Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

19 November 2022

प्रधानमंत्री ने आतंकवाद-रोधी वित्तपोषण पर नई दिल्‍ली में आयोजित तीसरे 'नो मनी फॉर टेरर' मंत्रिस्‍तरीय सम्‍मेलन में भाग लिया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने दृढ़ता से आतंकवाद से निपटने में संशय की किसी भी स्थिति से बचने को कहा है और उन देशों को भी चेतावनी दी है जो आतंकवाद का विदेश नीति के एक साधन के रूप में इस्‍तेमाल करते हैं। प्रधानमंत्री आतंकवाद-रोधी वित्तपोषण पर नई दिल्‍ली में तीसरे 'नो मनी फॉर टेरर' (एनएमएफटी) मंत्रिस्‍तरीय सम्‍मेलन को संबोधित कर रहे थे। आतंकवादी संगठनों को गैरकानूनी ढंग से दी जाने वाली मदद रोकने पर मौजूदा अंतरराष्ट्रीय शासन की प्रभावशीलता और उभरती चुनौतियों का समाधान करने के लिए आवश्यक कदमों पर 18-19 नवम्‍बर को आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन भाग लेने वाले देशों और संगठनों को एक अनूठा मंच प्रदान करेगा। यह सम्मेलन पिछले दो सम्मेलनों (अप्रैल 2018 में पेरिस में और नवम्‍बर 2019 में मेलबर्न में आयोजित) के लाभों और सीखों पर आधारित है और आतंकवादियों को धन देने और उन्‍हें अपना कार्य करने की इजाजत मिलने के अधिकार से वंचित करने के लिए वैश्विक सहयोग बढ़ाने की दिशा में काम करेगा। इसमें मंत्रियों, बहुपक्षीय संगठनों के प्रमुखों और वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) प्रतिनिधिमंडलों के प्रमुखों सहित दुनिया भर के करीब 450 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। इस सम्मेलन के दौरान, चार सत्रों में विचार-विमर्श किया जाएगा, जो 'आतंकवाद और आतंकवाद के वित्तपोषण में वैश्विक रुझान', 'आतंकवाद के लिए धन के औपचारिक और अनौपचारिक चैनलों का उपयोग', 'उभरती प्रौद्योगिकियों और आतंकवादियों को गैरकानूनी तरीके से वित्‍तीय सहायता' तथा 'आतंकवादी वित्तपोषण का मुकाबला करने में चुनौतियों का समाधान करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोग' पर केन्द्रित होगा।

इसरो ने निजी क्षेत्र के देश के पहले रॉकेट का श्रीहरिकोटा से सफल प्रक्षेपण किया

आन्‍ध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अन्‍तरिक्ष केन्‍द्र से भारत के पहले निजी रॉकेट विक्रम सबऑर्बिटल का सफल परीक्षण किया गया। इसे 11 बजकर 30 मिनट पर छोड़ा गया। 83 किलोग्राम का यह रॉकेट तीन पेलोड लेकर 89 दशमलव पांच किलोमीटर की ऊंचाई तक पहुंचा। श्रीहरिकोटा से उड़ान भरने के बाद यह राकेट लगभग 115 किमी दूर बंगाल की खाड़ी में सुरक्षित रूप से पानी में गिर गया। इस राकेट का निर्माण अंतरिक्ष क्षेत्र के लिए काम करने वाले स्‍टार्टअप स्‍काई रूट ने किया है। स्काई रूट के संस्थापकों में से एक, पवन कुमार चौधरी ने कहा कि यह राकेट अपने उद्देश्य में खरा उतरा।

पश्चिम बंगाल के नए राज्यपाल बने डॉ. सीवी आनंद बोस

राष्ट्रपति ने डॉ. सी.वी. आनंद बोस को पश्चिम बंगाल का नियमित राज्यपाल नियुक्त किया है। उपर्युक्त नियुक्ति उनके द्वारा पदभार ग्रहण करने की तिथि से प्रभावी होगी। मणिपुर के राज्यपाल ला गणेशन जुलाई से पश्चिम बंगाल का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे हैं। दरअसल सीवी आनंद बोस पूर्व राज्यपाल जगदीप धनखड़ की जगह लेंगे। ज‍िन्‍होंने अगस्त में भारत के उपराष्ट्रपति चुनाव के समय इस्‍तीफा दे द‍िया था।

