍मूलन के लिए यह केन्‍द्र बनाया गया है। सेना के इस अस्‍पताल को रिसर्च और रेफरल - आर आर अस्‍पताल भी कहा जाता है। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि इस केंद्र में अत्‍याधुनिक सुविधाएं उपलब्‍ध कराई गई हैं जो विशेष रूप से सक्षम बच्‍चों की जरूरतें पूरी करने के लिए समर्पित है। सैन्‍य कर्मियों के ऑटिज्‍म, सेरेब्रल पाल्‍सी, नींद और भाषा सीखने में देरी की समस्‍या और अन्‍य परेशानियों से पीडित छह वर्ष की उम्र तक के बच्‍चों को इससे लाभ होगा। आर्मी वाइव्‍स वेलफेयर एसोसिएशन की अध्‍यक्ष अर्चना पाण्‍डेय ने इस केंद्र का उद्घाटन किया। इस अवसर पर सेना प्रमुख जनरल मनोज पाण्‍डेय मुख्‍य अतिथि थे।

दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय ने स्‍नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आवंटन-सह-प्रवेश नीति-सीएसएएस-2022 पोर्टल शुरू किया

दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय ने शैक्षिक वर्ष 2022-23 के लिए स्‍नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आवंटन-सह-प्रवेश नीति-सीएसएएस-2022 पोर्टल शुरू कर दिया है। इससे साझा प्रवेश परीक्षा परिणाम के आधार पर प्रवेश किए जा सकेंगे। पोर्टल की शुरुआत करते हुए दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर योगेश सिंह ने बताया कि इस वर्ष 67 कॉलेजों और विभागों में 79 स्‍नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाना है जिनमें बीए के लिए 206 श्रेणियां शामिल हैं। प्रोफेसर सिंह ने कहा कि सीएसएएस-2022 तीन चरणों में सम्‍पन्‍न होगी। पहला चरण दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय के लिए लागू होगा। दूसरा चरण वरीयता का विकल्‍प भरने और तीसरा चरण सीट आवंटित करने और प्रवेश देने के लिए होगा। दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय उन उम्‍मीदवारों के लिए मिड-एंट्री का भी प्रावधान कर रहा है जो किसी कारण से निर्धारित समयसीमा में सीएसएएस-2022 के लिए आवेदन में असफल रहे। ऐसे उम्‍मीदवार अतिरिक्‍त शुल्‍क के रूप में एक हजार रुपए का भुगतान करके सीएसएएस-2022 में भाग ले सकते हैं।

लिकिथ वाई0 पी0 ने विश्‍व कौशल प्रतियोगिता में प्रोटोटाइप मॉडलिंग कौशल में कांस्‍य पदक जीता

लिकिथ वाई0 पी0 ने विश्‍व कौशल प्रतियोगिता-2022 में प्रोटोटाइप मॉडलिंग कौशल में कांस्‍य पदक जीता है। लिकिथ ने टोयाटा तकनीकी प्रशिक्षण संस्थान से मेक्ट्रोनिक्स में अपना डिप्लोमा पूरा किया है और वे जनवरी 2022 से इस प्रतियोगिता के लिए प्रशिक्षण ले रहे थे। यह अन्‍तर्राष्‍ट्रीय प्रतियोगिता वर्ल्‍ड स्किल्‍स इंटरनेशनल के सदस्‍य देशों के युवाओं के बीच आयोजित की जाती है। कौशल विकास और उदयमिता मंत्रालय ने बताया कि यह प्रतियोगिता पहले शंघाई में होनी थी लेकिन कोविड महामारी के कारण इसे 15 देशों में स्‍थानांतरित किया गया। श्री लिकिथ 2021 में प्रोटोटाइप मॉडलिंग में भारतीय राष्‍ट्रीय कौशल प्रतियोगिता- इंडिया स्किल्‍स में भी विजयी रहे थे। कौशल विकास और उदयमिता मंत्रालय देश में कौशल प्रतियोगिताओं का आयोजन कर रहा है और युवाओं को अन्‍तर्राष्‍ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए प्रशिक्षित कर रहा है।

