Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

6 December 2023

ग्लोबल रेटिंग एजेंसी के अनुसार भारत 2030 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जायेगा, भारत, अगले तीन वर्षों में सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था

एस.एंड.पी. ग्लोबल रेटिंग्स एजेंसी ने कहा है कि भारत वर्ष 2030 तक विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगा, लेकिन देश के लिए एक बड़ी चुनौती विशाल अवसर का लाभ उठाना और अगला बड़ा वैश्विक विनिर्माण केंद्र बनना होगा। अमरीका की इस एजेंसी को उम्मीद है कि भारत अगले तीन वर्षों में सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था होगा, जिसमें सकल घरेलू उत्पाद-जीडीपी की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में अनुमानित 6.4 प्रतिशत से अधिक होकर वर्ष 2026 तक 7 प्रतिशत तक हो जाएगी। मार्च 2023 को समाप्त वित्तीय वर्ष 2022-23 में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.2 प्रतिशत बढ़ी। भारत की जीडीपी जून की तिमाही में 7.8 प्रतिशत और सितंबर की तिमाही में 7.6 प्रतिशत बढ़ी।

जलवायु और स्वास्थ्य पर COP28 घोषणा

28वें संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (COP28) में एक महत्वपूर्ण विकास देखा गया क्योंकि अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया और यूरोपीय संघ सहित 123 देशों ने 2 दिसंबर को जलवायु और स्वास्थ्य पर घोषणा पर हस्ताक्षर किए। भारत ने अभी तक इस पर हस्ताक्षर नहीं किए गए हैं। यह घोषणापत्र देशों को पेरिस समझौते और जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (UNFCCC) के ढांचे के भीतर स्वास्थ्य संबंधी विचारों को एकीकृत करने के लिए प्रतिबद्ध करता है। यह राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान, दीर्घकालिक कम ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन विकास रणनीतियों, राष्ट्रीय अनुकूलन योजनाओं और अनुकूलन संचार को डिजाइन करने में स्वास्थ्य दृष्टिकोण को शामिल करने पर जोर देता है।

चंद्रयान 3: इसरो प्रोपल्शन मॉड्यूल को चांद से धरती की ओर लाने में सफल हुआ

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन चंद्रयान 3 के प्रोपल्शन मॉड्यूल को चांद से धरती की ओर लाने में सफल हुआ है। इसे चंद्रयान के ऑर्बिटर के रूप में भी जाना जाता है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने इस वर्ष 23 अगस्त को चंद्रयान 3 के विक्रम लैंडर को चांद के दक्षिण ध्रुव पर पहुंचाने की ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की थी। चंद्रमा की कक्षा में एक महीने तक काम करने के बाद प्रोपल्शन मॉड्यूल में लगभग 100 किलोग्राम ईंधन बचा रह गया था। पृथ्वी की कक्षा में लाकर अब उसका उपयोग भविष्य के चंद्र मिशनों के लिए किया जा सकेगा।

NCRB ने ‘Crime in India’ रिपोर्ट जारी की

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने ‘Crime in India’ शीर्षक से अपनी नवीनतम रिपोर्ट जारी की है, जिसमें वर्ष 2022 के लिए अपराध के आंकड़ों में महत्वपूर्ण रुझानों का खुलासा किया गया है। मुख्य आकर्षण में साइबर अपराधों में 24% की उल्लेखनीय वृद्धि, आर्थिक अपराधों में 11% की उल्लेखनीय वृद्धि शामिल है। वरिष्ठ नागरिकों के विरुद्ध अपराध 9% और महिलाओं के विरुद्ध अपराध 4% बढ़े। रिपोर्ट साइबर अपराधों में वृद्धि का संकेत देती है, 2022 में 65,893 मामले दर्ज किए गए, जो पिछले वर्ष की तुलना में 24.4% की पर्याप्त वृद्धि को दर्शाता है। इन साइबर अपराध के 64.8% मामलों के पीछे का मकसद धोखाधड़ी (42,710 मामले) था, इसके बाद 5.5% (3,648 मामले) में जबरन वसूली और 5.2% (3,434 मामले) में यौन शोषण था।

