Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

5 March 2022

MeitY द्वारा ‘MeitY Startup Hub’ (MSH) नामक संगठन स्थापित किया गया

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) द्वारा स्टार्ट-अप, प्रौद्योगिकी नवाचार एवं बौद्धिक संपदा को बढ़ावा देने हेतु ‘MeitY Startup Hub’ (MSH) नामक एक संगठन स्थापित किया गया है। MSH एक राष्ट्रीय समन्वय, सुविधा और निगरानी केंद्र के रूप में कार्य करेगा जो MeitY के सभी स्टार्ट-अप और नवाचार संबंधी गतिविधियों को एकीकृत करता है। भारत में लगभग 8000 टेक स्टार्ट-अप के साथ यह दुनिया के सबसे जीवंत स्टार्ट-अप इकोसिस्टम में से एक है, जो इसे दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा स्टार्ट-अप इकोसिस्टम बनाता है। इसलिये भारतीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिये उद्यमिता और नवाचार पर ध्यान दिया जा रहा है। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) द्वारा इस पारिस्थितिकी तंत्र का विस्तार करने के लिये देश भर में नवाचार और IPR से संबंधित गतिविधियों की एक विस्तृत शृंखला की सुविधा प्रदान की जा रही है। इसके क्रम में ही गूगल ने बुधवार को एक एपस्केल एकेडमी शुरू करने की घोषणा की जो भारतीय स्टार्ट-अप को उच्च गुणवत्ता वाले एप और गेम बनाने में मदद करेगा। इस स्टार्टअप हब में छह हैदराबाद-आधारित स्टार्ट-अप शामिल हैं- कोडिंग लर्निंग एप प्रोगेम (ProGame), स्पोर्ट्स एप पॉसिबल 11, व्यवसायों को प्रबंधित करने के लिये वन-स्टॉप-शॉप एप, ज़ोबेज़ पीओएस, ऑनलाइन स्टोर बनाने के लिये एक एप KWIKBOX seller और गेम Slink.io तथा कैट टाउन मोबाइल।

नई दिल्ली में ITU के क्षेत्रीय कार्यालय और नवाचार केंद्र की स्थापना की जाएगी

हाल ही में केंद्रीय संचार मंत्री और अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (ITU) के महासचिव द्वारा मेज़बान देश समझौते ( Host Country Agreement- HCA) पर हस्ताक्षर किये गए। इसके तहत नई दिल्ली में ITU के क्षेत्रीय कार्यालय और नवाचार केंद्र की स्थापना की जाएगी। भारत में विकसित 5जीआई (5Gi) मानकों को आईटीयू ने 5जी के लिये तीन तकनीकों में से एक के रूप में स्वीकार किया है। 5Gi एक स्थानीय रूप से डिज़ाइन किया गया दूरसंचार नेटवर्क है जिसे IIT हैदराबाद द्वारा डिज़ाइन किया गया है। यह समझौता क्षेत्रीय कार्यालय की स्थापना और संचालन हेतु कानूनी एवं वित्तीय ढाँचा प्रदान करता है। नई दिल्ली में स्थापित आईटीयू का एरिया ऑफिस और इनोवेशन सेंटर दक्षिण एशियाई देशों जैसे- अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, ईरान, मालदीव, नेपाल, श्रीलंका और भारत को अपनी सेवाएँ प्रदान करेगा। इन क्षेत्रीय कार्यालयों में एक नवोन्मेष केंद्र भी होगा, जिससे दक्षिण एशिया में दूरसंचार प्रौद्योगिकियों में अनुसंधान एवं विकास को प्रोत्साहन मिलने की उम्मीद है।

