Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

13 May 2024

भारत ने वनों पर संयुक्त राष्ट्र फोरम (यूएनएफएफ) के 19वें सत्र में वन संरक्षण और टिकाऊ वन प्रबंधन पहल को रेखांकित किया

भारत ने 6 मई से 10 मई, 2024 तक न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र (यूएन) मुख्यालय में आयोजित वनों पर संयुक्त राष्ट्र फोरम (यूएनएफएफ) के 19वें सत्र में हिस्सा लिया। इस सत्र के दौरान भारत ने वन संरक्षण और टिकाऊ वन प्रबंधन में देश की महत्वपूर्ण प्रगति को रेखांकित किया। भारत ने बताया कि इसके कारण पिछले 15 वर्षों में वन क्षेत्र में लगातार बढ़ोतरी हुई है। वैश्विक स्तर पर भारत साल 2010 और 2020 के बीच औसत वार्षिक वन क्षेत्र में शुद्ध वृद्धि के मामले में तीसरे स्थान पर रहा है। भारत ने जैव विविधता और वन्यजीव संरक्षण को उच्च प्राथमिकता दी है। इसके कारण संरक्षित क्षेत्रों का नेटवर्क 1,000 से अधिक वन्यजीव अभयारण्यों, राष्ट्रीय उद्यानों, बाघ अभयारण्यों, बायोस्फीयर रिजर्व और अन्य वन्यजीव आवासों तक विस्तारित हुआ है। बाघ परियोजना (प्रोजेक्ट टाइगर) के 50 साल और हाथी परियोजना (प्रोजेक्ट एलिफेंट) के 30 साल पूरे होने पर हाल ही में आयोजित समारोह प्रजातियों के संरक्षण व उनके आवास संरक्षण को लेकर भारत की प्रतिबद्धता को रेखांकित करते हैं। इसके अलावा भारत ने अंतरराष्ट्रीय बिग कैट एलायंस के गठन को भी रेखांकित किया, जो सहयोगात्मक अंतरराष्ट्रीय प्रयासों के माध्यम से पूरे विश्व में सात बड़ी बिल्लियों की प्रजातियों की रक्षा व संरक्षण करने के उद्देश्य से एक और महत्वपूर्ण पहल है। इसके अलावा भारत ने 'ग्रीन क्रेडिट प्रोग्राम' की शुरुआत को भी साझा किया, जिसे वृक्षारोपण और खराब वन भूमि की बहाली के लिए संस्थाओं को प्रोत्साहित करने के लिए डिजाइन किया गया है। इसका उद्देश्य जलवायु कार्रवाई पहल को और अधिक मजबूत करना है। यूएनएफएफ- 19 का समापन वनों की कटाई और वन क्षरण व भूमि अपरदन को रोकने के लिए तत्काल और त्वरित कार्रवाई करने की घोषणा के साथ हुआ। इनमें वनों के लिए संयुक्त राष्ट्र रणनीतिक योजना के कार्यान्वयन और वैश्विक वन लक्ष्यों की उपलब्धि शामिल है। यूएनएफएफ- 19 में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व भारत सरकार के पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के विशेष सचिव और वन महानिदेशक श्री जितेंद्र कुमार ने किया।

भारत ने संयुक्त राष्ट्र ट्रस्ट फंड फॉर काउंटर टेररिज्म में पांच लाख डॉलर का योगदान दिया

आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए भारत ने संयुक्त राष्ट्र ट्रस्ट फंड फॉर काउंटर टेररिज्म (सीटीटीएफ) में पांच लाख डॉलर का योगदान दिया है।संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि राजदूत रुचिरा कंबोज ने सात मई को भारत आतंकवाद विरोधी संस्था के प्रयासों को बल देने के लिए संयुक्त राष्ट्र ट्रस्ट फंड फॉर काउंटर टेररिज्म में आधा मिलियन डॉलर का स्वैच्छिक योगदान संयुक्त राष्ट्र आतंकवाद निरोधक कार्यालय (यूएनओसीटी) के अवर महासचिव व्लादिमीर वोरोंकोव को सौंपा। 9/11 के हमलों के जवाब में, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने प्रासंगिक प्रस्तावों के कार्यान्वयन की निगरानी के लिए आतंकवाद विरोधी समिति (सीटीसी) की स्थापना की। समिति आतंकवाद-निरोध के विभिन्न पहलुओं को संबोधित करती है, जिसमें रणनीतियाँ, वित्तपोषण, सीमा सुरक्षा, कानून प्रवर्तन, मानवाधिकार और हिंसक उग्रवाद का मुकाबला शामिल है।