प्रवर्तन निदेशालय के प्रमुख संजय कुमार मिश्रा का कार्यकाल एक साल और बढ़ाया गया

प्रवर्तन निदेशालय-ईडी के प्रमुख संजय कुमार मिश्रा का कार्यकाल एक साल और बढ़ा दिया गया है। नवम्‍बर 2023 तक श्री मिश्रा ईडी के निदेशक बने रहेंगे। उन्‍हें तीसरी बार लगातार सेवा विस्‍तार दिया गया है। सरकार पिछले वर्ष अध्‍यादेश लाई थी जिसमें अनुमति दी गई थी कि ईडी और सीबीआई के निदेशकों का कार्यकाल दो वर्ष की अनिवार्य अवधि के बाद तीन साल तक बढाया जा सकता है।

प्रधानमंत्री ने इटली के प्रधानमंत्री को पाटन पटोला स्कार्फ़ भेंट स्वरूप प्रदान किया

हाल ही में G-20 सम्मेलन में भारत के प्रधानमंत्री ने इटली के प्रधानमंत्री को पाटन पटोला स्कार्फ़ भेंट स्वरूप प्रदान किया। पटोला एक दोहरे इकत से बुना हुआ कपड़ा है, जो आमतौर पर पाटन (उत्तरी गुजरात) में रेशम से बनाया जाता है। इकत, बुनाई से पहले ताने और बाने के धागों की प्रतिरोध रंगाई से बनते हैं। इसे वर्ष 2013 में भौगोलिक संकेतक (GI) टैग मिला था। शुद्ध रेशम में बुने गए दोहरे इकत या पटोला की प्राचीन कला 11वीं शताब्दी की है। इस विशिष्ट गुणवत्ता की उत्पत्ति बुनाई से पहले ताने और बाने पर अलग-अलग रंगाई या गाँठ रंगाई की एक जटिल और कठिन तकनीक में होती है, जिसे 'बंधनी' के रूप में जाना जाता है।

जनजातीय छात्रों के लिए राष्ट्रीय शिक्षा सोसायटी (एनईएसटीएस) और 1एम1बी फाउंडेशन ने एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों (ईएमआरएस) के शिक्षकों और छात्रों को प्रशिक्षित करने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

जनजातीय मामलों के मंत्रालय के तहत स्थापित एक स्वायत्त संगठन जनजातीय छात्रों के लिए राष्ट्रीय शिक्षा सोसायटी (एनईएसटीएस) और 1एम1बी फाउंडेशन के मध्य समझौता ज्ञापन पर 7 नवंबर 2022 को (1एम1बी) एनईएसटीएस मुख्यालय नई दिल्ली में हस्ताक्षर किए गए। इस समझौता ज्ञापन पर एनईएसटीएस आयुक्त श्री असित गोपाल और 1एम1बी के प्रबंध निदेशक श्री मानव सुबोध ने 1एम1बी और एनईएसटीएस की टीम की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए। यह कार्यक्रम सीबीएसई द्वारा शुरू किए गए एआर-वीआर कौशल पाठ्यक्रम का उपयोग करते हुए ऑगमेंटेड रियलिटी (एआर) और वर्चुअल रियलिटी (वीआर) कौशल वाले शिक्षकों और छात्रों को सक्षम बनाएगा। इस कार्यक्रम के उद्देश्यों में एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों (ईएमआरएस) के शिक्षकों और छात्रों के लिए प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण कार्यक्रम शामिल हैं। पायलट चरण में इस समझौता ज्ञापन हिस्से के रूप में यह कार्यक्रम दो राज्यों- राजस्थान और उत्तराखंड में लागू किया जा रहा है।

