Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

5 December 2022

भारत की अध्‍यक्षता में जी-20 की पहली शेरपा बैठक राजस्थान के उदयपुर में शुरू

भारत की अध्‍यक्षता में जी-20 की पहली शेरपा बैठक राजस्‍थान के उदयपुर में शुरू हुई। चार दिन की इस बैठक की अध्‍यक्षता भारत के जी-20 शेरपा अमिताभ कांत कर रहे हैं। अपनी शुरूआती टिप्‍पणी में उन्‍होंने कहा कि भारत ने ऐसे समय में जी-20 की अध्‍यक्षता संभाली है जब विश्‍व कई चुनौतियां का सामना कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि भारत का मानना है कि हर संकट एक अवसर होता है। इस बैठक में 19 देशों के प्रतिनिधि भाग ले रहे है। यूरोपीय संघ से और नौ विशेष आमंत्रित देशों के प्रतिनिधि मौजूदा समय के अत्‍यावश्‍यक मुद्दों पर महत्‍वपूर्ण चर्चा करेंगे। श्री अमिताभ कांत ने कहा कि जी-20 की शेरपा बैठक के लिए उदयपुर को इसलिए चुना गया है क्‍योंकि सरकार इसे वैश्विक पर्यटन स्‍थल बनाना चाहती है। जी-20 शेरपा बैठक में विभिन्‍न देशों के 43 शेरपा भाग ले रहे हैं।

डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह आबू धाबी अंतरिक्ष परिचर्चा में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्‍व करेंगे

परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्‍य मंत्री डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह 5 दिसंबर 2022 को संयुक्‍त अरब अमारात में शुरू हो रही आबू धाबी अंतरिक्ष परिचर्चा में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्‍व करेंगे। वे इस्राइल के राष्‍ट्रपति इसाक हरजोग के साथ उद्घाटन सत्र को संबोधित करेंगे। दो दिन की इस अंतर्राष्‍ट्रीय बैठक में डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह रोल ऑफ फारेन पॉलिसी इन एनेबलिंग स्‍पेस डिप्‍लोमेसी एण्‍ड इंटरनेशनल को-ऑपरेशन पर मंत्री स्‍तरीय बैठक में भाग लेंगे। उनका संयुक्‍त अरब अमारात के अत्‍याधुनिक प्रौद्योगिकी राज्‍यमंत्री और वहां की अंतरिक्ष एजेंसी की प्रमुख सराह अल अमीरी के साथ अंतरिक्ष के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को और सुदृढ़ करने पर चर्चा करने का भी कार्यक्रम है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन-इसरो और यूएई अंतरिक्ष एजेंसी ने वर्ष 2016 में बाह्य अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उद्देश्‍य के प्रयोग में सहयोग करने के एक ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए हैं। केन्‍द्रीय मंत्री ने बताया कि पर्यावरण के सम्‍बन्‍ध में जानकारी जुटाने वाला यूएई का पहला नैनो उपग्रह नेईफ-एक पीएसएलवी द्वारा श्रीहरिकोटा से छोड़ा गया है।

डीआरडीओ ने आकाश आयुध प्रणाली (भारतीय सेना संस्करण) के सीलबंद विवरण को मिसाइल सिस्टम क्वालिटी एश्योरेंस एजेंसी को सौंपा

