Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

23 November 2022

ऑस्ट्रेलिया की संसद में भारत-ऑस्‍ट्रेलिया आर्थिक सहयोग और व्‍यापार समझौता पारित

ऑस्ट्रेलिया की संसद में भारत-ऑस्ट्रेलिया मुक्त व्यापार समझौता पारित कर दिया गया। ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीस ने ट्वीट कर बताया कि भारत के साथ हमारा (भारत-ऑस्ट्रेलिया) मुक्त व्यापार समझौता संसद से पारित हो गया है। अब दोनों देश आपसी सहमति से फैसला करेंगे कि यह समझौता किस तारीख से लागू होगा। भारत-ऑस्ट्रेलिया आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते (एआई-ईसीटीए) को लागू करने से पहले ऑस्ट्रेलियाई संसद की मंजूरी की आवश्यकता थी। भारत में इस तरह के समझौतों को केंद्रीय मंत्रिमंडल मंजूरी देता है। यह कदम ऐसे समय उठाया गया है, जब एंथनी अल्बनीस अगले साल मार्च में भारत का दौरा करने वाले हैं। उन्होंने जी20 शिखर सम्मेलन के 17वें संस्करण के मौके पर यह घोषणा की थी। ऑस्ट्रेलिया-भारत आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते (ईसीटीए) पर दो अप्रैल को हस्ताक्षर किए गए थे। समझौता लागू होने के बाद कपड़ा, चमड़ा, फर्नीचर, आभूषण और मशीनरी सहित भारत के 6,000 से अधिक उत्पादों को ऑस्ट्रेलियाई बाजार में शुल्क मुक्त पहुंच मिलेगी। समझौते के तहत, ऑस्ट्रेलिया लगभग 96.4 प्रतिशत निर्यात (मूल्य के आधार पर) के लिए भारत को शून्य सीमा शुल्क पहुंच की पेशकश कर रहा है।

भारत जलवायु परिवर्तन से निपटने की दिशा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले शीर्ष पांच देशों में शामिल

जलवायु परिवर्तन के प्रदर्शन के आधार पर भारत को विश्व के शीर्ष 5 देशों में एवं जी-20 देशों में सर्वश्रेष्ठ स्थान दिया गया है। जर्मनी में स्थित जर्मन वॉच, न्यू क्लाइमेट इंस्टीट्यूट तथा क्लाइमेट एक्शन नेटवर्क इंटरनेशनल द्वारा प्रकाशित जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक (क्लाइमेट चेंज परफॉर्मेंस इंडेक्स–सीसीपीआई 2023) के अनुसार भारत ने 2 स्थानों की छलांग लगाईं है और अब वह 8वें स्थान पर है। नवंबर 2022 में सीओपी 27 में जारी सीसीपीआई की नवीनतम रिपोर्ट में डेनमार्क, स्वीडन, चिली और मोरक्को को केवल ऐसे चार छोटे देशों के रूप में दिखाया गया है जो क्रमशः भारत से ऊपर चौथे, 5वें, 6वें और 7वें स्थान पर थे। किसी भी देश को पहला, दूसरा और तीसरा स्थान नहीं दिया गया। इसलिए, सभी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में भारत की रैंकिंग सबसे अच्छी है। जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक (सीसीपीआई) का उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय जलवायु राजनीति में पारदर्शिता बढ़ाने के साथ ही उसे जलवायु संरक्षण प्रयासों एवं अलग-अलग देशों द्वारा की गई प्रगति की तुलना करने में सक्षम बनाना है। 2005 के बाद से प्रति वर्ष प्रकाशित, जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक (सीसीपीआई) 59 देशों और यूरोपीय संघ के जलवायु संरक्षण प्रदर्शन पर नजर रखने के लिए एक स्वतंत्र निगरानी उपकरण है।

रोजगार मेला-2 में 71 हजार युवाओं को सौंपे नियुक्ति-पत्र, कर्मयोगी प्रारंभ मॉड्यूल का शुभारंभ