ULIP का लाभ उठाकर लॉजिस्टिक्स लागत को कम किया जा सकता है : अमिताभ कांत

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत के अनुसार, यूनिफाइड लॉजिस्टिक्स इंटरफेस प्लेटफॉर्म (Unified Logistics Interface Platform – ULIP) का लाभ उठाकर लॉजिस्टिक्स लागत को कम किया जा सकता है। लॉजिस्टिक्स लागत वर्तमान में सकल घरेलू उत्पाद का 13-14% है। मंत्रालयों, उद्यमों और संघों से सभी लॉजिस्टिक्स हितधारकों को जोड़कर परिवहन के सभी साधनों को सिंगल विंडो के तहत लाकर भी इसे नीचे लाया जा सकता है। ULIP जस्ट-इन-टाइम इन्वेंट्री प्रबंधन, सस्ते लॉजिस्टिक मोड की पहचान करने, थकाऊ दस्तावेज़ीकरण प्रक्रिया को समाप्त करने, कार्गो मूवमेंट मॉनिटरिंग और अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में सुधार करके भारतीय लॉजिस्टिक्स परिदृश्य के लिए एक प्रमुख गेम चेंजर होगा। मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स इकोसिस्टम को और अधिक कुशल बनाने के लिए नेशनल लॉजिस्टिक्स पोर्टल (National Logistics Portal – NLP) यूलिप के साथ एकीकृत किया जायेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मई 2020 में नीति आयोग से कोविड-19 के बाद की चुनौतियों से निपटने के लिए प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी संचालित समाधान विकसित करने को कहा था।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 शुरू किया गया

1 मार्च 2022 को, आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) ने स्वच्छ सर्वेक्षण शुरू किया, जो दुनिया के सबसे बड़े शहरी स्वच्छता सर्वेक्षण का लगातार सातवां संस्करण है। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 को ‘पीपल फर्स्ट’ की धारणा के साथ फ्रंटलाइन स्वच्छता कार्यकर्ताओं के कल्याण के लिए शहरों की पहल को कैप्चर के लिए डिज़ाइन किया गया है। इस सर्वे में वरिष्ठ नागरिकों और युवा वयस्कों की आवाज को समान रूप से प्राथमिकता दी जाएगी। ऐसा करने से शहरी भारत की स्वच्छता को बनाए रखने के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को बल मिलेगा। इस साल के सर्वेक्षण को MoHUA द्वारा इप्सोस रिसर्च प्राइवेट लिमिटेड के लगभग 3,000 मूल्यांकनकर्ताओं के साथ शुरू किया गया है। इस वर्ष के सर्वेक्षण में नमूने के लिए 100 प्रतिशत वार्डों को कवर करने का दायरा बढ़ाया गया है, जो पिछले वर्षों में 40 प्रतिशत था। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 इस अभ्यास को सुचारू रूप से करने के लिए पिछले वर्ष की तुलना में ऑन-फील्ड मूल्यांकन के लिए बड़ी संख्या में मूल्यांकनकर्ताओं को तैनात करेगा। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की तैयारी में, शहर नियमित रूप से अपना डेटा भर रहे हैं और कई नागरिक केंद्रित अभियान चला रहे हैं। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के हिस्से के रूप में, वरिष्ठ नागरिकों को प्रतिक्रिया देने के लिए कहा जाएगा। विविध दृष्टिकोणों को सुनिश्चित करने के लिए, स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 युवा वयस्कों तक भी पहुंचेगा जो देश और स्वच्छता आंदोलन के भविष्य के नेता होंगे। सर्वेक्षण के पदचिह्न को और व्यापक बनाने के लिए पहली बार जिला रैंकिंग भी पेश की गई है।

रुड़की जल सम्मेलन 2022 का आयोजन किया गया

रुड़की जल सम्मेलन 2022” के दूसरे संस्करण का उद्घाटन 2 मार्च, 2022 को केंद्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत द्वारा किया गया। इस कॉन्क्लेव का उद्घाटन भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की द्वारा किया गया। इसका आयोजन 2 मार्च से 4 मार्च 2022 तक IIT रुड़की और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाइड्रोलॉजी द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। यह कॉन्क्लेव सामाजिक विकास के एक प्रमुख घटक के रूप में सतत जल संसाधन प्रबंधन का समर्थन करने वाले जल सुरक्षा और इसके कई पहलुओं को समझने पर ध्यान केंद्रित था। यह कॉन्क्लेव “सतत विकास के लिए जल सुरक्षा” की थीम पर केंद्रित है। जल सुरक्षा दुनिया भर में स्थिरता के लिए चर्चा का एक प्रमुख विषय है। इस प्रकार, ‘रुड़की वाटर कॉन्क्लेव 2022’ पानी की कमी, पानी के सतत उपयोग और स्वच्छता के मुद्दों के समाधान खोजने में मदद करेगा। एकीकृत गंगा कायाकल्प मिशन के साथ ये प्रयास गंगा नदी के पारिस्थितिक प्रवाह को बनाए रखने में मदद करेंगे और बदले में पानी की गुणवत्ता में सुधार करके पर्यावरण के सतत विकास को सुनिश्चित करेंगे।

