Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

19 November 2023

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन और आयुष मंत्रालय ने पारंपरिक तथा पूरक चिकित्सा 'परियोजना सहयोगात्मक समझौता' पर हस्‍ताक्षर किए

आयुष मंत्रालय और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने जिनेवा में पारंपरिक और पूरक चिकित्सा 'परियोजना सहयोग समझौता' पर हस्ताक्षर किए हैं। इस समझौते का मुख्य उद्देश्य पारंपरिक और पूरक चिकित्सा प्रणालियों का मानकीकरण करना, उनकी गुणवत्ता और सुरक्षा पहलुओं को राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रणाली से जोड़ना तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उन्‍हें प्रसारित करना है। इस सहयोग समझौते के माध्यम से पारंपरिक और पूरक चिकित्सा प्रणालियों को राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रणाली की मुख्यधारा से जोड़ने का प्रयास किया जाएगा। इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए, डब्ल्यूएचओ, आयुष मंत्रालय के सहयोग से पारंपरिक चिकित्सा वैश्विक रणनीति 2025-34 तैयार करेगा। समझौते के अन्य प्रमुख उद्देश्यों में पूरक चिकित्सा प्रणाली 'सिद्ध' के क्षेत्र में प्रशिक्षण और अभ्यास की प्रणाली को मजबूत करने के प्रयास, पारंपरिक और पूरक दवाओं की सूची के लिए दिशानिर्देश तैयार करना, सुरक्षा तथा इससे संबंधित प्रयास आदि शामिल हैं। आयुष मंत्रालय द्वारा डब्ल्यूएचओ के सहयोग से दक्षिण-पूर्व एशिया में पाई जाने वाली जड़ी-बूटियों का एक अंतरराष्ट्रीय हर्बल औषधकोश विकसित किया जाएगा। इस समझौते के तहत साक्ष्य-आधारित पारंपरिक और पूरक दवाओं को राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रणाली से जोड़ने, जैव विविधता और औषधीय पौधों के संरक्षण और प्रबंधन आदि के प्रयास किए जाएंगे।

यूरोपीय संघ के सदस्य देश अपशिष्ट शिपमेंट विनियमन को संशोधित करने पर सहमत

यूरोपीय संघ के कानून निर्माता और सदस्य देश अपशिष्ट शिपमेंट विनियमन को संशोधित करने और विकासशील देशों को कचरे के निर्यात को समाप्त करने के समझौते पर सहमत हो गये हैं। यूरोपीय संघ की संसद ने कहा है कि कुछ गैर-खतरनाक कचरे के निर्यात की अनुमति केवल उन आर्थिक सहयोग और विकास संगठन के देशों को दी जाएगी जो पर्यावरण अनुकूल तरीके से कचरे के निपटान के मानदंडों को पूरा करते हैं। समझौते के अनुसार यूरोपीय संघ के देशों को कानून लागू होने के ढाई साल के भीतर गरीब देशों को प्लास्टिक कचरा भेजना बंद करना होगा।

लद्दाख ने ‘सी-बकथॉर्न’ के लिए चौथा जीआई टैग हासिल किया

लद्दाख में, खुबानी, पश्मीना और लद्दाखी लकड़ी की नक्काशी के लिए जी आई टैग के बाद, भारत सरकार के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत काम करने वाली भौगोलिक संकेत-जी आई रजिस्ट्री ने आधिकारिक तौर पर लद्दाख के उद्योग और वाणिज्य विभाग को जी आई टैग प्रदान किया है और इसे श्रेणी-31 में 'लद्दाख सी बकथॉर्न' (जंगली फल) के लिए पंजीकृत मालिक के रूप में स्‍वीकृति प्रदान की है। यह केन्‍द्र शासित प्रदेश लद्दाख की सबसे अधिक लाभदायक फसलों में से एक है। इसका 90 प्रतिशत उत्पादन लद्दाख में ही होता है।

पंजाब और हरियाणा उच्‍च न्‍यायालय ने निजी क्षेत्र में हरियाणा के स्‍थानीय लोगों के लिए 75 प्रतिशत आरक्षण वाले प्रावधान को असंवैधानिक घोषित किया

