Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

8 November 2022

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने आज नर्सिंग पेशेवरों को राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरस्कार प्रदान किए

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति भवन में नर्सिंग पेशेवरों को वर्ष 2021 के लिए राष्ट्रीय फ्लोरेंस नाइटिंगेल पुरस्कार प्रदान किए। यह पुरस्कार नर्सों और नर्सिंग स्टाफ को उत्‍कृष्‍ट समाज सेवा के लिए दिया जाता है। इस पुरस्‍कार की शुरूआत 1973 में केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने की थी।

उच्‍चतम न्‍यायालय ने शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेश और सरकारी नौकरियों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए दस प्रतिशत आरक्षण बरकरार रखा

उच्‍चतम न्‍ययालय की पांच न्‍यायाधीशों की संविधान पीठ ने आज तीन-दो के बहुमत से 103 वें संविधान संशोधन की वैधता बरकरार रखी है जिसमें दाखिलों और सरकारी नौकरियों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए दस प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान है। न्‍यायाधीश दिनेश माहेश्वरी, न्‍यायाधीश बेला त्रिवेदी और न्‍यायाधीश जेबी पारदीवाला ने अधिनियम के पक्ष में राय दी है जबकि न्यायमूर्ति एस रवींद्र भट ने कानून को भेदभावपूर्ण और बुनियादी ढांचे का उल्लंघन बताते हुए इस पर असहमति व्‍यक्‍त की। प्रधान न्यायाधीश यू यू ललित ने न्यायमूर्ति एस रवींद्र भट की राय का समर्थन किया। न्‍यायमूर्ति त्रिवेदी ने फैसला सुनाया कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को दस प्रतिशत आरक्षण दिए जाने संबंधी कानून भेदभावपूर्ण नहीं है। न्यायमूर्ति माहेश्वरी ने कहा कि आर्थिक मानदंड को ध्यान में रखते हुए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को आरक्षण देने संबंधी कानून बुनियादी ढांचे या समानता संहिता का उल्लंघन नहीं करता। उनका कहना था कि इस प्रावधान से 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण देने की सीमा के किसी प्रावधान को कोई नुकसान नहीं पहुंचता। जनवरी 2019 में संसद ने 103वें संविधान संशोधन को मंजूरी दी थी और इसे तुरंत ही उच्‍चतम न्‍यायालय में चुनौती दी गई थी। याचिकाकर्ताओं ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को आरक्षण देने संबंधी कानून के कई पहलुओं पर सवाल उठाए थे, जिसमें यह भी शामिल था 1992 में उच्‍चतम न्‍यायालय द्वारा निर्धारित आरक्षण पर 50 प्रतिशत की राष्ट्रीय सीमा को कैसे पार कर सकता है और क्या इसने संविधान के "बुनियादी ढांचे" को बदल दिया है।

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2023 टूलकिट लांच की गई

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2023 टूलकिट को “Rural WASH Partnerships – the way forward” पर तकनीकी सत्र में लॉन्च किया गया। 7वें भारत जल सप्ताह के दूसरे दिन “Rural WASH Partnerships – the way forward” पर तकनीकी सत्र का आयोजन किया गया। इसका आयोजन पेयजल और स्वच्छता विभाग (DDWS) द्वारा किया गया था, जो केंद्रीय जल मंत्रालय के तत्वावधान में आता है। जल शक्ति मंत्री की अध्यक्षता में तकनीकी सत्र में इस बात पर ध्यान केंद्रित किया गया कि कैसे वाश (WASH) क्षेत्र में शिक्षाविदों, विशेषज्ञों और अन्य लोगों के साथ सहयोग DDWS के दो प्रमुख कार्यक्रमों – जल जीवन मिशन और स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण चरण II के लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद कर सकता है। कार्यक्रम के दौरान, स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2023 के लिए टूलकिट और “Twinpit to Retrofit Abhiyan” के लिए एक वेब पोर्टल लॉन्च किया गया।

हरियाणा में वन आवरण बढ़ाने के उद्देश्य से “ट्रीज़ आउटसाइड फ़ॉरेस्ट इन इंडिया” (टीओएफआई) कार्यक्रम शुरू

