Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

1 November 2022

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के थराद, बनासकांठा में 8000 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की आधारशिला रखी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने बनासकांठा के थराद का दौरा किया और 8000 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं की आधारशिला रखी। जलापूर्ति से संबंधित जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी गई उनमें 1560 करोड़ रुपये से अधिक की लागत की मुख्‍य नर्मदा नहर से कसारा से दंतेवाड़ा पाइपलाइन शामिल है। यह परियोजना पानी की आपूर्ति में वृद्धि करेगी और क्षेत्र के किसानों के लिए फायदेमंद साबित होगी। प्रधानमंत्री ने सुजलम सुफलाम नहर को मजबूत करने, मोढेरा-मोती दाऊ पाइपलाइन का मुक्तेश्वर बांध-कर्मावत झील तक विस्तार, और संतालपुर तालुका के 11 गांवों के लिए लिफ्ट सिंचाई योजना सहित अनेक परियोजनाओं की भी घोषणा की।

भारत आतंकवाद के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र ट्रस्ट फंड के लिए $500,000 का योगदान देगा

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत आतंकवाद का मुकाबला करने में सदस्य देशों को क्षमता निर्माण समर्थन में सहायता के लिए इस साल संयुक्त राष्ट्र ट्रस्ट फंड फॉर काउंटर टेररिज्म में 500,000 अमरीकी डालर का योगदान देगा।उन्होंने नई दिल्ली में 'आतंकवादी उद्देश्यों के लिए नई और उभरती प्रौद्योगिकियों के उपयोग का मुकाबला' पर काउंटर टेररिज्म कमेटी (सीटीसी) की यूएनएससी की विशेष बैठक के पूर्ण सत्र में अपने मुख्य भाषण के दौरान यह घोषणा की।

भारतीय रिजर्व बैंक थोक कारोबार के लिए डिजिटल रुपये की पायलट परियोजना शुरू करेगा

भारतीय रिजर्व बैंक 1 नवंबर 2022 से थोक कारोबार के लिए डिजिटल रुपये की पायलट परियोजना शुरू करेगा। डिजिटल रुपये का उपयोग सेकेंडरी मार्केट में सरकारी प्रतिभूतियों के लेनदेन में किया जाएगा। रिजर्व बैंक ने एक बयान में कहा है कि ई-रुपये के इस्तेमाल से अंतर-बैंक बाजार में लेनदेन अधिक किफायती हो जाएगा और लेनदेन की लागत में कमी आएगी। इस पायलट प्रोजेक्‍ट में भागीदारी के लिए भारतीय स्‍टेट बैंक, बैंक ऑफ बडौदा, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महेन्‍द्रा बैंक, यस बैंक, आईडीएफसी बैंक और एचएसबीसी बैंक को चुना गया है।

भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चन्द्र पांडेय ने दो दिन के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का उदघाटन किया

भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चन्द्र पांडेय ने नई दिल्ली में दो दिन के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का उदघाटन किया। इसका विषय है - चुनाव प्रबंधन संस्थाओं की भूमिका, प्रारूप और क्षमता। इस सम्मेलन का आयोजन भारतीय निर्वाचन आयोग ने दिसम्बर 2021 में आयोजित लोकतंत्र के लिए शिखर सम्मेलन के सुझावों के अनुरूप किया है। मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने विश्व के अन्य लोकतांत्रिक देशों को चुनाव प्रबंधन विशेषज्ञता उपलब्ध कराने का प्रस्ताव भी रखा।

लूला डा सिल्वा होंगे ब्राजील के नए राष्ट्रपति

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने ब्राजील में राष्‍ट्रपति चुनाव जीतने पर लुइज़ इनासियो लूला डा सिल्वा को बधाई दी है। लुइज़ इनासियो लूला डा सिल्वा, जिन्हें लूला के नाम से जाना जाता है, ने 2002 और 2010 के बीच दो कार्यकालों के लिए ब्राज़ील के राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया। राष्ट्रपति के रूप में अपने पिछले कार्यकाल के दौरान, ब्राज़ील ने बड़े पैमाने पर आर्थिक विकास और सामाजिक कल्याण कार्यक्रमों के बड़े पैमाने पर कार्यान्वयन को देखा।