पंजाब और हरियाणा उच्‍च न्‍यायालय ने हरियाणा के उद्योगों में राज्‍य के निवासियों को 75 प्रतिशत आरक्षण के प्रावधान वाले, स्‍थानीय उम्‍मीदवारों के लिए हरियाणा राज्‍य रोजगार अधिनियम 2020 को रद्द कर दिया है। न्‍यायालय ने फरीदाबाद उद्योग परिसंघ और अन्‍य याचिकाकर्ताओं की कई याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया। सरकार ने इस अधिनियम को नवम्‍बर 2021 में अधिसूचित किया था। राज्‍य सरकार द्वारा जार‍ी अधिसूचना के अनुसार इसमें निजी क्षेत्र की उन नौकरियों में, जिनमें 15 जनवरी 2022 से 30 हजार रुपये से कम मासिक वेतन दिया जाता है, स्‍थानीय युवाओं को 75 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान है। इसमें निजी कम्‍पनियां, समितियां, न्‍यास और राज्‍य की हिस्‍सेदारी वाली कम्‍पनियां शामिल हैं। अधिनियम को चुनौती देने वाले एक याचिकाकर्ता ने कहा कि यह अधिनियम संविधान के प्रावधानों और योग्‍यता के मूल सिंद्धांत के खिलाफ है। याचिकाकर्ता ने यह भी कहा है कि योग्‍यता, व्‍यवसायों के बढ़ने और प्रतिस्‍पर्धी बने रहने के लिए आधार का काम करती है। न्‍यायालय ने कहा कि यह अधिनियम असंवैधानिक है और संविधान के भाग-3 का उल्‍लंघन है।

पाकिस्तान स्थित स्टार्टअप शी-गार्ड, शीर्ष जलवायु नवाचार प्रतियोगिता का विजेता

पाकिस्तान स्थित क्लीनटेक स्टार्टअप शी-गार्ड अपने अभिनव बायोडिग्रेडेबल और प्लास्टिक-मुक्त सैनिटरी उत्पाद का प्रदर्शन करते हुए ‘क्लाइमेट लॉन्चपैड एशिया-पैसिफिक’ फाइनल में विजयी हुआ। स्टार्टअप का मिशन पाकिस्तान में जलवायु परिवर्तन, सार्वजनिक स्वास्थ्य और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन की परस्पर जुड़ी चुनौतियों का समाधान करते हुए केले की फसल के कचरे को किफायती, पर्यावरण-अनुकूल सैनिटरी नैपकिन में बदलना है।

सलमान रुश्दी को मिला पहला ‘लाइफटाइम डिस्टर्बिंग द पीस अवॉर्ड’

प्रसिद्ध लेखक सलमान रुश्दी को पहले ‘लाइफटाइम डिस्टर्बिंग द पीस अवार्ड’ से सम्मानित किया गया। उन्हें अपर ईस्ट साइड वैक्लेव हैवेल सेंटर द्वारा आयोजित एक आश्चर्यजनक समारोह में यह पुरस्कार प्रदान किया गया।इस समारोह की मेजबानी अनुभवी सीबीएस पत्रकार लेस्ली स्टाल ने हैवेल सेंटर में की थी, जिसे पहले वैक्लेव हैवेल लाइब्रेरी फाउंडेशन के नाम से जाना जाता था। इस केंद्र की स्थापना मानवाधिकारों और स्वतंत्र अभिव्यक्ति की वकालत के लिए 2012 में की गई थी।अगस्त 2022 में न्यूयॉर्क में एक साहित्यिक उत्सव के दौरान चाकू मारे जाने के बाद रुश्दी की यह पहली सार्वजनिक उपस्थिति थी। अक्टूबर में, उन्हें 2023 के लिए जर्मन बुक ट्रेड का शांति पुरस्कार मिला। अहमद सलमान रुश्दी एक भारतीय मूल के ब्रिटिश-अमेरिकी लेखक हैं।

बांग्लादेशः बंगाल की खाड़ी के उत्‍तर-पश्चिम और आसपास के क्षेत्र में आया चक्रवाती तूफान मि‍ढ़िली