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री रोजगार मेले के तहत आज 71,000 से ज्यादा युवाओं को नियुक्ति-पत्र प्रदान करने के कार्यक्रम का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शुभारंभ किया। साथ ही, प्रधानमंत्री ने कर्मयोगी प्रारंभ मॉड्यूल का भी शुभारंभ किया, जो सभी नवनियुक्त व्‍यक्तियों के लिए एक ऑनलाइन ओरिएंटेशन कोर्स है। इस अवसर पर श्री मोदी ने कहा कि स्टार्ट-अप्स से लेकर स्वरोजगार तक, स्पेस से लेकर ड्रोन तक, आज भारत में युवाओं के लिए चौतरफा नए अवसरों का निर्माण हो रहा है। रोजगार मेला युवाओं को सशक्त बनाने और उन्हें राष्ट्रीय विकास में उत्प्रेरक बनाने का हमारा प्रयास है। आज देश में 45 स्थानों पर रोजगार मेले का आयोजन हुआ, जिसके अंतर्गत भोपाल के कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर मुख्य अतिथि थे।

आयुष मंत्रालय ने वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया में आयुर्वेदिक विज्ञान में शैक्षणिक पीठ (एकेडमिक चेयर) स्थापित करने की घोषणा की

आयुष मंत्रालय ने औपचारिक रूप से वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी के एनआईसीएम हेल्थ रिसर्च इंस्टीट्यूट में तीन वर्ष की अवधि के लिए आयुर्वेद शैक्षणिक (एकेडमिक चेयर) की स्थापना की घोषणा की है। अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (एआईआईए), नई दिल्ली के एसोसिएट प्रोफेसर और प्रमुख (कौमारभृत्य विभाग) डॉ. राजगोपाला एस. को पश्चिमी सिडनी विश्वविद्यालय, ऑस्ट्रेलिया में आयुर्वेदिक विज्ञान अकादमिक पीठ के पद के लिए चुना गया है। आयुष मंत्रालय में सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने पश्चिमी सिडनी विश्वविद्यालय (वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी) के कुलपति एवं अध्यक्ष (प्रेसिडेंट) प्रोफेसर बार्नी ग्लोवर और अन्य के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलियाई प्रतिनिधिमंडल से भेंट की।

प्रो. वेणु गोपाल अचंता को भार एवं माप की अंतर्राष्ट्रीय समिति (सीआईपीएम) का सदस्य चुना गया

सीआईपीएम एक सर्वोच्च अंतरराष्ट्रीय समिति है, जो वैश्विक रूप से भार एवं माप के विकास और कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार है। प्रो. वेणु गोपाल अचंता विभिन्न देशों से पूरी दुनिया के 18 सदस्यों में से एक हैं। वह प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय समिति में शामिल होने वाले 7वें भारतीय हैं। एक ऐतिहासिक चुनाव में, सीएसआईआर-राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला (सीएसआईआर-एनपीएल), नई दिल्ली के निदेशक प्रो. वेणु गोपाल अचंता को प्रतिष्ठित भार एवं माप की अंतर्राष्ट्रीय समिति (सीआईपीएम) का सदस्य चुना गया। श्री गोपाल को फ्रांस के पेरिस में 15-18 नवंबर, 2022 के दौरान आयोजित भार एवं माप (सीजीपीएम) बैठक में सीआईपीएम का निर्वाचित सदस्य घोषित किया गया।

श्री विनीत कुमार (आईआरएसईई) ने मुम्बई में केवीआईसी के सीईओ का कार्यभार संभाला

इंडियन रेलवे सर्विस ऑफ इलेक्ट्रिकल इंजीनियर्स अधिकारी श्री विनीत कुमार ने 21 नवंबर, 2022 को खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के मुम्बई स्थित केंद्रीय कार्यालय में मुख्य कार्यकारी अधिकारी का पदभार संभाल लिया। उन्हें सूक्ष्म, लघु और मध्यम उपक्रम मंत्रालय के अधीन खादी और ग्रामोद्योग आयोग, मुम्बई का सीईओ नियुक्त किया गया है। केवीआईसी के मुम्बई स्थित केंद्रीय कार्यालय में केवीआईसी के अध्यक्ष श्री मनोज कुमार ने उनका स्वागत किया।