किसान आत्महत्याओं पर NCRB ने डेटा जारी किया

4 दिसंबर, 2023 को जारी राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, वर्ष 2022 में पूरे भारत में किसान आत्महत्याओं में चिंताजनक वृद्धि देखी गई। आंकड़ों से पता चलता है कि कुल 11,290 मौतें दर्ज की गई हैं। डेटा एक परेशान करने वाली प्रवृत्ति को रेखांकित करता है, 2022 में हर घंटे कम से कम एक किसान ने आत्महत्या की। यह चिंताजनक पैटर्न 2019 के बाद से बढ़ रहा है, जब एनसीआरबी ने 10,281 किसान आत्महत्याएं दर्ज कीं। 2022 में सूखे, असामयिक वर्षा और अन्य प्रतिकूलताओं से चिह्नित चुनौतीपूर्ण कृषि स्थितियों ने किसानों के संघर्ष को और बढ़ा दिया है। NCRB डेटा से एक उल्लेखनीय रहस्योद्घाटन यह है कि खेतिहर मजदूरों के बीच आत्महत्याएं, जो खेती की गतिविधियों से दैनिक मजदूरी पर निर्भर थे, किसानों और खेती करने वालों से अधिक हैं। खेती में लगे 11,290 व्यक्तियों में से जिनकी आत्महत्या से मृत्यु हो गई, 53% (6,083) खेतिहर मजदूर थे।

भारत और केन्या ने 5 समझौतों पर हस्ताक्षर किये

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और केन्या के राष्ट्रपति विलियम सामोई रुतो के बीच चर्चा के परिणामस्वरूप पांच समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए, जिससे खेल, शिक्षा और डिजिटल समाधान जैसे विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा मिलेगा। दोनों नेताओं ने हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री जुड़ाव बढ़ाने के लिए एक संयुक्त दृष्टि दस्तावेज का अनावरण किया। केन्याई पक्ष ने अपने कानूनों के अनुसार कृषि क्षेत्र में सहयोग पर जोर देते हुए भारतीय कंपनियों को खेती के लिए जमीन की पेशकश की। एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में, भारत ने केन्या को उसके कृषि क्षेत्र के आधुनिकीकरण के लिए 250 मिलियन अमेरिकी डॉलर का ऋण देने की प्रतिबद्धता जताई है। मोदी और रुतो ने अपनी बातचीत के दौरान रक्षा, व्यापार, ऊर्जा, डिजिटल सार्वजनिक बुनियादी ढांचे और स्वास्थ्य सेवा में द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने पर ध्यान केंद्रित किया।

अमित शाह ने खादी माटीकला महोत्सव का किया उद्घाटन

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह अहमदाबाद में खादी माटी कला महोत्सव 2023 में शामिल हुए। कार्यक्रम का आयोजन अहमदाबाद के सायंस सिटी में खादी और ग्रामोद्योग आयोग द्वारा कराया गया था। इस अवसर पर 300 कुम्हारों को विद्युत चालित चाक, 200 खादी कारीगरों को देशी चरखा, 100 लाभार्थियों को टूलकिट्स एवं मशीनरी, पीएमईजीपी के अंतर्गत देशभर के 4458 लाभार्थियों को 200 करोड़ रुपये की मार्जिन मनी सब्सिडी, केरल के कुट्टूर में नवीनीकृत केंद्रीय पूनी संयंत्र (सीएसपी)और अहमदाबाद में नवनिर्मित 8 डाकघरों का ऑनलाइन माध्यम से उद्घाटन किया।

रेलवे ने हाथियों को बचाने के लिए पेश किया “गजराज सुरक्षा कवच”

भारतीय रेलवे ने हाथियों की वजह से होने वाले रेल हादसों को रोकने के लिए एक नई प्रणाली, गजराज सुरक्षा कवच, पेश की है। यह प्रणाली पूरी तरह से स्वदेशी है और इसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का इस्तेमाल किया गया है। गजराज सुरक्षा कवच एक इंट्रूजन डिटेक्शन सिस्टम (आईडीएस) है जो दवाब तरंगों को महसूस करके हाथियों के पैरों के कंपन को पहचानता है। यह जानकारी ओएफसी केबल के जरिए स्टेशन मास्टर को भेज दी जाती है। स्टेशन मास्टर इस जानकारी के आधार पर ट्रेन को रोक सकता है। रेलवे का दावा है कि गजराज सुरक्षा कवच की पहचान दर 99.5% है और यह 200 मीटर पहले ही हाथियों के आने की जानकारी दे सकता है। रेलवे ने कहा है कि गजराज सुरक्षा कवच की शुरुआत जल्द ही पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड, असम, केरल, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में की जाएगी। अगले 8 महीनों के भीतर देश के सभी हाथी वाले इलाके में इस प्रणाली को तैनात करने का लक्ष्य है।