बंगाल की खाड़ी के उत्‍तर-पश्चिम और आसपास के क्षेत्र में बना कम हवा का दबाव उत्‍तर-उत्‍तरपूर्व की ओर बढ़ गया है। इसने चक्रवाती तूफान मि‍ढ़िली का रूप ले लिया है। चक्रवाती तूफान को मि‍ढ़िली नाम मालदीव ने दिया है। बांग्लादेश के मौसम विभाग ने बताया कि यह तूफान चटगांव बंदरगाह के पश्चिम-दक्षिण पश्चिम में लगभग 470 किलोमीटर दूर केन्द्रित था। इस तूफान के उत्‍तर-उत्‍तरपूर्व की ओर बढ़कर और तेज होने की आशंका है। इसके प्रभाव से 88 किलोमीटर प्रति घण्‍टे की गति से आंधी चल सकती है।

Lancet Countdown Report जारी की गई

जलवायु संकट एक गंभीर मोड़ पर पहुंच गया है, जो वैश्विक एजेंडे पर केंद्र का स्थान ले रहा है और सार्वजनिक स्वास्थ्य में दशकों की प्रगति को खतरे में डाल रहा है। हाल ही में जारी स्वास्थ्य और जलवायु परिवर्तन पर लैंसेट काउंटडाउन की 8वीं वार्षिक रिपोर्ट में उन कारकों के परेशान करने वाले अभिसरण पर प्रकाश डाला गया है जो दुनिया भर में व्यक्तियों, सार्वजनिक स्वास्थ्य और स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों के लिए गंभीर खतरा पैदा करते हैं। जलवायु संकट कई चैनलों के माध्यम से सामने आता है, जिससे खाद्य असुरक्षा बढ़ती है, जलवायु-संवेदनशील बीमारियाँ फैलती हैं, और चरम मौसम की घटनाओं में वृद्धि होती है। यह चिंताजनक अभिसरण दुनिया की स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों पर पहले से कहीं अधिक दबाव डाल रहा है, जिसके लिए त्वरित और व्यापक कार्रवाई की आवश्यकता है।

MMRV वर्किंग ग्रुप

अमेरिका ने, एक दर्जन से अधिक देशों और संगठनों के साथ, प्राकृतिक गैस आपूर्ति श्रृंखला में ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को मापने के प्रयासों को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से एक कार्य समूह की स्थापना की है। जैसा कि ऊर्जा विभाग ने घोषणा की है, यह सहयोगात्मक पहल जलवायु परिवर्तन से जुड़े प्रदूषकों के वैश्विक उत्सर्जन को कम करने का प्रयास करती है। MMRV वर्किंग ग्रुप का प्राथमिक उद्देश्य मीथेन, कार्बन डाइऑक्साइड और अन्य ग्रीनहाउस गैसों सहित उत्सर्जन के माप, निगरानी, ​​​​रिपोर्टिंग और सत्यापन (measurement, monitoring, reporting, and verification – MMRV) को बढ़ाना है। इसका इरादा इन प्रथाओं को संपूर्ण प्राकृतिक गैस आपूर्ति श्रृंखला में लागू करने का है, जिसमें प्राकृतिक गैस का उत्पादन, प्रसंस्करण, परिवहन, द्रवीकरण और वितरण शामिल है।

2024 में लॉन्च होगा निसार

नासा-इसरो सिंथेटिक एपर्चर रडार (NISAR) मिशन, नासा और इसरो के बीच एक सहयोगात्मक प्रयास, महत्वपूर्ण प्रगति कर रहा है क्योंकि यह 2024 की पहली तिमाही में अपने निर्धारित लॉन्च की तैयारी कर रहा है। मिशन पर काम कर रहे वैज्ञानिकों और इंजीनियरों ने महत्वपूर्ण परीक्षण सफलतापूर्वक पूरे कर लिए हैं जिसमें थर्मल वैक्यूम परीक्षण भी शामिल है, जो उन्हें उनके मिशन लक्ष्यों के एक कदम और करीब लाता है। हाल ही में हासिल किए गए प्रमुख मील के पत्थर में से एक बेंगलुरु में थर्मल वैक्यूम परीक्षण का पूरा होना है। जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी (JPL) से नासा NISAR परियोजना प्रबंधक फिल बरेला ने इस उपलब्धि पर अपनी संतुष्टि व्यक्त की। थर्मल वैक्यूम परीक्षण यह सुनिश्चित करने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है कि अंतरिक्ष यान अंतरिक्ष में अत्यधिक तापमान परिवर्तन का सामना कर सकता है। यह सफल परीक्षण NISAR टीम के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है।