कलेसर वन्यजीव अभयारण्य के अंदर चार प्रस्तावित बांधों के निर्माण पर रोक

हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय ने हरियाणा के यमुनानगर ज़िले में कलेसर वन्यजीव अभयारण्य के अंदर चार प्रस्तावित बांधों के निर्माण पर रोक लगा दी क्योंकि निर्माण न केवल वन्यजीवों और स्थानीय समुदाय पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा बल्कि पारिस्थितिकी तंत्र को भी नुकसान पहुँचाएगा। इसकी स्थापना 1988 में स्थानीय वन्य जीव और जैव विविधता की रक्षा के लिये की गई थी और 8 दिसंबर 2003 को इसे राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था। यह हिमालय की शिवालिक पर्वतमाला की तलहटी में स्थित है और राजाजी राष्ट्रीय उद्यान (उत्तराखंड) और सिम्बलबारा राष्ट्रीय उद्यान (हिमाचल प्रदेश) से सटा हुआ है। यह 13,209 एकड़ में फैला हुआ है ,जैव विविधता से समृद्ध है, जिसमें घने साल एवं खैर के जंगल और घास के मैदान हैं जो विविध पौधों तथा जानवरों के जीवन का समर्थन करते हैं। यह जानवरों की कई प्रजातियों का घर है, जिनमें तेंदुए, सांभर हिरण, भौंकने वाले हिरण, लकड़बग्घा, सियार, भारतीय साही, भारतीय पैंगोलिन और लंगूर तथा पक्षियों की कई प्रजातियाँ शामिल हैं।

रेलटेल ने कवच कार्यान्वयन परियोजनाओं के लिए तकनीकी फर्म के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

हाल ही में भारतीय रेलवे ने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कवच प्रणाली को लागू करने में तेज़ी लाने के लिये रेलटेल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड एवं क्वाड्रेंट फ्यूचर टेक लिमिटेड के साथ एक समझौते को अंतिम रूप दे दिया है। कवच को तीन भारतीय संगठनों के सहयोग से अनुसंधान डिजाइन और मानक संगठन (RDSO) द्वारा विकसित किया गया था और यह टकराव-रोधी क्षमताओं के साथ कैब सिग्नलिंग ट्रेन नियंत्रण प्रणाली के रूप में कार्य करता है। इसे भारत की राष्ट्रीय स्वचालित ट्रेन सुरक्षा (ATP) प्रणाली के रूप में नामित किया गया है और यह सुरक्षा अखंडता स्तर -4 (SIL-4) मानकों को पूरा करता है। ATP सिस्टम वह सुरक्षा तंत्र है जो ट्रेन की गति की निगरानी करता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि यह सिग्नल द्वारा निर्धारित गति के साथ संरेखित हो। यदि ट्रेन इस गति सीमा से अधिक हो जाती है, तो ATP ट्रेन को रोकने के लिये आपातकालीन ब्रेक लगा देता है। इसके अतिरिक्त,यह सिस्टम आपातकालीन SOS संदेश प्रसारित करता है तथा नेटवर्क मॉनिटर सिस्टम के माध्यम से ट्रेन की गतिविधियों की केंद्रीकृत लाइव निगरानी प्रदान करता है। तेलंगाना के सिकंदराबाद में भारतीय रेलवे सिग्नल इंजीनियरिंग और दूरसंचार संस्थान (IRISET), कवच के लिये 'उत्कृष्टता केंद्र' के रूप में कार्य करता है।

जापान के राजदूत ने नागालैंड के मुख्यमंत्री के साथ कोहिमा शांति स्मारक और इको पार्क का उद्घाटन किया

नागालैंड में भारत में जापान के राजदूत हिरोशी सुजुकी और नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो ने संयुक्त रूप से कोहिमा शांति स्मारक का उद्घाटन किया और इको पार्क कोहिमा की आधारशिला रखी। कोहिमा शांति स्मारक और इको पार्क विशेष महत्व रखता है क्योंकि यह नागालैंड सरकार के साथ जापान सरकार और जापानी अंतर्राष्ट्रीय निगम एजेंसी के बीच सहयोगात्मक प्रयास का जश्न मनाता है। यह न केवल ऐतिहासिक महत्व का प्रतिनिधित्व करता है बल्कि शांति, मेल-मिलाप के प्रतीक के रूप में भी कार्य करता है और गहन शैक्षिक मूल्य रखता है। यह उल्लेख करते हुए कि इस वर्ष कोहिमा की लड़ाई की 80वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है, मुख्यमंत्री ने कहा, राज्य सरकार ने कई कार्यक्रमों की योजना बनाई है जिसमें यूके और यूएस जैसे संबंधित देशों सहित सभी क्षेत्रों की भागीदारी शामिल होगी। रियो ने उम्मीद जताई कि जापानी मित्र भी कार्यक्रमों का हिस्सा होंगे क्योंकि दोनों सामूहिक रूप से शांति और एकता का संचार करने के लिए काम करेंगे। श्री सुजुकी ने कोहिमा कैथेड्रल और नागा हेरिटेज विलेज, किसामा में द्वितीय विश्व युद्ध संग्रहालय का भी दौरा किया।

