Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

5 June 2022

उत्तराखंड में भारत का पहला लिक्विड-मिरर टेलीस्कोप

हाल ही में उत्तराखंड में आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ ऑब्ज़र्वेशनल साइंसेज़ (ARIES), नैनीताल के स्वामित्व वाले देवस्थल वेधशाला परिसर ने अंतर्राष्ट्रीय लिक्विड-मिरर टेलीस्कोप (ILMT) की स्थापना की है। यह खगोल विज्ञान के लिये अधिकृत होने वाला विश्व का पहला लिक्विड-मिरर टेलीस्कोप (LMT) बन गया है और विश्व में कहीं भी परिचालन में आने वाला अपनी तरह का पहला है। हिमालय में 2,450 मीटर की ऊंँचाई से ILMT का उपयोग करके क्षुद्रग्रह, सुपरनोवा, अंतरिक्ष मलबे और अन्य सभी खगोलीय पिंडों को देखा जाएगा। पहले निर्मित टेलीस्कोप या तो उपग्रहों को ट्रैक करते थे या सैन्य उद्देश्यों के लिये तैनात किये जाते थे। ILMT देवस्थल में बनने वाली तीसरी दूरबीन सुविधा होगी। देवस्थल खगोलीय अवलोकन प्राप्त करने के लिये विश्व के मूल स्थलों में से एक है। देवस्थल ऑप्टिकल टेलीस्कोप (DOT) और देवस्थल फास्ट ऑप्टिकल टेलीस्कोप (DFOT) देवस्थल में अन्य दो टेलीस्कोप सुविधाएंँ हैं। अक्तूबर 2022 में ILMT का पूर्ण पैमाने पर वैज्ञानिक संचालन शुरू किया जाएगा। यह भारत के सबसे बड़े संचालित देवस्थल ऑप्टिकल टेलीस्कोप (DOT) के साथ काम करेगा। ILMT के विकास में शामिल देश भारत, बेल्जियम, कनाडा, पोलैंड और उज़्बेकिस्तान हैं।

इसरो अध्यक्ष ने नई अंतरिक्ष यान निर्माण सुविधा का उद्घाटन किया

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष डॉ एस सोमनाथ ने कर्नाटक औद्योगिक क्षेत्र विकास बोर्ड (केआईएडीबी) एयरोस्पेस पार्क में अनंत टेक्नोलॉजीज की अंतरिक्ष यान निर्माण इकाई का उद्घाटन किया। नई अत्याधुनिक अंतरिक्ष यान निर्माण सुविधा एक साथ चार बड़े अंतरिक्ष यान के संयोजन और परीक्षण का संचालन कर सकती है। यह भारत में अपनी तरह की पहली सुविधा है, 1992 में अपनी स्थापना के बाद से, अनंत टेक्नोलॉजीज ने इसरो द्वारा निर्मित / लॉन्च किए गए 89 उपग्रहों और 69 लॉन्च वाहनों के निर्माण में योगदान दिया है।

स्वदेश दर्शन योजना को नया रूप देते हुए इसका दूसरा चरण शुरू किया गया-पर्यटन सचिव

पर्यटन मंत्रालय ने पर्यटन क्षेत्र के सतत विकास और पर्यटकों में दायित्‍व भाव के संचार के उद्देश्‍य से एक राष्ट्रीय नीति बनाई है। मंत्रालय ने नई दिल्ली में संयुक्‍त पर्यावरण कार्यक्रम और भारत के दायित्‍वपूर्ण पर्यटन समाज -आरटीएसओआई के साथ मिलकर एक राष्ट्रीय शिखर सम्मेलन का आयोजन किया। इस अवसर पर पर्यटन मंत्रालय में सचिव अरविंद सिंह ने कहा कि पर्यटन मंत्रालय ने पर्यटकों को बेहतर अनुभव प्रदान करने के उद्देश्य से स्वदेश दर्शन योजना शुरू की थी और अब तक 76 परियोजनाओं को मंजूरी दी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि अब स्वदेश दर्शन योजना को नया रूप देते हुए इसका दूसरा चरण शुरू किया गया है। यह योजना पर्यावरण, सामाजिक-सांस्कृतिक और आर्थिक स्थिरता सहित सतत पर्यटन के सिद्धांत अपनाने को प्रोत्साहित करेगी।

