Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

13 November 2022

भारत और कंबोडिया ने संस्कृति, वन्य जीवन और स्वास्थ्य के क्षेत्रों में चार समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए

भारत और कंबोडिया ने संस्‍कृति, वन्‍यजीव और स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्रों में चार सहमति-ज्ञापनों पर हस्‍ताक्षर किए। उपराष्‍ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कंबोडिया के नोम पेन्‍ह में चल रहे आसियान शिखर सम्‍मेलन से अलग वहां के प्रधानमंत्री हुन सेन के साथ द्विपक्षीय बैठक की। बैठक के दौरान मानव संसाधन, विस्‍फोटक खदानों को हटाने और विकास परियोजनाओं सहित आपसी संबंधों पर व्‍यापक विचार-विमर्श किया गया। पहला समझौता स्‍वास्‍थ्‍य और चिकित्‍सा के क्षेत्र में है जो भारत के स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय और कंबोडिया के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के बीच हुआ। कंबोडिया में बाघों को फिर बसाने के संबंध में भारत के पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय और कंबोडिया के पर्यावरण मंत्रालय के बीच समझौता हुआ। इससे दोनों देशों के बीच जैवविविधता संरक्षण और सतत वन्‍यजीव प्रबंधन में सहयोग बढ़ेगा। आईआईटी जोधपुर और कंबोडिया के प्रौद्योगिकी संस्‍थान के बीच सांस्‍कृतिक विरासत के डिजिटल प्रलेखन के लिए अनुसंधान, विकास और प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग के क्षेत्र में समझौता हुआ। कंबोडिया के सिएम रीप में वाट राजा बो पैगोड़ा पेंटिंग्‍स के संरक्षण के लिए वित्‍तपोषण समझौते पर हस्‍ताक्षर किए गए।

उपराष्ट्रपति ने कंबोडिया में 19वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया

कंबोडिया के तीन दिवसीय दौरे पर गए उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ ने कंबोडिया के नोम पेन्ह में 19वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर सहित भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया। शिखर सम्मेलन में, आसियान और भारत ने व्यापक रणनीतिक साझेदारी के लिए मौजूदा रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने की घोषणा करते हुए एक संयुक्त बयान जारी किया। दोनों पक्षों ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में शांति, स्थिरता, समुद्री सुरक्षा और नेविगेशन की स्वतंत्रता और ओवरफ्लाइट को बनाए रखने और बढ़ावा देने के महत्व की पुष्टि की। श्री धनखड़ ने नोम पेन्ह में राष्ट्रीय संग्रहालय का दौरा किया और खमेर कला के कार्यों को देखा।

प्रधानमंत्री ने तेलंगाना के रामागुंडम में 9500 करोड़ रुपये से अधिक की कई परियोजनाओं का शिलान्यास किया और राष्ट्र को समर्पित किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने तेलंगाना के रामागुंडम में 9500 करोड़ रुपये से अधिक की कई परियोजनाओं का शिलान्यास किया और उन्हें राष्ट्र को समर्पित किया। इससे पहले प्रधानमंत्री ने रामागुंडम फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड (आरएफसीएल) संयंत्र का दौरा किया। प्रधानमंत्री ने रामागुंडम में उर्वरक संयंत्र राष्ट्र को समर्पित किया जिसकी रामागुंडम परियोजना की आधारशिला भी 7 अगस्त 2016 को प्रधानमंत्री द्वारा रखी गई थी। रामागुंडम संयंत्र स्वदेशी नीम-कोटेड यूरिया का 12.7 एलएमटी उत्पादन प्रति वर्ष उपलब्ध कराएगा। ये परियोजना रामागुंडम फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड (आरएफसीएल) के तत्वावधान में स्थापित की गई है, जो कि नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (एनएफएल), इंजीनियर्स इंडिया लिमिटेड (ईआईएल) और फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एफसीआईएल) की एक संयुक्त उद्यम कंपनी है। आरएफसीएल को 6300 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश से नया अमोनिया-यूरिया संयंत्र स्थापित करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। आरएफसीएल संयंत्र को गैस की आपूर्ति जगदीशपुर-फूलपुर-हल्दिया पाइपलाइन के माध्यम से की जाएगी। ये संयंत्र तेलंगाना राज्य के साथ-साथ आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में किसानों को यूरिया उर्वरक की पर्याप्त और समयबद्ध आपूर्ति सुनिश्चित करेगा। प्रधानमंत्री ने लगभग 1000 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित भद्राचलम रोड-सत्तुपल्ली रेल लाइन भी राष्ट्र को समर्पित की। उन्होंने 2200 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न सड़क परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी। ये परियोजनाएं हैं: - एनएच-765डीजी का मेडक-सिद्दीपेट-एलकाठुर्ति खंड; एनएच-161बीबी का बोधन-बसर-भैंसा खंड; एनएच-353सी का सिरोंचा से महादेवपुर खंड।