सरकार ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों को अत्याधुनिक हथियारों और उपकरणों से लैस करने के लिए आधुनिकीकरण योजना को मंजूरी दी

केन्‍द्र सरकार ने केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बलों के लिए आधुनिकीकरण योजना के चौथे चरण को मंजूरी दे दी है। इससे विभिन्‍न क्षेत्रों में सशस्‍त्र बलों की तैनाती को देखते हुए संचालन से जुडी जरूरतों के अनुसार उन्‍हे आधुनिक हथियारों और साजो-सामान से लैस किया जायेगा। इसके अतिरिक्‍त उन्‍हें नवीनतम आई टी समाधान भी उपलब्‍ध कराये जायेंगे। गृह मंत्रालय एक हजार 523 करोड रूपये के कुल व्‍यय के साथ इस योजना को फरवरी 2022 से मार्च 2026 तक लागू कर रहा है। योजना के लागू होने से केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बलों की संचालन दक्षता और तैयारी में सुधार होगा जिससे देश के आंतरिक सुरक्षा परिदृश्‍य पर सकारात्‍मक असर पडेगा। उन्‍होंने कहा कि अन्‍तर्राष्‍ट्रीय सीमाओं तथा वाम उग्रवाद ग्रस्‍त क्षेत्रों, जम्‍मू कश्‍मीर तथा पूर्वोत्‍तर के उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में चुनौतियों से निपटने की सरकार की क्षमता को मजबूती मिलेगी।

केंद्रीय मंत्री डॉक्‍टर मनसुख मांड‍विया ने नई दिल्‍ली में आयोजित एक स्‍वास्‍थ्‍य धरोहर पदयात्रा में हिस्‍सा लिया

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य तथा रसायन और उर्वरक मंत्री डॉक्‍टर मनसुख मांड‍विया ने नई दिल्‍ली स्थित पुराना किला में आयोजित एक स्‍वास्‍थ्‍य धरोहर पदयात्रा में हिस्‍सा लिया। इसके आयोजन का उद्देश्‍य पैदल चलने के लाभ और जन औषधि जेनेरिक दवाओं के बारे में जागरूकता पैदा करना है। जन औषधि दिवस से आरंभ होने वाले सप्‍ताहभर के आयोजनों में चौथे दिन इन पदयात्राओं का आयोजन किया गया है। नौ शहरों के दस स्‍थानों पर हुए इन आयोजनों के माध्‍यम से पैदल चलने और व्‍यायाम के फायदों के अतिरिक्‍त जन औषधि केंद्रों पर उपलब्‍ध जेनेरिक दवाओं की गुणवत्‍ता और किफायती दाम के बारे में जागरूकता पैदा की गई। भारतीय औषधि और चिकित्‍सा उपकरण ब्‍यूरो-पीएमबीआई ने जन औषधि दिवस एक मार्च से सप्‍ताहभर के आयोजनों की शुरूआत की। पीएमबीआई इस साल देशभर में मार्च की पहली, दूसरी और तीसरी तारीख को जन औषधि संकल्‍प यात्रा, मातृशक्ति सम्‍मान और जन औषधि बाल मित्र जैसे आयोजन कर चुका है। इस वर्ष यह आयोजन देश की आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्‍य में जारी आजादी का अमृत महोत्‍सव के अंतर्गत किए जा रहे हैं।

दुर्घटना रोकने के लिए स्वदेशी प्रणाली कवच की जांच का भारतीय रेल का टक्कर रोधी परीक्षण सफल रहा--अश्विनी वैष्णव, रेल मंत्री

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने घोषणा की है कि रेल दुर्घटनाओं को रोकने के लिए स्वदेश में विकसित प्रणाली कवच की जांच के लिए भारतीय रेल द्वारा किया गया टक्कर रोधी परीक्षण सफल रहा है। रेल मंत्री ने सिकंदराबाद के नजदीक परीक्षण स्‍थल का निरीक्षण किया। रेलवे को दुर्घटना रहित बनाने के लिए स्वचालित ट्रेन सुरक्षा प्रणाली कवच, को डिज़ाइन किया गया है। श्री वैष्‍णव ने कवच के सफल परीक्षण के बारे में ट्वीट करके कहा कि कवच ने सामने से आ रहे एक अन्य रेल इंजन से 380 मीटर पहले ही ट्रेन को स्वचालित रूप से रोक दिया। कवच दुनिया की सबसे सस्ती स्वचालित ट्रेन टक्कर सुरक्षा प्रणाली होगी। रेल अधिकारियों ने बताया कि कवच प्रणाली लगाने में 50 लाख रुपये प्रति किलोमीटर का खर्च आएगा, जबकि विश्‍व में ऐसी प्रणाली लगाने में करीब 2 करोड़ रुपये खर्च होते हैं।