पहला एशियाई रेंजर फोरम गुवाहाटी में शुरू हुआ

पहला एशियाई रेंजर फोरम गुवाहाटी में शुरू हुआ। विश्व स्तर पर रेंजरों को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर सहयोग करने और समाधान प्रदान करने के लिए ये फोरम एक अनूठा अवसर प्रदान करता है। महाराष्ट्र के वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि रेंजर्स एशिया की प्राकृतिक विरासत के सच्चे संरक्षक हैं। इसमें 35 महिलाओं सहित 20 देशों के 180 से अधिक प्रतिभागी, 89 रेंजर्स और स्थानीय समुदायों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।

IN-SPACe ने स्पेस टेक स्टार्ट-अप के लिए सीड फंड योजना लॉन्च की

भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र (Indian National Space Promotion and Authorization Centre – IN-SPACe) ने अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के उपयोग के माध्यम से शहरी विकास और आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में लगे स्टार्ट-अप का समर्थन करने के उद्देश्य से एक सीड फंड योजना शुरू की है। यह योजना अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का उपयोग करके अपने मूल विचारों को प्रोटोटाइप में विकसित करने के लिए चयनित स्टार्ट-अप को सीड फंडिं प्रदान करती है। इसके अतिरिक्त, स्टार्ट-अप को सत्यापन के लिए पृथ्वी अवलोकन डेटा सहित इसरो सुविधा समर्थन, परामर्श और डेटा एल्गोरिदम तक पहुंच प्राप्त होगी। इस योजना में प्रशिक्षण, नेटवर्किंग अवसर और परामर्श सहायता के साथ-साथ 1 करोड़ रुपये तक की वित्तीय सहायता शामिल है।

आंध्र प्रदेश में नेल्लोर और मछलीपट्टनम के बीच टकराया भीषण चक्रवात मिचौंग

प्रचंड तूफान मिचौंग उत्तर की ओर समानांतर बढ़ते हुए दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्र की ओर पहुँचकर जमीन से टकरा चुका है। इसकी रफ्तार 90-100 किलोमीटर प्रति घंटा है, जो और तेज़ होकर 110 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुँच सकती है। चक्रवात के प्रभाव से भूस्‍खलन हो रहा है।

फर्जीवाड़ा से बचने के लिए सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना में किसानों का चेहरा और आधार पहचान आधारित ई-के-वाई-सी शुरू की

सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए किसानों का चेहरा और आधार पहचान आधारित ई-के-वाई-सी शुरू की है। लोकसभा में प्रश्नकाल में पूरक प्रश्‍न के जवाब में कृषि और किसान कल्‍याण राज्‍य मंत्री शोभा करंदलाजे ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना के तहत धनराशि हासिल करने के लिए अनेक फर्जी प्रविष्टियां प्राप्‍त हुई हैं। उन्‍होंने कहा कि किसानों को प्रत्‍यक्ष लाभ अंतरण में पारदर्शिता और सुशासन सुनिश्चित करने के लिए 13वां प्रधानमंत्री किसान कोष जारी करने के बाद नया ई-के-वाई-सी शुरू किया गया है। सुश्री करंदलाजे ने कहा कि इसकी प्रक्रिया बहुत सरल है और इसे एक मोबाइल एप के जरिये भी पूरा किया जा सकता है।

लोकसभा में जम्मू और कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक 2023 और जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक 2023 को पेश किया गया

लोकसभा में जम्मू और कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक 2023 और जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक 2023 को पेश किया गया। जम्मू और कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक जम्मू और कश्मीर आरक्षण अधिनियम 2004 में संशोधन करता है। यह अधिनियम अनुसूचित जाति और जनजाति तथा अन्य सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्गों के लोगों को नौकरियों और व्यावसायिक संस्थानों में आरक्षण प्रदान करता है। वहीं, जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक, जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019 में संशोधन करता है। प्रस्तावित विधेयक से विधानसभा सीटों की कुल संख्या बढ़कर 83 से बढकर 90 हो जाएगी। इसमें अनुसूचित जाति के लिए 7 सीटें और अनुसूचित जनजाति के लिए 9 सीटें आरक्षित हैं। साथ ही उपराज्यपाल कश्मीरी प्रवासी समुदाय से एक महिला सहित दो सदस्यों को विधान सभा में नामांकित कर सकते हैं।

केन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने नवाचार और शैक्षणिक प्रशासन की उत्कृष्ट कार्य प्रणालियों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किये