नैटवार मोरी जलविद्युत परियोजना में 30 मेगावाट की पहली इकाई से बिजली आपूर्ति शुरू हुई

राज्य संचालित बिजली उत्पादक SJVN ने एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है क्योंकि नैटवार मोरी हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट (NMHEP) में 30 मेगावाट क्षमता की पहली इकाई ने राष्ट्रीय बिजली ग्रिड को बिजली की आपूर्ति शुरू कर दी है। यह विकास क्षेत्र के बिजली बुनियादी ढांचे को बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण कदम है। नैटवार मोरी जलविद्युत परियोजना रणनीतिक रूप से उत्तराखंड के सुरम्य उत्तरकाशी जिले में स्थित, यमुना की एक प्रमुख सहायक नदी टोंस पर स्थित है। इस परियोजना की आधारशिला 2018 में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रखी थी।

रवांडा के लिए यूके सरकार की शरण योजना को सुप्रीम कोर्ट ने गैरकानूनी करार दिया

ब्रिटेन सरकार की शरण चाहने वालों को रवांडा भेजने की विवादास्पद शरण योजना को सुप्रीम कोर्ट ने गैरकानूनी माना है। इस फैसले के बावजूद, प्रधानमंत्री ऋषि सुनक उस नीति को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जिसे अवैध तरीकों से ब्रिटेन में आने वाले लोगों को रोकने के लिए डिज़ाइन किया गया था। अप्रैल 2022 में, यूके सरकार ने एक योजना के पांच साल के परीक्षण की घोषणा की जिसमें कुछ शरण चाहने वालों को रवांडा में शरण का दावा करने के लिए भेजना शामिल होगा। इस योजना के तहत, व्यक्तियों को रवांडा में शरणार्थी का दर्जा दिया जा सकता है या अन्य आधारों पर बसने के लिए आवेदन किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त, वे किसी अन्य “सुरक्षित तीसरे देश” में शरण मांग सकते हैं। सरकार ने कहा कि 1 जनवरी, 2022 के बाद ब्रिटेन में अवैध रूप से प्रवेश करने वाले किसी भी व्यक्ति को संख्या की कोई सीमा नहीं होने पर रवांडा भेजा जा सकता है।

डार्क मैटर और डार्क एनर्जी हेतु यूक्लिड मिशन

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (European Space Agency- ESA) द्वारा डार्क मैटर और डार्क एनर्जी का अध्ययन करने के लिये जुलाई 2023 में लॉन्च किये गए यूक्लिड मिशन (Euclid Mission) ने अपनी शुरुआती पाँच वैज्ञानिक छवियाँ साझा की हैं, जिनमें विशाल आकाशगंगा समूहों की तस्वीरें, दो निकटवर्ती आकाशगंगाओं के विस्तृत शॉट्स, एक नेबुला और गोलाकार क्लस्टर के रूप में जाना जाने वाला गुरुत्वाकर्षण से जुड़ा तारों का समूह शामिल है। यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी का यूक्लिड मिशन एक अंतरिक्ष दूरबीन है जिसे डार्क ब्रह्मांड (Dark Universe) की संरचना और विकास का पता लगाने के लिये डिज़ाइन किया गया है।

कैम्ब्रिज वर्ड ऑफ द ईयर 'हेलुसिनेट'

कैम्ब्रिज डिक्शनरी द्वारा चुना गया वर्ष का शब्द, 'हेलुसिनेट', कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI) की जटिलताओं और इसके संभावित खतरों पर प्रकाश डालता है। "हेलुसिनेट" की मूल परिभाषा यह है कि ऐसा कुछ महसूस होना जो आमतौर पर किसी स्वास्थ्य स्थिति या दवाओं के कारण मौजूद नहीं होता है। कैम्ब्रिज डिक्शनरी में "हेलुसिनेट" की विस्तारित परिभाषा में AI द्वारा गलत जानकारी उत्पन्न करना शामिल है। AI का बुद्धिमानीकरण वास्तविक खतरे पैदा कर सकता है, खासकर राजनीति और सार्वजनिक जीवन में, जहाँ दुष्प्रचार और गलत सूचना के दूरगामी परिणाम हो सकते हैं। ओपन AI और इसके टूल जैसे- Chat GPT, गूगल बार्ड और माइक्रोसॉफ्ट के कोपायलट की बढ़ती पहुँच पर वर्ष भर व्यापक रूप से चर्चा हुई है।