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने 03 दिसंबर, 2022 को हैदराबाद में आकाश आयुध प्रणाली (भारतीय सेना संस्करण) के सीलबंद विवरण (एएचएसपी) को मिसाइल सिस्टम क्वालिटी एश्योरेंस एजेंसी (एमएसक्यूएए) से सम्बंधित प्राधिकरण को सौंप दिया है। यह प्रक्रिया डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट लेबोरेटरी (डीआरडीएल) में आयोजित की गई थी, जिसने एक नोडल एजेंसी के रूप में आकाश आयुध प्रणाली को तैयार तथा विकसित किया है। एएचएसपी हस्तांतरण के हिस्से के रूप में तकनीकी विनिर्देश व गुणवत्ता दस्तावेज एवं पूर्ण हथियार प्रणाली घटकों की ड्राइंग को प्रोजेक्ट आकाश द्वारा एमएसक्यूएए को सौंपा गया। आकाश पहली अत्याधुनिक स्वदेशी सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल प्रणाली है, जो लगभग एक दशक से सशस्त्र बलों के साथ भारतीय आकाश की रक्षा तथा राष्ट्रीय सुरक्षा प्रदान कर रही है। इसे भारतीय सेना और भारतीय वायु सेना द्वारा 30,000 करोड़ रुपये के ऑर्डर मूल्य के साथ शामिल किया गया है, जो स्वदेशी मिसाइल प्रणाली के लिए सबसे बड़े सिंगल सिस्टम ऑर्डर में से एक है। डीआरडीएल के अलावा, कई अन्य डीआरडीओ प्रयोगशालाएं इस रक्षा प्रणाली के विकास में शामिल हैं। इनमें रिसर्च सेंटर इमारत, इलेक्ट्रॉनिक्स और रडार विकास प्रतिष्ठान, अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान (इंजीनियर), एकीकृत परीक्षण रेंज, आयुध अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान, उच्च ऊर्जा सामग्री अनुसंधान प्रयोगशाला और वाहन अनुसंधान विकास प्रतिष्ठान प्रमुख हैं। यह प्रणाली भारत डायनेमिक्स लिमिटेड, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड, लार्सन एंड टुब्रो, टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड, इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, बीईएमएल लिमिटेड के साथ-साथ माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज और अन्य रक्षा उद्योग भागीदारों द्वारा निर्मित की गई है।

ऑस्ट्रेलिया-भारत ऊर्जा केंद्र (AICE) शुरू करने के लिए सहयोग

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) मद्रास और ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालय 2030 SDG पर काम करने के लिए ऑस्ट्रेलिया-भारत ऊर्जा केंद्र (AICE) शुरू करने के लिए सहयोग कर रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया-भारत ऊर्जा केंद्र (AICE) एक वर्चुअल केंद्र है जो ऊर्जा क्षेत्र में भारत और ऑस्ट्रेलिया के विश्वविद्यालयों, अनुसंधान संस्थानों और उद्योगों के बीच सहयोग को बढ़ावा देगा। इसे दिसंबर 2022 में IIT मद्रास द्वारा आयोजित दो दिवसीय ऊर्जा शिखर सम्मेलन 2022 के दौरान लॉन्च किया जाएगा। इस केंद्र का मुख्य उद्देश्य परिवर्तनकारी अनुसंधान, प्रौद्योगिकी विकास और परिनियोजन के माध्यम से ऊर्जा क्षेत्र में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच द्विपक्षीय सहयोग को गहरा करना है। इसका उद्देश्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी, अर्थशास्त्र, नीति और शासन में संलग्न होने के लिए शिक्षाविदों, उद्योगों और सरकारी एजेंसियों के लिए एसडीजी 7 और अन्य संबंधित एसडीजी पर एक प्रमुख द्विपक्षीय मंच बनना है।

जापानी अन्तरिक्ष एजेंसी ने अन्तरिक्षयान को चलाने के लिए भाप का इस्तेमाल किया

जापानी अंतरिक्ष एजेंसी JAXA ने हाल ही में घोषणा की कि उसने अपने EQUULEUS अंतरिक्ष यान को चलाने के लिए सफलतापूर्वक भाप का उपयोग किया था, जो 10 क्यूबसैट में से एक था जिसे स्पेस लॉन्च सिस्टम (SLS) की पहली उड़ान पर आर्टेमिस I मिशन के हिस्से के रूप में लॉन्च किया गया था। EQUilibriUm Lunar-Earth point 6U Spacecraft (EQUULEUS) 6U क्यूबसैट प्रारूप का एक नैनोसेटेलाइट है जो वैज्ञानिकों को क्षेत्र के विकिरण पर्यावरण को समझने में मदद करने के लिए पृथ्वी के चारों ओर प्लाज्मा के वितरण को मापेगा। यह EML2 (दूसरा पृथ्वी-चंद्रमा लाग्रेंज बिंदु) से चंद्र प्रभाव चमक और निकट-पृथ्वी क्षुद्रग्रहों को देखने के लिए DELPHINUS (DEtection camera for Lunar impact PHenomena IN 6U Spacecraft) नामक एक उपकरण भी रखता है। क्यूबसैट के लगभग डेढ़ साल में EML2 तक पहुंचने की उम्मीद है। ELM2 तक पहुँचने के लिए, इसने AQUARIUS (AQUA ResIstojet proPulsion System) नामक इंजन का उपयोग किया जो पानी को ईंधन के रूप में उपयोग करता है। यह पानी को भाप में परिवर्तित करने के लिए संचार किट से अपशिष्ट गर्मी का उपयोग करता है।