प्रधानमंत्री ने विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश में 10,500 करोड़ रुपये से अधिक कीमत की अनेक परियोजनाओं का शिलान्यास किया और उन्हें राष्ट्र को समर्पित किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश में 10,500 करोड़ रुपये से अधिक कीमत की अनेक परियोजनाओं का शिलान्यास किया और उन्हें राष्ट्र को समर्पित किया। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने विशाखापत्तनम रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास के लिए आधारशिला रखी। यह कार्य लगभग 450 करोड़ रुपये की लागत से किया जायेगा। पुनर्विकिसत स्टेशन में प्रतिदिन 75,000 यात्रियों की सेवा करने की क्षमता बढ़ेगी तथा आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध होने से यात्रियों का अनुभव बेहतर होगा। प्रधानमंत्री ने विशाखापत्तनम मछली-बंदरगाह के उन्नयन और आधुनिकीकरण के लिए भी आधारशिला रखी। इस परियोजना की कुल लागत लगभग 150 करोड़ रुपये है। उन्नयन और आधुनिकीकरण के बाद मछली-बंदरगाह की कामकाजी क्षमता 150 टन प्रतिदिन से बढ़कर लगभग 300 टन प्रतिदिन हो जायेगी। प्रधानमंत्री ने छह लेन वाले ग्रीनफील्ड रायपुर-विशाखापत्तनम आर्थिक कॉरिडोर के आंध्रप्रदेश सेक्शन की आधारशिला भी रखी। इसका निर्माण 3750 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से होगा। आर्थिक कॉरिडोर छत्तीसगढ़ एवं ओडिशा से विशाखापत्तनम बंदरगाह और चेन्नई-कोलकाता राष्ट्रीय राजमार्ग के औद्योगिक केंद्रों के बीच तेज कनेक्टीविटी उपलब्ध करायेगा। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय राजमार्ग 326ए के नरसन्नापेट से पथापत्तनम सेक्शन का भी लोकार्पण किया। इसका निर्माण 200 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से किया गया है तथा यह श्रीकाकुलम-गजपति कॉरिडोर का हिस्सा है। परियोजना क्षेत्र में बेहतर कनेक्टीविटी उपलब्ध करायेगी। प्रधानमंत्री ने आंध्रप्रदेश में ओएनजीसी की यू-फील्ड ऑनशोर डीपवॉटर ब्लॉक परियोजना का लोकार्पण किया, जिसका विकास 2900 करोड रुपये से अधिक की लागत से हुआ है। यह परियोजना गहरे पानी में गैस की खोज से सम्बंधित है, जिसके जरिये प्रतिदिन लगभग तीन मिलियन मानक घन मीटर (एमएमएससीएमडी) गैस का उत्पादन क्षमता हासिल होगी। प्रधानमंत्री गेल की श्रीकाकुलम आंगुल प्राकृतिक गैस पाइपलाइन परियोजना की आधारशिला रखेंगे, जिसकी क्षमता 6.65 एमएमएससीएमडी होगी। इस 745 किलोमीटर लंबी पाइपलान का निर्माण 2650 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से होगा।