10 से 14 मार्च तक गांधी नगर में आयोजित होने वाली रक्षा प्रदर्शनी स्‍थगित

इस महीने की 10 से 14 तारीख तक गांधी नगर में आयोजित होने वाली रक्षा प्रदर्शनी-2022 को स्‍थगित कर दिया गया है। ऐसा प्रदर्शनी के भागीदारों द्वारा सामान की आवा-जाही में महसूस की जा रही असुविधा को देखते हुए किया गया है। नई तिथि की घोषणा बाद में की जाएगी।

विभिन्न श्रेणियों में स्वदेश पर्यटन पुरस्कारों की शुरुआत

राज्य सरकारों तथा केंद्रशासित प्रदेश प्रशासन व विभिन्न कार्यान्वयन एजेंसियों द्वारा किये जा रहे प्रयासों को महत्त्व देने के क्रम में पर्यटन मंत्रालय ने विभिन्न श्रेणियों में स्वदेश पर्यटन पुरस्कारों की शुरुआत की है। ये पुरस्कार योजनाबद्ध उद्देश्यों की उपलब्धि, अभिनव पहल, योजना, डिज़ाइन और संचालन में स्थिरता संबंधी सिद्धांतों को अपनाने, कुशल परियोजना निगरानी, ​​​​आसपास के क्षेत्र के विकास में निजी निवेश को आकर्षित करने की क्षमता तथा मनोवांछित संचालन एवं रखरखाव आदि सुनिश्चित करने के लिये किये गए प्रयासों सहित सर्वोत्तम तौर-तरीकों को प्रदर्शित करेंगे। पर्यटन मंत्रालय ने सबसे पहले निम्नलिखित श्रेणियों- सर्वश्रेष्ठ टूरिस्ट इंटरप्रिटेशन सेंटर, सर्वश्रेष्ठ लॉग हट सुविधा, सर्वश्रेष्ठ एमआईसीई सुविधा, सर्वश्रेष्ठ कैफेटेरिया, सर्वश्रेष्ठ क्राफ्ट हाट/स्मारिका शॉप की सुविधा, सर्वश्रेष्ठ साउंड एंड लाइट शो, सर्वश्रेष्ठ तट विकास (समुद्र तट/नदी/झील) आदि के तहत प्रविष्टियाँ आमंत्रित करने का निर्णय लिया है। पर्यटन मंत्रालय ने अपनी प्रमुख योजना 'स्वदेश दर्शन' के तहत भारत के 31 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में 5500 करोड़ रुपए से अधिक की 76 परियोजनाओं को मंजूरी दी है। इस योजना के तहत 500 से अधिक पर्यटन स्थलों पर पर्यटन संबंधी बुनियादी सुविधाओं का विकास किया गया है।

मानवरहित सबमर्सिबल 'हायदू-1'

चीन के मानवरहित सबमर्सिबल 'हायदू-1' ने दुनिया के सबसे गहरे समुद्र बिंदु- ‘मारियाना ट्रेंच’ पर 10,907 मीटर की गहराई तक गोता लगाकर नया कीर्तिमान स्थापित किया है। चीन के इस अभियान के दौरान भूगर्भीय वातावरण की हाई-डेफिनिशन तस्वीरें और गहरे समुद्र से नमूने एकत्र किये गए। इस अभियान के दौरान मानवरहित सबमर्सिबल 'हायदू-1' कुल चार बार मारियाना ट्रेंच में 10,000 मीटर से अधिक नीचे तक गया। ज्ञात हो कि चीन ने पिछले कुछ वर्षों में समुद्र तल पर समृद्ध प्राकृतिक संसाधनों का पता लगाने के लिये गहरे समुद्र में प्रौद्योगिकी विकसित करने के अपने प्रयासों को तेज़ किया है। वर्ष 2011 में चीन ने 15 वर्षों के लिये हिंद महासागर में 10,000 किलोमीटर के पॉलीमेटेलिक सल्फाइड अन्वेषण क्षेत्र हेतु अंतर्राष्ट्रीय समुद्र तल प्राधिकरण’ के साथ समझौता किया था।