हिन्द-प्रशांत क्षेत्रीय वार्ता 2022 शुरू

हिन्द-प्रशांत क्षेत्रीय वार्ता (Indo-Pacific Regional Dialogue – IPRD) 2022 इस साल 23 से 25 नवंबर तक आयोजित की जाएगी। हिन्द-प्रशांत क्षेत्रीय वार्ता (IPRD) हर साल भारतीय नौसेना द्वारा आयोजित शीर्ष अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन है। नेशनल मैरीटाइम फाउंडेशन (NMF) भारतीय नौसेना का ज्ञान भागीदार और इस संवाद का मुख्य आयोजक है। पहले दो संस्करण क्रमशः 2018 और 2019 में नई दिल्ली में आयोजित किए गए थे। IPRD के 2020 संस्करण को COVID-19 महामारी के कारण रद्द कर दिया गया था। तीसरा संस्करण 2021 में वर्चुअल मोड में आयोजित किया गया था। इस वार्षिक संवाद का उद्देश्य हिंद-प्रशांत क्षेत्र में उभरने वाले अवसरों और चुनौतियों का आकलन करना है। यह भारत-प्रशांत के समुद्री क्षेत्र को प्रभावित करने वाले भू-राजनीतिक विकास से संबंधित विषयों पर चर्चा करने के लिए एक साझा मंच प्रदान करता है। IPRD 2022 का आयोजन नई दिल्ली में ‘Operationalising the Indo-Pacific Oceans Initiative’ (IPOI) विषय पर आधारित होगा।

भारत की पहली आत्महत्या रोकथाम नीति पेश की गई

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने हाल ही में राष्ट्रीय आत्महत्या रोकथाम रणनीति – भारत की पहली आत्महत्या रोकथाम नीति का अनावरण किया। राष्ट्रीय आत्महत्या रोकथाम रणनीति (NSPS) का लक्ष्य 2030 तक समय पर कार्रवाई और बहु-क्षेत्रीय सहयोग के माध्यम से आत्महत्या मृत्यु दर को 10 प्रतिशत तक कम करना है। राष्ट्रीय रणनीति के कई उद्देश्य हैं।

  • अगले 3 वर्षों के भीतर आत्महत्याओं के लिए प्रभावी निगरानी तंत्र स्थापित करना
  • 5 वर्षों के भीतर सभी राज्यों में जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के माध्यम से आत्महत्या रोकथाम सेवाएं प्रदान करने वाले मनोरोग बाह्य रोगी विभागों की स्थापना करना
  • अगले 8 वर्षों के भीतर सभी शैक्षणिक संस्थानों में एक मानसिक कल्याण पाठ्यक्रम को एकीकृत करना
यह रणनीति जिम्मेदार मीडिया द्वारा आत्महत्या के बारे में रिपोर्टिंग करने और आत्महत्या के साधनों तक पहुंच को प्रतिबंधित करने के लिए दिशानिर्देश विकसित करने का भी प्रयास करती है। यह आत्महत्या की रोकथाम के लिए सामुदायिक लचीलापन और सामाजिक समर्थन में सुधार करेगी। जबकि यह आत्महत्या की रोकथाम के लिए WHO की दक्षिण पूर्व-एशिया क्षेत्र रणनीति के अनुरूप है, यह रणनीति भारतीय संस्कृति और सामाजिक परिवेश के अनुरूप रहेगी।

