Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

29 November 2022

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस के रक्षा मंत्री के साथ चौथी भारत-फ्रांस वार्षिक रक्षा वार्ता की सह-अध्यक्षता की

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस के रक्षा मंत्री सेबेस्टियन लेकोर्नू के साथ नई दिल्ली में चौथी भारत-फ्रांस वार्षिक रक्षा वार्ता की सह-अध्यक्षता की। श्री लेकोर्नू दो दिन की भारत यात्रा पर है। वार्ता में दोनों मंत्रियों ने रक्षा संबंधों, आतंकवाद की रोकथाम, हिंद-प्रशांत क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा और आत्मनिर्भर भारत नीति के अनुरूप औद्योगिक और प्रौद्योगिक साझेदारी सहित विस्तृत विषयों पर चर्चा की। फ्रांस के रक्षा मंत्री, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से भी मुलाकात करेंगे और आतंकवाद से लड़ने के करीबी सहयोग सहित क्षेत्रीय सुरक्षा मुद्दों पर बातचीत करेंगे।

सरकार ने विदेश सचिव का कार्यकाल बढ़ाया

सरकार ने विदेश सचिव विनय मोहन क्‍वात्रा का कार्यकाल बढ़ा दिया है। भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी का कार्यकाल इस वर्ष 31 दिसम्‍बर को समाप्‍त हो रहा था। वे 30 अप्रैल 2024 या अगले आदेश तक इस पद पर बने रहेंगे।

विद्युत मंत्रालय ने शक्ति नीति के बी (v) के तहत पांच साल के लिए कुल 4500 मेगावाट बिजली की खरीद के लिए योजना शुरू की

विद्युत मंत्रालय ने शक्ति नीति के तहत पांच वर्षों के लिए कुल चार हजार पांच सौ मेगावाट बिजली खरीद की योजना बनाई है। मंत्रालय ने कहा है कि इस योजना से बिजली संकट से जूझ रहे राज्यों को मदद मिलेगी और बिजली उत्पादन संयंत्रों की क्षमता बढ़ाई जा सकेगी। पीएफसी कंसल्टिंग लिमिटेड को योजना की नोडल एजेंसी बनाया गया है। कंपनी ने चार हजार पांच सौ मेगावाट बिजली की आपूर्ति के लिए निविदाएं आमंत्रित की है। योजना के तहत बिजली की आपूर्ति अगले वर्ष अप्रैल से की जाएगी।

भारत और मलेशिया के बीच संयुक्‍त सैन्‍य अभ्‍यास हरिमऊ शक्ति -2022 मलेशिया के पुलई में शुरू हुआ

भारत और मलेशिया के बीच संयुक्‍त सैन्‍य अभ्‍यास हरिमऊ शक्ति -2022 मलेशिया के पुलई में शुरू हुआ। यह 12 दिसम्‍बर तक चलेगा। हरिमऊ शक्ति वार्षिक प्रशिक्षण अभ्‍यास है जो दोनों देशों के बीच 2012 से आयोजित किया जा रहा है। भारतीय सेना की गढ़वाल राइफल्‍स की रेजीमेंट और मलेशियाई सेना की रॉयल मलय रेजीमेंट इस वर्ष अभ्‍यास में शामिल होंगी। दोनों देशों की सेना नियोजन में परस्‍पर संचालन क्षमता बढ़ाने और वन क्षेत्र में विभिन्‍न प्रकार के ऑपरेशन के बारे में अनुभव का आदान-प्रदान करेंगी।

उत्कृष्ट शिल्पकारों को शिल्प गुरु एवं राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किए गए

वर्ष 2017, 2018 और 2019 के लिए 30 शिल्प गुरु पुरस्कार और 78 राष्ट्रीय पुरस्कार नई दिल्ली में उत्कृष्ट शिल्पकारों को प्रदान किए गए जिनमें से 36 महिलाएं हैं। इन पुरस्कारों का मुख्य उद्देश्य शिल्प कौशल में उनकी उत्कृष्टता और भारतीय हस्तशिल्प एवं वस्त्र क्षेत्र में बहुमूल्य योगदान के लिए मान्यता देना है। शिल्प गुरु पुरस्कार उत्कृष्ट शिल्प कौशल, उत्पाद उत्कृष्टता और पारंपरिक विरासत के एक महत्वपूर्ण हिस्से के रूप में अन्य प्रशिक्षु कारीगरों को शिल्प की निरंतरता में उनके द्वारा निभाई गई भूमिका के लिए सिद्धहस्त हो चुके उत्कृष्ट शिल्पकारों को प्रदान किए जाते हैं। इन पुरस्कारों को 2002 में भारत में हस्तशिल्प के पुनरुत्थान की स्वर्ण जयंती मनाने के लिए शुरू किया गया था। पुरस्कार में एक सोने का सिक्का, 2.00 लाख रुपये की पुरस्कार राशि, एक ताम्रपत्र, एक शॉल और एक प्रमाण पत्र शामिल है। वर्ष 2017, 2018 और 2019 के लिए 30 शिल्प गुरुओं का चयन किया गया है, जिनमें से 24 पुरुष और 06 महिलाएं हैं।