हरियाणा में वन आवरण बढ़ाने के उद्देश्य से राज्य सरकार के वन विभाग और अमेरिकी अंतर्राष्ट्रीय विकास एजेंसी (यूएसएआईडी) ने नई पहल शुरू करते हुए हरियाणा में “ट्रीज़ आउटसाइड फ़ॉरेस्ट इन इंडिया” (टीओएफआई) कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा की है। इसके माध्यम से किसानों, कंपनियों और अन्य निजी संस्थानों को साथ लाकर राज्य में पारंपरिक वन क्षेत्रों के बाहरी क्षेत्र में वन आवरण का तेजी से विस्तार किया जाएगा। यह नया कार्यक्रम कार्बन पृथक्करण को बढ़ाने के साथ-साथ कृषि जलवायु को भी मजबूत करेगा और यह वैश्विक जलवायु परिवर्तन अनुकूलन लक्ष्यों को प्राप्त करने में भी सहायक होगा।

UNEP Adaptation Gap Report 2022 जारी की गई

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) द्वारा “The Adaptation Gap Report 2022: Too Little, Too Slow – Climate adaptation failure puts world at risk” शीर्षक वाली रिपोर्ट जारी की गई। अनुकूलन योजना, वित्तपोषण और कार्यान्वयन पर वैश्विक प्रगति का विज्ञान-आधारित मूल्यांकन प्रदान करने के लिए UNEP द्वारा 2014 से हर साल अनुकूलन गैप रिपोर्ट (Adaptation Gap Report – AGR) प्रकाशित की गई है। यह उन उपायों की सिफारिश करती है जो राष्ट्रीय और वैश्विक अनुकूलन प्रयासों को आगे बढ़ा सकते हैं और रुचि के विभिन्न विषयों का गहन मूल्यांकन प्रदान करते हैं। अनुकूलन (adaptation) पहले से ही अपरिहार्य जलवायु परिवर्तन परिणामों से बचाव के लिए किए गए उपाय हैं। यह सामाजिक, आर्थिक और पारिस्थितिक प्रणालियों में समायोजन को संदर्भित करता है जो जलवायु संकट के कारण बदल रहे हैं या बदल जाएंगे। यह जलवायु कार्रवाई के 3 प्रमुख मुद्दों में से एक है। अन्य हैं:

  1. न्यूनीकरण: वे प्रयास जो ग्लोबल वार्मिंग के प्रभावों को कम करने का प्रयास करते हैं।
  2. नुकसान और क्षति: ऐसे प्रयास जो देशों को आपदाओं के प्रभाव को कम करने और उनके परिणाम से उबरने में सक्षम बनाते हैं।