पर्यटन मंत्रालय ने नेशनल स्ट्रैटजी फॉर सस्टेनेबिल टूरिज्म एंड रिस्पॉन्सिबिल ट्रैवलर अभियान का शुभारम्भ किया

पर्यटन मंत्रालय ने यूनाइटेड एन्वायरनमेंट प्रोग्राम (यूएनईपी) और रिस्पॉन्सिबिल टूरिज्म सोसायटी ऑफ इंडिया (आरटीएसओआई) के साथ भागीदारी में नई दिल्ली में नेशनल समिट ऑन डेवलपमेंट सस्टेनेबिल एंड रिस्पान्सिबिल टूरिस्ट डेस्टिनेशन का आयोजन किया। इस अवसर पर पर्यटन मंत्रालय ने नेशनल स्ट्रैटजी फॉर सस्टेनेबिल टूरिज्म एंड रिस्पॉन्सिबिल ट्रैवलर कैंपेन का शुभारम्भ किया। इस रणनीतिक दस्तावेज में पर्यावरण स्थायित्व को प्रोत्साहन, जैव विविधता को संरक्षण, आर्थिक स्थायित्व को प्रोत्साहन, सामाजिक सांस्कृतिक स्थायित्व को प्रोत्साहन, टिकाऊ पर्यटन, आईईसी और क्षमता विकास एवं शासन के प्रमाण की योजना के लिए रणनीतिक स्तंभों की पहचान की गई है।

डच फिल्म 'टर्न योर बॉडी टू द सन' ने जीता मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह 2022 में सर्वश्रेष्ठ वृत्तचित्र के लिए स्वर्ण शंख पुरस्कार

एक सोवियत युद्ध कैदी की अविश्वसनीय कहानी बताने वाली डच डॉक्यूमेंट्री फिल्म "टर्न योर बॉडी टू द सन" ने मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह 2022 में सर्वश्रेष्ठ वृत्तचित्र फिल्म के लिए प्रतिष्ठित स्वर्ण शंख पुरस्कार जीता है। महाराष्ट्र के राज्यपाल श्री भगत सिंह कोश्यारी ने सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री श्री एल मुरुगन और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में मुंबई के नेहरू सेंटर में आयोजित समापन समारोह में वृत्तचित्र, लघु कथा और एनिमेशन फिल्मों के लिए मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के शीर्ष पुरस्कार प्रदान किये। इस पुरस्कार में एक स्वर्ण शंख, एक प्रमाण पत्र और 10 लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है। शॉर्ट फिक्शन श्रेणी में, मलयाली फिल्म 'साक्षात्कारम' ने डेनमार्क के फरो आइलैंड्स के गुडमुंड हेल्म्सल की फिल्म 'ब्रदर टोल' के साथ रजत शंख पुरस्कार का साझा किया। सुदेश बालन की ‘साक्षात्कारम’ (मलयालम) दर्शकों को अपनी प्यारी पत्नी की मृत्यु का शोक मनाने वाले एक व्यक्ति के आंतरिक संघर्ष और मोक्ष की खोज की यात्रा में ले जाने के लिए प्रेरित करती है। फिरोज़ी भाषा की फिल्म 'ब्रदर टोल' अपने बड़े भाई के अचानक चले जाने के बाद अपने नाजुक रिश्ते को बचाने के लिए दो भाइयों के संघर्ष को दर्शाती है।

राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद गीता प्रेस गोरखपुर के शताब्दी समारोह में शामिल हुए

राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने 4 जून, 2022 को गोरखपुर में गीता प्रेस के शताब्दी समारोह में भाग लिया और वहां इस कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर राष्ट्रपति ने कहा कि गीता प्रेस ने अपने प्रकाशनों के माध्यम से भारत के आध्यात्मिक और सांस्कृतिक ज्ञान को जन-जन तक पहुंचाने में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि गीता प्रेस की स्थापना के पीछे का उद्देश्य गीता को शुद्ध रूप में सही अर्थ के साथ और कम कीमत पर जनता को उपलब्ध कराना था जो उस समय आसानी से उपलब्ध नहीं थी। उन्होंने कहा कि यह हम सभी के लिए बड़े गर्व की बात है कि कोलकाता से शुरू की गई एक छोटी सी पहल अब पूरे भारत में अपने काम के लिए जानी जाती है।

