Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

26 September 2021

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने न्यू‍यॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित किया

संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा के 76वें सत्र में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि अफगानिस्‍तान की धरती का उपयोग आतंकवाद फैलाने के लिए नहीं होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि समुद्र अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार की जीवन रेखा है और सबकी साझी विरासत है। श्री मोदी ने चाणक्‍य का उल्‍लेख करते हुए संयुक्‍त राष्‍ट्र को सही समय पर सही निर्णय लेने की नसीहत दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड महामारी, आतंकवाद, जलवायु परितर्वन और अफगानिस्‍तान की हाल की स्थिति ने इस बात की आवश्‍यकता स्‍पष्‍ट कर दी है कि संयुक्‍त राष्‍ट्र को और भी अधिक जिम्‍मेदारी से अपनी भूमिका निभानी चाहिए।

क्‍वाड देशों के नेताओं की पहली शिखर बैठक

क्‍वाड देशों के नेताओं की पहली शिखर बैठक वाशिंगटन में हुई। अमरीका के राष्‍ट्रपति जो बाइडेन, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी, आस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने बैठक में भाग लिया। प्रधानमंत्री मोदी ने क्‍वाड को वैश्विक हित के प्रति समर्पित मंच बताया। एक संयुक्‍त वक्‍तव्‍य में क्‍वाड नेताओं ने मुक्‍त और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र का आह्वान किया जो कि समावेशी और लचीला हो। इन नेताओं ने कहा कि समुद्र से जुड़े कानूनों के बारे में संयुक्‍त राष्‍ट्र की संधि का दक्षिण-चीन सागर में पालन किया जाना चाहिए। क्‍वाड वैक्‍सीन पहल के बारे में चारों देशों ने कोविड रोधी टीकों की 12 लाख खुराकें दान करने का संकल्‍प व्‍यक्‍त किया। उन्‍होंने इस वर्ष अक्‍टूबर से कोविड रोधी टीकों का निर्यात बहाल करने के भारत के निर्णय का भी स्‍वागत किया। जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए, संयुक्‍त वक्‍तव्‍य में वर्ष 2050 तक विश्‍व में शून्‍य कार्बन उत्‍सर्जन का लक्ष्‍य प्राप्‍त करने के लिए कार्बन का उपयोग कम करने और लचीली स्‍वच्‍छ ऊर्जा आपूर्ति श्रृंखलाओं की स्‍थापना करने का आह्वान किया गया है। आतंकवाद को गंभीरता से लेते हुए क्‍वाड देशों के नेताओं ने कहा कि अफगानिस्‍तान की धरती का इस्‍तेमाल किसी देश को धमकाने या उस पर हमला करने और आतंकवादियों को पनाह देने या उन्‍हें प्रशिक्षित करने अथवा उनका वित्‍त पोषण करने के लिए नहीं किया जाना चाहिए। इन नेताओं ने तालिबान से कहा कि वह मानवाधिकारों के बारे में अपने वायदों पर कायम रहे। क्‍वाड नेताओं ने उत्‍तर कोरिया को पूरी तरह परमाणु मुक्‍त बनाने का आह्वान किया। नवाचार और उभरती प्रौद्योगिकियों को बढ़ावा देने के लिए क्‍वाड नेताओं ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित के मेधावी स्‍नातकों के लिए एक सौ अध्‍येतावृत्तियों की घोषणा की।

सिक्किम में एनएचपीसी के 510 मेगावाट उत्पादन क्षमता वाले तीस्ता-V पावर स्टेशन को अंतर्राष्ट्रीय हाइड्रोपावर एसोसिएशन (आईएचए) द्वारा 'ब्लू प्लेनेट पुरस्कार' से सम्मानित किया गया

हिमालयी राज्य सिक्किम में स्थित एनएचपीसी के 510 मेगावाट उत्पादन क्षमता वाले तीस्ता-V (पांच) पावर स्टेशन को अंतर्राष्ट्रीय हाइड्रोपावर एसोसिएशन (आईएचए) द्वारा प्रतिष्ठित ब्लू प्लेनेट पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। आईएचए लंदन स्थित और 120 देशों में कार्यरत गैर-लाभकारी सदस्यता संघ है। तीस्ता-V पावर स्टेशन का निर्माण, स्वामित्व और संचालन एनएचपीसी द्वारा किया जा रहा है। तीस्ता-V पावर स्टेशन के लिए इस पुरस्कार की घोषणा वर्ल्ड हाइड्रोपावर कांग्रेस-2021 के दौरान की गई। आईएचए के हाइड्रोपावर सस्टेनेबिलिटी असेसमेंट प्रोटोकॉल (एचएसएपी) के ऑपरेशन स्टेज टूल का उपयोग करके 2019 में आईएचए के मान्यता प्राप्त प्रमुख मूल्यांकनकर्ताओं की एक टीम द्वारा किए गए स्थिरता मूल्यांकन के आधार पर तीस्ता-V पावर स्टेशन को यह पुरस्कार प्रदान किया गया है। आईएचए ब्लू प्लैनेट पुरस्कार उन हाइड्रोपावर परियोजनाओं को प्रदान किया जाता है, जो सतत विकास की दिशा में उत्कृष्टता को प्रदर्शित करती हैं।