केन्द्रीय शिक्षा तथा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने नई दिल्ली में एक समारोह में नवाचार और शैक्षणिक प्रशासन की उत्कृष्ट कार्य प्रणालियों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किये। ये पुरस्कार 2020-21 और 2021-22 के लिए 65 विशिष्ट जिला और ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों को दिये गये हैं। इन पुरस्कारों का उद्देश्य शैक्षणिक संस्थानों में क्षेत्रीय स्तर पर शिक्षा प्रशासन की उत्कृष्ट कार्य प्रणालियों तथा नवाचार की संस्कृति और व्यवस्था का निर्माण करना है।

पंचायती राज मंत्रालय ने ग्राम पंचायत द्वारा स्थानिक योजना को बढ़ावा देने के लिए भौगोलिक सूचना प्रणाली एप्लीकेशन “ग्राम मानचित्र” का शुभारंभ किया

पंचायती राज मंत्रालय ने ग्राम पंचायत द्वारा स्थानिक योजना को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) एप्लीकेशन “ग्राम मानचित्र” (https://grammanchitra.gov.in) का शुभारंभ किया। यह एप्लीकेशन ग्राम पंचायतों को भू-स्थानिक तकनीक का उपयोग करके ग्राम पंचायत स्तर पर योजना बनाने में सुविधा और सहायता प्रदान करती है। यह अलग-अलग क्षेत्रों में किए जाने वाले विभिन्न विकासात्मक कार्यों की प्लानिंग को बेहतर बनाने और ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी) के लिए निर्णय समर्थन प्रणाली प्रदान कर एकल/एकीकृति भू-स्थानिक प्लेटफॉर्म प्रदान करतीहै। इसके अलावा, मंत्रालय ने इन कार्यों के लिए जियो-टैग (यानी जीपीएस निर्देशांक) के साथ फोटो खींचने में मदद करने के लिए एक मोबाइल आधारित समाधान एम-एक्शनसॉफ्ट का शुभारंभ किया। संपत्तियों की जियो-टैगिंग तीन चरणों- जैसे (i) कार्य शुरू होने से पहले (ii) कार्य के दौरान और (iii) कार्य पूरा होने पर- में की जाती है।

भारतीय तटरक्षक बल का अपतटीय गश्ती जहाज सजग सऊदी अरब के दम्मम में बंदरगाह पर पहुंचा

भारतीय तट रक्षक जहाज सजग, जो एक अपतटीय गश्ती जहाज है, तीन दिवसीय यात्रा पर 05 दिसंबर, 2023 को किंग अब्दुल अजीज पोर्ट, एडी दम्मम, सऊदी अरब में पहुंचा। इस यात्रा का उद्देश्य लंबे समय से चले आ रहे राजनयिक संबंधों को मजबूत करना और वेसल बोर्ड खोज और जब्ती (वीबीएसएस) पर प्रशिक्षण, समुद्री खोज और बचाव (एम-एसएआर), क्रॉस-डेक दौरे, समुद्री प्रदूषण प्रतिक्रिया (एमपीआर) पर टेबल टॉप अभ्यास जैसे पेशेवर आदान-प्रदान/बातचीत के लिए सऊदी सीमा रक्षकों और सऊदी नौसेना बलों के कर्मियों के साथ सहयोगात्मक जुड़ाव को बढ़ाना है।

केंद्र ने जीआईएएन योजना के चौथे चरण के कार्यान्वयन को मंजूरी दी

आठ वर्ष की यात्रा के बाद, जिसमें COVID के दौरान एक संक्षिप्त विराम भी शामिल है, शिक्षा मंत्रालय ग्लोबल इनिशिएटिव ऑफ एकेडमिक नेटवर्क्स (GIAN) के चौथे चरण को पुनः शुरू करने की तैयारी कर रहा है। इस पहल का उद्देश्य भारतीय विश्वविद्यालयों में पढ़ाने के लिये विश्व भर के प्रतिष्ठित विद्वानों को आमंत्रित करना है। राष्ट्रीय शैक्षिक योजना एवं प्रशासन संस्थान (NIEPA) ने योजना का मूल्यांकन करने के बाद इसे जारी रखने की सिफारिश की। GIAN भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय (MoE) की एक पहल है, जिसे भारतीय शैक्षणिक संस्थानों में सहयोग को बढ़ावा देने और शिक्षा तथा अनुसंधान की गुणवत्ता बढ़ाने के लिये निर्मित किया गया है। वर्ष 2015 में शुरू की गई GIAN योजना का प्राथमिक उद्देश्य छात्रों और संकाय को दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ शैक्षणिक एवं उद्योग विशेषज्ञों के साथ बातचीत करने का अवसर प्रदान करना है।