Global Gender Wealth Equity Report 2022 जारी की गई

ग्लोबल जेंडर वेल्थ इक्विटी रिपोर्ट को संयुक्त रूप से WTW और वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) द्वारा विकसित किया गया था। यह दुनिया के पांच क्षेत्रों में लिंग आधारित धन अंतर की पड़ताल करती है। यह असमानता के पीछे के कारणों का आकलन करती है जैसे करियर, परिवार के समर्थन, जीवन की घटनाओं और वित्तीय साक्षरता के परस्पर प्रभाव। यह सेवानिवृत्ति के समय महिलाओं और पुरुषों के बीच लैंगिक संपत्ति के अंतर को मापती है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, जब महिलाएं काम से रिटायर होंगी, तो उनके पास पुरुषों की जमा हुई दौलत का सिर्फ 74 फीसदी होगा। यह मुख्य रूप से वेतन अंतराल और पदोन्नति में देरी के कारण है। एशिया-प्रशांत में भारत में लैंगिक संपत्ति का सबसे खराब अंतर है। इसके कारण हैं: भारत का लिंग वेतन अंतर वैश्विक औसत से अधिक है। यह विशेष रूप से पेशेवर और तकनीकी भूमिकाओं में प्रचलित है। महिलाओं के लिए नेतृत्व की भूमिकाएं सीमित हैं। कार्यबल में केवल 3 प्रतिशत महिलाएं वरिष्ठ स्तर के पदों पर हैं। महिलाएं कम उम्र में ही चाइल्डकैअर की जिम्मेदारियां संभाल लेती हैं। यह उन वित्तीय बोझों को जोड़ता है जिन्हें अकेले वहन नहीं किया जा सकता है। लंबी अवधि के वित्तीय निर्णय आम तौर पर पुरुषों के हाथों में होते हैं। भारत में कामकाजी महिलाओं की वित्तीय साक्षरता कम है। औसतन, एशिया-प्रशांत में सबसे कम वैश्विक धन अंतर है। इस क्षेत्र में महिलाओं के पास पुरुषों की संपत्ति के स्तर का लगभग तीन-चौथाई (76 प्रतिशत) है, जो वैश्विक औसत से केवल 2 अंक अधिक है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपलब्धियों पर दो पुस्तकों का दुबई में विमोचन किया गया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपलब्धियों पर दो पुस्तकों का दुबई में विमोचन किया गया। ये पुस्तकें हैं- "मोदी@ 20: ड्रीम्स मीट डिलिवरी" और "हार्टफेल्ट: द लेगेसी ऑफ फेथ"। केंद्रीय कौशल विकास और उद्यमिता राज्यमंत्री राजीव चंद्रशेखर ने ये पुस्तकें जारी की। इन पुस्तकों का विमोचन विश्व सद्भावना, एनआईडी फाउंडेशन (दुबई चैप्टर) के एक कार्यक्रम में किया गया ताकि अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में लोगों के बीच भाईचारे और एकजुटता के बंधन को बढ़ाया जा सके। इस अवसर पर भारतीय मूल के 300 से अधिक दिग्गज और विशिष्ट अतिथि भी उपस्थित थे।

वायु सेना ने उम्मीदवारों को अग्निवीरवायु के रूप में शामिल करने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया शुरू की

वायु सेना ने उम्मीदवारों को अग्निवीरवायु के रूप में शामिल करने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। आवेदक 23 नवम्‍बर शाम 5 बजे तक पंजीकरण करा सकते हैं। परीक्षा ऑनलाइन माध्‍यम से अगले वर्ष 18 से 24 जनवरी तक आयोजित की जाएगी। चार साल के लिए सशस्त्र बलों में युवाओं की भर्ती के लिए सरकार ने कुछ महीने पहले अग्निपथ योजना को मंजूरी दी थी। 17 से 23 वर्ष की आयु के युवा भर्ती के लिए पात्र हैं और उनमें से पच्चीस प्रतिशत को स्थायी नियुक्ति प्रदान की जाएगी।

मुंबई और ठाणे के बीच नई फिल्‍म सिटी विकसित की जाएगी

महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा है कि मुंबई और ठाणे के बीच नई फिल्‍म सिटी विकसित की जाएगी। प्रसिद्ध मराठी थियेटर कलाकार प्रशांत दामले के 12 हजार पांच सौ शो पूरे होने पर उन्‍होंने यह घोषणा की। मुख्‍यमंत्री शिंदे और उप मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने इस अवसर पर श्री दामले को सम्‍मानित भी किया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि महाराष्‍ट्र सरकार ने पद्म पुरस्‍कारों के लिए श्री दामले के नाम की सिफारिश की है। उन्‍होंने आश्‍वासन दिया कि राज्‍य में नाट्य प्रेक्षागृहों की स्थिति की समीक्षा के लिए नोडल अधिकारी नियुक्‍त किया जाएगा और जल्‍द ही जरुरी मरम्‍मत का काम शुरू कर दिया जाएगा।

डीआरडीओ द्वारा भारतीय नौसेना की सोनार प्रणालियों के लिए परीक्षण और मूल्यांकन सुविधा का शुभारंभ किया गया