नीति आयोग ने विशेषज्ञता बढ़ाने के लिए चार प्रतिष्ठित अध्येताओं की नियुक्ति की

एक हालिया घोषणा में, सरकारी थिंक टैंक नीति आयोग ने प्रमुख सामाजिक, आर्थिक और तकनीकी मामलों में अपनी विशेषज्ञता को बढ़ाने के उद्देश्य से एक साल के कार्यकाल के लिए चार प्रतिष्ठित फेलो को नियुक्त किया है। ये व्यक्ति महत्वपूर्ण कार्य अनुभव और महत्वपूर्ण मुद्दों की गहरी समझ लेकर आते हैं, जिससे नीति आयोग की क्षमताएं और समृद्ध होती हैं। नये सदस्य -

  1. अनूप सिंह: अनूप सिंह 15वें वित्त आयोग के सदस्य हैं और उनकी अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के साथ काम करने की उल्लेखनीय पृष्ठभूमि है।
  2. ओ.पी. अग्रवाल: 1979 बैच के IAS अधिकारी, ओ.पी. अग्रवाल शहरी परिवहन में व्यापक विशेषज्ञता रखते हैं।
  3. अजय चौधरी: अजय चौधरी एक प्रमुख भारतीय बहुराष्ट्रीय आईटी सेवा और परामर्श कंपनी HCL के सह-संस्थापकों में से एक हैं।
  4. वी लक्ष्मीकुमारन: वी. लक्ष्मीकुमारन कानून में 35 साल के प्रभावशाली करियर के साथ एक कानूनी विशेषज्ञ हैं।

इंडसइंड बैंक RBI के अकाउंट एग्रीगेटर फ्रेमवर्क पर लाइव होने वाला पहला बैंक बना

इंडसइंड बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा हाल ही में शुरू किए गए ‘अकाउंट एग्रीगेटर फ्रेमवर्क’ के तहत ‘वित्तीय सूचना प्रदाता’ (एफआईपी) के रूप में सक्रिय होने वाला पहला बैंक बनने का महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल कर ली है। आरबीआई ने पहली बार जून 2016 में एक मास्टर डायरेक्टिव के माध्यम से अकाउंट एग्रीगेटर (एए) ढांचे की घोषणा की। यह पहल आरबीआई द्वारा उठाया गया एक अग्रणी कदम है जो व्यक्तियों के साथ-साथ छोटे लोगों को भी सक्षम बनाएगा। और मध्यम आकार के व्यवसाय उन सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे जो उनकी वित्तीय आवश्यकताओं को निर्बाध तरीके से पूरा करने में मदद करेंगी। इसके साथ, ग्राहक अब एक ही विंडो पर अपने खातों के विवरण देखने, जमा राशि को ट्रैक करने, योजना निवेश (जैसे शेयर, म्यूचुअल फंड, बीमा, ईपीएफ, पीपीएफ), क्रेडिट कार्ड का लाभ उठाने आदि जैसे कई लाभ प्राप्त कर सकते हैं। जिससे उन्हें अपने वित्त से संबंधित जानकारीपूर्ण निर्णय लेने में सशक्त बनाया जा सके।

2027 तक भारत बनेगा दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में इंडो-पैसिफिक क्षेत्रीय वार्ता को संबोधित किया, जिसमें वैश्विक चुनौतियों के बीच भारत के उल्लेखनीय आर्थिक प्रक्षेप पथ पर प्रकाश डाला गया। वैश्विक अनिश्चितताओं के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था के लचीलेपन को रेखांकित करते हुए उन्होंने भविष्यवाणी की कि 2027 तक भारत जापान और जर्मनी को पीछे छोड़कर दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।

माउंट एटना

माउंट एटना, यूरोप का सबसे सक्रिय ज्वालामुखी और विश्व के सबसे बड़े ज्वालामुखियों में से एक है और इसमें फरवरी 2023 से निरंतर प्रस्फूटन हो रहा है, जिससे राख एवं लावा आसमान में फैल रहा है। माउंट एटना एक स्ट्रैटोवोलकानो है, जिसका अर्थ है कि यह लावा, राख और चट्टानों की परतों से बना है जो हज़ारों वर्षों के विस्फोटों से जमा हुए हैं। यह सिसिली के पूर्वी तट पर स्थित है, जो भूमध्य सागर में इटली का एक द्वीप है। माउंट एटना में 1500 ईसा पूर्व से लगभग लगातार विस्फोट हो रहा है, जिससे यह विश्व के सबसे सक्रिय ज्वालामुखियों में से एक बन गया है।