आयकर विभाग ने राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर हरित आयकर की शुरूआत की

आयकर विभाग ने राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर हरित आयकर की शुरूआत की है। इसका उद्देश्‍य हरियाली का भू-भाग बढाना और छोटे-छोटे वनों का विस्‍तार करना है। शब्‍द एचएआरआईटी-हरित वास्‍तव में हरियाली अचिवमेंट रेजोलुशन बाई इंक्‍मटैक्‍स का संक्षेप शब्‍द है। इसके अन्‍तर्गत आयकर विभाग द्वारा वृक्षारोपण और छोटे-छोटे वनों का सृजन कर हरे-भरे क्षेत्रों का विस्‍तार करना है। इसमें आयकर विभाग के भवनों और अन्‍य सार्वजनिक क्षेत्रों के आसपास छोटे वनों को बढावा देना है।

संयुक्त राष्ट्र, तुर्की और यूक्रेन काला सागर खाद्यान्‍न समझौता लागू करने पर सहमत

संयुक्त राष्ट्र, तुर्की और यूक्रेन काला सागर खाद्यान्‍न समझौता लागू करने पर सहमत हो गये हैं। हालांकि रूस इस समझौते से अलग हो गया है और उसने अनिश्चितकाल के लिए अपनी भूमिका रोक दी। रूस ने कहा है कि अपने काला सागर बेड़े पर हमले के बाद संधि के तहत यात्रा करने वाले जहाजों की सुरक्षा की गारंटी नहीं दे सकता। संयुक्त राष्ट्र के प्रयास से जुलाई में हुए रूस, यूक्रेन और तुर्किये के समझौते से करीब 100 दिन से खाद्यान्न का निर्यात हो रहा है। लेकिन 120 दिनों के लिए हुआ यह समझौता रूस ने पहले ही तोड़ दिया। इसके लिए उसने काला सागर में रूसी नौसैनिक बेड़े पर हुए हमले को कारण बताया है। बता दें कि रूस और यूक्रेन खाद्यान्न के बड़े निर्यातक देश हैं। दोनों देश दुनिया की कुल खपत का करीब 35 प्रतिशत खाद्यान्न निर्यात करते हैं।

तियांगोंग (Tiangong) अंतरिक्ष स्टेशन का अंतिम मॉड्यूल लॉन्च किया गया

तियांगोंग (Tiangong) अंतरिक्ष स्टेशन के अंतिम मॉड्यूल “मेंगटियन” (Mengtian) को 31 अक्टूबर को सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया। “मेंगटियन” मॉड्यूल को चीन के वेन्चनाग लॉन्च सेंटर से लॉन्ग मार्च-5B Y4 कैरियर रॉकेट पर लॉन्च किया गया। यह तीसरा और अंतिम मॉड्यूल है। यह चीनी अंतरिक्ष स्टेशन का एक महत्वपूर्ण घटक है, जो कई अत्याधुनिक वैज्ञानिक उपकरणों से लैस है। इस मॉड्यूल के 10 साल या उससे अधिक समय तक चालू रहने की उम्मीद है। यह दो मॉड्यूल में से दूसरा है जो अनुसंधान करने के लिए आवश्यक विज्ञान प्रयोगशालाओं की मेजबानी करेगा। मेंगटियन के पास द्रव भौतिकी, दहन और सामग्री विज्ञान और अंतरिक्ष प्रौद्योगिकियों पर ध्यान केंद्रित करने वाले माइक्रोग्रैविटी वैज्ञानिक अध्ययन और फ्रंटियर वैज्ञानिक परियोजनाओं से संबंधित प्रयोगों का समर्थन करने वाले कार्य केंद्र होंगे।