स्वास्थ्य सेवाओं पर प्रति व्यक्ति सरकारी खर्च 2013-14 से 74 प्रतिशत बढ़ा

स्वास्थ्य सेवाओं पर प्रति व्यक्ति सरकारी खर्च 2013-14 से 74 प्रतिशत बढ़ा है। 2018-19 के राष्ट्रीय स्वास्थ्य लेखा अनुमान के अनुसार 2013-14 में स्वास्थ्य देखभाल पर प्रति व्यक्ति सरकारी व्यय एक हजार 42 रुपये था, जो बढ़कर एक हजार आठ सौ 15 रुपये हो गया है। देश में स्वास्थ्य पर कुल खर्च में सरकार की हिस्सेदारी लगातार बढ़ रही है। वर्तमान में स्वास्थ्य सेवाओं पर व्यय में सरकार की हिस्सेदारी 2013-14 के 23 दशमलव दो प्रतिशत से बढ़कर 2018-19 में 34 दशमलव पांच प्रतिशत हो गई है। प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाओं पर सरकारी खर्च बढ़ा है। 2013-14 के दौरान प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल पर सरकारी खर्च लगभग 51 प्रतिशत था, जो 2018-19 में बढ़कर 55 प्रतिशत से अधिक हो गया है। 2013-14 के बाद से देश में स्वास्थ्य देखभाल पर प्रति व्यक्ति निजी व्यय में भी आठ प्रतिशत की कमी आई है।

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान ने आयुर्वेद दिवस 2022 कार्यक्रम की शुरूआत की

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान ने आयुर्वेद दिवस 2022 कार्यक्रम की शुरूआत की है। छह सप्‍ताह का यह कार्यक्रम 23 अक्‍टूबर तक चलेगा। आयुष मंत्रालय ने इस वर्ष आयुर्वेद दिवस के लिए अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्‍थान को नोडल एजेंसी बनाया है। इसका विषय है - हर दिन हर घर आयुर्वेद। आयुष मंत्रालय प्रत्‍येक वर्ष धनवंतरी जयंती को आयुर्वेद दिवस मनाता है। इस वर्ष यह दिवस 23 अक्‍टूबर को मनाया जाएगा। केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा है कि हर दिन हर घर आयुर्वेद का विषय प्रत्‍येक घर में समग्र स्‍वास्‍थ्‍य के लिए आयुर्वेद के बारे में जागरूकता पर बल देने के लिए चुना गया है।

खादी इंडिया ने निफ्ट गांधीनगर में एक प्रदर्शनी और फैशन शो 'अहेली खादी' का आयोजन किया

खादी को एक फैशन फैब्रिक के रूप में स्थापित करने के प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के आह्वान को पूरा करना खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) का मुख्य उद्देश्य रहा है। युवा दर्शकों और वैश्विक बाजार तक पहुंचने के इरादे से, एक प्रदर्शनी और खादी को एक कपड़े के रूप में लोकप्रिय बनाने तथा पारंपरिक एवं समकालीन फैशन में इसके उपयोग को प्रदर्शित करने के लिए 'अहेली खादी' फैशन शो का आयोजन खादी इंडिया द्वारा निफ्ट गांधीनगर के टाना रीरी ऑडिटोरियम में किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में केवीआईसी के अध्यक्ष श्री मनोज गोयल भी उपस्थित रहे। योग के लिए परिधान "स्वाधा", जिसे अब संचार के एक प्रभावी माध्यम के रूप में स्वीकार किया जाता है और जिसे निफ्ट डिजाइनर द्वारा डिजाइन किया गया है, इस फैशन शो का प्रमुख आकर्षण था। फैशन शो का एक अन्य आकर्षण "अहेली" था; रैंप पर प्रदर्शित कपड़े खादी संस्थानों से सभी पीढ़ियों के उपभोक्ता के लिए लाए गए थे। निफ्ट डिजाइनरों ने एथनिक, फ्यूजन, वेस्टर्न और कैजुअल लुक से लेकर परिधान और साड़ियों के छह अलग-अलग कलेक्शन तैयार किए थे।

गंभीर धोखाधड़ी जाँच कार्यालय ने चीनी लिंक वाली शेल कंपनियों के कथित मास्टरमाइंड को गिरफ्तार किया

गंभीर धोखाधड़ी जाँच कार्यालय (SFIO) ने चीनी लिंक वाली शेल कंपनियों की स्थापना और नकली निदेशकों की आपूर्ति से जुड़े एक व्यापक रैकेट के कथित मास्टरमाइंड को गिरफ्तार किया है। SFIO को सरकार ने ज़िलियन कंसल्टेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और 32 अन्य कंपनियों की जाँच का जिम्मा सौंपा था। आमतौर पर शेल कंपनियाँ ऐसी कॉरपोरेट संस्थाएँ होती हैं, जिनके पास उनका अपना न तो कोई सक्रिय व्यवसाय होता है और न ही उनके पास कोई स्थायी संपत्ति होती है। यही कारण है कि इस प्रकार की कंपनियाँ सदैव संदेह के दायरे में रहती हैं, क्योंकि इनमें से कुछ कंपनियों का या तो मनी लॉन्ड्रिंग अथवा कर चोरी एवं अन्य अवैध गतिविधियों के लिये इस्तेमाल किया जा सकता है। भारत सरकार के कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय (Ministry of Corporate Affairs) के अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत यह एक बहु-अनुशासनात्मक संगठन (Multi-disciplinary organization) हैं जिसके अंतर्गत् वित्तीय क्षेत्र, पूंजी बाजार, लेखा, फॉरेंसिक ऑडिट (Forensic audit), कराधान, कानून, सूचना प्रौद्योगिकी, कंपनी कानून, कस्टम तथा जाँच से संबंधित विशेषज्ञ शामिल हैं। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है।