महाराष्ट्र में दिव्यांगों के कल्याण के लिए अलग से दिव्यांग विभाग बनेगा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने घोषणा की है कि राज्य में दिव्यांगों के कल्याण के लिए अलग से एक दिव्यांग विभाग बनाया जाएगा। इसके लिए एक हजार 143 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की जाएगी। श्री शिंदे ने मुंबई में अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने नए विभाग के लिए दो हजार 63 पदों का सृजन किया है। उन्होंने यह भी कहा कि महाराष्ट्र ऐसा विभाग बनाने वाला पहला राज्य बन गया है।

श्रीलंका को ऋण संकट से उबारने के लिए 10 साल की मोहलत देने और 15 साल के ऋण पुनर्गठन का प्रस्ताव

पेरिस क्लब के 22 देशों ने श्रीलंका को ऋण संकट से उबारने के लिए 10 साल की मोहलत देने और 15 साल के ऋण पुनर्गठन का प्रस्ताव रखा है। इन देशों ने अन्‍य देशों से भी श्रीलंका की मदद करने को कहा है। हालांकि चीन या भारत को औपचारिक रूप से ऐसा कोई प्रस्‍ताव नहीं मिला है। इस बीच श्रीलंका के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्राकोष-आईएमएफ से मदद हासिल करने की दिसंबर की समय सीमा खत्‍म होने जा रही है। ऐसे में आईएमएफ से आगे कोई वित्‍तीय पैकेज प्राप्‍त करने तक उसे कुछ फंड की आवश्‍यकता पडे़गी। श्रीलंका पहले ही 51 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज नहीं चुका पाया है। हालांकि भारत की ओर से उसे चार अरब डालर की आपात आर्थिक सहायता दी जा चुकी है।

राजीव लक्ष्मण करंदीकर को राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग का अध्यक्ष नामित किया गया

भारत सरकार ने राजीव लक्ष्मण करंदीकर, प्रोफेसर एमेरिटस, चेन्नई मैथमेटिकल इंस्टीट्यूट (सीएमआई) को तीन साल की अवधि के लिए भारत के राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग (एनएससी) के अंशकालिक अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया था। वह सीएमआई में प्रोफेसर एमेरिटस के रूप में जारी रहते हुए एक अतिरिक्त जिम्मेदारी के रूप में इस भूमिका को निभाएंगे। उन्होंने 2010 में विजिटिंग प्रोफेसर के रूप में सीएमआई ज्वाइन किया और जनवरी 2011 से अप्रैल 2021 तक सीएमआई के निदेशक के रूप में कार्य किया।

विजेंदर शर्मा इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट अकाउंटेंट ऑफ इंडिया के अध्यक्ष चुने गए

विजेंद्र शर्मा को वर्ष 2022-23 के लिए भारतीय लागत लेखाकार संस्थान (आईसीएआई) का अध्यक्ष चुना गया है जबकि राकेश भल्ला इसके उपाध्यक्ष निर्वाचित किए गए हैं। शर्मा आईसीएआई के साथी सदस्य और विधि स्नातक हैं। वह 1998 से एक प्रमुख प्रैक्टिसिंग कॉस्ट अकाउंटेंट हैं और जनवरी 2017 से इन्सॉल्वेंसी प्रोफेशनल हैं।

नवंबर में GST कलेक्शन घटकर 1.46 लाख करोड़ रुपये हुआ

जीएसटी से सरकार को नवंबर महीने में 1.46 लाख करोड़ रुपये की कमाई हुई। अक्तूबर महीने के मुकाबले इसमें चार प्रतिशत की कमी आई। पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में यह 11 फीसदी ज्यादा है। वित्त मंत्रालय की ओर से इस बात की जानकारी साझा की गई। अक्तूबर महीने मेंं जीएसटी का कलेक्शन 1.52 लाख रुपये था। नवंबर 2021 में जीएसटी का कलेक्शन 1.32 लाख करोड़ रुपये था।