केवीआईसी ने स्थानीय रेशम उद्योग को बढ़ावा देने और रोजगार पैदा करने के लिए ओडिशा का पहला रेशम यार्न उत्पादन केंद्र स्थापित किया

सैकड़ों वर्षों से ओडिशा अपने उत्तम रेशम, विशेष रूप से रेशम की तुसर किस्म के लिए जाना जाता है। यह रेशम हजारों आदिवासी लोगों और विशेषकर महिलाओं को आजीविका प्रदान करता है। लेकिन राज्य में रेशम के बुनकर रेशम के धागे के लिए पूरी तरह से पश्चिम बंगाल, झारखंड और कर्नाटक जैसे राज्यों पर निर्भर थे जिससे रेशम के कपड़े की लागत बढ़ गई थी। खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने कटक जिले के चौद्वार में ओडिशा का पहला टसर सिल्क यार्न उत्पादन केंद्र स्थापित करने के लिए एक ऐतिहासिक पहल की है। यह रेशम धागा उत्पादन केंद्र टसर रेशम के धागे की स्थानीय उपलब्धता सुनिश्चित करेगा, स्थानीय रोजगार पैदा करेगा और रेशम उत्पादन लागत को कम करेगा। टसर रेशम की बेहतरीन किस्मों में से एक है और इसका खुरदरापन और बुनाई इसे बाकी किस्मों से अलग करती है। रेशम धागा उत्पादन केंद्र का उद्घाटन शुक्रवार को केवीआईसी के अध्यक्ष श्री विनय कुमार सक्सेना ने किया। यह केंद्र बहुत महत्व रखता है क्योंकि रेशम ओडिशा में कुल खादी कपड़े के उत्पादन का लगभग 75 प्रतिशत हिस्सा है। यह रेशम धागा उत्पादन केंद्र 34 महिलाओं सहित 50 कारीगरों के लिए प्रत्यक्ष रोजगार पैदा करेगा, साथ ही कोकून की खेती में लगे 300 से अधिक आदिवासी किसानों को आजीविका सहायता प्रदान करेगा।

जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने ब्रिटेन के नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए

जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (जेडएसआई), कोलकाता और नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम (एनएचएम), लंदन कई वर्षों से भारत में जीवों के अध्ययन पर केंद्रित पारस्परिक रूप से लाभकारी परियोजनाओं पर और लंबे समय से चले आ रहे इस संबंध को पहचानने के लिए एक साथ काम कर रहे हैं। भविष्य में कई वर्षों तक इसकी निरंतरता को बढ़ावा देने के लिए दो महत्वपूर्ण संस्थानों के बीच एक समझौता ज्ञापन पर औपचारिक रूप से हस्ताक्षर किए गए। ज़ेडएसआई, कोलकाता के निदेशक और एनएचएम, लंदन के निदेशक, ने आयोजित कार्यक्रम के दौरान इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। जेडएसआई की पहली महिला निदेशक डॉ. धृति बनर्जी और नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम, लंदन के निदेशक डॉ. डगलस गुर के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। भारत में जैव विविधता अध्ययन के लिए प्रमुख संस्थान ज़ेडएसआई का मुख्यालय कोलकाता में है और भारत के विभिन्न जैव-भौगोलिक क्षेत्रों की जैव विविधता को पूरा करने के लिए 16 क्षेत्रीय केंद्र स्थापित किए गए हैं। जेडएसआई के पास लगभग 5 मिलियन पशुओं का संग्रह है। इन संस्थानों में 20,000 प्रकार के संग्रह हैं और लगभग 450 वैज्ञानिक और वैज्ञानिक कर्मचारी जेडएसआई में मौजूद विशाल पशु संग्रह और शोध की दिशा में काम करते हैं।

केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने लद्दाख के हम्बोटिंग ला में दूरदर्शन/आकाशवाणी ट्रांसमीटर का शुभारंभ किया