'आत्मनिर्भर भारत' और भारत की 'मेक इन इंडिया' संबंधी प्रतिबद्धता को प्रोत्साहन देते हुए रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने हाल ही में नेवल फिजिकल एंड ओशनोग्राफिक लेबोरेट्री (एनपीओएल), कोच्चि में हल मॉड्यूल ऑफ सबमर्सिबल प्लेटफॉर्म फॉर एकॉस्टिक कैरेक्टराइजेशन एंड इवैल्यूएशन (स्पेस) सुविधा का शुभारंभ किया। यह जहाजों, पनडुब्बियों और हेलीकॉप्टरों सहित विभिन्न प्लेटफार्मों पर भारतीय नौसेना द्वारा उपयोग के लिए विकसित सोनार प्रणालियों के लिए एक अत्याधुनिक परीक्षण और मूल्यांकन सुविधा है। स्पेस सुविधा एनपीओएल द्वारा बताई गई अवधारणा डिजाइन और आवश्यकताओं पर आधारित है और इसका निर्माण मेसर्स एलएंडटी शिपबिल्डिंग, चेन्नई द्वारा किया गया है। इसका उपयोग मुख्य रूप से सोनार प्रणालियों के मूल्यांकन के लिए किया जाएगा, जिससे सेंसर और ट्रांसड्यूसर जैसे वैज्ञानिक पैकेजों की त्वरित तैनाती तथा आसान रिकवरी हो पाती है।

श्री नितिन गडकरी ने मध्य प्रदेश के जबलपुर में 4054 करोड़ रुपये की 8 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने बेहतर सड़क संपर्क (कनेक्टिविटी) के जरिए मध्य प्रदेश की प्रगति को नई गति प्रदान की। उन्होंने राज्य के जबलपुर में 4054 करोड़ रुपये की लागत वाली 214 किलोमीटर लंबाई की कुल 8 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। श्री गडकरी ने कहा कि हिरन नदी से सिंगूर नदी तक 53 किलोमीटर और नौरादेही वन्य जीव अभ्यारण्य के 12 किलोमीटर लंबाई वाली 4 लेन सड़क के निर्माण के बाद जबलपुर से भोपाल तक की यात्रा अवधि में 2 घंटे की बचत होगी। इससे गन्ना व दलहन के सबसे बड़े उत्पादक नरसिंहपुर के किसान अपना अनाज मालवा और मध्य क्षेत्र की मंडियों तक ले जाने में सक्षम होंगे। इसके अलावा उन्होंने आगे बताया कि वन्य जीव अभ्यारण्य में पशुओं की सुविधा व सुरक्षा के लिए 23 अंडरपास और 5 छोटे पुलों का भी निर्माण किया जा रहा है।

केवी कामथ रिलायंस के स्वतंत्र निदेशक नियुक्त किए गए

रिलायंस स्ट्रेटेजिक इन्वेस्टमेंट्स लिमिटेड (RSIL) ने केवी कामथ को गैर-कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है। कंपनी की ओर से जानकारी दी गई है कि आरएसआईएल का नाम भी बदलकर जियो फाइनेंशियल सर्विसेज कर दिया जाएगा और इसे सूचीबद्ध कराया जाएगा। केवी कामथ जेएफएसएल के स्वतंत्र निदेशक और गैर-कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में काम करना जारी रखेंगे। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को कहा कि उसने केवी कामथ को पांच वर्ष की अवधि के लिए अपने बोर्ड में एक स्वतंत्र निदेशक के रूप में नियुक्त किया है।

Chqbook ने लॉन्च किया डिजिटल चालू खाता

फिनटेक कंपनी Chqbook ने छोटे कारोबारियों के लिए एक नियोबैंक, अपनी तरह का पहला डिजिटल चालू खाता लॉन्च किया है। व्यापार के लिए चकबुक का चालू खाता छोटे व्यवसाय के मालिक जैसे किराना, केमिस्ट, दूसरों के बीच, अपने स्मार्टफोन से और जिस भाषा में वे सहज हैं, उसमें तुरंत चालू खाता खोल सकने की सुविधा देगा और यूपीआई लेनदेन को भी स्वीकार करेगा। यह चालू खाता आठ भाषाओं में उपलब्ध है जो अधिक सुलभ और समझने में आसान बनाता है।

