Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

24 September 2022

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के चुनिंदा भाषणों के संग्रह का नई दिल्‍ली में विमोचन

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के चुनिंदा भाषणों के संग्रह का नई दिल्‍ली में विमोचन किया गया। इसका नाम है- सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्‍वास-प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के भाषण। पुस्‍तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए भारत के संबंध में उनका दृष्टिकोण प्रस्‍तुत करती है। इसका विमोचन पूर्व उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, केरल के राज्‍यपाल आरिफ मोहम्‍मद खान तथा सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने किया। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्‍वास-प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के भाषण पुस्‍तक जन-भागीदारी के माध्‍यम से नए भारत के निर्माण के प्रति लोगों की आशाओं और आकांक्षाओं को प्रतिबिम्बित करती है। नया भारत आत्‍मनिर्भर और चुनौतियों को अवसरों को बदलने में सक्ष्‍म होगा। पुस्‍तक में प्रधानमंत्री के मई 2019 से मई 2020 के दौरान दिए गए 86 भाषणों का संकलन है। इन भाषणों को दस विषयों के अंतर्गत रखा गया है। ये हैं-- आत्‍मनिर्भर भारत-अर्थव्‍यवस्‍था, पीपल फर्स्‍ट गर्वनेंस, कोविड-19 से लड़ाई, उभरता भारत-विदेश मामले, जय किसान, टेक इंडिया-न्‍यू इंडिया, ग्रीन इंडिया-रेजिलियेंट इंडिया-क्‍लीन इंडिया, फिट इंडिया-एफिशियेंट इंडिया, इटरनल इंडिया-मॉडर्न इंडिया कल्‍चरल हेरिटेज और मन की बात।

गुजरात में राज्‍य पर्यावरण मंत्रियों का राष्ट्रीय सम्मेलन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 सितंबर, 2022 को गुजरात के एकता नगर में पर्यावरण मंत्रियों के राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन का वीडियो कांफ्रेंस के माध्‍यम से उद्घाटन किया। सहकारी संघवाद की अवधारणा मज़बूत करते हुए इस सम्‍मेलन का आयोजन किया जा रहा है। इसमें मुख्‍य रूप से पर्यावरण अनुकूल जीवन-शैली पर ध्‍यान केंद्रित किया जाएगा। साथ ही जलवायु परिवर्तन से प्रभावशाली तरीके से निपटने और प्‍लासटिक कचरे के उन्‍मूलन के लिये नीतियों को उचित तरीके से लागू करने में केंद्र एवं राज्‍य सरकारों के बीच समन्‍वय स्‍थापित करने पर विचार किया जाएगा। वन्‍यजीव संरक्षण, भूमि‍ की गुणवत्‍ता बनाए रखने और वन क्षेत्र बढ़ाने पर भी ध्‍यान केंद्रित किया जाएगा। दो दिन के इस सम्‍मेलन में पर्यावरण से जुड़े विभिन्‍न विषयों पर छह सत्र आयोजित होंगे। इनमें पर्यावरण अनुकूल जीवन-शैली, जलवायु परिवर्तन नियंत्रण, विकास पर‍ियोजनाओं की एक ही स्‍थान पर मंज़ूरी, वानिकी प्रबंधन, प्रदूषण की रोकथाम, वन्‍यजीव प्रबंधन तथा प्‍लास्टिक कचरा प्रबंधन आदि विषय शामिल हैं।

डॉक्‍टर एम श्रीनिवास को नई दिल्‍ली के एम्‍स का निदेशक नियुक्‍त किया गया

डॉक्‍टर एम श्रीनिवास को नई दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान- एम्‍स का निदेशक नियुक्‍त किया गया है। वे डॉक्‍टर रणदीप गुलेरिया का स्‍थान लेंगे। डॉक्‍टर श्रीनिवास हैदराबाद के ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और अस्‍पताल के डीन के पद पर थे।