अमेरिका ने मिनटमैन III अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया

हाल ही में यूएस एयर फ़ोर्स ग्लोबल स्ट्राइक कमांड ने Minuteman III (Minuteman III ICBM) मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। इस मिसाइल को कैलिफोर्निया के वैंडेनबर्ग स्पेस फोर्स बेस से लॉन्च किया गया। मिनटमैन III मिसाइल यूएस एयर फोर्स ग्लोबल स्ट्राइक कमांड के तहत स्ट्रैटेजिक डिटरेंस फोर्स का हिस्सा है। इसका पूरा नाम LGM-30G Minuteman-III है। LGM में L का मतलब साइलो लॉन्च मिसाइल, G का मतलब ग्राउंड अटैक और M का मतलब गाइडेड मिसाइल है। यह परमाणु हमले को अंजाम देने में सक्षम अमेरिका की सबसे शक्तिशाली मिसाइलों में से एक है। इस परीक्षण का उद्देश्य हथियार प्रणाली की सुरक्षा, प्रभावशीलता और तैयारी को सत्यापित करना था। मिनटमैन III मिसाइल 10,000 किमी से अधिक की दूरी तक मार कर सकती है। अमेरिका ने 16 अगस्त को मिनटमैन-3 मिसाइल का भी परीक्षण किया था। हालांकि 12 दिन पहले इसका दूसरा परीक्षण कराने की तैयारी की गई थी, लेकिन चीन-ताइवान तनाव के कारण इसे टाल दिया गया था। मिनटमैन III कार्यक्रम की शुरुआत 1966 में हुई थी।

भारतीय सेना ने ‘पर्वत प्रहार’ अभ्यास का आयोजन किया

सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने हाल ही में अभ्यास ‘पर्वत प्रहार’ की समीक्षा के लिए लद्दाख सेक्टर का दौरा किया और कमांडरों द्वारा जमीन पर परिचालन तैयारियों के बारे में जानकारी दी गई। इस अभ्यास में सेना के सभी नए प्रमुख शामिल किए गए। ‘पर्वत प्रहार’ नाम का यह अभ्यास भारतीय सेना की वन स्ट्राइक कोर द्वारा किया जा रहा है। ‘पर्वत प्रहार’ भारतीय सेना का 20 दिनों तक चलने वाला अभ्यास है। इस अभ्यास के रूप में भारत और चीन पूर्वी लद्दाख में गोगरा-हॉट स्प्रिंग्स (पीपी -15) से अलग हो रहे हैं, जैसा कि 8 सितंबर को घोषित किया गया था। यह विघटन प्रक्रिया 17 जुलाई, 2022 को चुशुल मोल्दो बैठक बिंदु पर आयोजित भारत और चीन के कोर कमांडरों के बीच 16वें दौर की वार्ता का अनुसरण करती है। इस अभ्यास में उच्च ऊंचाई वाले पैदल सेना के जवान, T-90S और T-72 टैंक, मशीनीकृत पैदल सेना, K-9 वज्र, बोफोर्स और M-777 हॉवित्जर, हेलीकॉप्टर और विमान शामिल थे। इस अभ्यास में चिनूक हेवी लिफ्ट हेलीकॉप्टर और K9-वज्र हॉवित्जर द्वारा ले जाने वाले सभी इलाकों के वाहनों का इस्तेमाल किया गया।

प्रधान न्यायाधीश मुनीश्वर नाथ भंडारी को PMLA अपीलीय न्यायाधिकरण के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया

मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, केंद्र ने न्यायमूर्ति मुनीश्वर नाथ भंडारी को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत अपीलीय न्यायाधिकरण के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया। न्यायमूर्ति भंडारी 12 सितंबर को सेवानिवृत्त होने वाले हैं। वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग की ओर से यह आदेश जारी किया गया है। SAFEMA के तहत संपत्ति की जब्ती के लिए ट्रिब्यूनल और PMLA अपीलीय न्यायाधिकरण को 2016 में वित्त अधिनियम, 2016 के माध्यम से विलय कर दिया गया था। ट्रिब्यूनल के अध्यक्ष का पद सितंबर 2019 से खाली था।