पणजी में “Purple Fest: Celebrating Diversity” जनवरी 2023 में आयोजित किया जाएगा

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने हाल ही में गोवा पर्पल फेस्ट के लिए लोगो का अनावरण किया, जो जनवरी 2023 में आयोजित किया जाएगा। पणजी में अगले साल 6 से 8 जनवरी तक “Purple Fest: Celebrating Diversity” का आयोजन किया जाएगा। यह कार्यक्रम संयुक्त रूप से गोवा के सामाजिक कल्याण और मनोरंजन सोसायटी निदेशालय के सहयोग से आयोजित किया जाएगा। अपनी तरह का यह पहला उत्सव दिव्यांग व्यक्तियों को लाभान्वित करेगा। यह एक अनूठा तीन दिवसीय आयोजन है जिसका उद्देश्य यह प्रदर्शित करना है कि कैसे लोग एक साथ समर्थन करने के लिए आ सकते हैं और समाज में सभी को शामिल होने का अनुभव करा सकते हैं। इसमें लाइव प्रदर्शन, भव्य प्रदर्शनियां, खेल गतिविधियां, इमर्सिव एक्सपीरियंस जोन और एक इनोवेशन मेला होगा। इसमें विभिन्न प्रतियोगिताएं, सुलभ मूवी स्क्रीनिंग, एक मेगा कार रैली और समावेशी शिक्षा, रोजगार, पर्यटन और स्वतंत्र जीवन जैसे विषयों पर चर्चा शामिल होगी। इस आयोजन का उद्देश्य समाज के विकलांगता के दृष्टिकोण को बदलना और इन बाधाओं को दूर करने के लिए PwD के साथ सहयोग करना है। इसका लक्ष्य एक ऐसे समाज का निर्माण करना है जहां दिव्यांग जन समाज के लिए व्यक्तियों को समायोजित करने की अपेक्षा करने के बजाय शामिल महसूस करते हैं। हाल के वर्षों में, बैंगनी रंग लोकप्रिय रूप से विकलांगता से जुड़ा हुआ है।

खगोलविदों ने एक ऐसे एस्टेरॉयड की खोज की जो भविष्य में पृथ्वी पर जीवन को खत्म कर सकता है

खगोलविदों ने एक ऐसे एस्टेरॉयड की खोज की है जो भविष्य में पृथ्वी पर जीवन को खत्म कर सकता है। ये एस्टेरॉयड सूर्य की चकाचौंध के कारण छिपे हुए हैं। तीन एस्टेरॉयड में से एक सबसे बड़ा संभावित खतरा है जो पिछले आठ वर्षों में खोजा गया है। ये एस्टेरॉयड शुक्र और पृथ्वी की कक्षाओं के बीच पाए जाने वाले समूह से संबंधित हैं, लेकिन सूर्य की रोशनी के चलते उनका निरीक्षण करना आसान नहीं है। सूर्य की चमक उन्हें दूरबीन से बचा रही है। सूर्य की चकाचौंध से बच कर एस्टेरॉयड का अवलोकन करने का वैज्ञानिकों ने तरीका खोजा है। अंतर्राष्ट्रीय वैज्ञानिकों की एक टीम ने इस एस्टेरॉयड को चिली में मौजूद अमेरिकी विक्टर एम ब्लैंको टेलीस्कोप के डार्क एनर्जी कैमरा के जरिए देखा है। इन एस्टेरॉयड में से एक को 2022 AP7 नाम दिया गया है, जो 1.5 किमी चौड़ा है। इस एस्टेरॉयड की अपनी कक्षा है जो भविष्य में इसे पृथ्वी के रास्ते पर ला सकती है। हालांकि इसके समय का अनुमान वैज्ञानिक नहीं लगा सके हैं।

हॉकी इंडिया ने पुरूष और महिला खिलाडियों तथा सहायक स्‍टॉफ के सदस्‍यों को वार्षिक नकद प्रोत्‍साहन देने की घोषणा की