एनसीसी का पुनीत सागर अभियान 5 जून 2022 को संपन्न होगा

एनसीसी ने 30 मई 2022 को अपने देशव्यापी प्रमुख अभियान ‘पुनीत सागर अभियान’ का नवीनतम चरण शुरू किया है और यह अभियान 5 जून 2022, विश्व पर्यावरण दिवस, तक जारी रहेगा। इस अभियान के नवीनतम चरण में 10 राज्यों और 4 केन्द्र - शासित प्रदेशों के लगभग 74,000 कैडेट भाग लेंगे। इन एनसीसी कैडेटों के साथ देश भर में कई स्थानों पर एनसीसी के पूर्व छात्र, स्थानीय लोग और पर्यटक भी इस अभियान में जुड़ेंगे। इस अभियान के दौरान एकत्र किए गए कचरे को सरकार/निजी एजेंसियों के सहयोग से पर्यावरण के अनुकूल तरीके से निपटाया जाएगा। पुनीत सागर अभियान की शुरुआत एनसीसी द्वारा नदियों और झीलों सहित समुद्र तटों एवं अन्य जल निकायों में मौजूद प्लास्टिक तथा अन्य कचरे को साफ करने और समुद्र तटों एवं नदी के किनारों को साफ रखने के महत्व के बारे में स्थानीय आबादी के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए की गई थी।

आईएनएस निशंक और आईएनएस अक्षय को सेवामुक्त किया गया

भारतीय नौसेना के जहाजों निशंक और अक्षय को उनके द्वारा 32 वर्षों की शानदार सेवा प्रदान करने के बाद 03 जून, 2022 को सेवामुक्त कर दिया गया। इसका आयोजन नेवल डॉकयार्ड, मुंबई में एक पारंपरिक समारोह में किया गया, जिसमें सूर्यास्त के समय दोनों जहाजों से अंतिम बार राष्ट्रीय ध्वज, नौसैना का झंडा और डिकमीशनिंग पेनेंट को उतारा गया। आईएनएस निशंक को 12 सितंबर, 1989 को सेवा में शामिल किया गया था, जबकि आईएनएस अक्षय को एक वर्ष बाद 10 दिसंबर, 1990 को पोटी, जॉर्जिया में सेवा में रखा गया था। आईएनएस निशंक 22 मिसाइल वेसल स्क्वाड्रन और आईएनएस अक्षय 23 पेट्रोल वेसल स्क्वाड्रन का हिस्सा थे, जो फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग, महाराष्ट्र नौसेना क्षेत्र के परिचालन नियंत्रण में आते हैं।

चंडीगढ़ में भारतीय वायुसेना विरासत केन्द्र की स्थापना के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

पंजाब के माननीय राज्यपाल एवं केन्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक श्री बनवारीलाल पुरोहित और वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वी. आर. चौधरी चंडीगढ़ में भारतीय वायुसेना विरासत केन्द्र की स्थापना के लिए केन्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ तथा भारतीय वायुसेना के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर समारोह में शामिल हुए। इस विरासत केन्द्र में भारतीय वायुसेना के विभिन्न पहलुओं को उजागर करने के लिए कलाकृतियां, सिम्युलेटर और इंटरैक्टिव बोर्ड उपलब्ध होंगे। यह केन्द्र विभिन्न युद्धों और मानवीय सहायता एवं आपदा राहत के लिए प्रदान की गई सहायता में सेना द्वारा निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका को भी प्रदर्शित करेगा। केन्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ प्रशासन और भारतीय वायुसेना की इस संयुक्त परियोजना को अक्टूबर 2022 तक पूरा करने की योजना है।

केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री, डॉ. वीरेंद्र कुमार ने “श्रेष्ठ” योजना की शुरूआत की

केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार ने लक्षित क्षेत्रों के हाई स्‍कूल में पढ़ने वाले छात्रों के लिए आवासीय शिक्षा की योजनाश्रेष्ठ” की शुरूआत की। यह योजना अनुसूचित जाति के उन छात्रों के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगी जिनकी उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा तक पहुंच अब तक नहीं हो सकी है। यह पहल उनके जीवन को बेतहर बनाने की दिशा में एक बड़ा बदलाव लेकर आएगी। लक्षित क्षेत्रों के उच्च विद्यालयों में छात्रों के लिए आवासीय शिक्षा की योजना (श्रेष्ठ) का निर्माण, संवैधानिक अधिदेश के अनुसार, अनुसूचित जाति के गरीब छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से किया गया है।

पोसोको ने आईएमडी के साथ बेहतर विद्युत ग्रिड प्रबंधन के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

राष्ट्रीय ग्रिड परिचालक पोसोको ने भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इसके तहत दोनों पक्षों ने इस पर अपनी सहमति व्यक्त की है कि आईएमडी द्वारा उपलब्ध कराई गई मौसम की जानकारी का उपयोग पूरे भारत में विद्युत प्रणाली संचालकों की ओर से भारतीय विद्युत प्रणाली के बेहतर प्रबंधन और विश्लेषण के उद्देश्य से किया जाएगा। पोसोको के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक (सीएमडी) श्री एस आर नरसिम्हन और आईएमडी के महानिदेशक (डीजी) डॉ. मृत्युंजय महापात्रा ने पोसोको के एनआरएलडीसी में इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस समझौता ज्ञापन के तहत आईएमडी चालू मौसम की जानकारी हर घंटे या इससे कम अंतराल पर उपलब्ध कराएगा। यह चिन्हित स्टेशनों के लिए अगले 36 घंटों तक का तापमान, आर्द्रता, हवा की गति, हवा की दिशा और वर्षा का मौसम पूर्वानुमान प्रदान करेगा। इसके अलावा यह पहाड़ी राज्यों और पहाड़ी इलाकों से गुजरने वाली महत्वपूर्ण पारेषण (ट्रांसमिशन) लाइनों के मार्ग के लिए हिमपात पूर्वानुमान भी प्रदान करेगा। वहीं, यह नवीकरणीय ऊर्जा संयंत्रों के स्थानों पर मौसम संबंधी पूर्वानुमान प्रदान करेगा। इससे पहले पोसोको और आईएमडी के बीच अंतिम समझौता ज्ञापन पर 18 मई, 2015 को हस्ताक्षर किए गए थे। पावर सिस्टम ऑपरेशन कारपोरेशन (पोसोको) विद्युत मंत्रालय के तहत भारत सरकार की एक पूर्ण स्वामित्व वाली अनुसूची ए उद्यम है।

ड्रैगनफ्लाई 'प्लैटिगोम्फस बेनरिटेरम' की एक नई प्रजाति का नाम पूर्वोत्तर में दो महिलाओं द्वारा किये गए अग्रणी कार्यों के लिये उनके नाम पर रखा गया

हाल ही में असम में खोजी गई ड्रैगनफ्लाई 'प्लैटिगोम्फस बेनरिटेरम' की एक नई प्रजाति का नाम पूर्वोत्तर में दो महिलाओं द्वारा किये गए अग्रणी कार्यों के लिये उनके नाम पर रखा गया है। इसका नाम नॉर्थ ईस्ट नेटवर्क (NEN) की संस्थापक सदस्य मोनिशा बहल और ग्रीन हब की संस्थापक रीता बनर्जी के नाम पर रखा गया है। यह प्रजाति, जो एक एकल नर है, जून 2020 में असम में ब्रह्मपुत्र के तट के पास दो शोधकर्त्ताओं द्वारा खोजी गई थी। खोजा गया नर अपने चमकदार पंखों और पेट के आधार पर अलग (नया) प्रजाति का प्रतीत होता है। इसकी नीली आँखें हैं और गहरे भूरे रंग का चेहरा किनारों पर बालों से ढका हुआ है, जो ब्रह्मपुत्र के तट से लगभग 5-6 मीटर की दूरी पर एक बड़े पेड़ पर आराम करते हुए पाया गया था। इसका निवास स्थान नदी तट के किनारे है जहाँ घास, विरल पेड़, धान के खेत और दलदली भूमि का प्रभुत्व है, साथ ही कुछ वन पैच और वृक्षारोपण वाले क्षेत्र में भी है। ड्रैगनफ्लाईज़ और डेम्फ्लाईज़ कीड़ों के क्रम ओडोनाटा से संबंधित हैं।