भारतीय सेना के दक्षिण पश्चिमी कमान द्वारा ‘शत्रुनाश अभ्यास’ राजस्थान में आयोजित

21 नवंबर 2022 को पश्चिमी राजस्थान के थार रेगिस्तान में भारतीय सेना के दक्षिण पश्चिमी कमान ने महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में एक एकीकृत अग्नि शक्ति अभ्यास, “शत्रुनाश” का आयोजन किया। इस अभ्यास में जमीनी और हवाई युद्धाभ्यास दोनों को शामिल करते हुए एक एकीकृत तरीके से बहुउद्देश्यीय फायरिंग प्लेटफार्मों का उपयोग किया गया।

कथक नृत्यांगना उमा शर्मा को सुमित्रा चरत राम पुरस्कार से सम्मानित किया गया

प्रख्यात कथक नृत्यांगना उमा शर्मा को भारतीय शास्त्रीय संगीत व नृत्य के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने के लिए प्रतिष्ठित ‘सुमित्रा चरत राम पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया। श्रीराम भारतीय कला केंद्र (एसबीकेके) द्वारा कमानी सभागार में आयोजित एक समारोह में जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल कर्ण सिंह और सरोद वादक उस्ताद अमजद अली खान ने उन्हें पुरस्कार प्रदान किया।

भारत-गेबॉन के बीच दिल्‍ली में पहली विदेश मंत्रालय स्‍तरीय वार्ता हुई

भारत और गेबॉन के बीच नयी दिल्‍ली में पहली विदेश मंत्रालय स्‍तरीय वार्ता हुई। दोनों पक्षों ने व्‍यापार, आर्थिक सम्‍बन्‍धों, रक्षा और नौवहन क्षेत्र में सहयोग सुदृढ़ करने पर बल देते हुए द्विपक्षीय सम्‍बन्‍धों की गहन समीक्षा की। दोनों पक्षों ने आपसी हित के क्षेत्रीय और अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्दों पर विचार-विमर्श किया। इनमें संयुक्‍त राष्‍ट्र तथा अन्‍य बहुपक्षीय मंचों पर सहयोग, जलवायु परिवर्तन, अंतर्राष्‍ट्रीय सौर गठबंधन और सतत विकास जैसे मुद्दे शामिल थे। भारत और गेबॉन के रिश्‍ते मैत्रीपूर्ण और गर्मजोशी से भरपूर रहे हैं। दोनों के आपसी सम्‍बन्‍ध साझा लोकतांत्रिक मूल्‍यों और दृष्टिकोण पर आधारित हैं। नयी दिल्‍ली में गेबॉन का दूतावास खुलने और पारस्‍परिक उच्‍चस्‍तरीय यात्राओं के चलते पिछले कुछ वर्षों में द्विपक्षीय सम्‍बन्‍ध और मजबूत हुए हैं। भारत और गेबॉन के बीच 2017-18 में व्‍यापार 44 करोड़ डॉलर था, जो 2021-22 में बढ़कर एक अरब 12 करोड़ डॉलर हो गया। गेबॉन के लिए भारत दूसरा सबसे बड़ा आयातक देश है और 50 से अधिक भारतीय कम्‍पनियों ने गेबॉन के विशेष आर्थिक क्षेत्र में उत्‍पादन इकाइयां लगायी है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दिल्ली में संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मंत्री से मुलाकात की

विदेश मंत्री डॉक्टर एस जयशंकर ने नई दिल्ली में संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल नाहयान से मुलाकात की। उन्होंने सितंबर में आयोजित संयुक्त आयोग की 14वीं बैठक के बाद से व्यापार, निवेश, शिक्षा, खाद्य सुरक्षा और अन्य क्षेत्रों में हुई प्रगति की समीक्षा की। इस वर्ष मई में दोनों देशों के बीच हुए व्यापक आर्थिक साझेदारी समझौते से द्विपक्षीय व्यापार में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। दोनों मंत्रियों ने वैश्विक स्थिति और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आपसी सहयोग पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया। बैठक में विदेश सचिव विनय क्वात्रा और संयुक्त अरब अमीरात के अंतर्राष्ट्रीय सहयोग राज्य मंत्री रीम अल हाशिमी भी उपस्थित थे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कम्‍बोडिया में भारत-आसियान रक्षा मंत्रियों की पहली बैठक की सह-अध्‍यक्षता की