हॉकी इंडिया ने पुरूष और महिला खिलाडियों तथा सहायक स्‍टॉफ के सदस्‍यों को वार्षिक नकद प्रोत्‍साहन देने की घोषणा की है। इसके अंतर्गत हर वर्ष पुरूष और महिला टीमों के खिलाडियों को मैच जीतने पर 50-50 हजार रूपये नकद पुरस्‍कार दिया जाएगा जबकि सहायक स्‍टॉफ के सदस्‍यों को 25-25 हजार रूपये दिये जाएंगे। भुवनेश्‍वर में एफआईएच हॉकी प्रो-लीग में भारत ने स्‍पेन को शूटआउट में एक के मुकाबले तीन गोल से हरा दिया। भुवनेश्‍वर में ही 2023 का विश्‍वकप पुरूष हॉकी टूर्नामेंट 13 से 29 जनवरी तक खेला जाएगा।

राष्‍ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस

सात नवंबर को राष्‍ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्‍य कैंसर के निदान, समय रहते पहचान और उपचार के महत्‍व पर प्रकाश डालना और जागरूकता बढ़ाना है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के अनुसार कैंसर विश्‍व के सबसे अधिक जानलेवा रोगों में एक है। भारत में हर वर्ष कैंसर के लगभग 11 लाख नए रोगियों की पहचान होती है। पिछले आठ वर्षों से प्रत्‍येक वर्ष सात नवंबर को राष्‍ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस मनाया जाता है। सात नवंबर ही नोबल पुरस्‍कार विजेता वैज्ञानिक मैडम क्‍यूरी का जन्‍म दिन भी है। क्यूरी की जयंती के अवसर पर 7 नवंबर का दिन राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस के रुप में चुना गया था। कैंसर की स्थिति में शरीर की कोशिकाएँ अनियंत्रित रूप से बढ़ती हैं। कैंसर भारत सहित दुनिया भर में जीर्ण एवं गैर-संचारी रोगों (Non-Communicable Diseases- NCD) की वजह से होने वाली मृत्यु के प्रमुख कारणों में से एक है। भारत में राष्ट्रीय औषध मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (National Pharmaceutical Pricing Authority- NPPA) ने कैंसर की दवाओं को अधिक किफायती बनाने की दिशा में महत्त्वपूर्ण कार्य किया है।

शिशु सुरक्षा दिवस

शिशु सुरक्षा दिवस प्रतिवर्ष 7 नवंबर को मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों में शिशुओं की सुरक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। भारत में शिशु मृत्यु दर कई देशों की तुलना में अधिक है, स्वास्थ्य संबंधी देखभाल की कमी के कारण यह समस्या और भी गंभीर होती जा रही है। विश्व भर में नवजात शिशुओं की उचित सुरक्षा एवं बुनियादी सुविधाओं की कमी के कारण बहुत सारे बच्चों की मृत्यु हो जाती है। विभिन्न देशों की सरकारों ने इस समस्या से निपटने के लिये अनेक योजनाएँ लागू की हैं। भारत में इसी संदर्भ में शिशु के साथ-साथ माँ के स्वास्थ्य को भी ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा जननी सुरक्षा योजना शुरू की गई है। साथ ही इससे संबंधित अन्य योजनाएँ भी कार्यान्वित की जा रही हैं, जैसे- सुकन्या समृद्धि योजना, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन आदि। इन सभी योजनाओं का मूल उद्देश्य शिशु-मातृ मृत्यु दर में कमी लाना, उनके स्वास्थ्य एवं पोषण में सुधार करना, शिशुओं के लिये नियमित टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराना आदि हैं।

युद्ध और सशस्त्र संघर्ष में पर्यावरण के शोषण को रोकने के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस

युद्ध और सशस्त्र संघर्ष में पर्यावरण के शोषण को रोकने के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस 6 नवंबर को प्रतिवर्ष मनाया जाने वाला एक अंतर्राष्ट्रीय दिवस है। 5 नवंबर 2001 को, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने प्रत्येक वर्ष के 6 नवंबर को युद्ध और सशस्त्र संघर्ष में पर्यावरण के शोषण को रोकने के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में घोषित किया।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.