अमरीका ने रोहिंग्‍याओं समुदायों के लिए 170 मिलियन अमरीकी डालर देने की घोषणा की

अमरीका ने म्यांमार के भीतर और बाहर रहने वाले रोहिंग्‍याओं और बांग्लादेश में उन्‍हें शरण देने वाले समुदायों के लिए मानवीय सहायता के तौर पर अतिरिक्त 170 मिलियन अमरीकी डालर देने की घोषणा की है। अमरीकी विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन द्वारा जारी एक प्रेस बयान में कहा गया है कि इस अतिरिक्‍त सहायता राशि के साथ ही रोहिंग्या शरणार्थी संकट के लिए कुल अमरीकी सहायता अगस्त 2017 से अब तक लगभग 1 अरब 90 करोड अमरीकी डॉलर हो गई है। अगस्‍त 2017 में 7 लाख 40 हजार से अधिक रोहिंग्याओं को म्यांमार से बांग्लादेश भागने के लिए मजबूर किया गया था।

वैश्विक वित्तीय केंद्र सूचकांक जारी किया गया

न्यूयॉर्क वैश्विक वित्तीय केंद्र सूचकांक (Global Financial Centres Index – GFCI 32) के 32वें संस्करण में दुनिया के सबसे पसंदीदा वित्तीय केंद्र के रूप में शीर्ष पर है। दुनिया में शीर्ष तीन सबसे पसंदीदा वित्तीय केंद्र न्यूयॉर्क, लंदन और सिंगापुर हैं। न्यूयॉर्क ने पिछले चार वर्षों से शीर्ष स्थान बरकरार रखा है। सिंगापुर ने हांगकांग को पीछे छोड़ते हुए तीसरी रैंक हासिल की है। वहीं, हांगकांग चौथे स्थान पर है। सैन फ्रांसिस्को इस रैंकिंग में पांचवें स्थान पर था। टोक्यो की जगह पेरिस ने शीर्ष 10 में वापसी की है। यूक्रेन पर रूसी आक्रमण और इसके कारण हुए राजनयिक संकट के कारण मास्को 22 स्थान गिरकर 73वें स्थान पर पहुँच गया है। चीन में, वित्तीय केंद्रों की रैंकिंग में सुधार हो रहा है। हांगकांग, शंघाई, बीजिंग और शेनझेन शीर्ष 10 प्रदर्शन करने वाले शहरों में शामिल हैं। गुआंगज़ौ, चेंगदू और क़िंगदाओ शीर्ष 50 वैश्विक वित्तीय केंद्रों में से हैं। भारत में, नई दिल्ली और मुंबई क्रमशः 68वें और 7 वें स्थान पर हैं। सियोल, गिफ्ट-सिटी-गुजरात (गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी) और किगाली जैसे शहरों के अगले दो वर्षों में उल्लेखनीय रूप से बढ़ने की उम्मीद है।

अमेरिकी सांसदों ने किगाली संशोधन की पुष्टि करने के लिए मतदान किया

अमेरिकी सांसदों ने हाल ही में किगाली संशोधन की पुष्टि करने के लिए मतदान किया, अमेरिका के लिए अंतर्राष्ट्रीय जलवायु संधि को अपनाने के लिए 30 वर्षों में यह पहली किया। अमेरिकी सीनेट ने 1987 मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल जलवायु संधि में 2016 किगाली संशोधन की पुष्टि की और हाइड्रोफ्लोरोकार्बन (HFC) के उपयोग और उत्पादन को कम करने का निर्णय लिया। HFCs कार्बन डाइऑक्साइड की तुलना में गर्मी को पकड़ने में हजार गुना अधिक सक्षम हैं। उनके उत्सर्जन इस प्रकार ग्लोबल वार्मिंग को और खराब कर रहे हैं। इन रसायनों को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने से वैश्विक तापमान को 0.5°C तक बढ़ने से रोका जा सकता है। देश में तापमान में रिकॉर्ड वृद्धि के बीच एयर कंडीशनिंग और रेफ्रिजरेशन की बढ़ती मांग के कारण अमेरिका ने 2018 और 2019 के बीच HFCs से उत्सर्जन में वृद्धि देखी थी। वर्तमान में, एक दर्जन से अधिक राज्यों ने HFCs पर प्रतिबंध लगा दिया है। अमेरिका अब इस संशोधन की पुष्टि करने में 136 अन्य देशों और यूरोपीय संघ के साथ शामिल हो गया है। मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल में किगाली संशोधन एक कानूनी रूप से बाध्यकारी अंतर्राष्ट्रीय समझौता है जिसका उद्देश्य HFCs की खपत और उत्पादन को धीरे-धीरे समाप्त करना है।