पीटी उषा को भारतीय ओलंपिक संघ का अध्यक्ष बनाया गया

एथलीट और राज्यसभा की मनोनीत सांसद पीटी उषा (पिलाउल्लाकांडी थेक्केपरांबिल उषा) को भारतीय ओलंपिक संघ का अध्यक्ष बनाया गया है। इस पद की वो इकलौती दावेदार थीं। इस संबंध में चुनाव 10 दिसंबर को होने थे, लेकिन विपक्ष में कोई और उम्मीदवार नहीं होने की वजह से उन्हें IOA की पहली महिला अध्यक्ष चुन लिया गया है। पीटी उषा को 'पय्योली एक्सप्रेस, उड़नपरी' के नाम से भी जाना जाता है और वह देश की सबसे सफल एथलीटों में से एक हैं। पीटी उषा ने वर्ष 1982 से 1994 तक एशियाई खेलों में चार स्वर्ण सहित 11 पदक जीते। उन्होंने वर्ष 1986 के सियोल एशियाई खेलों में सभी चार स्वर्ण (200 मीटर, 400 मीटर, 400 मीटर बाधा दौड़ और चार गुणा 400 मीटर रिले) पदकों के साथ ही 100 मीटर में रजत भी जीता था। उषा ने 1982 नई दिल्ली एशियाई खेलों में 100 मीटर और 200 मीटर में पदक जीते। कुल मिलाकर उन्होंने 1983 से 1998 तक एशियाई चैम्पिपियनशिप में कुल 23 पदक जीते। पीटी उषा वर्ष 1984 के ओलिंपिक 400 मीटर बाधा दौड़ के फाइनल में चौथे स्थान पर रहीं थी। भारतीय ओलंपिक संघ भारत की राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (NOC) है। इसका कार्य ओलंपिक खेलों, एशियाई खेलों व अन्य अंतर्राष्ट्रीय बहु-खेल प्रतियोगिताओं में भारत का प्रतिनिधित्त्व करने वाले एथलीटों का चयन करना और भारतीय टीम का प्रबंधन करना है। यह भारतीय राष्ट्रमंडल खेल संघ की तरह ही कार्य करता है, तथा राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का प्रतिनिधित्त्व करने वाले एथलीटों का भी चयन करता है।

सांस्कृतिक विरासत संरक्षण के लिये यूनेस्को एशिया-प्रशांत पुरस्कार 2022 की घोषणा

हाल ही में सांस्कृतिक विरासत संरक्षण के लिये यूनेस्को एशिया-प्रशांत पुरस्कार 2022 की घोषणा की गई है, जिसमें भारत के चार विजेता शामिल हैं। पुरस्कारों के लिये छह देशों की तेरह परियोजनाओं को स्वीकृत किया गया था, वे देश हैं: अफगानिस्तान, चीन, भारत, ईरान, नेपाल और थाईलैंडभारत का प्रदर्शन:

  • उत्कृष्टता का पुरस्कार: छत्रपति शिवाजी महाराज वास्तु संग्रहालय, मुंबई
  • विशिष्टता का पुरस्कार: गोलकुंडा की बावड़ी, हैदराबाद
  • मेरिट का पुरस्कार: डोमकोंडा किला, तेलंगाना और भायखला स्टेशन, मुंबई

