Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

9 November 2022

भारत की जी20 की अध्यक्षता के लिए लोगो, थीम और वेबसाइट का अनावरण

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कान्‍फ्रेंस के माध्‍यम से जी-20 समूह सम्‍मेलन का लोगो, थीम और वेबसाइट का आरंभ किया। भारत पहली दिसम्‍बर से जी-20 की अध्‍यक्षता संभालेगा। जी20 का लोगो भारत के राष्ट्रीय ध्वज के जीवंत रंगों से प्रेरित है- केसरिया, सफेद और हरा, और नीला। इसमें भारत के राष्ट्रीय फूल कमल के साथ पृथ्वी को जोड़ा गया है, जो चुनौतियों के बीच विकास को दर्शाता है। पृथ्वी जीवन के प्रति भारत के धरती के अनुकूल उस दृष्टिकोण को दर्शाती है, जो प्रकृति के साथ पूर्ण सामंजस्य को प्रतिबिंबित करता है। जी20 लोगो के नीचे देवनागरी लिपि में “भारत” लिखा है। भारत की जी20 की अध्यक्षता का विषय- “वसुधैव कुटुम्बकम” या “एक धरती, एक परिवार, एक भविष्य”- महा उपनिषद के प्राचीन संस्कृत पाठ से लिया गया है। आवश्यक रूप से, यह विषय जीवन के सभी मूल्यों - मानव, पशु, पौधे और सूक्ष्मजीव- और धरती पर और व्यापक ब्रह्मांड में उनके परस्पर संबंध की पुष्टि करता है। प्रधानमंत्री द्वारा भारत की जी20 की अध्यक्षता की वेबसाइट www.g20.in का शुभारंभ भी किया गया । यह वेबसाइट 1 दिसंबर 2022, जिस दिन भारत जी20 की अध्यक्षता का पदभार ग्रहण करेगा, को जी20 की अध्यक्षता की वेबसाइट www.g20.org पर निर्बाध रूप से माइग्रेट हो जाएगी। श्री मोदी ने कहा कि जी-20 का लोगो आशा का प्रतीक है। लोगो में कमल का प्रतीक भारत की सांस्‍कृतिक धरोहर और आस्‍था का प्रतिबिम्‍ब है और यह विश्‍व को एकजुट करने का संदेश देता है। कमल की सात पंखुडि़यां विश्‍व के सात महाद्वीपों और संगीत के सात सुरों का प्रतिनिधित्‍व करती हैं। श्री मोदी ने कहा कि जी-20 विश्‍व को परस्‍पर तालमेल के साथ एकजुट करेगा। भारत अगले महीने की पहली तारीख से इंडोनेशिया से जी-20 समूह की अध्‍यक्षता ग्रहण करेगा।

लंदन में वर्ल्‍ड ट्रेवल मार्केट- 2022 सबसे बड़ी अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन प्रदर्शनी का आयोजन

वर्ल्‍ड ट्रेवल मार्केट-डब्‍ल्‍यूटीएम-2022 लंदन में चल रही है। यह विश्‍व की सबसे बड़ी अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन प्रदर्शनियों में शामिल है। भारत का पर्यटन मंत्रालय तीन दिन के इस आयोजन में भाग ले रहा है। इसमें भारत की भागीदारी देश में आने वाले पर्यटकों की संख्‍या महामारी से पहले के स्‍तर तक बढ़ाने की दिशा में महत्‍वपूर्ण कदम है। इस प्रदर्शनी का विषय है- पर्यटन का भविष्‍य शुरू होता है अब। पर्यटन सचिव अरविन्‍द सिंह ने इस प्रदर्शन में भारतीय मंडप का उद्घाटन किया। इसमें भारत के बीस से अधिक प्रतिभागी भाग ले रहे हैं।

आकाशवाणी के सभी वाणिज्यिक परिचालनों के लिए ‘ब्रॉडकास्ट एयर-टाइम शेड्यूलर (बैट्स)’ लॉन्‍च किया