राष्ट्रीय एपिलेप्सी (मिर्गी) दिवस : 17 नवंबर

मस्तिष्क विकार के बारे में जागरूकता बढ़ाने और इस बीमारी से जुड़े मिथकों को तोड़ने के लिये भारत में प्रतिवर्ष 17 नवंबर को राष्ट्रीय एपिलेप्सी (मिर्गी) दिवस मनाया जाता है। एपिलेप्सी (मिर्गी) एक केंद्रीय तंत्रिका तंत्र संबंधी विकार है, इसमें मस्तिष्क की गतिविधि असामान्य हो जाती है, जिससे दौरे या असामान्य व्यवहार, संवेदनाएँ और कभी-कभी अभिज्ञता संबंधी हानि होती है। मस्तिष्क तंत्रिका कोशिका नेटवर्क के साथ व्यवस्थित विद्युत आवेग उत्पन्न करता है, लेकिन मिर्गी में यह संतुलन बाधित हो जाता है और इस प्रकार यह चेतना, गतिविधियों या संवेदनाओं को प्रभावित करता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, दुनिया भर में लगभग 50 मिलियन लोग एपिलेप्सी से ग्रसित हैं, और भारत में मिर्गी से पीड़ितों का हिस्सा लगभग 10-20% है। असामान्य मस्तिष्क गतिविधि के आधार पर मिर्गी के दौरों को मोटे तौर पर फोकल और सामान्यीकृत दौरों में वर्गीकृत किया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय छात्र दिवस : 17 नवंबर

हर वर्ष अंतरराष्ट्रीय छात्र दिवस 17 नवंबर में मनाया जाता है। इस दिन दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय छात्र दिवस के महत्व को समझाया जाता है। यह दिवस अंतरराष्ट्रीय छात्रों के सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में भी बताता है। यह दिन 1939 में प्राग में एक विश्वविद्यालय पर नाजी आक्रमण की सालगिरह के रूप में भी मनाया जाता है। इस आक्रमण के दौरान नाजियों ने लगभग एक हजार छात्रों को कैद कर लिया था। साथ ही विश्वविद्यालय को भी बंद कर दिया था औ कई अन्य को मार डाला और प्रताड़ित किया।

स्वतंत्रता सेनानी और कम्युनिस्ट नेता एन शंकरैया का 102 वर्ष की आयु में निधन

देश के सबसे बुजुर्ग कम्युनिस्ट नेताओं में से एक एन. शंकरैया का 102 वर्ष की आयु में चेन्नई के एक अस्पताल में निधन हो गया। उन्होंने अपना जीवन साम्यवाद के सिद्धांतों और न्यायपूर्ण समाज के संघर्ष के लिए समर्पित कर दिया था। मदुरै के अमेरिकन कॉलेज में इतिहास के छात्र, वह अपनी डिग्री पूरी नहीं कर सके क्योंकि उन्हें उनकी अंतिम परीक्षा से ठीक पहले गिरफ्तार कर लिया गया था। इस उद्देश्य के प्रति उनकी प्रतिबद्धता के कारण उन्हें स्वतंत्रता की पूर्व संध्या तक आठ वर्ष तक जेल में रहना पड़ा, जो इस बात पर जोर देता है कि उन्होंने देश की आजादी के लिए कितनी कीमत चुकाई। शंकरैया का कम्युनिस्ट आंदोलन से जुड़ाव 1940 में आरंभ हुआ और उन्होंने 1964 में सीपीआई-एम के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 1967, 1977 और 1980 में तीन बार राज्य विधानसभा के लिए चुने गए, उन्होंने 1995 से 2002 तक तमिलनाडु के सीपीआई-एम राज्य सचिव के रूप में भी कार्य किया। वह 2021 में एमके स्टालिन के नेतृत्व वाली डीएमके सरकार द्वारा स्थापित थगैसल तमिझार (प्रख्यात तमिल) पुरस्कार के पहले प्राप्तकर्ता थे।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2024 RajasthanGyan All Rights Reserved.