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कंबोडिया के सिएम रीप में भारत-आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता की। भारत-आसियान संबंधों की तीसवीं वर्षगांठ मनाने के लिए यह बैठक आयोजित की गई। यह वर्ष आसियान-भारत मैत्री वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। दिनांक 23 नवंबर, 2022 को कंबोडिया आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक प्लस (एडीएमएम प्लस) के अध्यक्ष के तौर पर 9वीं वार्षिक बैठक की मेजबानी करेगा तथा रक्षा मंत्री इस फोरम को संबोधित करेंगे। यात्रा के दौरान वह कंबोडिया के प्रधानमंत्री से भी मुलाकात करेंगे।

2023 में भारत में होने वाले SCO सम्मेलन की वेबसाइट जारी

भारत ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की वर्ष 2023 के लिए आधिकारी वेबसाइट लॉन्च कर दी है। भारत वर्ष 2023 में एससीओ संगठन के अध्यक्ष के रूप में अगले एससीओ शिखर सम्मेलन की मेजबानी करने वाला है। इस साइट पर अगले साल होने वाले शंघाई सहयोग संगठन के विषय में महत्वपूर्ण जानकारियाँ प्रदान की गई हैं। साइट पर एससीओ के बैठक स्थल वाराणसी के विषय में वीडियो जानकारियाँ प्रदान की गई है। राष्ट्राध्यक्षों की एससीओ परिषद की भारत की अध्यक्षता हेतु आधिकारिक वेबसाइट अब https://indiainsco.in पर लाइव है।

आदिवासी बच्चों में तीरंदाजी को बढ़ावा देने हेतु सरकार 100 अकादमियां स्थापित करेगी: अर्जुन मुंडा

आदिवासी बच्चों में तीरंदाजी को बढ़ावा देने हेतु सरकार 100 अकादमियां स्थापित करेगी। इसकी पुष्टि जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने की है। हाल ही में नई दिल्ली में जनजातीय गौरव पुरस्कार देने के लिए आयोजित समारोह में केंद्रीय मंत्री ने बताया कि उनका मंत्रालय शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने की दिशा में काम कर रहा है। इसके साथ मंत्रालय आदिवासी क्षेत्रों में रोजगार पैदा करने पर भी ध्यान केंद्रित कर रहा है। मुंडा ने बताया कि सरकार एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय की स्थापना कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आदि-आदर्श ग्राम योजना को लागू कर रहे हैं। इस योजना का उद्देश्य महत्त्वपूर्ण आदिवासी आबादी वाले गाँवों में अंतराल को कम करना और बुनियादी ढाँचा प्रदान करना है।

कर्नाटक में भारत में सबसे अधिक स्थापित ग्रिड-इंटरैक्टिव अक्षय ऊर्जा क्षमता

देश के सभी राज्यों की ग्रिड-इंटरैक्टिव अक्षय ऊर्जा की कुल स्थापित क्षमता की तुलना करते हुए कर्नाटक शीर्ष स्थान पर आया। आरबीआई के एक प्रकाशन के अनुसार, राज्य की कुल स्थापित क्षमता 15,463 मेगावाट (मेगावाट) थी। 15,225 मेगावाट के साथ तमिलनाडु दूसरे स्थान पर रहा। भारतीय राज्यों पर रिजर्व बैंक द्वारा जारी सांख्यिकी की पुस्तिका 2021-22 जो इसके सांख्यिकीय प्रकाशन का सातवां संस्करण था, के अनुसार गुजरात 13,153 मेगावाट के साथ तीसरे स्थान पर था, जबकि महाराष्ट्र 10,267 मेगावाट के साथ चौथे स्थान पर था। महाराष्ट्र के बाद राजस्थान (10,205 मेगावाट), आंध्र प्रदेश (8,969 मेगावाट), मध्य प्रदेश (5,206 मेगावाट), तेलंगाना (4,378 मेगावाट), उत्तर प्रदेश (3,879 मेगावाट), पंजाब (1,617 मेगावाट) और हिमाचल प्रदेश (988 मेगावाट) का स्थान है। इसी क्रम में उत्तराखंड (713 मेगावाट)।