NIC Tech Conclave 2022 का आयोजन किया गया

संचार और आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने 3 मार्च, 2022 को नई दिल्ली में NIC Tech Conclave 2022 के तीसरे संस्करण का उद्घाटन किया। NIC Tech Conclave दो दिवसीय कार्यक्रम है। इसका आयोजन राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) द्वारा किया गया। इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि थे। इस कार्यक्रम में इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव और केंद्र व राज्य सरकारों के अन्य गणमान्य व्यक्ति शामिल थे। NIC ई-गवर्नेंस में लागू उभरती प्रौद्योगिकियों पर ध्यान केंद्रित करके टेक कॉन्क्लेव का आयोजन करता रहा है एनआईसी टेक कॉन्क्लेव 2022 की थीम “Next-Gen Technologies for Digital Government” है। यह कॉन्क्लेव सरकारी मंत्रालयों और विभागों के आईटी प्रबंधकों को नवीनतम ICT प्रौद्योगिकियों और नवीनतम तकनीकों और उद्योग की सर्वोत्तम प्रथाओं पर उनके उपयोग के मामलों के बारे में भी समृद्ध करेगा। यह राज्य सरकारों के आईटी सचिवों के लिए नई तकनीकों और अनुप्रयोगों को बेहतर तरीके से जानने के लिए एक मंच के रूप में कार्य करेगा, ताकि राज्यों में इसे लागू किया जा सके।

YouTube क्रिएटर्स ने भारत की GDP में 6800 करोड़ रुपये का योगदान दिया

YouTube के बढ़ते क्रिएटर इकोसिस्टम ने भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 6,800 करोड़ रुपये का योगदान दिया है और 2020 में देश में 6,83,900 पूर्णकालिक समकक्ष नौकरियों का समर्थन किया है। यह बयान ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स द्वारा जारी की गई एक स्वतंत्र रिपोर्ट में दिया गया है। YouTube पर 1,00,000 से अधिक सब्सक्राइबर्स के साथ भारतीय चैनलों की संख्या 40,000 थी, जो वर्ष दर वर्ष वृद्धि में 45 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व करती है। इस रिपोर्ट के अनुसार, YouTube पर उत्पन्न राजस्व के अलावा, मंच पर एक निर्माता की उपस्थिति से उन्हें वैश्विक प्रशंसक आधार हासिल करने, सीमाओं को आगे बढ़ाने और ब्रांड साझेदारी इत्यादि के माध्यम से कई राजस्व धाराओं का पता लगाने में मदद मिल सकती है। यह अपनी तरह की पहली रिपोर्ट है जो देश की अर्थव्यवस्था में इसके योगदान के साथ-साथ सोशल मीडिया के इस पहलू से संबंधित है।

स्विस एयरलाइन्स बनेगी सौर ईंधन का उपयोग करने वाली पहली एयरलाइन

लुफ्थांसा की सहायक कंपनी स्विस एयर लाइन्स (Swiss Air Lines) सौर ईंधन का उपयोग करने वाली दुनिया की पहली एयरलाइन बनने की योजना बना रही है। लुफ्थांसा और स्विस ने बाजार में लॉन्च के लिए निर्माता सिनहेलियन (Synhelion) के साथ रणनीतिक सहयोग शुरू किया है। इस साल जर्मनी के नॉर्थ-राइन वेस्टफेलिया राज्य के जुलिच में औद्योगिक उत्पादन के लिए पहला प्लांट बनाया जायेगा। 2023 में ‘स्विस’ इसका पहला ग्राहक होगा। इस सौदे के तहत, लुफ्थांसा समूह और ‘स्विस’ स्पेन में वाणिज्यिक ईंधन उत्पादन सुविधाओं को विकसित करने में मदद करेंगे जिनकी योजना Synhelion द्वारा बनाई गई है। स्विट्ज़रलैंड में स्विस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से स्पिनऑफ, सिन्हेलियन द्वारा अक्षय ऊर्जा स्रोतों से सतत विमानन ईंधन (SAF) के उत्पादन के लिए प्रौद्योगिकी विकसित की गई है। Syngas (synthesis gas) केंद्रित सौर ताप द्वारा निर्मित होती है, जिसे बाद में मिट्टी के तेल में परिवर्तित किया जा सकता है। एयरलाइन के अनुसार, जब सौर ईंधन का दहन किया जाता है, तो यह केवल उतना ही कार्बन डाइऑक्साइड का उत्पादन करेगा जितना इसे बनाने में किया गया था, जिससे विमानन उत्सर्जन को कम करने में मदद मिली।