विप्रो ने मूनलाइटिंग के आरोप में अपने 300 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला

आईटी कंपनी विप्रो ने मूनलाइटिंग (Moonlighting) के आरोप में अपने 300 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। हाल ही में Swiggy ने इंडस्ट्री में सबसे पहले मूनलाइटिंग पॉलिसी की घोषणा की है। हालाँकि यह पहली बार है जब किसी आईटी कंपनी ने मूनलाइटिंग की वजह से अधिक संख्या में लोगों को नौकरी से निकाला है। जब कोई कर्मचारी अपनी स्थायी नौकरी के साथ ही दूसरी जगह भी चोरी-छिपे काम करता है तो उसे तकनीकी तौर पर ‘मूनलाइटिंग’ कहा जाता है। सरल शब्दों में इसे साइड जॉब भी कहा जाता है। आईटी उद्योग में मूनलाइटिंग काफी लोकप्रिय हो गई है क्योंकि COVID-19 महामारी के दौरान घर से काम करना एक आदर्श व्यवस्था बन गई है। ज़्यादातर कंपनियाँ इसे अनैतिक मानती हैं, बावजूद इसके लोग मूनलाइटिंग करते हैं। रिमोट जॉब में मूनलाइटिंग ज़्यादा देखने को मिलती है। साइड जॉब को मूनलाइटिंग इसलिये कहा जाता है क्योंकि यह काम ज़्यादातर रात में या वीकेंड पर किया जाता है।

शनि के चमकीले वलय और चरम झुकाव की संभावना पहले से मौजूद चंद्रमा क्रिसलिस के कारण : अध्ययन

हाल के एक अध्ययन के अनुसार, शनि के चमकीले वलय और चरम झुकाव की संभावना पहले से मौजूद चंद्रमा क्रिसलिस के कारण है। शनि का झुकाव 26.73 डिग्री है और इसके निर्माण के चरणों के दौरान झुकाव होने की संभावना नहीं थी। वर्तमान में गैस जायंट नेपच्यून, यूरेनस और शनि में पर्याप्त रूप से झुकाव हुआ है, जो यह दर्शाते है कि यह विशेषता निर्माण चरणों के दौरान उत्पन्न नहीं हुई थी। झुकाव का कारण: विभिन्न सिद्धांतों का सुझाव है कि शनि अपने पड़ोसी नेपच्यून के साथ गुरुत्वाकर्षण अंत:क्रिया के कारण झुका हुआ है। लेकिन नए अध्ययन का तर्क है कि शनि अब नेपच्यून के गुरुत्वाकर्षण प्रभाव में नहीं है। वर्ष 2004 से 2017 तक शनि की परिक्रमा करने वाले नासा के कैसिनी अंतरिक्षयान के अवलोकन के आधार पर शनि के सबसे बड़े उपग्रह टाइटन के प्रभाव में हैं। टाइटन शनि से प्रतिवर्ष लगभग 11 सेंटीमीटर की गति से पलायन कर रहा है, जो पिछले अनुमानों की तुलना में 100 गुना तेज़ है। टाइटन के तेज़ी से पलायन ने ग्रह को और अधिक झुका दिया, जिससे शनि पर नेपच्यून का गुरुत्वाकर्षण प्रभाव कम हो गया। वैज्ञानिकों ने ग्रह के घूमने की धुरी का अनुकरण किया कि यह समय के साथ कैसे बदल गया है, इसमें पूर्व चंद्रमा के प्रभाव का पता चला है, क्योंकि मॉडल के अनुसार, चंद्रमा/उपग्रह के हटने से शनि का झुकाव होता है। क्रिसलिस ने कई अरब वर्षों तक शनि की परिक्रमा की, लगभग 160 मिलियन वर्ष पहले, क्रिसलिस अस्थिर हो गया और अपने ग्रह के बहुत करीब आ गया जिसने संभवतः चंद्रमा/उपग्रह को दूर धकेल दिया या नष्ट कर दिया।