प्रशिक्षण उड़ान के दौरान पिलाटस पीसी 7 एमके II विमान दुर्घटनाग्रस्त

पिलैटस पीसी-7 एमके II (Pilatus PC-7 Mk II) ट्रेनर एयरक्राफ्ट के तेलंगाना के डंडीगल में वायु सेना अकादमी से एक नियमित प्रशिक्षण उड़ान के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के कारण भारतीय वायु सेना (IAF) के दो पायलटों की मौत हो गई जो लगभग एक दशक में विमान से जुड़ी पहली दुर्घटना है। ट्रेनर एयरक्राफ्ट पायलटों और वायुसैनिकों को प्रशिक्षण देने के लिये बनाए गए विशेष विमान हैं। चूँकि आधुनिक सैन्य विमान नए पायलटों के लिये जटिल और चुनौतीपूर्ण होते हैं, इसलिये ट्रेनर एयरक्राफ्ट एक मूलभूत कदम के रूप में कार्य करते हैं। ये विमान सरल, अपेक्षाकृत धीमे और अधिक किफायती हैं, जो नव प्रशिक्षुओं को बुनियादी कौशल सीखने में मदद करते हैं। ये लागत प्रभावी भी हैं, जिससे वायु सेना को कैडेट प्रशिक्षण के लिये बड़ी मात्रा में इन्हें खरीदने में सहायता मिलती है। भारतीय वायुसेना वर्तमान में 75 पिलैटस पीसी-7 एमके II एयरक्राफ्ट संचालित करती है, जिनका उपयोग कैडेट के उड़ान प्रशिक्षण के पहले चरण में बुनियादी प्रशिक्षण के लिये किया जाता है। बुनियादी प्रशिक्षण के बाद कैडेट HAL किरण, एक मध्यवर्ती जेट-संचालित ट्रेनर तथा फिर BAE हॉक, एक ब्रिटिश उन्नत ट्रेनर के लिये आगे बढ़ते हैं।

मेरापी ज्वालामुखी

हाल ही में इंडोनेशिया के पश्चिमी सुमात्रा में मेरापी ज्वालामुखी प्रस्फुटन की घटना हुई, जिससे हवा में 3,000 मीटर (9,840 फीट) तक राख फैल जाने के कारण कई लोगों की मौत हो गई। माउंट मेरापी, जिसका अर्थ है "अग्नि का पर्वत", सुमात्रा द्वीप पर सबसे सक्रिय ज्वालामुखी है और इसमें सबसे घातक विस्फोट अप्रैल 1979 में हुआ था, जब 60 लोग मारे गए थे। इंडोनेशिया प्रशांत महासागर के "अग्नि वलय" पर स्थित है और यहाँ 127 सक्रिय ज्वालामुखी हैं। विश्व के सबसे खतरनाक ज्वालामुखियों में से एक होने के बावज़ूद माउंट मेरापी एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। माउंट मेरापी, माउंट सेमेरू और माउंट ब्रोमो जैसे अन्य ज्वालामुखियों के साथ इंडोनेशिया में एक लोकप्रिय एडवेंचर स्थल बना हुआ है।

“Equitable Phaseout of Fossil Fuel Extraction” रिपोर्ट जारी की गई

जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन के 28वें कॉन्फ्रेंस ऑफ पार्टीज़ (COP28) में जारी एक हालिया रिपोर्ट में कनाडा से 2030 के दशक की शुरुआत तक जीवाश्म ईंधन निष्कर्षण बंद करने का आह्वान किया गया है। रिपोर्ट इस कार्रवाई की तात्कालिकता पर जोर देती है और उत्सर्जन में कटौती के अपने “उचित हिस्से” को पूरा करने में विकसित दुनिया की विफलता के बारे में चिंताओं को संबोधित करती है। अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, नॉर्वे, ऑस्ट्रेलिया और कई अन्य देशों के साथ, 2030 के दशक की शुरुआत तक जीवाश्म ईंधन निष्कर्षण को समाप्त करने के लिए एक समान मांग का सामना कर रहा है। रिपोर्ट, जिसका शीर्षक है, “Equitable Phaseout of Fossil Fuel Extraction”, विकसित देशों से उनके राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान में बताई गई महत्वाकांक्षा को पार करने का आग्रह करता है। इससे पता चलता है कि इन देशों को उत्सर्जन में कटौती में अपनी उचित हिस्सेदारी के निचले स्तर को भी हासिल करने के लिए अपने प्रयासों को दोगुना से अधिक करने की आवश्यकता है।