ब्रिटिश इतिहासकार साइमन सेबाग द्वारा लिखित ‘द वर्ल्ड: ए फैमिली हिस्ट्री’ नामक पुस्तक

ब्रिटिश इतिहासकार साइमन सेबैग मोंटेफियोर ने ‘द वर्ल्ड: ए फैमिली हिस्ट्री’ नामक एक नई किताब का विमोचन किया है। मोंटेफियोर, ‘द वर्ल्ड: ए फैमिली हिस्ट्री’ में बताते हैं कि विभिन्न और प्रसिद्ध परिवारों की कहानियों से मानवता कैसे विकसित हुई। दो भाग वाली किताब को हैचेट इंडिया द्वारा प्रकाशित किया जाएगा।

जल-जीवन मिशन में उत्तर प्रदेश देश में नंबर एक पर

जल-जीवन मिशन में उत्तर प्रदेश देश में नंबर एक पर है। ग्रामीण क्षेत्रों में हर घर नल कनेक्शन देने में शाहजहांपुर देश में टाप पर है। वहीं दूसरे नंबर पर बुलंदशहर और तीसरे नंबर पर बरेली है। वहीं एक महीने में 25 प्रतिशत कनेक्शन देकर कीर्तिमान बनाने में जो चार जिले शामिल हैं उनमें इन तीन के अलावा मीरजापुर भी है। देशभर के जिलों की रैंकिंग में यूपी ने शीर्ष पर रहने का कीर्तिमान बनाया है। जल जीवन मिशन की वेबसाइट पर नल का कनेक्शन देने के मामले में 6,89,990 अंक पाकर देश में सबसे आगे शाहजहांपुर है। यहां एक महीने में 28,419 नल के कनेक्शन दिए गए। बुलंदशहर ने 6,57,180 अंक से दूसरा और बरेली ने 6,19,114 अंक पाकर तीसरा स्थान प्राप्त किया है। बुलंदशहर में 21,260 नल कनेक्शन और बरेली में 22,222 नल कनेक्शन दिए गए। वहीं एक महीने में सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाले जिलों में शाहजहांपुर पहले, मीरजापुर दूसरे और बुलंदशहर तीसरे स्थान पर है। मीरजापुर को 6,00,050 अंक मिले हैं। दिसंबर तक बुंदेलखंड में 90 प्रतिशत से अधिक नल कनेक्शन देने का काम तेजी से किया जा रहा है।

Goldman Sachs ने भारत का विकास दर अनुमान घटाकर 5.9% किया

इंटरनेशनल रेटिंग एजेंसी गोल्डमैन सैक्स ने भारत की आर्थिक विकास दर में कटौती की है। इस एजेंसी ने अगले साल भारत की आर्थिक वृद्धि में धीमापन रहने का अनुमान जताया है। गोल्डमैन सैक्स ने अगले वित्तवर्ष में भारत की जीडीपी का अनुमान घटाकर 5.9 फीसदी कर दिया है। गोल्डमैन सैक्स ने एक रिपोर्ट में कहा कि सकल घरेलू उत्पाद (GDP) कैलेंडर वर्ष 2023 में इस वर्ष अनुमानित 6.9% से घटकर 5.9% रह सकती है। गोल्डमैनस सैक्स अर्थशास्त्रियों ने रिपोर्ट में कहा है कि अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में भारत की अर्थव्यवस्था धीमी रह सकती है। हालांकि दूसरी छमाही में, विकास दर में फिर से तेजी आने की संभावना रहेगा। क्योंकि वैश्विक स्तर पर हालात ठीक होंगे। एजेंसी को लगता है कि रिटेल महंगाई भी इस वर्ष अनुमानित 6.8 फीसदी के मुकाबले अगले साल 6.1 फीसदी तक कम हो जाएगी।