एचडीएफसी और एक्सेंचर का डिजिटल परिवर्तन के लिए समझौता

एनबीएफसी दिग्गज, एचडीएफसी ने वैश्विक सूचना प्रौद्योगिकी सेवाओं और परामर्श फर्म, एक्सेंचर के साथ अपने ऋण व्यवसाय को डिजिटल रूप से बदलने के लिए सहयोग की घोषणा की है। यह गठजोड़ एचडीएफसी के ग्राहक अनुभव और व्यावसायिक प्रक्रियाओं में सुधार करेगा ताकि अधिक परिचालन क्षमता और दक्षता प्रदान की जा सके और व्यवसाय के विकास को गति दी जा सके।

मेघालय ने संयुक्त राष्ट्र विश्व शिखर सम्मेलन में सर्वश्रेष्ठ परियोजना पुरस्कार जीता

मेघालय सरकार की ई-प्रस्ताव प्रणाली की प्रमुख पहल, मेघालय एंटरप्राइज आर्किटेक्ट के हिस्से ने स्विट्जरलैंड के जिनेवा में एक प्रतिष्ठित यूएन अवार्ड- वर्ल्ड समिट ऑन द इंफॉर्मेशन सोसाइटी फोरम (डब्ल्यूएसआईएस) पुरस्कार जीता है। ITU के महासचिव, हौलिन झाओ ने जिनेवा, स्विट्जरलैंड में आयोजित WSIS फोरम पुरस्कार 2022 में मुख्यमंत्री कोनराड के संगमा को विजेता पुरस्कार प्रदान किया। इसके बाद जिनेवा, स्विट्जरलैंड में अंतिम पुरस्कार के लिए आमंत्रित किए गए सर्वश्रेष्ठ 90 परियोजनाओं का चयन करने के लिए मतदान हुआ।

तमिलनाडु सरकार का आईपीपीबी के साथ डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र के लिए समझौता

तमिलनाडु सरकार ने डाक विभाग की घर-घर सेवाओं के माध्यम से पेंशनभोगियों से जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। आईपीपीबी इसे 70 रुपये प्रति डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र की कीमत पर घर-घर सेवाओं तक पहुंचाएगा। लगभग 7.15 लाख राज्य सरकार के पेंशनभोगी/पारिवारिक पेंशनभोगी हर साल जुलाई, अगस्त और सितंबर के दौरान अपना जीवन प्रमाण पत्र जमा करते हैं।

दिल्ली सरकार कॉलोनियों और सड़कों का नाम बाबासाहेब अंबेडकर के नाम पर रखेगी

'हरिजन' शब्द के इस्तेमाल के खिलाफ सलाह देने वाली केंद्र सरकार की गाइडलाइन का पालन करते हुए, दिल्ली सरकार कॉलोनियों और गलियों के नाम से 'हरिजन' शब्द की जगह उनका नाम बाबासाहेब अम्बेडकर के नाम पर रखने की तैयारी में है। इसी क्रम में, समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने दिल्ली सरकार की सभी सड़कों और कॉलोनियों का नाम ‘हरिजन’ से बदलकर डॉक्टर अंबेडकर के नाम पर करने प्रस्ताव पेश किया है।

भारतीय अमेरिकी हरिनी लोगन ने 2022 स्क्रिप्स नेशनल स्पेलिंग बी जीती

हरिनी लोगन को पहले स्क्रिप्स नेशनल स्पेलिंग बी से बाहर कर दिया गया था, लेकिन बाद में उन्हें इस प्रतियोगिता में दोबारा शामिल कर लिया गया । विक्रम राजू के खिलाफ जबरदस्त टक्कर में वह चार शब्दों से चूक गई, जिसमें एक ऐसा शब्द भी था जो उन्हें खिताब दिला सकता था । पहले कड़े टाईब्रेकर मुकाबले में हरिनी ने आखिरकार यह खिताब हासिल कर लिया। सैन एंटोनियो, टेक्सास से आठवी कक्षा की 13 वर्षीय छात्रा ने 90-सेकंड के स्पेल-ऑफ के दौरान 21 शब्दों की स्पेल्लिंग व अर्थ सही-सही बताया और विक्रम राजू को छह अंक से हराया।