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने लद्दाख में कारगिल के पास हम्बोटिंग ला में दूरदर्शन और आकाशवाणी के उच्च शक्ति वाले ट्रांसमीटर राष्ट्र को समर्पित किए। 10 किलोवाट के ट्रांसमीटर देश में सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थापित टीवी और रेडियो ट्रांसमीटर हैं, जो औसत समुद्र तल से 4,054 मीटर (लगभग 13,300 फुट) की ऊंचाई पर स्थित हैं। लेह में लगे ट्रांसमीटर 3,501 मीटर (लगभग 11,450 फुट) की ऊंचाई पर स्थित हैं। सूचना और प्रसारण मंत्री ने सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी लद्दाख क्षेत्र के दूरस्थ स्थानों तक पहुंचाने में आकाशवाणी की भूमिका की सराहना की। श्री ठाकुर ने बताया कि सीमावर्ती गांवों की जनता को 130 चैनलों वाली डीडी फ्री डिश की तीस हजार यूनिट मुफ्त में बांटी जाएंगी।

मेक इन इंडिया के सात वर्ष पूरे, 440 अरब डॉलर का प्रत्य़क्ष विदेशी निवेश हुआ

निर्माण क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। देश को निर्माण क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्र ने 25 सितंबर, 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मेक इन इंडिया पहल की शुरुआत की थी। इस पहल का उद्देश्य निवेश को सुविधाजनक बनाना, नवाचारों को बढ़ावा देना और निर्माण संबंधी सर्वोत्तम ढांचा स्थापित करना है। मेक इन इंडिया पहल से आर्थिक वृद्धि और विकास में देश का प्रदर्शन बेहतर हुआ है। इससे कारोबार करने में आसानी हुई है और कौशल विकास को बढ़ावा मिला है। मेक इन इंडिया ने निवेश के लिए सुचारू माहौल सृजित किया है और नए क्षेत्रों में विदेशी निवेश सुनिश्चित किया है। केंद्र ने निर्माण क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के विभिन्न उपाय किए हैं। सभी नियामक मंजूरी और सेवाओं के लिए सिंगल विंडो प्रणाली शुरू की गई है। इस पहल से अंतर्राष्ट्रीय और स्थानीय कारोबारियों के लिए भारत में व्यापार करने में आसानी और बढ़ेगी। देश को आत्मनिर्भर बनाने और निर्माण क्षमता बढ़ाने के लिए उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन की पहल की गई है। सरकार ने 13 प्रमुख क्षेत्रों में विभिन्न प्रोत्साहन योजनाओं के लिए एक लाख 97 हजार करोड़ रुपए निर्धारित किए हैं। मेक इन इंडिया संबंधी पहलों से पिछले सात वर्ष में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश बढ़ा है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में अब तक का सर्वाधिक 81 अरब 72 करोड़ डॉलर का वार्षिक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश हुआ। इन सात वर्षों में भारत में 440 अरब डॉलर का प्रत्य़क्ष विदेशी निवेश हुआ।

प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना-सौभाग्य के तहत दो करोड़ 82 लाख घरों में बिजली पहुंचाई गई

सौभाग्य योजना के प्रारंभ होने के बाद से 2.82 करोड़ घरों का विद्युतीकरण किया गया है। ये आंकड़े इस वर्ष 31 मार्च तक के हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2017 में 25 सितंबर के दिन इस योजना की शुरुआत की थी। यह योजना 16 हजार 320 करोड़ रुपये के आवंटन से शुरू की गई थी। इस योजना के ग्रामीण परिवारों के लिए 14 हजार करोड़ रुपये से अधिक जबकि शहरी परिवारों के लिए करीब दो हजार तीन सौ करोड़ रुपये का आवंटन किया गया। सभी राज्यों से अनुरोध किया गया है कि वे अपने यहां बिजली से वंचित घरों की पहचान करने और उन्हें बिजली कनेक्शन प्रदान करने के लिए विशेष अभियान चलायें।