BCCI ने चेतन शर्मा की अगुवाई वाली सीनियर राष्ट्रीय चयन समिति को किया बर्खास्त

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने 18 नवंबर को चेतन शर्मा की अगुवाई वाली सीनियर राष्ट्रीय चयन समिति को बर्खास्त कर दिया है। बीसीसीआई ने राष्ट्रीय चयनकर्ताओं के पद के लिए आवेदन आमंत्रित करने के लिए ट्विटर पर पोस्ट किया है। बीसीसीआई ने बयान में कहा कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) राष्ट्रीय चयनकर्ताओं (सीनियर पुरुष) के पद के लिए आवेदन आमंत्रित करता है।

गूगल ने डूडल बनाकर जियोलॉजिस्ट मैरी थार्प को किया याद

गूगल ने डूडल के जरिए अमेरिकन जियोलॉजिस्ट मैरी थार्प को याद किया है। कांग्रेस पुस्तकालय ने 21 नवंबर 1998 में मैरी थार्प को 20वीं शताब्दी के महानतम चित्रकारों में नामित किया था। मैरी थार्प के उपलब्धियों का जश्न मनाने के लिए गूगल ने एक एनिमेडेट वीडियो बनाया है। मैरी थार्प जियोलॉजिस्ट के साथ ही समुद्र विज्ञान मानचित्रकार (Oceanographic Cartographer) भी हैं। उन्होंने समुद्र तल का पहला वर्ल्ड मैप पब्लिश किया था। उन्होंने महाद्वीपीय बहाव के सिद्धांतों को साबित करने में सहायता की है। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत साल 1950 में की थी। इस समय तक धरती के ज्यादातर इलाकों का मैप बन गया था, लेकिन महासागरों को लेकर किसी के पास अधिक जानकारी नहीं थी। इसके बाद मैरी ने काफी रिसर्च किया और समुद्र तल का पहला वर्ल्ड मैप पब्लिश किया। हेजेन ने अटलांटिक महासागर में महासागर-गहराई का डेटा इकट्ठा किया। थार्प ने रहस्यमयी समुद्र तल के नक्शे को बनाने के लिए इस डेटा का इस्तेमाल किया। इको साउंडर्स के नए निष्कर्षों से मध्य-अटलांटिक रिज की खोज करने में उनको मदद मिली। इसके बाद थार्प और हेजेन ने एक साथ साल 1957 में उत्तरी अटलांटिक में समुद्र तल का पहला नक्शा पब्लिश किया। नेशनल ज्योग्राफिक द्वारा थार्प और हेजेन के “द वर्ल्ड ओशन फ्लोर” शीर्षक से पूरे महासागर तल के पहला विश्व मानचित्र890-o को पब्लिश किया गया। साल 1995 में थार्प ने अपने पूरे मैप कलेक्शन को लाइब्रेरी ऑफ कांग्रेस को दान दे दिया। 30 जुलाई, 1920 को मैरी थार्प का यप्सिलंती, मिशिगन में जन्म हुआ था।

विश्व मत्स्य दिवस 21 नवंबर को मनाया गया

विश्व मत्स्य दिवस प्रतिवर्ष 21 नवंबर को मनाया जाता है। यह दिन स्वस्थ समुद्री पारिस्थितिक तंत्र के महत्वपूर्ण महत्व को उजागर करने और दुनिया में मत्स्य पालन के स्थायी स्टॉक को सुनिश्चित करने के लिए समर्पित है। विश्व मत्स्य दिवस दुनिया भर में मछुआरे समुदाय के हित और विकास और विकास की रक्षा करते हुए हमारे महासागर पारिस्थितिक तंत्र के स्थायी मॉडल का पालन करने के लिए दुनिया का सामना कर रही तेजी से परस्पर जुड़ी समस्याओं के समाधान खोजने की खोज करता है।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.