प्रसार भारती के वाणिज्यिक परिचालनों या कामकाज को सुव्यवस्थित और स्वचालित करने के लिए श्री मयंक अग्रवाल, सीईओ, पीबी और श्री डी.पी.एस. नेगी, सदस्य (वित्त), पीबी ने 7 नवंबर, 2022 को प्रसार भारती सचिवालय में आकाशवाणी के सभी वाणिज्यिक परिचालनों के लिए एक पूरी तरह से एकीकृत यातायात और बिलिंग एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर ‘ब्रॉडकास्ट एयर-टाइम शेड्यूलर (बैट्स)’ लॉन्‍च किया। मोटे तौर पर BATS का उद्देश्य समस्‍त परिचालनों में पारदर्शिता लाना और वाणिज्यिक परिचालनों को अत्‍यंत कुशल बनाना है। विभिन्न चरणों में बुकिंग, बिलिंग एवं भुगतान प्राप्तियों आदि की निगरानी के साथ-साथ यह प्रणाली विभिन्न रिपोर्ट प्रदान करेगी जो प्रबंधन निर्णय लेने के लिये अत्‍यंत आवश्यक हैं। यह एप मोबाइल पर भी उपलब्ध है। यह सॉफ्टवेयर दरअसल मेन्यू आधारित है जिसे आकाशवाणी की आवश्यकताओं के अनुसार अनुकूलित किया गया है जिससे यह अधिक सुविधाजनक एवं उपयोगी हो गया है। बैट्स को मेसर्स मीडिया न्यूक्लियस द्वारा विकसित किया गया है तथा इसकी विशेषताओं में शामिल हैं- एक केंद्रीय डेटाबेस के माध्यम से विभिन्‍न केंद्रों पर समस्‍त विज्ञापन ऑर्डर की शेड्यूलिंग और बिलिंग का प्रबंधन करना, रिलीज़ ऑर्डर प्रविष्टि से लेकर एकल या बहु-इनवॉयस बिलिंग तक अनुबंधों को निर्बाध रूप से संचालित करना, खाता पदानुक्रम, विभिन्न पैकेज एवं उत्पादों, मूल्य निर्धारण योजनाओं, कंटेंट अधिकार प्रबंधन, स्वचालित विज्ञापन बुकिंग के साथ-साथ थोक सौदों, शुल्कों तथा बिलिंग चक्र इनवॉयसिंग पर दी जाने वाली छूट का प्रभावकारी प्रबंधन करके सटीक बिलिंग सुनिश्चित करना आदि।

मध्यप्रदेश में अगले वर्ष प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में गुयाना के राष्ट्रपति होंगे मुख्य अतिथि

विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, 17वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का आयोजन 8-10 जनवरी 2023 को मध्यप्रदेश के इंदौर में होगा जिसमें गुयाना के राष्ट्रपति मोहम्मद इरफान अली मुख्य अतिथि होंगे। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि ऑस्‍ट्रेलिया की संसद सदस्‍य जनेटा मैस्‍करेनहास अगले वर्ष आठ जनवरी को युवा प्रवासी भारतीय दिवस में मुख्‍य अतिथि होंगी। 17वें प्रवासी भारतीय दिवस का विषय है- प्रवासी भारतीय- अमृतकाल में भारत की प्रगति में विश्‍वसनीय साझेदार भारतवंशी। प्रवासी भारतीय दिवस (पीबीडी) सम्मेलन विदेश मंत्रालय का प्रमुख कार्यक्रम है और प्रवासी भारतीयों के साथ जुड़ने और जुड़ने के लिए एक महत्वपूर्ण मंच प्रदान करता है। प्रवासी भारतीय दिवस भारत सरकार के साथ प्रवासी भारतीय समुदाय के जुड़ाव को मजबूत करने और उन्हें उनकी जड़ों से फिर से जोड़ने के लिए हर दो साल में एक बार मनाया जाता है। इस अवसर को मनाने के लिए 9 जनवरी को दिन के रूप में चुना गया था क्योंकि इसी दिन 1915 में महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे थे।