इंडिया स्पेस कांग्रेस 2022 का आयोजन नई दिल्ली में किया गया

इंडिया स्पेस कांग्रेस 2022 (ISC 2022) का आयोजन इस साल 26 से 28 अक्टूबर तक नई दिल्ली में किया गया। इंडिया स्पेस कांग्रेस एक अंतर्राष्ट्रीय कांग्रेस है जो अंतरिक्ष क्षेत्र में सरकार, औद्योगिक विशेषज्ञों, नीति निर्माताओं, विचारकों, कानूनी पेशेवरों और शिक्षाविदों को एक साथ लाती है ताकि अंतरिक्ष अन्वेषण के प्रभावी प्रबंधन को सुनिश्चित करने के तरीकों पर चर्चा की जा सके। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो), रक्षा मंत्रालय, नीति आयोग, इन-स्पेस, न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) और दूरसंचार विभाग की सहायता से सैटकॉम इंडस्ट्री एसोसिएशन (SIAIndia) द्वारा इंडिया स्पेस कांग्रेस (ISC 2022) का आयोजन किया गया। इस आयोजन की थीम ‘Leveraging Space to Power Next-Gen Communication & Businesses’ है। इसने भारत में अंतरिक्ष क्षेत्र में विकास के अवसरों पर चर्चा करने के लिए अंतरिक्ष एजेंसियों, उद्योग और संस्थानों के महत्वपूर्ण हितधारकों को एक साथ लाया। 3 दिवसीय इस इवेंट के दौरान, प्रतिष्ठित व्यक्तियों ने अंतरिक्ष क्षेत्र के विकास के लिए अपनी अंतर्दृष्टि और रणनीतियों को साझा किया। इस आयोजन ने हितधारकों को वैश्विक और क्षेत्रीय आर्थिक लाभों को सुरक्षित करने के लिए भारत के अंतरिक्ष पारिस्थितिकी तंत्र में सहयोग करने के अवसर भी प्रदान किए।

भारत स्वीडन नवाचार दिवस 2022 मनाया गया

इस वर्ष, भारत-स्वीडन नवाचार दिवस का 9वां संस्करण मनाया गया। भारत और स्वीडन के बीच सतत औद्योगिक विकास और तकनीकी नवाचार के माध्यम से हरित संक्रमण (green transition) जैसे क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देने के लिए भारत-स्वीडन नवाचार दिवस हर साल मनाया जाता है। यह भारत-स्वीडन इनोवेशन पार्टनरशिप के तहत मनाया जाता है। इस दिन का पहला संस्करण वर्ष 2013 में साझेदारी की स्थापना के समय मनाया गया था। इसका उद्देश्य जलवायु परिवर्तन और सतत विकास जैसी वैश्विक चुनौतियों का समाधान करने और नवाचार के माध्यम से दोनों देशों के लिए समृद्धि प्राप्त करने की दिशा में आपसी प्रतिबद्धता सुनिश्चित करना है। 9वें वार्षिक भारत-स्वीडन नवाचार दिवस का संस्करण 27 अक्टूबर को स्टॉकहोम, स्वीडन में आयोजित किया गया। इसे स्वीडन और लातविया में भारतीय दूतावास के सहयोग से इंडिया अनलिमिटेड द्वारा आयोजित किया गया। इस वर्ष के आयोजन की थीम “Accelerating Green Transition-India Sweden Innovation Partnership” है।