सऊदी अरब ने मिडिल ईस्ट ग्रीन इनिशिएटिव के लिए 2.5 बिलियन अमरीकी डालर की प्रतिबद्धता जताई

सऊदी अरब ने हाल ही में मिडिल ईस्ट ग्रीन इनिशिएटिव के लिए 2.5 बिलियन अमरीकी डालर की प्रतिबद्धता जताई है। मिडिल ईस्ट ग्रीन इनिशिएटिव अपनी तरह का पहला क्षेत्रीय गठबंधन है जिसे सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने मध्य पूर्व से ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को रोकने के लिए 2021 में लॉन्च किया था। इसमें क्षेत्रीय जलवायु कार्रवाई के लिए स्पष्ट रूप से परिभाषित रणनीति है, जो क्षेत्र को प्रभावित करने वाले जलवायु परिवर्तन के लिए एक समन्वित और स्थानीय प्रतिक्रिया सुनिश्चित करती है। इसका उद्देश्य इस क्षेत्र में कार्बन उत्सर्जन को 60 प्रतिशत से अधिक कम करना है। इस योजना में मध्य पूर्व में 50 अरब से अधिक पेड़ लगाकर और 200 मिलियन हेक्टेयर खराब भूमि को बहाल करके हरित आवरण (green cover) बढ़ाना शामिल है। यह हरित भूमि और समुद्री भंडार को कुल राष्ट्रीय क्षेत्र के 30 प्रतिशत तक बढ़ाने का भी प्रयास करता है। इस पहल से वैश्विक कार्बन स्तर में 2.5 प्रतिशत की कमी आएगी।

आतंकवाद के वित्तपोषण का मुकाबला करने से संबंधित तीसरा मंत्रिस्तरीय सम्मेलन –‘नो मनी फॉर टेरर’ – का आयोजन 18 और 19 नवंबर को नई दिल्ली में होगा

भारत सरकार का गृह मंत्रालय 18 और 19 नवंबर को नई दिल्ली में तीसरे मंत्रिस्तरीय ‘नो मनी फॉर टेरर’ सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। इस सम्मेलन का उद्देश्य पेरिस (2018) और मेलबर्न (2019) में अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा आयोजित पिछले दो सम्मेलनों में आतंकवाद के वित्तपोषण से निपटने से संबंधित चर्चाओं को आगे बढ़ाना है। इसका इरादा आतंकवाद के वित्तपोषण के सभी आयामों के तकनीकी, कानूनी, विनियामक और सहयोग के पहलुओं पर चर्चा को शामिल करने का भी है। यह सम्मेलन आतंकवाद के वित्तपोषण का मुकाबला करने पर केंद्रित अन्य उच्चस्तरीय आधिकारिक और राजनीतिक विचार-विमर्श की गति को भी निर्धारित करने का प्रयास करेगा। 75 देशों और अन्‍तर्राष्‍ट्रीय निकायों के प्रतिनिधियों को एकसाथ विचार-विमर्श का अवसर देने के लिए यह सम्‍मेलन आयोजित किया जा रहा है।

झारखंड विधानसभा ने राज्य सरकार की सेवाओं में आरक्षण की सीमा 77 प्रतिशत करने के लिए विधेयक पारित किया