ओडिशा सरकार ने भूजल तालिका में सुधार के लिए 270 करोड़ रुपये की छत्त योजना अधिसूचित की

ओडिशा सरकार ने छत पर वर्षा जल संचयन प्रणाली (RRHS) को लागू करने के लिए 270 करोड़ रुपये के निवेश के साथ ‘कम्युनिटी हार्नेंसिंग एंड हार्वेस्टिंग रेन वाटर आर्टिफिशियल फ्रॉम टेरेस टू एक्वीफर’ (CHHATA) योजना शुरू की। भूजल पर बढ़ते दबाव को दूर करने और घटते भूजल स्तर में सुधार लाने के लिए इस योजना की परिकल्पना की गई थी। 12 अगस्त 2022 को, मुख्यमंत्री (CM) नवीन पटनायक के नेतृत्व में राज्य मंत्रिमंडल ने RRHS को बढ़ावा देने के लिए मंजूरी दे दी है। यह योजना जल संसाधन विभाग (DoWR) के तहत भूजल विकास निदेशालय (GWD) द्वारा क्रियान्वित की जाएगी। ओडिशा सरकार 2022-23 में 270 करोड़ रुपये में से 51.75 करोड़ रुपये और शेष 4 वर्षों में 2026-27 तक 52.56 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

सूबेदार मेजर यादव ने “द हीरो ऑफ टाइगर हिल” शीर्षक से आत्मकथा लिखी

आत्मकथा “द हीरो ऑफ टाइगर हिल : ऑटोबायोग्राफी ऑफ ए परम वीर”, सबसे कम उम्र के परमवीर चक्र (पीवीसी) पुरस्कार विजेता सूबेदार मेजर (मानद कप्तान) योगेंद्र सिंह यादव (सेवानिवृत्त) की प्रेरक कहानी के बारे में है। 1999 के कारगिल संघर्ष में उनके कार्यों के लिए। यह आत्मकथा सृष्टि पब्लिशर्स एंड डिस्ट्रीब्यूटर्स द्वारा प्रकाशित की गई है।

लॉर्ड्स मार्क इंडस्ट्रीज को IRDAI से मिला डायरेक्ट इंश्योरेंस ब्रोकिंग लाइसेंस

लॉर्ड्स मार्क इंडस्ट्रीज के बीमा विभाग, लॉर्ड्स मार्क इंश्योरेंस ब्रोकिंग को जीवन और सामान्य बीमा उत्पादों की बिक्री के लिए आईआरडीएआई से प्रत्यक्ष बीमा ब्रोकिंग लाइसेंस प्राप्त हुआ है। यह विविधीकृत समूह के बीमा क्षेत्र में प्रवेश का प्रतीक है। लॉर्ड्स मार्क इंश्योरेंस ब्रोकिंग ने वित्त वर्ष 23 में 10,000 बीमा ग्राहकों को हासिल करने की योजना बनाई है, जिसके लिए वह दिसंबर तक 5,000 बीमा सलाहकारों को नियुक्त करेगी।

आरबीआई ने अनुपालन में विफल रहने पर तीन संस्थाओं पर जुर्माना लगाया

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने इंडस्ट्रियल बैंक ऑफ कोरिया समेत तीन संस्थानों पर नियामकीय अनुपालन नहीं करने की वजह से जुर्माना लगाया है। आरबीआई ने एक बयान में कहा कि 'अपने ग्राहक को जानें' (केवाईसी) नियमों का पालन नहीं करने की वजह से इंडस्ट्रयल बैंक ऑफ कोरिया पर 36 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। एक अन्य विज्ञप्ति में केंद्रीय बैंक ने कहा कि उसके निर्देशों का पालन नहीं करने पर वूरी बैंक पर भी 59.10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। इसके अलावा नई दिल्ली स्थित इंडियाबुल्स कमर्शियल क्रेडिट लिमिटेड पर भी 12.35 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