सभी वक्फ संपत्तियों को जियोटैग करने के लिए लंबे समय से विलंबित परियोजना की समय सीमा को संशोधित किया

केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय ने मार्च 2022 से नवंबर 2023 तक पूरे भारत में सभी वक्फ संपत्तियों को जियोटैग करने के लिए लंबे समय से विलंबित परियोजना की समय सीमा को संशोधित किया है। इस परियोजना की शुरुआत 2017 में ‘कौमी वक्फ बोर्ड तरक्कियाती योजना’ के तहत की गई थी। केंद्रीय वक्फ परिषद, नई दिल्ली इस योजना के कार्यान्वयन के लिए नोडल एजेंसी है। पूर्व में संसदीय स्थायी समिति की सिफारिशों के आधार पर इस योजना की परिकल्पना की गई थी। इस योजना के तहत, सरकार वक्फ बोर्डों के तहत अचल संपत्तियों का उचित उपयोग और मुद्रीकरण सुनिश्चित करने के लिए उनका नक्शा बनाना चाहती थी। इस कदम का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना भी है कि ये संपत्तियां अतिक्रमणों और अन्य प्रतिस्वामित्व दावों से सुरक्षित रहे। अनुमान के मुताबिक, छह लाख से ज्यादा वक्फ संपत्तियां हैं। इसमें से 2 लाख संपत्तियों को पिछले पांच साल में जियोटैग किया गया है। प्रक्रिया को तेज करने के लिए, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त निकाय ‘सेंट्रल वक्फ काउंसिल’ ने GIS या GPS सर्वेक्षण करने के लिए और अधिक एजेंसियों को सूचीबद्ध करने के लिए 21 मार्च तक बोली लगाने का आह्वान किया। 2 मार्च 2022 को प्री-बिड मीटिंग बुलाई गई थी।

State of India’s Environment Report 2022 जारी की गई

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने Centre for Science and Environment की State of India’s Environment Report, 2022 जारी की। इस रिपोर्ट के अनुसार, 11 SDG में शून्य भूख, अच्छा स्वास्थ्य और भलाई, लैंगिक समानता और सतत शहरों और समुदायों जैसी चुनौतियों के कारण भारत की रैंकिंग फिसल गई है। भारत ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और जमीन पर जीवन की गुणवत्ता के मामले में भी खराब प्रदर्शन किया। भारत ने पिछले वर्ष भूख को समाप्त करने और खाद्य सुरक्षा हासिल करने, लैंगिक समानता हासिल करने और लचीला बुनियादी ढांचा बनाने, समावेशी और टिकाऊ औद्योगीकरण को बढ़ावा देने और नवाचार को बढ़ावा देने के लिए संघर्ष किया। 2015 में 192 संयुक्त राष्ट्र सदस्य देशों द्वारा 2030 एजेंडा के हिस्से के रूप में अपनाए गए 17 सतत विकास लक्ष्यों पर, भारत पिछले साल की 117 की रैंकिंग से तीन स्थान गिरकर 120 पर पहुँच गया है। ताजा रैंकिंग के अनुसार, पाकिस्तान को छोड़कर भारत अन्य सभी दक्षिण एशियाई देशों से पिछड़ गया है, जो 129वें स्थान पर है। दक्षिण एशियाई देशों में भूटान 75वें, श्रीलंका 87वें, नेपाल 96वें और बांग्लादेश 109वें स्थान पर है। भारत का समग्र सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) स्कोर 100 में से 66 था।