झारखंड विधानसभा के एक दिन के विशेष सत्र के दौरान आरक्षण नीति और राज्‍य अधिवास नीति 1932 से संबंधित दो महत्‍वपूर्ण विधेयक ध्‍वनि मत से पारित कर दिये गए। मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने दोनों विधेयक सदन के पटल पर रखे। झारखंड में पदों और सेवाओं की रिक्तियों में आरक्षण संशोधन विधेयक 2022 प्रस्‍तुत करते हुए मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सीधी भर्ती के माध्‍यम से राज्‍य में सरकारी नियुक्तियों में 77 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है जबकि 23 प्रतिशत पद मेरिट के आधार पर भरे जायेंगे। नये आरक्षण विधेयक के अनुसार 12 प्रतिशत सीट अनुसूचित जातियों, 26 प्रतिशत जनजातियों, 12 प्रतिशत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग और 27 प्रतिशत अन्‍य पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षित होंगी। अन्‍य पिछड़े वर्ग में आरक्षण का प्रतिशत अनुसूची एक में शामिल अत्‍यधिक पिछड़े वर्ग के लिए 15 और अनुसूची-दो में शामिल पिछड़े वर्गों के लिए 12 प्रतिशत होगा। राज्‍य अधिवास नीति में संशोधन के अनुसार वर्ष 1932 के भूमि रिकार्ड के खतियान रजिस्‍टर-।। को झारखंड के नागरिकों को स्‍थानीय निवासी का दर्जा देने के दावे के लिए आधार माना जायेगा।

भारत-फ्रांस का सातवां संयुक्त वायु सेना अभ्यास जोधपुर में संपन्न

भारत और फ्रांस की वायु सेनाओं के बीच सातवां युद्धाभ्यास गरुण-VII जोधपुर वायु सेना स्टेशन पर संपन्न हो गया। युद्धाभ्यास से दोनों वायु सेनाओं को परिचालन जानकारी और अनुभव साझा करने का अवसर मिला। युद्ध अभ्यास के दौरान दोनों देशों के वायु सेना कर्मियों को वास्तविक युद्ध स्थितियों का अनुभव और कॉम्बैट ऑपरेशंस की जानकारी दी गई।

अमरीकी राष्‍ट्रपति ने सभी देशों से ग्‍लोबल वार्मिंग से निपटने के प्रयास तेज करने का आग्रह किया

अमरीकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ने सभी देशों से ग्‍लोबल वार्मिंग से निपटने के प्रयास तेज करने का आग्रह किया है। मिस्र में सीओपी-27 सम्‍मेलन में श्री बाइडेन ने कहा कि अमरीका 2030 तक कार्बन उत्‍सर्जन में 50 से 52 प्रतिशत कमी करके 2005 के स्‍तर तक लाने का लक्ष्‍य पूरा करेगा। उन्‍होंने हरित अमरीकी अर्थव्‍यवस्‍था के लिए तीन सौ 69 अरब डॉलर खर्च करने के प्रस्‍ताव को उपलब्धि बताया। उन्‍होंने कहा कि इससे अमरीका और पूरी दुनिया में क्रान्तिकारी बदलाव होगा।

कोचीन शिपयार्ड ने देश की प्रथम हाइड्रोजन ईंधन चालित द्रुतगति नौका के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किये

कोचीन शिपयार्ड ने भारत के अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण के साथ देश की प्रथम हाइड्रोजन ईंधन चालित द्रुतगति नौका के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किये हैं। इसका निर्माण उत्‍तर प्रदेश में वाराणसी के लिए किया जाएगा। शिपयार्ड ने छह विद्युत चालित द्रुतगति नौकाएं बनाने के लिए भी एक समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किये। इनमें से चार नौकाएं उत्‍तर प्रदेश और दो गुवाहाटी के लिए बनाई जाएंगी। कोचीन शिपयार्ड की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि हाइड्रोजन ईंधन चालित वातानुकूलित द्रुतगति नौका में एक सौ यात्रियों के बैठने की क्षमता होगी। इसे कोच्चि में परीक्षण और ट्रायल के बाद वाराणसी में तैनात किया जाएगा। वातानुकूलित इलैक्ट्रिक हाइब्रिड नौकाएं नदी जल में कम दूरी की यात्रा के लिए तैयार की गई हैं। इनमें 50 यात्रियों के बैठने की क्षमता होगी। इन नौकाओं के संचालन से राष्‍ट्रीय जलमार्गों पर प्रदूषण में कमी लाने में मदद मिलेगी।