डेटा सेंटर के लिए इन्फोसिस का शेल के साथ समझौता

भारतीय आईटी सेवाओं की दिग्गज कंपनी इंफोसिस ने हाल ही में डेटा केंद्रों में इमर्शन कूलिंग सेवाओं को अपनाने के लिए ऊर्जा कंपनी शेल के साथ एक रणनीतिक साझेदारी की घोषणा की है। इस सहयोग का उद्देश्य पर्यावरण के अनुकूल डेटा केंद्रों के लिए एक एकीकृत समाधान तैयार करने के लिए, भागीदारों के नेटवर्क द्वारा समर्थित, डिजिटल और ऊर्जा डोमेन में दोनों संगठनों की ताकत का उपयोग करना है।

विश्व मृदा दिवस : 5 दिसम्बर

प्रतिवर्ष 5 दिसम्बर को विश्व मृदा दिवस के रूप में मनाया जाता है, इस दिवस को खाद्य व कृषि संगठन द्वारा मनाया जाता है। इस साल इसकी थीम- ‘मिट्टी और पानी, जीवन का एक स्रोत’ । संयुक्त राष्ट्र के अनुसार विश्व की कुल एक तिहाई मृदा का क्षरण हो चुका है। मृदा के गुणवत्ता को प्रभावित करने वाला एक प्रमुख कारक मृदा प्रदूषण भी है। मृदा प्रदूषण का खाद्यान्न, जल तथा वायु पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है, जो प्रत्यक्ष रूप से स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। मृदा प्रदूषण का प्रमुख कारण औद्योगिक प्रदूषण तथा ख़राब मृदा प्रबंधन है। अंतर्राष्ट्रीय मृदा विज्ञान संघ ने 5 दिसंबर को विश्व मृदा दिवस मनाने की सिफारिश की थी। थाईलैंड के नेतृत्व में, एफएओ ने विश्व मृदा दिवस की औपचारिक स्थापना का समर्थन किया था। यह दिवस मनाने का निर्णय Global Soil Partnership के तहत किया गया था। पहला विश्व मृदा दिवस 2014 में मनाया गया था। यह दिन थाईलैंड के दिवंगत राजा भूमिबोल अदुल्यादेज के जन्मदिन से मेल खाता है। वह पहल के मुख्य प्रस्तावक थे।

अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवी दिवस 2023: 5 दिसंबर

अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवी दिवस, जिसे आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवी दिवस भी कहा जाता है, हर साल 5 दिसंबर को मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य स्वयंसेवकों और संगठनों के प्रयासों का जश्न मनाने और स्वयंसेवीवाद को बढ़ावा देने का अवसर प्रदान करना, स्वयंसेवी प्रयासों का समर्थन करने के लिए सरकारों को प्रोत्साहित करना और स्थानीय, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तरों पर सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) की उपलब्धि के लिए स्वयंसेवी योगदान को मान्यता देना है ।

CID फेम दिनेश फडनीस का निधन

शहूर शो ‘सीआईडी’ में एक्शन और कॉमेडी करने के लिए फेमस दिनेश फडनीस का निधन हो गया। वे 57 साल के थे। ‘फ्रेडरिक्स’ उर्फ फ्रेडी बनकर दिनेश फडनीस ने अपनी ऑडियंस को क्राइम से जूझने के गुर सिखाए थे। बता दें कि दिनेश फडनीस को CID शो में फ्रेड्रिक्स के नाम से जाना जाता है। ये शो टीवी का सबसे लोकप्रिय शो में से एक था,जिसमें फ्रेड्रिक्स बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के पसंदीदा कलाकार थे। सिर्फ ‘सीआईडी’ ही नहीं, दिनेश ने एक और हिट सिटकॉम ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में भी कैमियो किया था। वह कुछ फिल्मों में भी कैमियो रोल में नजर आ चुके हैं। लेकिन वो ज्यादा समय तक ‘सीआईडी’ शो में नजर आए। उन्होंने इस शो में 1998 से लेकर 2018 तक काम किया और क्राइम जैसे शो में भी अपनी काॅमेडी से लोगों के दिलों में कभी न भूलने वाली पहचान बनाई।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2024 RajasthanGyan All Rights Reserved.