निज़ाम की तलवार को भारत में वापस लाने की तैयारी

14वीं सदी की औपचारिक तलवार जो 20वीं सदी की शुरुआत में हैदराबाद में एक ब्रिटिश जनरल को बेची गई थी, को भारत में वापस लाने की तैयारी की जा रही है। यह तलवार उन सात वस्तुओं में शामिल है जिन्हें ग्लासगो लाइफ (जो ग्लासगो के संग्रहालयों का प्रबंधन करती है) द्वारा स्वदेश भेजा जा रहा है। तलवार का प्रदर्शन हैदराबाद के निज़ाम महबूब अली खान, आसफ जाह VI (वर्ष 1896-1911) द्वारा दिल्ली या इंपीरियल दरबार में वर्ष 1903 में किया गया था, जो भारत के सम्राट और महारानी के रूप में राजा एडवर्ड सप्तम और रानी एलेक्जेंड्रा के राज्याभिषेक के उपलक्ष्य में आयोजित एक औपचारिक स्वागत समारोह था। तलवार को वर्ष 1905 में बॉम्बे कमांड के कमांडर-इन-चीफ, जनरल सर आर्चीबाल्ड हंटर द्वारा (1903-1907) महाराजा किशन प्रसाद जो हैदराबाद के बहादुर यामीन उस-सुल्तान के प्रधानमंत्री थे, से खरीदा गया था। छह वस्तुओं में 14वीं शताब्दी की कई नक्काशी और 11वीं शताब्दी के पत्थर के दरवाजे शामिल हैं। उन्हें 19वीं सदी में पूजास्थलों और मंदिरों से चुरा लिया गया था।

रिजर्व बैंक ने महाराष्‍ट्र के लक्ष्‍मी सहकारी बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया

रिजर्व बैंक ने पर्याप्‍त पूंजी नहीं होने के कारण महाराष्‍ट्र के लक्ष्‍मी सहकारी बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया है। प्रत्‍येक जमाकर्ता को पांच लाख रुपये तक निकासी की अनुमति दी गई है। रिजर्व बैंक ने कहा कि लक्ष्‍मी सहकारी बैंक की वित्‍तीय स्थिति असंतोषजनक है और बैंक का संचालन जारी रहना जमाकर्ताओं के हित में नही है। सहकारी आयुक्‍त और सहकारी समिति पंजीयक से भी बैंक का संचालन बंद करने और वित्तीय निगरानी के लिये ऋण शोधनकर्ता नियुक्त करने को कहा गया है। 13 सितम्‍बर तक बैंक, जमाकर्ताओं की बीमाकृत राशि में से 193 करोड रुपये का भुगतान कर चुका है।

जी-4 के विदेश मंत्रियों बहु-पक्षवाद में सुधार की वार्ता की

विदेश मंत्री डॉक्‍टर एस.जयशंकर ने न्‍यूयॉर्क में संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा की बैठक से अलग जी-4 के विदेश मंत्रियों की बैठक की मेज़बानी की। ब्राजील के विदेश मंत्री कार्लोस फ्रांका, जापान के विदेश मंत्री योशिमासा हयाशी और जर्मनी की विदेश मंत्री अनालेना बायरबॉक बैठक में शामिल हुए। उन्‍होंने बहु-पक्षवाद में सुधार की वार्ता और इस लक्ष्‍य के प्रति सहयोग की प्रतिबद्धता दोहराई।

4 लाख 37 हजार आंगनबाडी केंद्रों ने पोषण वाटिकाएं बनाई हैं

सरकार ने कहा है कि चार लाख 37 हजार आंगनबाडी केंद्रों ने पोषण वाटिकाएं बनाई हैं। महिला और बाल विकास मंत्रालय ने कहा है कि किफायती दर पर फल, सब्जियां, औषधीय पौधों और जड़ी-बूटियों को लोगों तक पहुंचाने के लिए देश भर में पोषण वाटिकाएं या पोषक उद्यान बनाए जा रहे हैं। मंत्रालय ने कहा कि पोषण माह 2022 के तहत, देश भर में पोषण वाटिकाएं स्‍थापित कर गतिविधियों को बड़े पैमाने पर चलाया जा रहा है। मंत्रालय ने कहा कि इसके अलावा छह राज्यों के चुनिंदा जिलों में अब तक एक लाख दस हजार औषधीय पौधे भी लगाए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में पोषण अभियान शुरू किया था, जिसका उद्देश्य बच्चों, किशोरों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के पोषण संबंधी व्‍यवस्‍था में सुधार करना है।