लियोनेल मेस्सी बने बायजू के ग्लोबल ब्रांड एंबेसडर

एडटेक फर्म बायजू ने अर्जेंटीना फुटबॉल टीम के कप्तान और दुनिया के महान फुटबॉलर्स में शामिल लियोलन मेसी को अपने सोशल इम्पैक्ट यूनिट एजुकेशन फॉर ऑल का ग्लोबल ब्रांड एम्बेस्डर बनाया है। वह इस फर्म के पहले ग्लोबल ब्रांड एम्बेसडर होंगे। मेसी का जुड़ना बायजू के लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। दुनिया में फुटबॉल के करीब 3.5 अरब फैन्स हैं। वहीं, मेसी के सोशल मीडिया पर करीब 45 करोड़ फैन्स हैं। ऐसे में बायजू को दुनियाभर में प्रचलित करने में मेसी एक अहम किरदार निभा सकते हैं।

यूनेस्को : 2050 तक दुनिया के लोकप्रिय ग्लेशियर हो जाएंगे गायब

यूनेस्को (UNESCO) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2050 तक कई ग्लेशियर पूरी तरह पिघल जाएंगे। यूनेस्को की तरफ से बताया गया है कि 2050 तक पिघल जाने वाले ग्लेशियर की लिस्ट में येलोस्टोन और किलिमंजारो नेशनल पार्क समेत कई विश्व धरोहर स्थलों के ग्लेशियर शामिल हैं। संयुक्त राष्ट्र एजेंसी की तरफ से इसको लेकर चेतावनी दी गई है। इसके साथ ही बाकी ग्लेशियर को बचाने के लिए तेजी से कार्य करने की अपील की गई है। यूनेस्को ने बीते हफ्ते इस रिपोर्ट को जारी की थी। इस रिपोर्ट के मुताबिक, जलवायु परिवर्तन की वजह से 50 विश्व धरोहर स्थलों में शामिल एक तिहाई ग्लेशियर साल 2050 तक पिघल सकते हैं। यूनेस्को ने बताया है कि अगर तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा नहीं बढ़ता है, तो स्थलों में शामिल बाकी दो तिहाई ग्लेशियर को बचाया जा सकता है।

वाईकेसी वाडियार को अंतर्राष्ट्रीय कन्नड़ रत्न पुरस्कार 2022 मिला

पूर्व शाही परिवार के सदस्य, यदुवीर कृष्णराजा चामराजा (वाईकेसी) वाडियार को अंतर्राष्ट्रीय कन्नड़ रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया है। यह कन्नड़ राज्योत्सव को चिह्नित करने के लिए दुबई कन्नडिगास द्वारा प्रतिवर्ष प्रस्तुत किया जाता है। वाईकेसी वाडियार को 19 नवंबर को विश्व कन्नड़ हब्बा के दौरान दुबई, संयुक्त अरब अमीरात में शेख रशीद ऑडिटोरियम में कन्नाडिगारू दुबई संघ के सहयोग से 67वें कन्नड़ राज्योत्सव में पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा, विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धि हासिल करने वालों को विश्वमान्य पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