पोलैंड की इगा स्वियातेक ने फ्रेंच ओपन महिला सिंगल्स का खिताब जीता

पोलैंड की इगा स्वियातेक ने फ्रेंच ओपन महिला सिंगल्स का खिताब जीत लिया है। फाइनल मुकाबले में स्वियातेक ने एकतरफा जीत हासिल की। उन्होंने अमेरिका की कोको गॉफ को 6-1, 6-3 से हराया। 18 साल की कोको गॉफ का यह पहला ग्रैंड स्लैम फाइनल मुकाबला था। 21 साल की इगा स्वियातेक ने दूसरी बार फ्रेंच ओपन का खिताब जीता। उन्होंने इससे पहले 2020 में महिला सिंगल्स का फाइनल जीता था। इसके अलावा उन्होंने कोई ग्रैंड स्लैम का खिताब नहीं जीता है। यह उनकी लगातार 35वीं जीत भी है। उनका यह लगातार छठा खिताब है। उन्होंने लगातार 35 मैच जीतने के वीनस विलियम्स के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर ली है।

हरियाणा में खेलो इंडिया युवा खेल शुरू

चौथे खेलो इण्डिया युवा खेलों का हरियाणा में शुभारंभ हुआ। गृह मंत्री अमित शाह खेलों केे शुभारंभ की घोषणा की। उद्घाटन समारोह में युवा मामले और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर, हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल और हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह भी उपस्थित थे। इस खेल महोत्‍सव के अंतर्गत पंचकुला, अम्‍बाला, शाहबाद, चण्‍डीगढ और दिल्‍ली में 25 खेलों की प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। विभिन्‍न राज्‍यों से कुल मिलाकर साढे आठ हजार खिलाडी भाग लेंगे, जिनमें से 528 हरियाणा से हैं।

सत्येंद्रनाथ बोस

गूगल ने 4 जून, 2022 को प्रसिद्ध भारतीय गणितज्ञ और भौतिक विज्ञानी सत्येंद्रनाथ बोस को भौतिकी और गणित के क्षेत्र में उनके असाधारण योगदान के लिये विशेष डूडल के साथ श्रद्धांजलि दी। सत्येंद्रनाथ बोस का जन्म 1 जनवरी, 1894 को हुआ था, बोसॉन एक उप-परमाण्विक कण (Subatomic Particles) है जिसका नाम सत्येंद्रनाथ बोस के नाम पर पड़ा था। वे भारतीय मैथेमैटिशियन और ओरिटिकल फिजिक्स में वैज्ञानिक थे। बोस की भौतिकी, गणित, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, खनिज विज्ञान, दर्शन, कला, साहित्य और संगीत सहित विभिन्न क्षेत्रों में व्यापक रुचि थी। उन्हें 1920 के दशक में क्वांटम मैकेनिक्स के क्षेत्र में उनके द्वारा दिये गए योगदान के लिये भी याद किया जाता है।उन्होंने बोस स्टैटिस्टिक्स और बोस कंडेंसेट की स्थापना की थी। बोस तथा आइंस्टीन ने मिलकर बोस-आइंस्टीन स्टैटिस्टिक्स की खोज की। 1924 में बोस ने शास्त्रीय भौतिकी के संदर्भ के बिना प्लैंक के क्वांटम विकिरण नियम पर एक पेपर लिखा। उन्हें भारत सरकार द्वारा 1954 में पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

आक्रामकता के शिकार मासूम बच्चों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

हर साल 4 जून को, संयुक्त राष्ट्र (यूएन) दुनिया भर में शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक शोषण के शिकार बच्चों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए आक्रामकता के शिकार मासूम बच्चों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाता है। इस दिन, संयुक्त राष्ट्र बच्चों के अधिकारों के संरक्षण के लिए अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है। आक्रमण के शिकार मासूम बच्चों का पहला अंतर्राष्ट्रीय दिवस 19 अगस्त, 1982 को मनाया गया।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.