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन शुरू करेंगे पीएम मोदी

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 27 सितंबर को राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (National Digital Health Mission - NDHM) के राष्ट्रव्यापी रोल-आउट की घोषणा करेंगे, जिसका नाम बदलकर प्रधान मंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (Pradhan Mantri Digital Health Mission - PM-DHM) कर दिया गया है। इसके तहत लोगों को एक यूनिक डिजिटल हेल्थ आईडी प्रदान की जाएगी, जिसमें व्यक्ति के सभी स्वास्थ्य रिकॉर्ड होंगे। आधार और उपयोगकर्ता के मोबाइल नंबर जैसे विवरण का उपयोग करके आईडी बनाई जाएगी। इस पहल को आरोग्य मंथन (Arogya Manthan) के अंतिम दिन शुरू किया जाएगा, जिसे सरकार की प्रमुख स्वास्थ्य बीमा योजना - आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर शुरू किया गया था। यह परियोजना वर्तमान में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, चंडीगढ़, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, लद्दाख, लक्षद्वीप और पुडुचेरी के केंद्र शासित प्रदेशों में अपने पायलट चरण में है। मिशन में अनिवार्य रूप से चार मुख्य बिल्डिंग ब्लॉक शामिल हैं - अद्वितीय डिजिटल स्वास्थ्य आईडी, स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर रजिस्ट्री, स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री और इलेक्ट्रॉनिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड। अधिकारियों ने कहा, शुरू में तीन घटकों, विशिष्ट स्वास्थ्य आईडी, डॉक्टर की रजिस्ट्री और स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री को चालू कर दिया गया है। यह पहल डेटा, सूचना और बुनियादी ढांचा सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला के प्रावधान के माध्यम से एक कुशल, सुलभ, समावेशी, किफायती और सुरक्षित तरीके से सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज का समर्थन करती है।

फुमज़िले म्लाम्बो-एंगकुका ने ग्लोबल गोलकीपर अवार्ड 2021 जीता

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने अपने वार्षिक गोलकीपर्स अभियान के हिस्से के रूप में अपने वार्षिक गोलकीपर्स 'ग्लोबल गोल्स अवार्ड्स (Global Goals Awards)' 2021 की घोषणा की। गोलकीपर सतत विकास लक्ष्यों (वैश्विक लक्ष्यों) की दिशा में प्रगति में तेजी लाने के लिए फाउंडेशन का अभियान है। एक वार्षिक रिपोर्ट के माध्यम से वैश्विक लक्ष्यों के पीछे की कहानियों और डेटा को साझा करके, हम नेताओं की एक नई पीढ़ी को प्रेरित करने की उम्मीद करते हैं-गोलकीपर जो प्रगति के बारे में जागरूकता बढ़ाते हैं, अपने नेताओं को जवाबदेह ठहराते हैं, और वैश्विक लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कार्रवाई करते हैं। पुरस्कार निम्नलिखित श्रेणियों में दिए गए:
2021 ग्लोबल गोलकीपर अवार्ड:
फुमज़िले म्लाम्बो-एंगकुका (Phumzile Mlambo-Ngcuka), संयुक्त राष्ट्र की पूर्व Under Secretary General और संयुक्त राष्ट्र महिला की कार्यकारी निदेशक। उन्हें लैंगिक समानता के लिए लड़ने और महिलाओं और लड़कियों पर कोविड -19 महामारी के असमान प्रभाव को दूर करने के लिए उनकी निरंतर वकालत के लिए सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार एक ऐसे नेता को मान्यता देता है जिसने सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने की दिशा में वैश्विक स्तर पर प्रगति की है।
2021 प्रगति पुरस्कार:
कोलंबिया से जेनिफर कोलपास (Jenifer Colpas) को उनके काम के लिए जो स्वच्छ पानी और स्वच्छता सुधार के आसपास केंद्रित है। कोलपास टिएरा ग्रेटा (Tierra Grata) के सह-संस्थापक और कार्यकारी निदेशक हैं, यह एक सामाजिक उद्यम है जो कोलंबिया में ग्रामीण समुदायों को स्वच्छ ऊर्जा, सुरक्षित पानी और स्वच्छता सेवाओं को कम लागत में पहुंच प्रदान करता है और आसानी से स्थापित समाधान विकसित करता है। यह पुरस्कार उस व्यक्ति को सम्मानित करता है जो विज्ञान, प्रौद्योगिकी या व्यवसाय का उपयोग करके प्रगति का समर्थन करता है।
2021 अभियान पुरस्कार:
लाइबेरिया की सट्टा शेरिफ (Satta Sheriff), लैंगिक समानता को बढ़ावा देने के अपने काम के लिए दिया गया। शेरिफ एक्शन फॉर जस्टिस एंड ह्यूमन राइट्स (Action for Justice and Human Rights - AJHR) के संस्थापक और कार्यकारी निदेशक हैं, यह एक युवा नेतृत्व वाला गैर सरकारी संगठन है जो लाइबेरिया में महिलाओं और लड़कियों पर ध्यान देने के साथ न्याय और मानवाधिकारों के लिए सम्मान सुनिश्चित करता है। यह पुरस्कार उस अभियान का जश्न मनाता है जिसने कार्रवाई को प्रेरित करके और बदलाव लाकर जागरूकता बढ़ाई है या एक समुदाय का निर्माण किया है।