इंडियन नेशनल कार्टोग्राफिक एसोसिएशन (आईएनसीए) की 42वीं अंतर्राष्ट्रीय कांग्रेस

इंडियन नेशनल कार्टोग्राफिक एसोसिएशन (आईएनसीए) की 42वीं अंतर्राष्ट्रीय कांग्रेस का आयोजन नेशनल हाइड्रोग्राफिक ऑफिस (एनएचओ), देहरादून द्वारा 09 से 11 नवंबर 2022 तक किया जा रहा है। 09 नवंबर 2022 को उद्घाटन सत्र के मुख्य अतिथि उत्तराखंड के राज्यपाल महामहिम लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेवानिवृत्त) थे। भारत सरकार के मुख्य हाइड्रोग्राफर वाइस एडमिरल अधीर अरोड़ा, आईएनसीए के वर्तमान अध्यक्ष हैं। कार्टोग्राफी के अत्याधुनिक स्वरूप पर काम करने वाले नौसेना हाइड्रोग्राफिक विभाग (एनएचडी) के कार्मिक 1979 में इसकी स्थापना के बाद से आईएनसीए में सक्रिय हैं। नेशनल हाइड्रोग्राफिक ऑफिस (एनएचओ) ने इससे पहले 01 से 03 नवंबर 2017 तक देहरादून में 37वीं आईएनसीए कांग्रेस का आयोजन किया था। आईएनसीए की स्थापना वर्ष 1979 में हुई थी और यह कार्टोग्राफी के क्षेत्र में 3000 से अधिक आजीवन सदस्यों और संस्थागत सदस्यों के साथ सबसे बड़े संगठनों में से एक के रूप में सामने आया है।

उत्तर प्रदेश को मिली "खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स" 2023-24 की मेजबानी

खेलो इंडिया नेशनल यूनिवर्सिटी गेम्स2023-24 की मेजबानी उत्तर प्रदेश को मिली है। उत्तर प्रदेश के 4 शहरों में इसका आयोजन किया जाएगा। राजधानी लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी और नोएडा में इन खेलों का आयोजन होगा। ‘खेलो इंडिया नेशनल यूनिवर्सिटी गेम्स’ में लगभग 4500 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। इसमें बास्केटबॉल, जूडो, कबड्डी, रोइग, कुश्ती, बॉक्सिंग सहित 20 खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। इन खेलों में पूरे देश से करीब 150 विश्वविद्यालयों के खिलाड़ी हिस्सा लेंगे।

एडिडास ने कंपनी के सीईओ के रूप में ब्योर्न गुल्डेन को नियुक्त किया

एडिडास (Adidas) ने ब्योर्न गुल्डन (Bjørn Gulden) को अपना नया CEO नियुक्त किया है। गुल्डन इससे पहले प्रतिद्वंद्वी PUMA के चीफ एक्जिक्यूटिव थे। वह जनवरी में जर्मन स्पोर्ट्सवियर ब्रांड की कमान संभाल लेंगे। इससे पहले कंपनी तब चर्चाओं में रही थी, इसने रैपर कान्ये वेस्ट को अपने ब्रांड एंबेसडर से हटा दिया था।

18वां अंतर्राष्ट्रीय टेलीमेडिसिन सम्मेलन कोच्चि, केरल में आयोजित

टेलीमेडिसिन सोसाइटी ऑफ इंडिया (टीएसआई) द्वारा टीएसआई केरल चैप्टर के सहयोग से आयोजित 18वां अंतर्राष्ट्रीय टेलीमेडिसिन सम्मेलन कोच्चि, केरल में 10-12 नवंबर तक आयोजित किया जाएगा। इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में भारत और दुनिया भर के 200 से अधिक वैज्ञानिकों और अकादमिक विद्वानों के एक साथ आने की उम्मीद है।

रमेश केजरीवाल अखिल भारतीय रबड़ उद्योग संघ के नए अध्यक्ष चुने गए

ऑल इंडिया रबर इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (AIRIA) ने घोषणा की है कि उसने रमेश केजरीवाल को अपना अध्यक्ष और शशि सिंह को वरिष्ठ उपाध्यक्ष के रूप में चुना है। केजरीवाल देश में रबर उद्योगों के लिए शीर्ष निकाय के रोड मैप को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएंगे। इस पद पर चुने जाने से पहले, केजरीवाल AIRIA की प्रबंध समिति के सदस्य थे और पहले पूर्वी क्षेत्र के अध्यक्ष के रूप में कार्य कर चुके हैं। रमेश केजरीवाल डॉ. सावर धनानिया की जगह लेंगे।