अंतर्राष्ट्रीय कर सहयोग ढांचे पर यूएनजीए प्रस्ताव

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सर्वसम्मति से संयुक्त राष्ट्र की अंतर-सरकारी प्रक्रिया के आधार पर एक अंतर्राष्ट्रीय कर सहयोग ढांचा या साधन विकसित करने के लिए एक प्रस्ताव अपनाया है। नाइजीरिया ने 54 अफ्रीकी देशों के संघ की ओर से यह प्रस्ताव पेश किया था। वैश्विक कर सहयोग पर प्रस्तावित संयुक्त राष्ट्र की रूपरेखा दुनिया भर में कराधान के नियामक के रूप में आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (Organisation for Economic Co-operation & Development) की 60 साल की भूमिका को समाप्त कर देगी। इसी तरह की रूपरेखा OECD द्वारा प्रस्तावित की गई है। यह लगभग एक दशक से ओईसीडी में विकास के अधीन है लेकिन इसका अंतिम मसौदा अभी दिया जाना बाकी है। संयुक्त राष्ट्र का प्रस्तावित ढांचा अंतर्राष्ट्रीय कर नियमों पर संयुक्त राष्ट्र और ओईसीडी के बीच शक्ति संघर्ष को समाप्त कर देगा।

CITES COP19 ने दक्षिणी सफेद गैंडों की स्थिति को डाउनग्रेड किया

अफ्रीका के गैंडों के संरक्षण के प्रयासों में एक बड़ी बाधा के रूप में, CITES COP19 ने हाल ही में परिशिष्ट I से परिशिष्ट II में दक्षिणी सफेद गैंडों की स्थिति को डाउनग्रेड करने के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। नामीबिया और बोत्सवाना द्वारा दक्षिणी सफेद गैंडों को परिशिष्ट I से परिशिष्ट II में स्थानांतरित करने का प्रस्ताव केवल संरक्षण उद्देश्यों और शिकार ट्राफियों के लिए जीवित जानवरों के व्यापार की अनुमति देता है। परिशिष्ट II में जानवर विलुप्त होने के कगार पर नहीं हो सकते हैं लेकिन ऐसी प्रजातियों के व्यापार को उनके अस्तित्व की रक्षा के लिए विनियमित किया जाता है। यह निर्णय राइनो हॉर्न में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को फिर से शुरू नहीं करता है, जिसे इस्वातिनी (पहले स्वाजीलैंड के रूप में जाना जाता था) द्वारा प्रस्तावित किया गया था। हालांकि, वर्गीकरण के डाउनग्रेडिंग ने इन संवेदनशील प्रजातियों को उन देशों में तस्करी चैनलों द्वारा उत्पन्न खतरों के लिए उजागर किया है जहां अवैध शिकार की बड़े पैमाने पर गतिविधियां हैं।

डाउन सिंड्रोम से पीड़ित एक व्यक्ति के संघर्ष पर बनी ईरानी फिल्म 'नारगेसी' ने इफ्फी 53 में आईसीएफटी-यूनेस्को गांधी पदक जीता

ईरानी फिल्म नारगेसी ने भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के 53वें संस्करण में आईसीएफटी-यूनेस्को गांधी पदक जीता है, जो एक ऐसी फिल्म के लिए दिया गया है जो महात्मा गांधी के शांति, सहिष्णुता और अहिंसा के आदर्शों को दर्शाती है। फिल्म का निर्देशन पायम असकंदरी ने किया है। यह फिल्म डाउन सिंड्रोम से पीड़ित एक व्यक्ति और उसके जीवन में इसके कारण पैदा होने वाली समस्याएं और परिणामों के बारे में है। इस पुरस्कार विजेता फिल्म में करुणा और कोमलता दो गुण दर्शाए गए हैं।

कोस्टा रिका के फिल्म निर्माता वेलेंटीना मौरेल की स्पेनिश फिल्म ‘आई हैव इलेक्ट्रिक ड्रीम्स’ ने वयस्क होने के अद्भुत चित्रण के लिए ‘गोल्डन पीकॉक’ जीता

इस महोत्सव की सर्वश्रेष्ठ फिल्म के लिए प्रतिष्ठित गोल्डन पीकॉक स्पेनिश फिल्म टेंगो सुएनोसेलेक्ट्रिकोस/आई हैव इलेक्ट्रिक ड्रीम्स ने जीता है। ज्‍यूरी के अनुसार यह एक ऐसी फिल्म है जिसमें सिनेमा के वर्तमान और भविष्य को पर्दे पर पेश किया गया है। कोस्टा रिका के फिल्म निर्माता वेलेंटीना मौरेल द्वारा निर्देशित इस फिल्म में 16 वर्षीया लड़की ईवा के वयस्क होने का अद्भुत चित्रण किया गया है। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जो केवल उम्र बढ़ने के बारे में नहीं है, बल्कि एक ऐसी प्रक्रिया भी है जो इतनी गहरी है कि कभी-कभी यह संबंधित व्‍यक्ति को एक निश्चित तरीके से अंदर से पूरी तरह झकझोर भी सकती है। इस फिल्म में जीवन की जटिलता के ईमानदार चित्रण की चर्चा करते हुए ज्‍यूरी ने टिप्पणी की कि हिंसा और अनुग्रह, रोष और अंतरंगता पर्यायवाची बन गए हैं। ईरानी लेखक और निर्देशक नादेर सैइवर को “नो एंड” के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के सिल्वर पीकॉक से सम्मानित किया गया है।