केंद्र सरकार ने पॉलिएस्टर राष्ट्रीय ध्वज के निर्माण और आयात के लिए अनुमति दी

भारत सरकार ने पॉलिएस्टर के मशीन से बने राष्ट्रीय ध्वज के आयात और निर्माण की अनुमति दी है। इस उद्देश्य के लिए 2002 के भारतीय ध्वज संहिता (2002 Flag Code of India) में संशोधन किया गया है। पहले के नियमों में केवल उन झंडों की अनुमति थी जो केवल हाथ से काते और बुने हुए ऊन, कपास, या रेशम खादी से बनाए गए थे, जबकि मशीन से बने झंडे के आयात पर 2019 में प्रतिबंध लगा दिया गया था। भारतीय ध्वज संहिता, 2002 को 26 जनवरी, 2002 को लागू किया गया था। भारतीय ध्वज संहिता तीन खंडों में विभाजित की गई है। भाग 1 में राष्ट्रीय ध्वज के सामान्य विवरण शामिल हैं, जबकि भाग 2 निजी और सार्वजनिक संगठनों द्वारा राष्ट्रीय ध्वज के प्रदर्शन से संबंधित है, और भाग 3 राज्य और केंद्र सरकारों और उनकी एजेंसियों द्वारा राष्ट्रीय ध्वज के प्रदर्शन से संबंधित है।

कचरा मुक्त शहरों के लिए सामाजिक उद्यमों पर राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया

3 मार्च 2022 को, कचरा मुक्त शहरों के लिए सामाजिक उद्यमों पर एक राष्ट्रीय सम्मेलन रायपुर में आयोजित किया गया। इस मिशन की क्षमता निर्माण पहल के हिस्से के रूप में, यह आयोजन शहरी स्थानीय निकायों (ULBs) और राज्यों के लिए विभिन्न विकेन्द्रीकृत और केंद्रीकृत अपशिष्ट प्रबंधन प्रथाओं पर सीखने के लिए एक मंच के रूप में काम करेगा। इस कार्यक्रम के दौरान स्वच्छ भारत मिशन-शहरी 2.0 के तहत “कचरा मुक्त शहरों के लिए राष्ट्रीय क्षमता निर्माण ढांचा” भी लॉन्च किया जाएगा। यह ढांचा राष्ट्र के शहरी स्वच्छता क्षेत्र को मजबूत करने के लिए हितधारकों की क्षमताओं का निर्माण करने में मदद करेगा। इस आयोजन में 17 राज्यों और शहरी स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों के भाग लेने की उम्मीद है। इस कार्यक्रम की शुरुआत प्रतिभागियों और NCC कैडेटों के साथ महानदी के तट पर एक जमीनी सफाई अभियान में भाग लेने के साथ होगी। प्रतिभागी पाटन में सॉलिड लिक्विड रिसोर्स मैनेजमेंट (SLRM) केंद्र का भी दौरा करेंगे। घरेलू कचरे को एकत्र किया जाता है और SLRM केंद्र में लाया जाता है, जहां अकार्बनिक (सूखा / गैर-बायोडिग्रेडेबल) भागों को पुनर्चक्रण, प्रसंस्करण और मूल्य वसूली के लिए कई उपश्रेणियों में विभाजित किया जाता है। प्रतिभागी सूखे कचरे में से कुछ को आगे के अंशों में छाँटेंगे ताकि बाद में निपटान में आसानी और अधिकतम अपशिष्ट मूल्य वसूली के लिए उन्हें कई छंटाई और अलगाव की आवश्यकता के बारे में जागरूक किया जा सके। प्रतिभागी रायपुर में एक वर्मी कंपोस्टिंग केंद्र और एकीकृत ठोस अपशिष्ट प्रबंधन सुविधा का भी दौरा करेंगे और उन्हें अलग किए गए गीले कचरे के वैज्ञानिक, मूल्य वर्धित प्रसंस्करण को खाद में दिखाया जाएगा। इस आयोजन में, देश भर से विभिन्न महिलाओं के नेतृत्व वाले अपशिष्ट प्रबंधन पहलों पर प्रस्तुतियाँ होंगी। इस कार्यक्रम का विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और ऑनलाइन चैनलों पर लाइव वेबकास्ट भी किया जाएगा ताकि शहर वर्चुअली भाग ले सकें।