सरकार ने 576 भाषाओं का मातृभाषा सर्वेक्षण पूरा किया

गृह मंत्रालय ने देशभर में 576 भाषाओं और बोलियों का मातृभाषा सर्वेक्षण सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। गृह मंत्रालय की 2021-22 की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, प्रत्येक स्वदेशी मातृभाषा के वास्तविक रूप को संरक्षित करने और उसका विश्लेषण करने के लिए राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) में एक ‘वेब’ संग्रह स्थापित करने की योजना बनाई गई है।

अजीत अंजुम व आरफा खानम को मिलेगा कुलदीप नैयर पत्रकारिता सम्मान

गांधी शांति प्रतिष्ठान की ओर से 2021 और 2022 के कुलदीप नैयर पत्रकारिता सम्मान की घोषणा कर दी गई है। साल 2021 का यह सम्मान वरिष्ठ पत्रकार व यूट्यूबर अजीत अंजुम को दिया जाएगा तो वहीं साल 2022 के लिए आरफा खानम शेरवानी के नाम की घोषणा की गई है। दोनों के नामों की घोषणा दिल्ली प्रेस क्लब स्थित एक समारोह में की गई।

ओडिशा सरकार ने राज्य में 10 नवंबर को ‘बाजरा दिवस’ के रूप में मनाया

ओडिशा सरकार ने 10 नवंबर 2022 को राज्य में ‘बाजरा दिवस’ के रूप में मनाया। दिन को हिंदू कैलेंडर के अनुसार चुना जाता है, मार्गशीर्ष महीने का पहला गुरुवार। इस दिवस को मनाने का प्राथमिक उद्देश्य बाजरा को अत्यधिक पोषक और पर्यावरण के अनुकूल खाद्य उत्पाद के रूप में बढ़ावा देना है। 7 जिलों में शुरू हुई पहल, अब तक मिशन ओडिशा के 19 जिलों तक पहुंच चुका है। इसके अलावा, सरकार का लक्ष्य ओडिशा के 30 जिलों में बाजरा मिशन को बढ़ावा देना है।

ग्रेग बार्कले को फिर से आई सी सी का अध्‍यक्ष चुना गया

न्यूजीलैंड के ग्रेग बार्कले को फिर से अन्‍तर्राष्‍ट्रीय क्रिकेट परिषद- आई सी सी का अध्‍यक्ष चुना गया है। मेलबर्न में आई सी सी बोर्ड की बैठक में जिम्‍बाबवे क्रिकेट के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर तावेंगवा मुकुहलानी ने नाम वापस ले लिया। इसलिए ग्रेग निर्विरोध अध्‍यक्ष चुने गये। न्‍यूजीलैंड क्रिकेट के पूर्व प्रमुख बार्कले अब दो और वर्ष तक आई सी सी के अध्‍यक्ष रहेंगे।

शिव थापा ने जॉर्डन में एशियन एलीट बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत पदक जीता

मुक्केबाजी में, भारत के शिव थापा ने जॉर्डन के अम्मान में एशियाई एलिट मुक्केबाजी चैंपियनशिप में पुरुषों के 63 किग्रा वर्ग में रजत पदक अपने नाम किया। थापा फाइनल में उज्बेकिस्तान के रुस्लान अब्दुल्लायेव से हार गए। रेफरी ने रुसलान अब्दुल्लाव के खिलाफ थापा की बाउट रोक दी क्योंकि उन्हें चोट लग गई थी और वह रिंग में नहीं आ सके थे। बाद में रेफरी ने अब्दुल्लाव को विजेता घोषित किया।

भारत की मेहुली घोष और तिलोत्मा सेन ने एशियाई एयरगन चैम्पियनशिप में दो स्वर्ण पदक अपने नाम किए