वर्ष 2041 तक मथुरा-वृंदावन को “शुद्ध शून्य कार्बन उत्सर्जन” पर्यटन स्थल बनाया जाएगा

हाल ही में उत्तर प्रदेश सरकार ने घोषणा की है कि वर्ष 2041 तक मथुरा-वृंदावन को “शुद्ध शून्य कार्बन उत्सर्जन” पर्यटन स्थल बनाया जाएगा। यह भारत में किसी पर्यटन स्थल के लिये निर्धारित इस तरह का पहला कार्बन न्यूट्रल मास्टर प्लान होगा। वृंदावन और कृष्ण जन्मभूमि जैसे प्रसिद्ध तीर्थस्थलों के साथ पूरे ब्रज क्षेत्र में पर्यटक वाहनों पर प्रतिबंध रहेगा। इन क्षेत्रों में सार्वजनिक परिवहन के रूप में उपयोग किये जाने वाले केवल इलेक्ट्रिक वाहनों को जाने की अनुमति होगी। इस क्षेत्र के कुल 252 जलाशयों और 24 वनों को भी पुनर्जीवित किया जाएगा। इस योजना के तहत पूरे क्षेत्र को चार समूहों में विभाजित किया गया है, जिनमें से प्रत्येक के तहत आठ प्रमुख शहरों में से दो को शामिल किया गया है। इसमें 'परिक्रमा पथ' नामक छोटे सर्किट बनाना भी प्रस्तावित है जहाँ तीर्थयात्री पैदल या इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग कर जा सकते हैं। यदि तीर्थयात्री एक स्थान से दूसरे स्थान की यात्रा करना चाहते हैं तो इसके लिये इलेक्ट्रिक मिनी बसों का भी प्रावधान किया गया है।

किशोर के बसा बने राष्ट्रीय स्मारक प्राधिकरण के अध्यक्ष

प्रोफेसर किशोर कुमार बासा को राष्ट्रीय स्मारक प्राधिकरण (NMA) का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। भारत सरकार के संस्कृति विभाग ने इस संबंध में एक आधिकारिक अधिसूचना जारी की। उनका कार्यकाल तीन साल का होगा। बासा बारीपदा में महाराजा श्रीराम चंद्र भंज देव विश्वविद्यालय के कुलपति हैं और भारतीय राष्ट्रीय परिसंघ और मानवविज्ञानी अकादमी (INCAA) के अध्यक्ष भी हैं, जो भारत में सबसे बड़ा मानव विज्ञान संघ है। वह 1980 से पुरातात्विक नृविज्ञान और संग्रहालय अध्ययन पढ़ा रहे थे और उत्कल विश्वविद्यालय में मानव विज्ञान विभाग के पूर्व प्रमुख थे।

अजीत डोभाल और प्रसून जोशी समेत 5 लोगों को मिलेगा उत्तराखंड गौरव सम्मान

पुष्कर सिंह धामी सरकार ने इस साल के उत्तराखंड गौरव सम्मान की घोषणा कर दी है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, भारतीय फिल्म सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी समेत 5 लोगों को इस साल के उत्तराखंड गौरव सम्मान के लिए चुना गया है। इस संबंध में गठित समिति की संस्तुति पर तीन अन्य व्यक्तियों को भी मरणोपरांत यह पुरस्कार दिया जाएगा, जिनमें पूर्व रक्षा प्रमुख दिवंगत जनरल बिपिन रावत, कवि और लेखक दिवंगत गिरीश चंद्र तिवारी और पत्रकार एवं साहित्यकार दिवंगत वीरेन डंगवाल शामिल हैं।