अमेरिका और जापान के बीच कीन स्वॉर्ड युद्ध अभ्यास

संयुक्त सैन्य अभ्यास – कीन स्वॉर्ड (Keen Sword) इस वर्ष 10 से 19 नवंबर तक आयोजित किया जा रहा है। कीन स्वॉर्ड अभ्यास अमेरिकी सेना और जापान सेल्फ-डिफेंस फोर्स के बीच एक संयुक्त और द्विपक्षीय क्षेत्र प्रशिक्षण अभ्यास है। यह जापान और अमेरिका के सैन्य कर्मियों के बीच तैयारियों और अंतर-क्षमता को बढ़ावा देने के लिए दो साल में एक बार आयोजित किया जाता है। यह द्विवार्षिक अभ्यास 1986 से आयोजित किया जा रहा है। यह अभ्यास अमेरिकी सेना और JSDF को यथार्थवादी परिदृश्यों में विभिन्न मिशन क्षेत्रों में एक साथ प्रशिक्षित करने का अवसर प्रदान करता है। इसका अंतिम लक्ष्य क्षेत्र में बढ़ती चीनी आक्रामकता के बीच विश्वसनीय प्रतिरोध का निर्माण करना है।

फ्रांका मा-इह सुलेम योंग ने यूनेस्को-मदनजीत सिंह पुरस्कार का 2022 संस्करण जीता

फ्रांका मा-इह सुलेम योंग (Franca Ma-ih Sulem Yong) ने यूनेस्को-मदनजीत सिंह पुरस्कार का 2022 संस्करण जीता है। यूनेस्को-मदनजीत सिंह पुरस्कार सहिष्णुता और अहिंसा को बढ़ावा देने के लिए हर दो साल में यूनेस्को द्वारा प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार यूनेस्को के संविधान के आदर्शों के आधार पर बनाया गया था। 1995 के संयुक्त राष्ट्र सहिष्णुता वर्ष के बाद और महात्मा गांधी की 125वीं जयंती के संबंध में 1996 में इसका अनावरण किया गया। यह पुरस्कार मदनजीत सिंह – पूर्व भारतीय कलाकार, लेखक और राजनयिक, जिन्होंने यूनेस्को सद्भावना राजदूत के रूप में सेवा की थी, के दान द्वारा वित्त पोषित किया गया था।

लचित बोरफुकान की 400वीं जयंती समारोह के लिए थीम सॉंग जारी

असम के मुख्यमंत्री ने हाल ही में लचित बोरफुकान (Lachit Borphukan) की 400वीं जयंती समारोह के लिए थीम सॉंग जारी किया। 24 नवंबर, 1622 को पैदा हुए लचित बोरफुकान (Lachit Borphukan), अहोम साम्राज्य में एक कमांडर थे। बोरफुकन को 1671 में सरायघाट की लड़ाई में उनके नेतृत्व के लिए जाना जाता है, जिसने मुगल सेना को अहोम साम्राज्य पर आक्रमण करने से रोक दिया था। बीमारी के कारण एक साल बाद उनका निधन हो गया था।

महाराष्‍ट्र सरकार ने स्‍वतंत्रता सेनानियों की पेंशन दस हज़ार रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर बीस हज़ार रुपये प्रतिमाह करने का निर्णय

महाराष्‍ट्र सरकार ने राज्‍य के स्‍वतंत्रता सेनानियों की पेंशन दस हज़ार रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर बीस हज़ार रुपये प्रतिमाह करने का निर्णय किया है। इस फैसले से भारत के स्‍वतंत्रता आंदोलन, मराठवाड़ा मुक्ति संग्राम और गोवा मुक्ति आंदोलन से जुड़े स्‍वतंत्रता सेनानियों को लाभ पहुंचेगा। राज्‍य सरकार को इस निर्णय से 74 करोड़ 75 लाख रुपये अतिरिक्‍त खर्च करने होंगे। राज्‍य मंत्रिमण्‍डल ने इसकी मंजूरी दी।