सरस फूड फेस्टिवल-2022

हाल ही में स्वयं सहायता समूहों (SHG) की महिलाओं द्वारा तैयार किये गए पारंपरिक और घर में बने हस्तशिल्प, पेंटिंग, खिलौने आदि को बढ़ावा देने के लिये नई दिल्ली में सरस फूड फेस्टिवल, 2022 का आयोजन किया गया। यह बड़े पैमाने पर महिलाओं को सशक्त बनाने के प्रयास के रूप में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय की एक पहल है। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय के प्रमुख कार्यक्रम 'राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन' के तहत गठित स्वयं सहायता समूहों की महिलाएँ इस उत्सव में भाग ले रही हैं। यह आयोजन महिला स्वयं सहायता समूहों को भोजन बनाने के क्षेत्र में अपने कौशल का प्रदर्शन करने और लोगों को हमारे देश की खाद्य संस्कृति से परिचित कराने का अवसर प्रदान करेगा। ये एसएचजी महिलाएँ ग्रामीण उत्पाद बनाने और अपने राज्यों के पारंपरिक व्यंजन तैयार करने में कुशल हैं। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा तैयार सरस उत्पादों के बेहतर और अधिक प्रभावी विपणन के लिये ई-कॉमर्स पोर्टल भी लॉन्च किया। लगभग 8 करोड़ 62 लाख महिलाएँ स्वयं सहायता समूहों की सदस्य हैं। 97 प्रतिशत ब्लॉकों में उनकी उपस्थिति है, जबकि उनमें से 85 प्रतिशत सीधे मंत्रालय के नेटवर्क से जुड़े हैं। ई-कॉमर्स पोर्टल के ज़रिये सालाना करीब 25 प्रतिशत बिक्री महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा किये जाने का प्रयास किया जा रहा है। यह मंत्रालय विपणन की पहुँच बढ़ाने के लिये सभी राज्यों की राजधानियों, प्रमुख शहरों और महानगरों, हवाई अड्डों तथा रेलवे स्टेशनों में महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा सरस स्टॉल स्थापित करने के लिये आवश्यक कदम उठाएगा।

कालानमक चावल की दो नई बौनी किस्मों का सफलतापूर्वक परीक्षण किया

हाल ही में भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (IARI) ने उत्तर प्रदेश में कालानमक चावल की दो नई बौनी किस्मों, पूसा नरेंद्र कालानमक 1638 और पूसा नरेंद्र कालानमक 1652 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया, जो दोगुनी उपज देती हैं। यह पारंपरिक किस्म में कम उपज की समस्या का समाधान करेगा। कालानमक धान की एक पारंपरिक किस्म है जिसमें काली भूसी और तेज़ सुगंध होती है। इसे श्रावस्ती के लोगों के लिये 'भगवान बुद्ध का उपहार' माना जाता है जब उन्होंने ज्ञान के बाद इस क्षेत्र का दौरा किया था। इसे 'वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट' (ODOP) योजना के तहत सिद्धार्थनगर के ओडीओपी उत्पाद के रूप में सम्मानित किया गया है जो उत्तर प्रदेश के तराई क्षेत्र में स्थित एक आकाँक्षी ज़िला है। यह उत्तरपूर्वी उत्तर प्रदेश के तराई क्षेत्र के 11 ज़िलों और नेपाल में उगाया जाता है। यह भौगोलिक संकेतक (GI) टैग प्रणाली के तहत संरक्षित है।

गोवा समुद्री संगोष्ठी (गोवा मेरीटाइम सिम्पोजियम-GMS) 2022

गोवा समुद्री संगोष्ठी (GMS) का चौथा संस्करण गोवा में नौसेना युद्ध कॉलेज (NWC) द्वारा 31 अक्तूबर से 1 नवंबर 2022 तक आयोजित किया जा रहा है। इस संगोष्ठी के प्रतिभागियों में कैप्टेन/नौसेनाओं के कमांडर अथवा समकक्ष रैंक के अधिकारी/भारत के अलावा मित्र देशों जैसे बांग्लादेश, कोमोरोस, इंडोनेशिया, मेडागास्कर, मलेशिया, मालदीव, मॉरीशस, म्याँमार, सेशेल्स, सिंगापुर, श्रीलंका तथा थाईलैंड के समुद्री बल शामिल हैं। वर्ष 2016 में भारतीय नौसेना द्वारा संकल्पित एवं स्थापित, GMS भारत और हिंद महासागर क्षेत्र (IOR) के प्रमुख समुद्री देशों के बीच सहयोगात्मक सोच, सहयोग व आपसी समझ को बढ़ावा देने हेतु एक मंच है। इस संगोष्ठी का आयोजन नौसेना युद्ध कॉलेज, गोवा द्वारा द्विवार्षिक रूप से किया जाता है तथा अब तक इस कार्यक्रम के तीन संस्करण आयोजित किये जा चुके हैं। संगोष्ठी का उद्घाटन नेवल वॉर कॉलेज के कमांडेंट द्वारा किया जाएगा। इसका विषय 'समुद्री क्षेत्र में सभी के लिये सुरक्षा और विकास' के विचार और समुद्री सुरक्षा के पाँच सिद्धांतों पर आधारित है, जिसका अर्थ है कि हमारे क्षेत्र की समृद्धि हिंद महासागर क्षेत्र के सभी देशों के साथ जुड़ी हुई है।