बांग्लादेश की फिल्म ‘अगंतुक’ ने गोवा में आईएफएफआई के फिल्म बाजार खंड में प्रसाद डीआई पुरस्कार जीता

गोवा में 53 वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में 5 दिवसीय लंबे फिल्म बाजारखंड का समापन हुआ, जिसमें बांग्लादेश की फीचर फिल्म ‘अगंतुक’ को प्रसाद डीआई पुरस्कार का विजेता नामित किया गया। फिल्म का निर्देशन बिप्लब सरकार ने किया है। आईएफएफआई का फिल्म बाजार खंड फिल्म निर्माण, निर्माण और वितरण में दक्षिण एशियाई सामग्री और प्रतिभा की खोज, समर्थन और प्रदर्शन पर ध्यान देने के साथ, दुनिया भर के फिल्म खरीदारों और विक्रेताओं के लिए एक अभिसरण बिंदु है। कन्नड़ फिल्म ‘मिथ्या’ ने प्रसाद पोस्ट-प्रोडक्शन अवार्ड जीता, जबकि बहुभाषी नेपाली, कुमाउनी और हिंदी फिल्म ‘बहादुर’ ने मूवीबफ प्रशंसा पुरस्कार जीता। दो लघु फ़िल्में ,बाला मुरली शिंगडे की ‘पेरियानायकी’ और सूचना साहा की एनिमेटेड फिल्म ‘प्रिय अमी’ को “फिल्म बाजार अनुशंसा (एफबीआर)” श्रेणी के तहत पुरस्कार प्राप्त हुआ। फ्रांस की दूतावास की ओर से फ्रेंच इंस्टीट्यूट अवॉर्ड सविता सिंह की ‘किस-ए-सर्कस’ को दिया गया, जिसे को-प्रोडक्शन मार्केट में शोकेस किया गया था।

फिल्म ‘डियर डायरी’ ने 75 क्रिएटिव माइंड्स के लिए 53 घंटों का चैलेंज जीता

प्रतियोगिता ने पूरे भारत से चुने गए 75 रचनात्मक दिमागों (क्रिएटिव माइंड्स) को केवल 53 घंटों में भारत @ 100 के अपने विचार पर एक लघु फिल्म बनाने की चुनौती प्रदान की। प्रतियोगिता का आयोजन राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम द्वारा शॉर्ट्स टीवी के सहयोग से किया गया था। 53 घंटे की समय सीमा के दौरान 5 लघु फिल्में बनाई गईं। फिल्म ‘डियर डायरी’ ने 75 क्रिएटिव माइंड्स के लिए 53 घंटों का चैलेंज जीता है। इसे टीम पर्पल ने बनाया था। इसमें महिला सुरक्षा के मुद्दे पर प्रकाश डाला गया है। प्रतियोगिता के तहत बनी अन्य चार फिल्मों में अन्तरदृष्टि, द रिंग, ऑलमोस्ट और सौ का नोट शामिल हैं।

कामचटका प्रायद्वीप में ज्वालामुखी विस्फोट

कामचटका प्रायद्वीप में हाल ही में दो ज्वालामुखी में विस्फोट हुआ। वे रूस के उत्तरपूर्वी भाग के छह ज्वालामुखियों में से हैं जो वर्तमान में बढ़ी हुई गतिविधि के संकेत दे रहे हैं। कामचटका प्रायद्वीप “रिंग ऑफ फायर” का हिस्सा है। यह प्रायद्वीप मॉस्को से करीब 6,600 किमी पूर्व में प्रशांत महासागर में फैला हुआ है। यह भूतापीय गतिविधि के दुनिया के सबसे केंद्रित क्षेत्रों में से एक है। यह प्रायद्वीप 29 सक्रिय ज्वालामुखियों की मेजबानी करता है, जिनमें से अधिकांश विरल आबादी वाले जंगल और टुंड्रा से घिरे हैं। हालांकि ये ज्वालामुखी स्थानीय आबादी के लिए बहुत कम खतरा पैदा करते हैं, लेकिन बड़े विस्फोटों से आसमान में राख उड़ सकती है, जिससे हवाई यात्रा को खतरा हो सकता है।