भारत ने कैलिफोर्निया के लिए गुजरात के खेड़ा जिले के नाडियाड से पादप-आधारित मांस उत्‍पादों की पहली कनसाइनमेंट भेजी

भारत ने अमरीका में कैलिफोर्निया के लिए गुजरात के खेड़ा जिले के नाडियाड से पादप-आधारित मांस उत्‍पादों की पहली कनसाइनमेंट भेजी है। अनूठे कृषि प्रसंस्‍कृत खाद्य उत्‍पादों के निर्यात को बढावा देने के लिए कृषि और प्रसंस्‍कृत खाद्य उत्‍पाद निर्यात प्राधिकरण-एपीडा ने वीगन फूड श्रेणी के तहत पादप-आधारित मांस उत्‍पादों की पहली खेप का निर्यात सुगम बनाया है। वाणिज्‍य और उद्योग मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि वीगन खाद्य उत्‍पादों के उच्‍च पोषण मूल्‍य के कारण पादप-आधारित खाद्य उत्‍पादों के अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में निर्यात की असीम संभावना है। अधिक रेशे और कोलेस्‍टेरोल कम होने के कारण वीगन खाद्य उत्‍पाद दुनियाभर में वैकल्पिक खाद्य उत्‍पाद बन रहे हैं। पांच हजार किलोग्राम की कनसाइनमेंट में मिनि समोसे, हॉट एंड स्‍पाइसी स्ट्रिप्‍स, मोमोस, स्प्रिंग रोल्‍स, न्‍यूगेट्स और ग्रिल्‍ड पैटी जैसे उत्‍पाद शामिल हैं। एपीडा ने आगामी महीनों में आस्‍ट्रेलिया, इजराइल, न्‍यूजीलैंड में पैनकेक, स्‍नैक्‍स और चीज सहित अन्‍य उत्‍पादों के निर्यात की योजना बनाई है।

राष्ट्र को तमिलनाडु में अपना पहला डुगोंग संरक्षण रिजर्व मिला

तमिलनाडु में देश के पहले 'डुगोंग संरक्षण अभयारण्य' को अधिसूचित कर दिया गया है। इस कदम का उद्देश्य लुप्तप्राय प्रजाति का संरक्षण करना है। इस कदम से समुद्री जीव के संरक्षण में मदद मिलेगी। अभयारण्य को पाक की खाड़ी में अधिसूचित किया गया है। राज्य सरकार ने सितंबर 2021 में विधानसभा में यह घोषणा की थी कि डुगोंग (समुद्री गाय) प्रजातियों और इसके समुद्री प्रवास के संरक्षण के लिए, तमिलनाडु के तट पर पाक की खाड़ी क्षेत्र में एक अभयारण्य स्थापित किया जाएगा।

केंद्र सरकार ने भारत लाल को राष्ट्रीय सुशासन केंद्र के नए महानिदेशक के रूप में नामित किया

गुजरात कैडर के सेवानिवृत्त अधिकारी भरत लाल को राष्ट्रीय सुशासन केंद्र (NCGG) का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। गुजरात कैडर के 1988 बैच के भारतीय वन अधिकारी भरत लाल ने दिल्ली में गुजरात सरकार के रेजिडेंट कमिश्नर के रूप में काम किया था और उन्हें राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी, जो अब प्रधानमंत्री हैं, के करीबी के रूप में जाना जाता है।

दिल्ली के उपराज्यपाल ने ‘सामुदायिक पुलिस पहल’ की शुरुआत की

दिल्ली के उपराज्यपाल वी. के. सक्सेना ने लोगों को दिल्ली पुलिस की विभिन्न योजनाओं के प्रति जागरूक करने के वास्ते एक सामुदायिक पुलिस पहल की शुरुआत की। उपराज्यपाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 72वें जन्मदिन के अवसर पर इंडिया गेट पर आयोजित ‘सेवा दिवस’ कार्यक्रम में ‘वी केयर’ पहल का उद्घाटन किया। इस पहल का उद्देश्य दिल्ली पुलिस की विभिन्न योजनाओं के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाना है ताकि जनता के साथ अधिक से अधिक समन्वय बनाकर रखा जा सके और पुलिस जनसंपर्क स्थापित किया जा सके।