डिजिटल कॉमर्स के लिए ओपन नेटवर्क, ओएनडीसी का शुभांरम्भ किया गया

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि डिजिटल कॉमर्स के लिए ओपन नेटवर्क, ओएनडीसी का मंत्रालय ने शुभांरम्भ कर दिया है। इससे छह प्रमुख क्षेत्र के लघु व्यापारियों और उद्यमियों को अपने उत्पाद ऑनलाइन पोर्टल पर प्रस्तुत करने में मदद मिलेगी। बेंगलुरु में आज स्टार्टअप एंड एंटरप्रन्योरशिप- विजन इंडिया एट 2047 की कार्यशाला के अवसर पर उन्होंने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों के खरीददार, विक्रेता, भुगतान प्लेटफॉर्म और माल परिवहन से जुड़ी कंपनियां इस मुक्त तंत्र का उपयोग कर सकेंगी। उपभोक्ता क्षेत्रिय भाषाओं में इस प्लेटफॉर्म का उपयोग कर भोजन और अनाज तथा अन्य उपभोग की वस्तुओं को मंगा सकेंगे।

8वीं नॉर्वे-भारत संयुक्त कार्य समूह समुद्री बैठक

एमओपीएसडबल्यू (पत्तन, पोत परिवहन एवं जलमार्ग मंत्रालय) भारत का समुद्री दृष्टिकोण-2030 के लक्ष्य के रूप में समुद्री क्षेत्र को विकसित करने के लिए लगन के साथ काम कर रहा है। इस संबंध में 8वीं नॉर्वे-भारत समुद्री संयुक्त कार्य समूह की बैठक मुंबई में 17 नवंबर, 2022 को आयोजित की गई थी। नॉर्वे के पास समुद्री क्षेत्र में तकनीकी विशेषज्ञता है और भारत में समुद्री क्षेत्र और प्रशिक्षित नाविकों के बड़े पूल के विकास की बड़ी क्षमता है, जो दोनों देशों को प्राकृतिक पूरक भागीदार बनाते हैं। इससे पहले भारत ने मैरीटाइम इंडिया विज़न 2030 भी तैयार किया था, जिसने क्षमता वृद्धि आदि पर ध्यान केंद्रित करने वाले बंदरगाहों, शिपिंग और जलमार्गों जैसे विभिन्न समुद्री क्षेत्रों में 150 से अधिक पहलों की पहचान की है। भविष्य के शिपिंग के लिये ग्रीन अमोनिया और हाइड्रोजन जैसे वैकल्पिक ईंधन के उपयोग पर चर्चा की गई। नॉर्वेजियन ग्रीन शिपिंग कार्यक्रम सफल रहा है और बैठक में अनुभव विशेषज्ञता साझा की गई थी। भारत और नॉर्वे ग्रीन वॉयज 2050 परियोजना का हिस्सा हैं। दोनों पक्ष साझा लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिये इच्छा, समर्पण, साझेदारी और क्षमता निर्माण पर सहमत हुए। भारत जहाज़ों के पुनर्चक्रण के लिये हॉन्गकॉन्ग सम्मेलन का एक हस्ताक्षरकर्त्ता है। बैठक में भारत ने अनुरोध किया कि यूरोपीय संघ के नियमों को गैर-यूरोपीय देशों के पुनर्चक्रण में बाधा नहीं बनना चाहिये, जो अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के अनुरूप है। नॉर्वे से अनुरोध किया गया था कि वह भारत में जहाज़ों के पुनर्चक्रण को आगे न बढ़ाए क्योंकि भारतीय पुनर्चक्रण करने वालों द्वारा बहुत अधिक निवेश किया गया है। नार्वे का प्रतिनिधिमंडल आईएनएमएआरसीओ, हरित पोत परिवहन और समुदी क्षेत्र के सम्मेलन में भी भाग लेगा। समुद्री शीओ (ShEO) सम्मेलन नॉर्वे द्वारा समर्थित है और समुद्री विविधता एवं स्थिरता पर केंद्रित है, जिसमें समुद्री उद्योग में लैंगिक समानता भी शामिल है।

मनिका बत्रा एशियाई कप टेबल टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला

मनिका बत्रा एशियाई कप टेबल टेनिस टूर्नामेंट के सेमी-फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई हैं। बैंकॉक में, क्‍वार्टर-फाइनल में मनिका ने चीनी ताइपे की चेन सु-यू को 4-3 से हराया। सेमी-फाइनल में मनिका का मुकाबला कोरिया की जियोन जिही और जापान की मीमा इतो के बीच होने वाले मैच के विजेता से होगा।

संयुक्त राष्ट्र ने 15 नवंबर 2022 को ‘Day of Eight Billion’ के रूप में नामित किया

संयुक्त राष्ट्र ने 15 नवंबर 2022 को ‘Day of Eight Billion’ के रूप में नामित किया। World Population Prospects Report, 2022 के अनुसार वैश्विक जनसंख्या 15 नवंबर, 2022 को 8 अरब तक पहुंचने का अनुमान था। यह मील का पत्थर 7 अरब के आंकड़े को पार करने के बाद केवल 11 वर्षों में पूरा हो गया है। वैश्विक जनसंख्या में यह अभूतपूर्व उछाल मुख्य रूप से मानव जीवन में क्रमिक वृद्धि के कारण है, जिसका श्रेय बेहतर सार्वजनिक स्वास्थ्य, पोषण, व्यक्तिगत स्वच्छता और चिकित्सा को जाता है। जहां वैश्विक आबादी को 7 से 8 अरब तक पहुंचने में 11 साल लगे, वहीं 9 अरब मील के पत्थर तक पहुंचने में लगभग 15 साल (2037 तक) लगने की उम्मीद है। इससे वैश्विक जनसंख्या वृद्धि में गिरावट का पता चलता है। 2050 में वैश्विक आबादी 9.7 अरब तक पहुंचने की उम्मीद है।

रेजांगला की लड़ाई की हीरक जयंती देशभक्ति और उत्साह के साथ मनाई गई

रेजांगला की लड़ाई की हीरक जयंती (60वीं वर्षगांठ) 18 नवंबर को देशभक्ति और उत्साह के साथ मनाई गई। रक्षा सचिव गिरिधर अरमाने ने पूर्वी लद्दाख में चुशुल के निकट अहीर धाम में युद्ध स्मारक पर रेजांगला की लड़ाई के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। रेजांगला की लड़ाई में भारतीय सेना की 13 कुमाऊं रेजीमेंट की चार्ली कंपनी के सैनिकों ने दृढ़ता और वीरता का प्रदर्शन किया है। सी. कंपनी के 120 बहादुर सैनिक लद्दाख और सुसज्जित चीनी सेना के बीच डटे रहे। इस लड़ाई में 114 सैनिक शहीद हो गए। लड़ाई में 13 कुमाऊं रेजीमेंट की सी कंपनी की बहादुरी ने 18 नवंबर 1962 को चीन को युद्ध विराम की घोषणा करने पर मजबूर कर दिया। रेजांगला की लड़ाई के 60वें वर्ष के समारोह के अवसर पर, रक्षा सचिव श्री गिरिधर ने एक लिफाफा जारी किया।

इंजीनियरी कोर का 242वां स्‍थापना दिवस

भारतीय सेना ने 18 नवंबर को इंजीनियरी कोर का 242वां स्‍थापना दिवस मनाया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा प्रमुख जनरल अनिल चौहान और थल सेनाध्‍यक्ष जनरल मनोज पांडे ने इस अवसर पर इंजीनियरी कोर के सभी सदस्‍यों को शुभकामनाएं दी हैं। कोर ऑफ इंजीनियर्स के तीन समूह हैं, अर्थात् मद्रास सैपर्स, बंगाल सैपर्स और बॉम्बे सैपर्स जिन्हें 18 नवंबर 1932 को कोर में समामेलित किया गया था। इसकी स्थापना के बाद से, इतिहास युद्ध और शांति दोनों में कोर ऑफ इंजीनियर्स के विशाल अनुकरणीय योगदान से भरा हुआ है।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.