दक्षिण-दक्षिण सहयोग के लिये अंतर्राष्ट्रीय दिवस

प्रत्येक वर्ष 12 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा दक्षिण-दक्षिण सहयोग के लिये अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day for South-South Cooperation) के रूप में मनाया जाता है। यह दिवस विकासशील देशों के बीच सहयोग हेतु संयुक्त राष्ट्र द्वारा किये गए प्रयासों पर प्रकाश डालता है। यह दक्षिणी क्षेत्र में स्थित देशों के आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक विकास के लिये एक पहल है। मूलतः दक्षिण-दक्षिण सहयोग वैश्विक दक्षिण (Global South) में विकासशील देशों के बीच “तकनीकी सहयोग” को संदर्भित करता है। दक्षिण-दक्षिण सहयोग विकासशील देशों को ज्ञान, विशेषज्ञता, कौशल और संसाधनों को साझा करने में मदद करता है ताकि उनके विकास लक्ष्यों को ठोस प्रयासों से पूरा किया जा सके। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, दक्षिण-दक्षिण सहयोग के लिये यह पहल स्पष्ट रूप से दक्षिण के लोगों और देशों के बीच एकजुटता को दर्शाती है। यह लोगों की राष्ट्रीय और सामूहिक आत्मनिर्भरता एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सहमत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के साथ-साथ सतत् विकास के लिये वर्ष 2030 एजेंडा को भी दर्शाता है। यह दिन “ब्यूनस आयर्स प्लान ऑफ एक्शन (BAPA)” को अपनाने की याद दिलाता है। 138 सदस्य देशों द्वारा विकासशील देशों के बीच तकनीकी सहयोग को बढ़ावा देने और लागू करने के लिये वर्ष 1978 में BAPA को अपनाया गया था। दक्षिण-दक्षिण सहयोग निम्नलिखित उद्देश्य से शुरू किया गया था: विकासशील देशों के बीच आत्मनिर्भरता बढ़ाना तथा उनकी विकास संबंधी समस्याओं के लिये रचनात्मक समाधान खोजना। अनुभवों का आदान-प्रदान करके आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देना।

राष्ट्रीय वन शहीद दिवस

राष्ट्रीय वन शहीद दिवस 11 सितंबर को मनाया जाता है। यह दिन उन लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए मनाया जाता है जिन्होंने पूरे भारत में जंगलों और वन्यजीवों की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है। इस दिन वन रक्षकों, कर्मचारियों और अधिकारियों के बलिदान को याद करने के लिए मनाया जाता है। भारत सरकार के पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने 11 सितंबर को राष्ट्रीय वन शहीद दिवस (National Forest Martyrs Day) के रूप में मनाए जाने का फैसला किया था। पर्यावरण और वन मंत्रालय द्वारा घोषणा किए जाने के बाद साल 2013 में आधिकारिक तौर पर यह दिन अस्तित्व में आया।

विश्व प्राथमिक चिकित्सा दिवस

हर साल सितंबर के दूसरे शनिवार को दुनिया भर में चोटों को रोकने और जीवन को बचाने में प्राथमिक चिकित्सा के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने करने के लिए विश्व प्राथमिक उपचार दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष यह 10 सितंबर का मनाया गया। यह दिन एक वार्षिक अभियान है जिसका उद्देश्य प्राथमिक चिकित्सा प्रशिक्षण के महत्व को बढ़ावा देना और संकट में अधिक लोगों की जान बचाने के लिए इसकी पहुंच को बढ़ाना है। जब कोई व्यक्ति मामूली या गंभीर चोट या बीमारी से पीड़ित होता है, तो रोगी को दी जाने वाली प्राथमिक और तत्काल सहायता को 'First Aid या प्राथमिक उपचार' कहा जाता है।

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश केएन सिंह का निधन

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रहे न्यायमूर्ति कमल नारायण (के एन) सिंह का प्रयागराज में निधन हो गया। वह तकरीबन 96 वर्ष के थे। 1949 में विधि की पढ़ाई पूरी कर वकालत के पेशे में आ गए। 1963 में उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार के लिए कनिष्ठ स्थायी अधिवक्ता के रूप में नियुक्त किया गया था। वर्ष1967 में वह सीनियर स्टैंडिंग काउंसिल बने। 1970 में उन्हें उत्तर प्रदेश के महाधिवक्ता के रूप में नियुक्त किया गया लेकिन तीन महीने बाद ही 25 अगस्त 1970 को वह 43 वर्ष की आयु में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश बने। इलाहाबाद उच्च न्यायालय की पीठ पर 15 से अधिक वर्षों तक बैठने के बाद उन्हें 10 मार्च 1986 को भारत के सर्वोच्च न्यायालय में पदोन्नत किया गया। 25 नवंबर 1991 को उन्होंने भारत के मुख्य न्यायाधीश का पद ग्रहण किया। वह 13 दिसंबर को सेवानिवृत्त हुए।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.