The Plastic Life-Cycle रिपोर्ट जारी की गई

The Plastic Life-Cycle रिपोर्ट दिल्ली बेस्ड थिंक-टैंक, सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट (CSE) द्वारा जारी की गई। इसे 22 नवंबर को इंडिया हैबिटेट सेंटर पर एक दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन के दौरान जारी किया गया। रिपोर्ट के अनुसार भारत प्लास्टिक प्रदूषण का मुकाबला करने वाली नीतियों को प्रभावी ढंग से लागू करने में सक्षम नहीं रहा है। 2016 में प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन नियमों को जुलाई 2022 तक जारी किए जाने के बाद से पांच बार संशोधित किया गया है।इन संशोधित नीतियों से केवल प्रमुख उत्पादकों, आयातकों और ब्रांड मालिकों को ही लाभ हुआ है। नई रिपोर्ट में कहा गया है कि, जब तक प्लास्टिक के संपूर्ण जीवनचक्र – स्रोत से निपटान तक – को प्लास्टिक प्रदूषण के मूल कारण के रूप में मान्यता नहीं दी जाती है, तब तक यह मुद्दा बना रहेगा। वर्तमान नीतियां केवल प्लास्टिक कचरे के संग्रह, प्रबंधन, डायवर्जन और निपटान से संबंधित डाउनस्ट्रीम मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करती हैं।

महिला मद्रास बोटिंग क्लब ने 81वां वार्षिक मद्रास-कोलंबो रोइंग रेगाटा जीता

मद्रास बोटिंग क्लब की महिलाओं ने 81वां वार्षिक मद्रास-कोलंबो रोइंग रेगाटा जीता, जो कोलंबो, श्रीलंका में आयोजित किया गया था। 81वां वार्षिक मद्रास-कोलंबो रोइंग रेगाटा 26 नवंबर 2022 को आयोजित किया गया था, और उन्हें अड्यार ट्रॉफी से सम्मानित किया गया था। पुरुषों की श्रेणी कोलंबो रोइंग क्लब ने हासिल की, और उन्हें दीपम ट्रॉफी से सम्मानित किया गया। पहली बार मद्रास-कोलंबो रोइंग रेगाटा 1898 में आयोजित किया गया था और इसे श्रीलंका और भारत के बीच आयोजित सबसे पुराना खेल माना जाता है।

कनाडा ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर जीता पहला डेविस कप खिताब

कनाडा ने पहली बार डेविस कप टेनिस खिताब अपने नाम कर लिया। कनाडा ने 109 साल पूर्व पहली बार डेविस कप में हिस्सा लिया था और फाइनल में 28 बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराया। दुनिया के छठे नंबर के खिलाड़ी फेलिक्स अगुर एलिसमी ने दूसरे एकल में ऑस्ट्रेलिया के एलेक्स डि मिनाउर को 6-3-6-4 से हराकर टीम को 2-0 की अजेय बढ़त दिला दी।

यूएसआईसी इंटरनेशनल रेलवे स्पोर्ट्स एसोसिएशन टेबल टेनिस चैंपियनशिप में भारतीय टीम का दबदबा

भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी ने 21 नवंबर से 25 नवंबर 2022 तक जयपुर में खेली गई यूएसआईसी इंटरनेशनल रेलवे स्पोर्ट्स एसोसिएशन टेबल टेनिस चैंपियनशिप में अपना दबदबा कायम रखा। भारतीय खिलाड़ियों ने कुल 14 पदक, 6 स्वर्ण, 4 रजत और 4 कांस्य पदक जीते। इसका आयोजन रेलवे खेल संवर्द्धन बोर्ड के अधीन उत्तर पश्चिमी रेलवे स्पोर्ट्स एसोसिएशन की ओर से 21 नवंबर से 25 नवंबर 2022 तक जयपुर में किया गया था। इस प्रतिष्ठित चैम्पियनशिप में कुल पांच टीमों- चेक गणराज्य, डेनमार्क, फ्रांस, स्विट्जरलैंड और भारत ने हिस्सा लिया। भारतीय पुरुष और महिला टीम ने एकल स्पर्धा में पदक तालिका में शानदार प्रदर्शन किया। पुरुषों के एकल में रोनित भांजा ने स्वर्ण, शिक्षा जैन ने रजत और अनिर्बान घोष ने कांस्य पदक जीता। महिला एकल में सुतीर्था मुखर्जी ने स्वर्ण, धारणा सेन ने रजत और पोयमंती वैश्य ने कांस्य पदक जीता।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.