खुदरा ज्वैलरी कंपनी मालाबार यूएई से 25 किलो सोना आयात करने वाली पहली भारतीय ज्वैलर बनी

खुदरा ज्वैलरी प्रमुख मालाबार गोल्ड एंड डायमंड्स भारत और यूएई के बीच व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौते (CEPA) के तहत 25 किलोग्राम सोना आयात करने वाली भारत की पहली ज्वैलर बन गई है। समझौते के तहत एक प्रतिशत शुल्क छूट के साथ ICICI बैंक के माध्यम से सोने का आयात किया गया है। समूह ने भारत में पहली बार आयात और निर्यात दोनों में समझौते के शुल्क लाभों का प्रभावी ढंग से उपयोग किया है। कंपनी मई 2022 में इस समझौते के तहत कर रियायतों के साथ संयुक्त अरब अमीरात को आभूषण निर्यात करने की अनुमति प्राप्त करने वाले पहले कुछ ज्वैलर्स में से एक रही है।

RBI ने चेन्नई स्थित GI प्रौद्योगिकी का प्राधिकरण प्रमाणपत्र रद्द किया

रिजर्व बैंक ने कंपनी में शासन संबंधी चिंताओं को लेकर चेन्नई स्थित GI टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड के प्राधिकरण प्रमाणपत्र को रद्द कर दिया है। कंपनी प्रीपेड भुगतान लिखतों को जारी करने और उनके संचालन के व्यवसाय में है। केंद्रीय बैंक ने एक बयान में कहा, “शासन की चिंताएं और नियामक आवश्यकताओं का अनुपालन न करना” प्राधिकरण प्रमाणपत्र (CoA) के निरसन के कारण हैं।

BPCL को देश के सबसे सतत तेल और गैस कंपनी के रूप में मान्यता मिली

भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL), महारत्न और फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनी ने S&P डॉव जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स (DJSI) कॉर्पोरेट सस्टेनेबिलिटी असेसमेंट (CSA) रैंकिंग के 2022 संस्करण में अपने स्थिरता प्रदर्शन के लिए एक बार फिर भारतीय तेल और गैस क्षेत्र में नंबर 1 रैंक हासिल किया है। यह लगातार तीसरा वर्ष है जब BPCL भारत में DJSI इंडेक्स में शीर्ष पर है, जिसने उद्योग के औसत स्कोर 31 के मुकाबले 65 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं, जो कि DJSI प्लेटफॉर्म पर पिछले साल के 59 के उद्योग औसत स्कोर 39 की तुलना में कहीं बेहतर है।

भारत ने मलेशिया में सुल्तान जोहोर कप हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर खिताब अपने नाम कर लिया

भारत की अंडर-21 पुरुष हॉकी टीम ने मलेशिया में सुल्तान जोहोर कप हॉकी टूर्नामेंट के रोमांचक फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर खिताब अपने नाम कर लिया। निर्धारित समय में दोनों टीमें एक-एक से बराबरी पर थीं। इसके बाद नौ पेनल्टी शूटआउट से विजेता का फैसला हुआ। भारत ने 5-4 से अपना तीसरा जोहोर कप जीता। इससे पहले भारत ने 2013 और 2014 में यह खिताब जीता था। शारदा नंद तिवारी ने इस पूरे टूर्नामेंट में सर्वाधिक सात गोल किये। उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच घोषित किया गया।

फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में सात्विकसाईंराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने पुरुष डबल्स का खिताब जीत लिया

पेरिस में फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में भारत के सात्विकसाईंराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने पुरुष डबल्स का खिताब जीत लिया है। फाइनल में इस जोड़ी ने चीन-ताइपेई के लू चिंग याओ और यांग पो हान की जोड़ी को लगातार सेटों में 21-13, 21-19 से हराया। फ्रेंच ओपन बैडमिंटन में पहली बार भारतीय जोड़ी ने पुरुष डबल्स का खिताब जीता है। पुरुष सिंगल्स के फाइनल में मौजूदा विश्व और ओलिम्पिक चैम्पियन डेनमार्क के विक्टर एक्सेल्सन ने अपने ही देश के रास्मस गेम्के को 21-14, 21-15 से हराकर खिताब अपने नाम कर लिया। इस जीत से एक्सेल्सन 21 फाइनल मुकाबलों में से 16 मुकाबले जीतकर पुरुषों के वर्ल्ड टूर के सबसे सफल खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने जापान के केन्तो मेमोटा को पीछे छोड़ दिया, जिन्होंने 21 में से 15 फाइनल मुकाबले जीते हैं।

स्पेन ने जीता FIFA U-17 महिला विश्व कप

स्पेन ने फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप अपने नाम किया है। फाइनल मैच में स्पेन की टीम ने कोलंबिया को 1-0 से हराकर खिताब अपने नाम किया। खास बात यह रही कि स्पेन की किसी खिलाड़ी ने इस मैच में गोल नहीं किया, लेकिन उनकी टीम 1-0 के अंतर से चैंपियन बन गई। स्पेन की टीम ने दूसरी बार फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप जीता है। नवी मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में खेले गए इस मैच में रोमांच अपने चरम पर था। दोनों टीमों ने गोल के भरपूर प्रयास किए, लेकिन किसी को सफलता नहीं मिली। हालांकि, कोलंबिया की खिलाड़ी ने मैच के 82वें मिनट में बड़ी गलती कर अपने ही गोल पोस्ट में गेंद डाल दी। इसी वजह से स्पेन की टीम चैंपियन बन गई। साल 2018 में भी स्पेन की टीम चैंपियन बनी थी।

प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानी पसुम्पोन मुथुरामलिंग थेवर को उनकी गुरु पूजा के अवसर पर श्रद्धांजलि अर्पित की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता सेनानी पसुम्पोन मुथुरामलिंग थेवर को उनकी गुरु पूजा के अवसर पर श्रद्धांजलि अर्पित की। गुरु पूजा को प्रत्येक वर्ष 30 अक्तूबर को पसुंपोन मुथुरामलिंगा थेवार की जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। वह एक स्वतंत्रता सेनानी-सह-आध्यात्मिक नेता थे। उन्हें मुकुलथोर समुदाय के बीच एक देवता के रूप में देखा जाता है, यह कल्लर, मरावर और अहंबादियार नामक समुदायों में से एक है। मुकुलथोर समुदाय के लोग अभी भी प्रसाद चढ़ाते हैं जैसा कि मंदिरों में देवताओं के लिये उनकी जयंती और गुरु पूजा समारोहों पर किया जाता है। उन्होंने पारंपरिक हिंदू धर्म को स्वीकार नहीं किया क्योंकि यह 'वर्णाश्रम' का समर्थन करता था। उन्होंने हमेशा हिंदू धर्म की बुराइयों के खिलाफ लड़ाई लड़ी। उन्होंने खुले तौर पर धार्मिक अंधविश्वासों और संकीर्ण सोच की निंदा की। समाजवादी और सुभाष चंद्र बोस के सहयोगी होने के नाते उन्होंने वर्ष 1952 से अखिल भारतीय फॉरवर्ड ब्लॉक (AIFB) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया। वह AIFB के राष्ट्रीय संसदीय क्षेत्र के लिये तीन बार चुने गए। उनका जन्म 30 अक्तूबर, 1908 को तमिलनाडु के रामनाथपुरम ज़िले के पसुंपोन में हुआ था। 30 अक्तूबर, 1963 को बीमारी के कारण उनका निधन हो गया।