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की स्थापना को चिह्नित करने के लिये प्रतिवर्ष 4 मार्च को राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस मनाया जाता है। इस दिवस का प्राथमिक उद्देश्य दुर्घटनाओं और किसी अन्य आपात परिस्थिति को रोकने के लिये आवश्यक सुरक्षा उपायों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के स्थापना दिवस पर पहली बार वर्ष 1972 में राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस मनाया गया था। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद, राष्ट्रीय स्तर पर एक गैर-लाभकारी, स्व-वित्तपोषित, त्रिपक्षीय निकाय है। इसे श्रम एवं रोज़गार मंत्रालय द्वारा 4 मार्च, 1965 को सुरक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण पर एक स्वैच्छिक आंदोलन शुरू करने के लिये स्थापित किया गया था। यह एक स्वायत्त निकाय है। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद का उद्देश्य समाज की रक्षा एवं सुरक्षा सुनिश्चित करना तथा लोगों में एक निवारक संस्कृति तथा वैज्ञानिक मानसिकता को बढ़ावा देना है। गौरतलब है कि प्रतिवर्ष सड़क दुर्घटनाओं के कारण देश में 1.50 लाख से अधिक लोगों की मृत्यु होती है और इससे भी अधिक संख्या में लोग शारीरिक रूप से अक्षम हो जाते हैं, जिसके कारण पीड़ित परिवारों के साथ-साथ संपूर्ण देश को भारी क्षति का सामना करना पड़ता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनरल एस एफ रॉड्रिक्स के निधन पर दुख व्यक्त किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनरल एस एफ रॉड्रिक्स के निधन पर दुख व्यक्त किया है। साल 1990 से 1993 तक भारतीय सेना का नेतृत्व करने वाले और 2004 से 2010 के बीच पंजाब के राज्यपाल के रूप में काम करने वाले पूर्व सेना प्रमुख रिटायर्ड जनरल एसएफ रोड्रिग्स का निधन हो गया। पूर्व सेना प्रमुख रिटायर्ड जनरल एसएफ रोड्रिग्स 88 वर्ष के थे। रिटायर्ड जनरल एसएफ रोड्रिग्स ने 1990 से 1993 तक भारतीय सेना का नेतृत्व किया था। अपने 40 साल के शानदार सफर में उन्होंने भारतीय सेना के अलावा, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार बोर्ड में दो कार्यकालों की सेवा की और 2004 से 2010 तक पंजाब के राज्यपाल भी रहे।

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज लेग स्पिनर शेन वॉर्न का निधन

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज लेग स्पिनर शेन वॉर्न का 52 साल की उम्र में निधन हो गया। फॉक्स न्यूज के मुताबिक उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई है। वॉर्न ने शुक्रवार सुबह ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज रॉड मार्श के निधन पर ट्वीट किया था। इसमें उन्होंने मार्श के निधन पर दुख जताया था। यह उनके जीवन का आखिरी ट्वीट साबित हुआ। शेन वॉर्न टेस्ट क्रिकेट में 600 और 700 विकेट के माइलस्टोन तक पहुंचने वाले दुनिया के पहले गेंदबाज बने थे। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 2005 में ओल्ड ट्रैफर्ड टेस्ट में 600 विकेट पूरे किए थे। 2006 में इंग्लैंड के ही खिलाफ मेलबर्न में वॉर्न ने 700 विकेट का आंकड़ा भी पार कर लिया। बाद में श्रीलंका के दिग्गज ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने उनका रिकॉर्ड तोड़ा। मुरली ने 800 विकेट लिए। वॉर्न आज भी सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले लेग स्पिनर हैं। 619 विकेट के साथ भारत के अनिल कुंबले दूसरे नंबर पर हैं। शेन वॉर्न IPL टाइटल जीतने वाले पहले कप्तान बने थे। 2008 में उन्होंने अपनी कप्तानी में राजस्थान रॉयल्स को खिताब दिलाया था। शेन वॉर्न वनडे क्रिकेट में भी बेहद असरदार गेंदबाज रहे। 1999 वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया को चैंपियन बनाने में वॉर्न ने अहम भूमिका निभाई थी। वे इस टूर्नामेंट में ऑस्ट्रेलिया के दो सबसे अहम मैच सेमीफाइनल (विरुद्ध साउथ अफ्रीका) और फाइनल (विरुद्ध पाकिस्तान) में मैन ऑफ द मैच चुने गए थे। शेन वार्न का जन्म 13 सितम्बर, 1969 के विक्टोरिया में हुआ था। उन्होंने अपने एकदिवसीय करियर की शुरुआत 24 मार्च, 1993 को न्यूजीलैंड के विरुद्ध की थी। एकदिवसीय क्रिकेट में उन्होंने 194 मैचों में 293 विकेट लिए। उन्होंने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत 2 जनवरी, 1992 को भारत के विरुद्ध की थी। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 145 मैचों में रिकॉर्ड 708 विकेट लिए।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.