राजू श्रीवास्तव का पोस्टमार्टम वर्टोप्सी नामक एक नई तकनीक का उपयोग करके किया गया

हाल ही में कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का पोस्टमार्टम वर्चुअल ऑटोप्सी नामक एक नई तकनीक का उपयोग करके किया गया था। वर्चुअल ऑटोप्सी या वर्टोप्सी पोस्टमार्टम की एक नई तकनीक है जिसमें विच्छेदन (dissection) शामिल नहीं है। पोस्टमॉर्टम हाई-टेक डिजिटल एक्स-रे और CT-स्कैन का उपयोग करके किया जाता है। पोस्टमार्टम की पारंपरिक पद्धति की तुलना में इस तकनीक में कम समय लगता है। यह नई विधि रक्तस्राव के साथ-साथ हड्डियों में हेयरलाइन या चिप फ्रैक्चर जैसे फ्रैक्चर का भी पता लगाने में सक्षम है, जो कि एंटीमॉर्टम चोटों (मृत्यु से पहले शरीर द्वारा प्राप्त चोटें) के संकेत हैं। यह शव परीक्षण की पारंपरिक पद्धति में अक्सर संभव नहीं होता है। वर्टोप्सी द्वारा किए गए निष्कर्षों को एक्स-रे फिल्मों के रूप में प्रलेखित किया जा सकता है, जिसे अदालत में सबूत के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। अविकसित देशों में इसका उपयोग करना भी मुश्किल है जहां उन्नत तकनीक प्रचलित नहीं है। हालांकि, यह पारंपरिक शव परीक्षा के नैतिक नुकसान को दूर करता है क्योंकि कई संस्कृतियां और परंपराएं शव परीक्षण के लिए शरीर के विच्छेदन को स्वीकार नहीं करती हैं। वर्तमान में, एम्स दिल्ली एकमात्र संस्थान है जो पिछले दो वर्षों से दक्षिण पूर्व एशिया में वर्चुअल ऑटोप्सी कर रहा है।

चीन में वैज्ञानिकों ने बनाया दुनिया का पहला क्लोन जंगली आर्कटिक भेड़िया ‘माया’

चीन के बीजिंग स्थित जीन फर्म की ओर से दुनिया में पहली बार एक जंगली आर्कटिक भेड़िया का सफलतापूर्वक क्लोन बनाया गया है। इसे आर्कटिक वुल्फ को व्हाइट वुल्फ या पोलर वुल्फ के रूप में भी जाना जाता है। ये कनाडा के क्वीन एलिजाबेथ द्वीप समूह के हाई आर्कटिक टुंड्रा का मूल निवासी है। हालांकि ये नया भेड़िया अब 100 दिन का हो चुका है। जीवित जीवों की क्लोनिंग बनाने की प्रक्रिया का उपयोग पहली बार 1996 में एक स्कॉटिश वैज्ञानिक द्वारा एक जानवर बनाने के लिए किया गया था। पहली बार एक डॉली नाम की भेड़ बनाई गई थी।

26 सितंबर को नासा का DART मिशन एक क्षुद्रग्रह से टकराएगा

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA) के Double Asteroid Redirection Test (DART) अंतरिक्ष यान 26 सितंबर को 24,000 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से एक क्षुद्रग्रह (Asteroid) से टकराएगा। डार्ट को नवंबर 2021 में पृथ्वी से लान्च किया गया था। यह एक बस के आकार जैसा है। इसे एक खतरनाक क्षुद्रग्रह से पृथ्वी की रक्षा करने की हमारी क्षमता का परीक्षण करने और साबित करने के लिए बनाया गया था। यदि वो इसमें सफल रहा तो ये अंतरिक्ष विज्ञान में एक बड़ी उपलब्धि होगी।

Max Life इंश्योरेंस ने रोहित-रितिका को बनाया ब्रांड एंबेसडर

मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (Max Life Insurance Company ) ने क्रिकेटर रोहित शर्मा और उनकी पत्नी रितिका सजदेह को अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया है। कंपनी ने नए एंबेसडर के साथ दो साल की पार्टनरशिप की है। मैक्स लाइफ के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर राहुल तलवार ने कहा कि हमारा मानना है कि इस पार्टनरशिप से लोगों में, खासकर युवा पीढ़ी में लाइफ इंश्योरेंस को लेकर जागरूकता बढ़ाने में मदद मिलेगी। रोहित शर्मा और रितिका सजदेह के साथ हमारा जुड़ाव इस जर्नी को मजबूत करेगा।