बांग्‍लादेश में ढाका में बंगबंधु-बापू डिजिटल प्रदर्शनी आज जनता के लिए खोल दी गई

बांग्‍लादेश में ढाका में बंगबंधु-बापू डिजिटल प्रदर्शनी जनता के लिए खोल दी गई। बांग्लादेश के शिक्षा मंत्री डॉक्‍टर दीपू मोनी, संस्कृति राज्य मंत्री के. एम. खालिद और बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त विक्रम दोराईस्वामी ने शिल्पकला अकादमी में प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। प्रदर्शनी में बांग्लादेश के राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर्र रहमान और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन से संबंधित विषयों को प्रदर्शित किया गया है। भारत और बांग्‍लादेश ने प्रदर्शनी को विशेष रूप से बंगबंधु शेख मुजीब की जन्म शताब्दी मुजीब वर्ष और महात्मा गांधी के जन्म के 150 वर्ष के साथ-साथ द्विपक्षीय संबंधों की स्वर्ण जयंती मनाने के लिए तैयार किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रधानमंत्री शेख हसीना ने वर्चुअल शिखर सम्मेलन के दौरान पिछले वर्ष 16 दिसम्‍बर को इस प्रदर्शनी का उद्घाटन किया था।

"कोयला और खदान" पर भारत और ऑस्ट्रेलिया की पहली संयुक्त कार्य समूह बैठक वर्चुअली आयोजित

13 अक्टूबर, 2021 को होने वाली आगामी भारत-ऑस्ट्रेलिया ऊर्जा वार्ता से पहले, भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच "कोयला और खदान" पर पहली संयुक्त कार्य समूह (जेडब्लूजी) की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गयी। इसकी सह-अध्यक्षता भारत की ओर से कोयला मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव श्री विनोद कुमार तिवारी और ऑस्ट्रेलिया की ओर से रिसोर्सेस डिविजन के प्रमुख श्री पॉल ट्रॉटमैन ने की। चर्चा भारत में कोयला संसाधनों के वर्तमान और भविष्य के परिदृश्य, महत्वपूर्ण और रणनीतिक खनिजों की मांग एवं आपूर्ति परिदृश्य और ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष के साथ संबंध, स्वच्छ कोयला प्रौद्योगिकी, भूतल कोयला गैसीकरण, कोल बेड मीथेन पर भारत ऑस्ट्रेलिया सहयोग, अग्नि शमन के लिये इस्तेमाल की जा रही तकनीक के आदान प्रदान, कोयला आधारित हाइड्रोजन, कार्बन कैप्चर यूटिलाइजेशन एंड स्टोरेज (सीसीयूएस) पर केन्द्रित था। कोयला तकनीक पर व्यापार जगत के बीच सहयोग. प्रौद्योगिकी हस्तांतरण, कौशल विकास और प्रशिक्षण पर सहयोग, ऑस्ट्रेलिया से कोकिंग कोल आयात से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की गयी।

विस्फोटकों का तेजी से पता लगाने के लिए कम लागत वाला इलेक्ट्रॉनिक पॉलीमर आधारित सेंसर विकसित किया गया

भारतीय वैज्ञानिकों ने पहली बार उच्च-ऊर्जा विस्फोटकों में प्रयुक्त नाइट्रो-एरोमैटिक रसायनों का तेजी से पता लगाने के लिए तापीय रूप से स्थिर (थर्मली स्टेबल) और कम लागत लागत वाला इलेक्ट्रॉनिक पॉलीमर-आधारित सेंसर विकसित किया है। विस्फोटकों को नष्ट किए बिना उनका पता लगाना सुरक्षा के लिए आवश्यक है और ऐसे मामलों में आपराधिक जांच, बारूदी सुरंग वाले क्षेत्र में ही उपचार (माइनफील्ड रिमेडिएशन), सैन्य अनुप्रयोगों, गोला-बारूद उपचार स्थल, सुरक्षा अनुप्रयोगों और रासायनिक सेंसर महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस, स्टडी इन साइंस एंड टेक्नॉलजी, गुवाहटी के डॉ नीलोत्पल सेन सरमा के नेतृत्व में शोधार्थियों ने वैज्ञानिकों के एक समूह के साथ काम करके यह पॉलीमर डिटेक्टर विकसित किया है।