भारत की मेहुली घोष और तिलोत्मा सेन ने दक्षिण कोरिया के देगु में एशियाई एयरगन चैम्पियनशिप में दो स्वर्ण पदक अपने नाम किए। मेहुली ने महिलाओं की दस मीटर एयर रायफल स्पर्धा में कोरिया की चाऊ युन यू को हराकर स्वर्ण पदक जीता। वहीं, दस मीटर एयर रायफल जूनियर स्पर्धा में तिलोत्मा ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया। जूनियर महिला 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में तिलोत्तमा सेन और नैंसी ने भारत को पहला और दूसरा स्थान दिलाया। नैंसी (261.4) रैंकिंग राउंड में शीर्ष पर रहीं। वहीं, तिलोत्तमा (260.4) दूसरे स्थान पर रही थीं।

राष्‍ट्रीय लोक सेवा प्रसारण दिवस

वर्ष 1947 में 12 नवम्‍बर के दिन महात्‍मा गांधी आकाशवाणी स्‍टुडियो आये थे। इस दिन की स्‍मृति में हर वर्ष 12 नवम्‍बर को राष्‍ट्रीय लोक सेवा प्रसारण दिवस मनाया जाता है। गांधी जी ने नई दिल्‍ली के प्रसारण भवन से हरियाणा के कुरूक्षेत्र में अस्‍थायी शिविरों में रह रहे विस्‍थापितों को संबोधित किया था। यह दिन 2000 में लोक सेवा प्रसारण दिवस या (जन प्रसार दिवस) के रूप में घोषित किया गया था, इसकी अवधारणा सुहास बोरकर, संयोजक, जन प्रसार द्वारा की गई थी।

विश्व निमोनिया दिवस: 12 नवंबर

जागरूकता बढ़ाने, रोकथाम और उपचार को बढ़ावा देने और बीमारी से निपटने की कार्रवाई करने के लिए हर साल 12 नवंबर को दुनिया भर में विश्व निमोनिया दिवस (World Pneumonia Day) मनाया जाता है। विश्व निमोनिया दिवस मनाने का उद्देश्य लोगों में इस बीमारी के प्रति जागरुकता पैदा करना है। इस वर्ष विश्व निमोनिया दिवस की थीम “निमोनिया अफ्फेक्ट्स एवरीवन” है यानी निमोनिया सभी को प्रभावित करता है, ताकि वैश्विक रूप से इसपर जागरूकता बढ़ाई जा सके।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जाने माने विद्वान आर एल कश्यप के निधन पर शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जाने माने विद्वान आर एल कश्यप के निधन पर शोक व्यक्त किया है। श्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि श्री कश्यप बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। उन्हें गणित और विज्ञान का अच्छा खास ज्ञान था। आर एल कश्यप का पूरा नाम रंगासामी लक्ष्मीनारायण कश्यप था, उनका जन्म 28 मार्च 1938 को हुआ था। आर एल कश्यप एक भारतीय अनुप्रयुक्त गणितज्ञ और पर्ड्यू विश्वविद्यालय में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर थे। इन्होंने चारों वेदों का अंग्रेजी में अनुवाद भी किया है। आर एल कश्यप दुनिया के एकमात्र व्यक्ति हैं जिन्होंने सभी 4 वेदों का अंग्रेजी में अनुवाद किया है, उनकी उपलब्धि को मान्यता देते हुए उन्हें सरकार द्वारा सम्मानित किया गया था। भारत के साहित्य और शिक्षा क्षेत्र के तहत 2021 में उन्हें पद्म श्री पुरस्कार से नवाजा गया था। आर एल कश्यप ने हार्वर्ड प्रोफेसर Yu-Chi Ho के साथ मिलकर ''the Ho-Kashyap Rule'' एल्गोरिदम विकसित किया था। आर एल कश्यप ने 1982 में गणितीय उम्मीदवार मॉडल के एक सेट से सर्वश्रेष्ठ मॉडल के सलेक्शन के लिए Kashyap information criterion (KIC) पेश किया था।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.