उज्जैन में लगेगी दुनिया की पहली वैदिक घड़ी

विश्व की पहली वैदिक घड़ी काल गणना के केंद्र माने गए मध्य प्रदेश में उज्जैन के जंतर-मंतर यानी जीवाजी वेधशाला में अगले वर्ष 22 मार्च को गुड़ी पड़वा यानी नव संवत्सरारंभ पर लगाई जाएगी। जिस टावर पर घड़ी लगेगी, उसके निर्माण कार्य का भूमि पूजन प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव और महापौर मुकेश टटवाल ने किया। इस क्लाक टावर का निर्माण एक करोड़ 58 लाख रुपये से किया जाएगा। घड़ी वैदिक काल गणना के सिद्धांतों पर स्थिर होगी। यह प्रतिदिन देश-विदेश में अलग-अलग समय पर होने वाले सूर्योदय को भी सिंक्रोनाइज करेगी। वैदिक घड़ी के एप्लीकेशन में विक्रम पंचांग भी समाहित रहेगा, जो सूर्योदय से सूर्यास्त की जानकारी के साथ ग्रह, योग, भद्रा, चंद्र स्थिति, नक्षत्र, चौघड़िया, सूर्यग्रहण, चंद्रग्रहण की विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराएगा। वैदिक घड़ी एप के जरिए मोबाइल पर भी देखी जा सकेगी। घड़ी के बैकग्राउंड ग्राफिक्स में सभी ज्योतिर्लिंग, नवग्रह, राशि चक्र रहेंगे। टावर का निर्माण उज्जैन इंजीनियरिंग कालेज द्वारा मुहैया ड्राइंग-डिजाइन के अनुसार नगर निगम द्वारा कराया जाएगा। घड़ी की स्थापना विक्रमादित्य शोध पीठ द्वारा की जाएगी। शोध पीठ घड़ी का मोबाइल एप भी बनवाएगी। यह घड़ी न सिर्फ उज्जैन, बल्कि विश्व के लिए बड़ी सौगात होगी। मंत्री डा. मोहन यादव ने कहा कि घड़ी के टावर के ऊपर टेलीस्कोप भी लगवाएंगे, ताकि रात में आकाश में होने वाली खगोलीय घटनाओं का नजारा देखा जा सके।

इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग के बुनियादी ढांचे के लिए दिशानिर्देश में संशोधन जारी

विद्युत मंत्रालय ने इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग के बुनियादी ढांचे के लिए दिशानिर्देशों और मानकों में संशोधन जारी किए हैं। मंत्रालय ने कहा कि केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के अंतर्गत एक समिति राज्य सरकारों को सेवा शुल्क की अधिकतम सीमा के संबंध में सुझाव देगी। समिति सेवा शुल्क के लिए दैनिक दर के साथ-साथ सौर घंटों के दौरान चार्ज करने के लिए दी जाने वाली छूट की भी सिफारिश करेगी।

भारत, जापान में शुरू हो रहे मालाबार नौसेना अभ्यास-2022 में हिस्‍सा ले रहा

भारत 26वें अंतरराष्ट्रीय मालाबार नौसेना अभ्यास में भाग ले रहा है। यह अभ्यास जापान के योकोशुका में शुरू हो रहा है। इसमें ऑस्ट्रेलिया, जापान और अमरीका भी भाग ले रहे हैं। इन देशों की नौसेनाएं 19 नवंबर तक अभ्यास में हिस्सा लेंगी। भारतीय नौसेना पोत शिवालिक और कमोर्ता इस कार्यक्रम में प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं। देश में ही निर्मित भारतीय नौसेना के ये पोत भारतीय शिपयार्ड की पोत बनाने की क्षमता का प्रदर्शन करेंगे। भारत और अमरीका की नौसेना के बीच मालाबार अभ्यास 1992 में शुरू हुआ था।

अंतर्राष्‍ट्रीय भारतीय फिल्‍म समारोह 20 से 28 नवम्‍बर तक

गोवा में 53वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह ऑस्ट्रियाई फिल्म अल्मा और ऑस्कर के प्रदर्शन के साथ शुरू होगा। डाइटर बर्नर के निर्देशन में बनी यह फिल्‍म एक सौ दस मिनट की है। अंतर्राष्‍ट्रीय भारतीय फिल्‍म समारोह 20 से 28 नवम्‍बर तक आयेाजित होगा।

केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने नई दिल्ली में पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (एमओईएस) के स्वायत्त संस्थानों की पहली संयुक्त समिति बैठक की अध्यक्षता की

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी एवं पृथ्वी विज्ञान राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. जितेंद्र सिंह ने पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (एमओईएस) के स्वायत्त संस्थानों (आईआईटीएम, आईएनसीओआईएस, एनसीईएसएस, एनसीपीओआर और एनआईओटी) की पहली संयुक्त समिति (सोसायटी) की बैठक बुलाई और "एकीकरण तथा "संपूर्ण सरकार" दृष्टिकोण के साथ काम करने के लिए "जड़ता (साइलो)" को तोड़ने का आह्वान किया। सभी पांच स्वायत्त निकाय समितियों अर्थात् - भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम विज्ञान संस्थान (आईआईटीएम), भारतीय राष्ट्रीय महासागर सूचना सेवा केंद्र (आईएनसीओआईएस), राष्ट्रीय पृथ्वी विज्ञान अध्ययन केंद्र (एनसीईएसएस), राष्ट्रीय ध्रुवीय और महासागर अनुसंधान केंद्र (एनसीपीओआर) और राष्ट्रीय महासागर प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईओटी) को पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की एकल सोसायटी में मिला दिया गया है।

एपिस कारिंजोडियन नामक स्थानिक मधुमक्खी की एक नई प्रजाति की खोज की गई

हाल ही में पश्चिमी घाटों में 200 से अधिक वर्षों के अंतराल के बाद एपिस कारिंजोडियन (सामान्य नाम: भारतीय काली मधुमक्खियाँ) नामक स्थानिक मधुमक्खी की एक नई प्रजाति की खोज की गई है। भारत में अंतिम मधुमक्खी (एपिस इंडिका) की खोज फेब्रिसियस द्वारा वर्ष 1798 में की गई थी। इस नई खोज के साथ विश्व में मधुमक्खियों की प्रजातियों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। एपिस करिंजोडियन का विकास एपिस सेराना मॉर्फोटाइप्ससे हुआ है जो पश्चिमी घाट के गर्म और आर्द्र वातावरण के लिये अनुकूल हो गई है। भारतीय काली मधुमक्खियों का शहद अधिक गाढ़ा होता है, यह शहद के उत्पादन को बढ़ाने में सहायक हैं। आज तक केवल एक ही प्रजाति (एपिस सेराना) को भारतीय उपमहाद्वीप में मध्य और दक्षिणी भारत तथा श्रीलंका के मैदानी इलाकों में 'समान रुप से वितरित' के रूप में देखा गया था। इस शोध ने देश में मधुमक्खी पालन को एक नई दिशा दी है, जिसमें तीन प्रकार की कैविटी घोंसले वाली मधुमक्खियों, एपिस इंडिका, एपिस सेराना और एपिस करिंजोडियन की उपस्थिति को दिखाया गया है।

एसबीआई ने दूसरी तिमाही में अब तक का सबसे अधिक तिमाही लाभ अर्जित किया

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) को दूसरी तिमाही में बंपर मुनाफा हुआ है। बैंक के लिए दूसरी तिमाही अब तक के सबसे अधिक मुनाफे वाली तिमाही रही है। एसबीआई ने चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में एकल आधार पर 13,265 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया है। यह पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 74 फीसदी अधिक है। एसबीआई ने शनिवार को शेयर बाजारों को यह सूचना दी। इसमें कहा गया कि फंसे कर्जों (NPA) के लिए वित्तीय प्रावधान में कमी आने और ब्याज आय बढ़ने से उसके लाभ में बढ़ोतरी हुई है। एक साल पहले की समान तिमाही में बैंक का एकल आधार पर लाभ 7,627 करोड़ रुपये रहा था।