भारतीय सेना कोलकाता में आयोजित करेगी 'विजय सांस्कृतिक महोत्सव'

भारतीय सेना 26 से 29 सितंबर तक कोलकाता में "विजय सांस्कृतिक महोत्सव (Bijoya Sanskritik Mahotsav)" का आयोजन करेगी। यह महोत्सव भारत-पाक युद्ध 1971 की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाएगा। इस कार्यक्रम का उद्घाटन पूर्वी कमान के सेना कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे (Manoj Pande) करेंगे। इस कार्यक्रम के दौरान फिल्म स्क्रीनिंग, थिएटर नाटक, संगीत समारोह और बैंड प्रदर्शन सहित विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। यह भारत-पाक युद्ध की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में स्वर्णिम विजय वर्षा समारोह के हिस्से के रूप में आयोजित किया जाएगा। भारत-पाक युद्ध 3 दिसंबर 1971 को शुरू हुआ और 16 दिसंबर 1971 को समाप्त हुआ। यह बांग्लादेश की स्वतंत्रता के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच एक सैन्य टकराव था। पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल अमीर अब्दुल्ला खान नियाज़ी (Amir Abdullah Khan Niazi) के 93,000 सैनिकों के साथ, भारतीय सेना और बांग्लादेश की मुक्ति वाहिनी की संयुक्त सेना के सामने आत्मसमर्पण करने के बाद युद्ध समाप्त हो गया। 2 अगस्त 1972 को, भारत और पाकिस्तान ने शिमला समझौते पर हस्ताक्षर किए, जिसके तहत पूर्व में युद्ध के सभी 93,000 पाकिस्तानी कैदियों को रिहा करने पर सहमति हुई।

BPCL, SBI कार्ड ने सह-ब्रांड RuPay कॉन्टैक्टलेस क्रेडिट कार्ड लॉन्च किया

भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL) और एसबीआई कार्ड ने 'बीपीसीएल एसबीआई कार्ड सह-ब्रांडेड रुपे कॉन्टैक्टलेस क्रेडिट कार्ड' लॉन्च करने के लिए हाथ मिलाया है, जो ईंधन और अन्य लाभ प्रदान करता है। कार्ड ग्राहकों को ईंधन की बचत और अन्य लाभ प्रदान करेगा। कार्डधारकों को खर्च की अन्य श्रेणियों पर त्वरित बचत भी मिलेगी, जिसमें किराने का सामान, डिपार्टमेंटल स्टोर, डाइनिंग और फिल्में शामिल हैं।

ओडिशा करेगा पुरुषों के हॉकी जूनियर विश्व कप की मेजबानी

ओडिशा 24 नवंबर से 5 दिसंबर तक यहां कलिंगा स्टेडियम (Kalinga Stadium) में पुरुष हॉकी जूनियर विश्व कप (Men's Hockey Junior World Cup) की मेजबानी करेगा। हॉकी इंडिया ने हाल ही में ओडिशा सरकार से दो महीने में होने वाले पुरुष जूनियर विश्व कप के लिए उनका समर्थन करने के लिए संपर्क किया था। पटनायक (Patnaik) ने इस आयोजन के लिए लोगो और ट्रॉफी का भी अनावरण किया। लखनऊ ने 2016 में टूर्नामेंट के आखिरी संस्करण की मेजबानी की थी जहां भारत ने सम्मान का दावा किया था। आगामी कार्यक्रम में, 16 राष्ट्र खिताब के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे। भाग लेने वाली टीमें भारत, कोरिया, मलेशिया, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, मिस्र, बेल्जियम, इंग्लैंड, फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड, स्पेन, अमेरिका, कनाडा, चिली और अर्जेंटीना हैं।

अमिताव घोष द्वारा जारी एक ऑडियोबुक शीर्षक 'जंगल नामा'

अमिताव घोष की "जंगल नामा (Jungle Nama)" अब यूएस-आधारित अली सेठी के संगीत और आवाज के साथ एक ऑडियोबुक के रूप में जारी की गई है। जंगलनामा ने अपनी कविता के माध्यम से प्रसिद्ध कलाकार सलमान तूर द्वारा शानदार कलाकृति के साथ सुंदरबन के आश्चर्य को उजागर किया। यह एक शानदार लोक कथा का प्रकाशित संस्करण है जिसे हर पुस्तक प्रेमी रखना चाहेगा। जंगल नामा, अमिताव घोष की बॉन बीबी की कथा के एक एपिसोड का कविता रूपांतरण है, जो सुंदरबन के गांवों में लोकप्रिय एक कहानी है, जो उपन्यास द हंग्री टाइड (The Hungry Tide) के केंद्र में भी है। यह लालची अमीर व्यापारी धोना (Dhona), गरीब बालक दुखे (Dukhey) और उसकी माँ की कहानी है; यह दोखिन राय (Dokkhin Rai) की भी कहानी है, जो एक शक्तिशाली आत्मा है जो मनुष्यों को बाघ के रूप में दिखाई देती है, वन की सौम्य देवी बॉन बीबी और उसके योद्धा भाई शाह जोंगोली (Shah Jongoli) की।