होमी जहांगीर भाभा की 113वीं जयंती

भारतीय परमाणु भौतिक विज्ञानी होमी जहांगीर भाभा जिन्हें भारतीय परमाणु कार्यक्रम के जनक के रूप में भी जाना की 113वीं जयंती 30 अक्टूबर को मनाई गई। उनका जन्म 30 अक्टूबर 1909 को बॉम्बे, बॉम्बे प्रेसीडेंसी, ब्रिटिश भारत (अब मुंबई, महाराष्ट्र) में हुआ था। विज्ञान के क्षेत्र में उनका अमूल्य योगदान देश में युवा दिमाग की पीढ़ियों को प्रेरित करता रहता है। होमी जे भाभा का जन्म एक प्रमुख धनी पारसी परिवार में हुआ था। 24 जनवरी 1966 को, भाभा की मृत्यु हो गई जब एयर इंडिया की उड़ान 101 मोंट ब्लांक के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। दुर्घटना का आधिकारिक कारण पहाड़ के पास विमान की स्थिति के बारे में जिनेवा हवाई अड्डे और पायलट के बीच गलतफहमी थी। हालांकि, भारत के परमाणु कार्यक्रम को असक्षम बनाने के लिए एक विदेशी खुफिया एजेंसी की भागीदारी जैसे हत्या के दावे हैं।

राष्ट्रीय एकता दिवस : 31 अक्तूबर

प्रतिवर्ष 31 अक्तूबर को स्वतंत्र भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती को पूरे देश में ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ (National Unity Day) के रूप में मनाया जाता है। वर्ष 2014 में पहली बार केंद्र सरकार द्वारा 31 अक्तूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया था। सरदार बल्लभ भाई पटेल का जन्म 31 अक्तूबर, 1875 को गुजरात के नाडियाड (Nadiad) शहर में हुआ था। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान देने के साथ ही उन्होंने स्वतंत्रता के पश्चात देश की सभी रियासतों के एकीकरण में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। वर्ष 1928 में गुजरात के बारडोली में किसान आंदोलन की सफलता के बाद वहाँ की महिलाओं ने उन्हें ‘सरदार’ (नेता या प्रमुख) की उपाधि प्रदान की। उन्हें ‘भारतीय नागरिक सेवाओं के संरक्षक संत’ (Patron Saint of India’s civil services) के रूप में भी जाना जाता है। सरदार बल्लभ भाई पटेल स्वतंत्र भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री और पहले गृह मंत्री बने। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी ने सरदार पटेल को ‘लौह पुरुष’ की उपाधि प्रदान की। वर्ष 1991 में उन्हें मरणोपरांत ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया। उल्लेखनीय है कि 31 अक्तूबर, 2018 को भारत सरकार द्वारा गुजरात के वडोदरा में नर्मदा नदी के तट पर स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue Of Unity) का अनावरण किया गया जो कि 182 मीटर (597 फीट) की ऊँचाई के साथ विश्व की सबसे बड़ी मूर्ति है।

विश्व शहर दिवस : 31 अक्टूबर

विश्व शहर दिवस, हर साल 31 अक्टूबर को आयोजित किया जाता है। पहली बार 2014 में मनाया गया था। विश्व शहर दिवस के लिये हर वर्ष एक अलग शहर में वैश्विक समारोह आयोजित किया जाता है। इस साल शंघाई, चीन में “एक्ट लोकल टू गो ग्लोबल” थीम के तहत आयोजित किया गया।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.