चांद के अंधेरे वाले हिस्से का राज खोलेगा ISRO-जापान का संयुक्त मिशन

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) शुक्र ग्रह के लिए मिशन करने जा रहा है। इसके अलावा वह चंद्रमा के अंधेरे हिस्से का राज भी खोलेगा। इन दोनों मिशन में जापान की स्पेस एजेंसी इसरो के साथ मिलकर काम करेगी। इसरो के फ्यूचर मिशनों के बारे में यह जानकारियां फिजिकल रिसर्च लेबोरेटरी के डायरेक्टर अनिल भारद्वाज ने दी।

Nykaa फैशन की ब्रांड एंबेसडर बनीं जाह्नवी कपूर

Nykaa फैशन ने 8 नवंबर को बॉलीवुड एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर को अपना ब्रांड एंबेसडर अनाउंस किया। जाह्नवी अब पहली बार एक कैंपेन फिल्म 'वन नायका टू ऐप्स: टू ऐप्स, डबल द फन' में नजर आएंगी। अब तक जाह्नवी 'नायका ब्यूटी' के ही ऐड्स में नजर आती थीं। Nykaa की को-फाउंडर और नायका फैशन की CEO अद्वैता नायर ने कहा कि जान्हवी एक ट्रू मॉडर्न स्टाइल आइकन हैं, जिन्होंने पहले ही नायका के साथ ब्यूटी गेम में अपनी पहचान बना ली है।

एशियाई हॉकी महासंघ के सीईओ तैयब इकराम एफआईएच अध्यक्ष बने

एशियाई हॉकी महासंघ के सीईओ पाकिस्तान के मोहम्मद तैयब इकराम को अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) का नया अध्यक्ष चुना गया जो भारत के नरिंदर बत्रा की जगह लेंगे । इकराम ने बेल्जियम के मार्क कूड्रोन को यहां आनलाइन हुई एफआईएच की 48वीं कांग्रेस में 79 . 47 से हराया। कुल 129 राष्ट्रीय संघों में से 126 ने वैध मत डाले। एफआईएच कार्यकारी बोर्ड में एक अध्यक्ष, आठ सामान्य सदस्य (चार पुरूष और चार महिलायें) होते हैं जिनमें से आधे हर दो साल में बदलते हैं। इनके अलावा खिलाड़ियों का एक प्रतिनिधि, महाद्वीपीय महासंघों क अध्यक्ष, सीईओ भी शामिल होते हैं।

आईसीसी प्लेयर ऑफ द मंथ बने विराट कोहली

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने अक्तूबर महीने के प्लेयर ऑफ द मंथ अवॉर्ड की घोषणा कर दी है। पुरुषों में भारत के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली को और महिलाओं में पाकिस्तान की दिग्गज ऑलराउंडर निदा डार को यह अवॉर्ड दिया गया है। कोहली ने पिछले महीने क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में शानदार प्रदर्शन किया है। उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ टी20 वर्ल्ड कप के भारत के पहले मैच में नाबाद 82 रन की पारी खेली थी। उन्होंने अकेले दम पर भारत को इस मैच में जीत दिलाई थी।

भारतीय बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव 1,000 टी20 रन बनाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने

भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने जिम्बाब्वे के खिलाफ टीम के आखिरी ग्रुप मैच के दौरान जैसे ही 35 रन पूरे किए उन्होंने क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में इतिहास रच दिया। सूर्यकुमार यादव अब भारत की तरफ से टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में एक वर्ष में 1000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले एक वर्ष में भारत की तरफ से ऐसा कमाल किसी भी अन्य बल्लेबाज ने नहीं किया था।

गुरू नानक जयंती भारत और विश्‍वभर में धार्मिक श्रद्धा के साथ मनाई गई

गुरू नानक जयंती - गुरूपरब 8 नवंबर 2022 को भारत और विश्‍वभर में धार्मिक श्रद्धा के साथ मनाया गया। यह दिन सिख धर्म के संस्‍थापक और प्रथम गुरू, गुरू नानक देव जी के प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष गुरू नानक देव जी की 553वीं जयंती है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु नानक देव जी की जयंती 553वें प्रकाश पर्व पर सभी नागरिकों, विदेशों में रह रहे भारतीयों, विशेषकर सिख समुदाय के भाई-बहनों को शुभकामनाएं दी हैं।

कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर रोशनी का प्रसिद्ध त्योहार देव दीपावली मनाया गया

वाराणसी के गंगा तट पर 7 नवंबर 2022 को देव दीपावली का त्योहार मनाया गया। गंगा तट के 84 घाटों पर करीब आठ लाख दीपक जलाए गए। वाराणसी के लोगों ने भी पूरे शहर को लगभग 11 लाख मिट्टी के दीयों से सजाया। वाराणसी में देव दीपावली समारोह के दौरान अस्सी और दशाश्वमेध जैसे प्रसिद्ध घाटों पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। देव दीपावली दिवाली के 15 दिन बाद कार्तिक पूर्णिमा को मनाई जाती है। पौराणिक कथाओं के अनुसार त्रिपुरासुर ने पृथ्वी पर मनुष्यों और स्वर्ग के सभी देवताओं को परेशान किया था। तब सभी देवता भगवान शिव के पास गए और उनकी मदद मांगी। अनुरोध स्वीकार करते हुए शिव ने कार्तिक पूर्णिमा के दिन त्रिपुरासुर का वध किया था। सभी देवता काशी पर उतरे और इस अवसर को चिह्नित करने के लिए एक दीप जलाया और भगवान शिव को धन्यवाद दिया। तब से हर साल वाराणसी में देव दीपावली मनाई जाती है।

विश्व रेडियोग्राफी दिवस

हर साल 8 नवंबर को विश्व स्तर पर अंतरराष्ट्रीय रेडियोलॉजी दिवस (International Day of Radiology) मनाया जाता है। यह दिन रेडियोलॉजी के उस मूल्य के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है, जो सुरक्षित रोगी देखभाल में योगदान देता है, और स्वास्थ्य देखभाल की निरंतरता में महत्वपूर्ण भूमिका रेडियोलॉजिस्ट और रेडियोग्राफर की सार्वजनिक समझ में निरंतर सुधार करता है।

भारत ने सीवी रमन की 134वीं जयंती मनाई

सीवी रमन का जन्म 7 नवंबर 1888 को तमिलनाडु के त्रिचिनोपोली में हुआ था। उन्होंने 1907 में प्रेसीडेंसी कॉलेज, मद्रास विश्वविद्यालय से भौतिकी में मास्टर डिग्री पूरी की और भारत सरकार के वित्त विभाग में एक लेखाकार के रूप में काम किया। 1917 में, वह कलकत्ता विश्वविद्यालय में भौतिकी के प्रोफेसर के रूप में शामिल हुए। रमन ने शुरुआत में प्रकाशिकी और ध्वनिकी के क्षेत्र में एक छात्र के रूप में काम किया। रमन ने कलकत्ता में इंडियन एसोसिएशन फॉर द कल्टीवेशन ऑफ साइंस (IACS) में अपना शोध जारी रखा, जबकि उन्होंने विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के रूप में काम किया। बाद में वह एसोसिएशन में मानद विद्वान बन गए। रमन भारतीय शास्त्रीय संगीत के शौकीन थे और तार वाले वाद्ययंत्रों की ध्वनिकी में गहरी रुचि रखते थे। उन्होंने एक यांत्रिक वायलिन का निर्माण भी किया। रमन की खोजों में से एक वायलिन की आवृत्ति प्रतिक्रिया और इसकी गुणवत्ता से संबंधित है। आवृत्ति प्रतिक्रिया वक्र को ‘रमन वक्र’ के रूप में जाना जाता है। 42 साल की उम्र में, रमन को 1930 मेंप्रकाश के प्रकीर्णन पर उनके काम और उनके नाम पर प्रभाव की खोज” के लिए भौतिकी में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.