चेतन भगत ने नई किताब '400 डेज' का ट्रेलर जारी किया

चेतन भगत 08 अक्टूबर, 2021 को अपना नया उपन्यास शीर्षक '400 डेज़ (400 Days)' रिलीज़ करेंगे। इसके लिए उन्होंने कवर भी जारी किया है। 'द गर्ल इन रूम 105' और 'वन अरेंज मर्डर' के बाद केशव-सौरभ श्रृंखला (Keshav-Saurabh series) में यह तीसरा उपन्यास है। इस उपन्यास में सस्पेंस, मानवीय रिश्तों, प्यार, दोस्ती, पागल दुनिया जिसमें हम रहते हैं और सबसे बढ़कर एक माँ का कभी हार न मानने का दृढ़ संकल्प की कहानी है।

भारत सरकार ने पहली भारत-यूके कांसुलर वार्ता की मेजबानी की

भारत सरकार ने आभासी माध्यम में पहली भारत-यूनाइटेड किंगडम कांसुलर वार्ता (India-United Kingdom Consular Dialogue) की मेजबानी की है। विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव देवेश उत्तम (Devesh Uttam) ने भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया जबकि ब्रिटेन के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व जेनिफर एंडरसन (Jennifer Anderson) ने किया। दोनों पक्षों ने भारत-यूके 2030 रोडमैप के हिस्से के रूप में लोगों से लोगों के संपर्क को मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। इस उद्घाटन कांसुलर वार्ता में, दोनों पक्षों ने भारत-यूके 2030 रोडमैप के हिस्से के रूप में दोनों देशों के बीच लोगों से लोगों के संपर्क को और मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की।उन्होंने कांसुलर एक्सेस की सुविधा और कांसुलर शिकायतों के शीघ्र समाधान के तरीकों पर भी चर्चा की, जिसमें व्यवस्थित जानकारी साझा करना, और वीजा पर सहयोग, प्रत्यर्पण मामलों और पारस्परिक कानूनी सहायता शामिल है।दोनों पक्ष इस वार्ता के अगले दौर को 2022 में लंदन में पारस्परिक रूप से सुविधाजनक तिथि पर आयोजित करने पर सहमत हुए।इससे पहले, भारत और यूके ने 8 जुलाई को भारत-यूके वित्तीय बाजार वार्ता की पहली बैठक की थी।

सरकार ने आरएन रवि का इस्तीफा स्वीकार किया

भारत सरकार ने नगा शांति वार्ता (Naga peace talks) के वार्ताकार के रूप में आरएन रवि (RN Ravi) का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। रवि ने नगा शांति समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए प्रमुख विद्रोही समूहों के साथ कई वर्षों तक बातचीत की है। हाल ही में आर एन रवि को तमिलनाडु का राज्यपाल नियुक्त किया गया है। अक्षय मिश्रा (Akshay Mishra) को नए शांति वार्ता वार्ताकार के रूप में नियुक्त किए जाने की संभावना है। वह इंटेलिजेंस ब्यूरो में कार्यरत हैं।