चुनाव आयोग ने गुजरात में एक वोटर के लिए बनाया पोलिंग बूथ

गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 के लिए चुनाव आयोग ने सभी लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए पहल की है। यहां पहले चरण की वोटिंग में गिर के घने जंगलों में सिर्फ एक वोटर महंत हरिदासजी उदासिन के लिए भी एक मतदान केंद्र स्थापित किया है। बता दें कि गुजरात चुनाव में पहले चरण के लिए चुनाव आयोग ने कुल 25,434 पोलिंग स्टेशन बनाए हैं, जिससे मतदाताओं को कोई परेशानी ना हो। इसमें से 9,018 शहरी पोलिंग स्टेशन और 16,416 ग्रामीण पोलिंग स्टेशन हैं।

‘चिपको आंदोलन’ पर आधारित किताब को कमलादेवी चट्टोपाध्याय एनआईएफ पुरस्कार

वन संरक्षण के लिए लोकप्रिय अभियान ‘चिपको आंदोलन’ पर आधारित एक किताब को ‘कमलादेवी चट्टोपाध्याय एनआईएफ बुक प्राइज 2022’ का विजेता चुना गया। यह किताब इतिहासकार-वन संरक्षण कार्यकर्ता शेखर पाठक ने लिखी है। मनीषा चौधरी द्वारा हिंदी भाषा में लिखी किताब की अनुवादित कृति ‘द चिपको मूवमेंट : अ पीपुल्स हिस्ट्री’ को इस पुरस्कार के लिए चयनित आधुनिक भारतीय इतिहास और विविध विषयों पर आधारित पांच किताबों में से चुना गया है। कमलादेवी चट्टोपाध्याय एनआईएफ बुक प्राइज किसी भी देश के लेखक को आधुनिक या समकालीन भारत पर लिखे उत्कृष्ट कथेतर साहित्य के लिए दिया जाता है। पुरस्कार के तहत 15 लाख रुपये का नकद पुरस्कार, एक ट्रॉफी तथा प्रशस्ति पत्र दिया जाता है।

आरबीआई ने शहरी सहकारी बैंक के लिए 4 स्तरीय नियामक मानदंडों को लागू किया

भारतीय रिज़र्व बैंक(आरबीआई) ने 1 दिसंबर 2022 को भारत में शहरी सहकारी बैंकों (यूसीबी) के लिए एक चार स्तरीय संरचना को अधिसूचित किया है। इससे पहले भारत में यूसीबी को आरबीआई द्वारा दो श्रेणियों में विभाजित किया गया था। भारतीय रिजर्व बैंक ने शहरी सहकारी बैंकों के मुद्दों की जांच के लिए,पूर्व डिप्टी गवर्नर, रिजर्व बैंक, श्री एन एस विश्वनाथन, की अध्यक्षता में 15 फरवरी, 2021 को शहरी सहकारी बैंकों पर एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया था।

4 दिसम्बर : भारतीय नौसेना दिवस

हर साल भारतीय नौसेना दिवस 4 दिसंबर को मनाया जाता है। ऑपरेशन ट्राइडेंट के उपलक्ष्य में हर साल भारतीय नौसेना दिवस मनाया जाता है। कराची हार्बर पर हमला करने के लिए 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान भारतीय नौसेना द्वारा यह ऑपरेशन शुरू किया गया था। ऑपरेशन ट्राइडेंट 4 दिसंबर की रात में शुरू किया गया था। इस हमले के दौरान भारतीय नौसेना ने कराची स्थित पाकिस्तान नौसेना मुख्यालय में ईंधन भंडारण टैंकरों को तबाह कर दिया था। भारतीय नौसेना ने पाकिस्तानी नौकाओं में से 4 को डुबो दिया और इसमें 500 पाकिस्तानी नौसेना कर्मी मारे गये। 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान पहली बार भारत ने एंटी-शिप मिसाइल तैनात की थी। ऑपरेशन ट्राइडेंट के बाद ऑपरेशन पायथन किया गया था।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.