हाइफा दिवस

प्रत्येक वर्ष 23 सितंबर को भारतीय सेना द्वारा हाइफा दिवस के रूप में मनाया जाता है। हाइफा दिवस का मुख्य उद्देश्य हाइफा के युद्ध में लड़ने वाले भारतीय सैनिकों के प्रति सम्मान प्रकट करना है। हाइफा का युद्ध 23 सितंबर, 1918 को हुआ था, जिसमें जोधपुर, मैसूर तथा हैदराबाद के सैनिकों, जो कि 15 इंपीरियल सर्विस कैवलरी ब्रिगेड का हिस्सा थे, ने मित्र राष्ट्रों की ओर से प्रथम विश्वयुद्ध में भाग लेकर जर्मनी व तुर्की के आधिपत्य वाले इज़रायल के ‘हाइफा शहर’ को मुक्त करवाया था। इस युद्ध में लड़ने वाले सैनिकों को सम्मान देते हुए भारत सरकार ने दिल्ली स्थित विख्यात तीन मूर्ति मेमोरियल को तीन मूर्ति हाइफा मेमोरियल के रूप में पुनः नामित किया था।

अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस

बधिर लोगों के मानवाधिकारों की पूर्ण प्राप्ति में सांकेतिक भाषा के महत्त्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने हेतु प्रतिवर्ष 23 सितंबर को ‘अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस’ का आयोजन किया जाता है। ‘अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस’ का प्रस्ताव बधिर लोगों के 135 राष्ट्रीय संघों के संघ- ‘वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ द डेफ’ (WFD) ने रखा। इस प्रस्ताव को 19 दिसंबर, 2017 को सर्वसम्मति से अपनाया गया। इस प्रकार वैश्विक स्तर पर पहला ‘अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस’ का आयोजन वर्ष 2018 में किया गया था। वर्ष 1951 की 23 सितंबर की तारीख ‘वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ द डेफ’ की स्थापना का प्रतीक है। अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस, 2022 की थीम “सांकेतिक भाषाएँ हमें एकजुट करती हैं”(‘Sign Languages Unite Us’) है। ‘वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ द डेफ’ के आँकड़ों की मानें तो दुनिया भर में 70 मिलियन से अधिक बधिर व्यक्ति हैं। ज्ञात हो कि सांकेतिक भाषा संप्रेषण का एक माध्यम है, जहाँ हाथ के इशारों और शरीर तथा चेहरे के हाव-भावों का उपयोग किया जाता है। इस प्रकार सांकेतिक भाषाएँ बोली जाने वाली भाषाओं से संरचनात्मक रूप से अलग होती हैं और इनका प्रयोग अधिकांशतः श्रवण बाधित लोगों द्वारा किया जाता है।

लेखिका हिलेरी मेंटल का निधन

दो बार बुकर पुरस्कार से सम्मानित होने वाली पहली महिला और लोकप्रिय उपन्यास ‘वुल्फ हॉल’ की लेखिका हिलेरी मेंटल का 70 वर्ष की आयु में लंदन में निधन हो गया। इनका जन्म डर्बीशर, इंग्लैंड के ग्लोस्सोप में 6 जुलाई, 1952 को हुआ था। इनको वर्ष 2009 में थॉमस क्रोमवेल शृंखला के पहले उपन्यास ‘वुल्फ हॉल’ के लिये तथा वर्ष 2012 में अनुवर्ती उपन्यास ‘ब्रिंग अप द बॉडीज’ के लिये ‘बुकर पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया। शृंखला के तीसरे उपन्यास के तौर पर वर्ष 2020 में प्रकाशित ‘द मिरर एंड द लाइट’ को भी पाठकों ने काफी पसंद किया और वह बुकर पुरस्कार,2020 के लिये लंबे समय तक सूचीबद्ध रही। अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार वार्षिक रूप से किसी एक पुस्तक को प्रदान किया जाता है जिसका अंग्रेज़ी में अनुवाद किया गया हो तथा यूके या आयरलैंड में प्रकाशित हो। अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार की शुरुआत वर्ष 2005 में मैन बुकर अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार के रूप में हुई।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.