25 सितंबर : अंत्योदय दिवस

भारत में, पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती को चिह्नित करने के लिए हर साल 25 सितंबर को अंत्योदय दिवस (Antyodaya Diwas) मनाया जाता है। अंत्योदय का अर्थ "गरीब से गरीब व्यक्ति का उत्थान" या "अंतिम व्यक्ति का उत्थान" (uplifting the poorest of the poor” or “rise of the last person)" है। यह दिन मोदी सरकार द्वारा 25 सितंबर 2014 को घोषित किया गया था और आधिकारिक तौर पर 2015 से मनाया जा रहा है। 1916 में मथुरा में पैदा हुए पंडित दीनदयाल उपाध्याय भारतीय जनसंघ के प्रमुख नेताओं में से एक थे, जिनसे बाद में भाजपा का उदय हुआ। वे 1953 से 1968 तक भारतीय जनसंघ के नेता रहे। दीनदयाल उपाध्याय एक मानवतावादी, अर्थशास्त्री, पत्रकार, दार्शनिक और सक्षम राजनेता थे। दीनदयाल उपाध्याय को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh - RSS) में उनके सहपाठी बालूजी महाशब्दे (Baluji Mahashabde) द्वारा पेश किया गया था। दीनदयाल उपाध्याय ने सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण की थी। हालाँकि, वह सेवा में शामिल नहीं हुए और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के स्वयंसेवक बन गए। 1940 के दशक में, दीनदयाल उपाध्याय ने हिंदुत्व राष्ट्रवाद की विचारधारा के प्रसार के लिए उत्तर प्रदेश के लखनऊ से एक मासिक पत्रिका 'राष्ट्र धर्म (Rashtra Dharma)' का शुभारंभ किया। बाद में, उन्होंने 'पांचजन्य (Panchjanya)', एक साप्ताहिक पत्रिका और एक दैनिक, 'स्वदेश (Swadesh)' शुरू किया। दीनदयाल उपाध्याय के 'एकात्म मानववाद (Integral Humanism)' के दार्शनिक विचार को 1965 में जनसंघ और बाद में भारतीय जनता पार्टी के आधिकारिक सिद्धांत के रूप में अपनाया गया था। दीनदयाल उपाध्याय ने 'समयनीत उपभोग' (टिकाऊ उपभोग - sustainable consumption) की वकालत की। वह पश्चिम के पूंजीवादी समाजों द्वारा प्रचलित प्रकृति माँ के शोषण के पक्ष में नहीं थे। दीनदयाल उपाध्याय 11 फरवरी, 1968 की तड़के उत्तर प्रदेश के मुग़लसराय (Mughalsarai) रेलवे स्टेशन के पास रहस्यमय परिस्थितियों में मृत पाए गए थे। बाद में, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पाया कि उन्हें लुटेरों ने मार दिया था।

महिला अधिकार कार्यकर्त्ता कमला भसीन का निधन

महिला अधिकार कार्यकर्त्ता कमला भसीन का हाल ही में 75 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। कमला भसीन का जन्म 24 अप्रैल, 1946 को राजस्थान में हुआ था और उनके पिता डॉक्टर थे। वह ‘संगत-ए फेमिनिस्ट नेटवर्क’ के साथ अपने कार्य के लिये काफी प्रसिद्ध थीं, साथ ही उन्हें उनकी कविता ‘क्यूँकि मैं लड़की हूँ, मुझे पढ़ना है’ के लिये भी जाना जाता है। एक सामाजिक वैज्ञानिक के रूप में कमला भसीन 35 वर्षों से अधिक समय तक विकास, शिक्षा, लिंग, मीडिया और कई अन्य संबंधित मुद्दों से सक्रिय रूप से जुड़ी हुई थीं। उन्होंने वर्ष 1972 में राजस्थान में ग्रामीण एवं शहरी गरीबों के सशक्तीकरण हेतु एक स्वैच्छिक संगठन के साथ कार्य करना शुरू किया था। वर्ष 1976 से वर्ष 2001 तक उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के ‘खाद्य एवं कृषि संगठन’ (FAO) के साथ काम किया। वर्ष 2002 में उन्होंने संयुक्त राष्ट्र से इस्तीफा दे दिया और ‘संगत’ संगठन के साथ बतौर संस्थापक सदस्य और सलाहकार के रूप में कार्य शुरू किया।

अरुणाचल के पूर्व राज्यपाल वाईएस डडवाल का निधन

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल और दिल्ली पुलिस आयुक्त युद्धवीर सिंह डडवाल का निधन हो गया है। 1974 बैच के आईपीएस अधिकारी डडवाल जुलाई 2007 से नवंबर 2010 तक दिल्ली के 16वें पुलिस आयुक्त थे। सेवानिवृत्ति के बाद, उन्हें नवंबर 2010 में केंद्रीय अर्धसैनिक बल, सशस्त्र सीमा बल (SSB) के महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था। 2016 में, डडवाल को अरुणाचल प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किया गया था।

सोमालिया में राष्ट्रपति भवन के पास एक आत्मघाती कार बम विस्फोट में कम से कम सात लोग मारे गए हैं

सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में राष्ट्रपति भवन के पास एक आत्मघाती कार बम विस्फोट में कम से कम सात लोग मारे गए हैं, जबकि आठ लोग घायल हो गए हैं। हमले की जिम्‍मेदारी इस्लामी चरमपंथी गुट अल-शबाब ने ले ली है। यह हमला राष्ट्रपति भवन के पास एक व्यस्त चौकी को निशाना बनाकर किया गया।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.