वित्त वर्ष 24 में भारत के नए बिजली उत्पादन में नवीकरणीय ऊर्जा का हिस्सा 71 प्रतिशत

हाल ही में ऊर्जा, पर्यावरण एवं जल परिषद और सेंटर फॉर एनर्जी फाइनेंस (CEEW-CEF) मार्केट हैंडबुक में पाया गया कि भारत की कुल स्थापित बिजली क्षमता में कोयले की हिस्सेदारी वर्ष 2023-24 की अवधि के दौरान इतिहास में पहली बार 50% से कम हो गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में जोड़ी गई 26 गीगावाट (GW) बिजली उत्पादन क्षमता में नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों का हिस्सा 71% है। भारत की कुल स्थापित बिजली क्षमता बढ़कर 442GW हो गई, जिसमें नवीकरणीय ऊर्जा का योगदान 144GW (33%) और हाइड्रो का योगदान 47 GW (11%) है। नवीकरणीय ऊर्जा में सौर ऊर्जा का हिस्सा 81% है, जिसमें पवन की क्षमता लगभग 3.3 गीगावॉट तक पहुँच गई है और परमाणु क्षमता में 1.4 गीगावॉट की वृद्धि हुई है। वित्तीय वर्ष 2024 में नवीकरणीय ऊर्जा की नीलामी रिकॉर्ड 41 गीगावॉट तक पहुँच गई, जिसमें पवन-सौर हाइब्रिड और RE-प्लस-स्टोरेज जैसे नवीन प्रारूप प्रमुखता प्राप्त कर रहे हैं। RE-प्लस-स्टोरेज नवीकरणीय ऊर्जा प्रणालियों को संदर्भित करता है, जैसे कि सौर या पवन ऊर्जा, जो आमतौर पर बैटरी के रूप में ऊर्जा भंडारण समाधानों के साथ संयुक्त होती है। भारत ने वर्ष 2022 में अपनी जलवायु परिवर्तन प्रतिबद्धताओं को अद्यतन किया, जिसका लक्ष्य वर्ष 2030 तक सकल घरेलू उत्पाद उत्सर्जन तीव्रता को वर्ष 2005 के स्तर से 45% कम करना और उसी वर्ष तक अपनी बिजली क्षमता का 50% गैर-जीवाश्म स्रोतों से प्राप्त करना है।

पर्वतारोही कामी रीता शेरपा ने तोड़ा अपना ही विश्व कीर्तिमान, माउंट एवरेस्ट पर 29वीं बार चढ़े

नेपाल के जाने माने पर्वतारोही कामी रीता शेरपा ने माउंट एवरेस्ट पर सर्वाधिक बार चढ़ने का अपना ही विश्व कीर्तिमान तोड़ दिया है। 54 वर्षीय यह पर्वतारोही रविवार सुबह आठ हजार आठ सौ 49 मीटर ऊंचे इस शिखर पर 29वीं बार पहुंचे। सेवन समिट ट्रैक्स द्वारा आयोजित इस पर्वतारोही अभियान में बीस पर्वतारोही शामिल थे।

एसबीआई जनरल ने जया त्रिपाठी को प्रमुख संबंध समूह का नेतृत्व करने के लिए नियुक्त किया

भारत की अग्रणी सामान्य बीमा कंपनियों में से एक, एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने जया त्रिपाठी को प्रमुख संबंध समूह के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की है। अपनी नई भूमिका में, त्रिपाठी नए व्यावसायिक अवसरों और साझेदारियों के विस्तार का नेतृत्व करेंगी, बिक्री टीम के विकास को बढ़ावा देंगी और लाभप्रदता बढ़ाने के लिए साझेदार संबंधों को गहरा करेंगी।

यस बैंक और ईबीएएनएक्स ने भारत में सीमा पार व्यापार को सशक्त बनाने के लिए रणनीतिक साझेदारी की घोषणा की

यस बैंक और ईबीएएनएक्स ने वैश्विक डिजिटल अर्थव्यवस्था के लिए भारत में भुगतान प्रसंस्करण के लिए एक रणनीतिक साझेदारी की घोषणा की। यह सहयोग डिजिटल भुगतान परिदृश्य में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर दर्शाता है, जिसका उद्देश्य सीमा पार भुगतान प्रसंस्करण को सुव्यवस्थित करना और भारत में वैश्विक व्यापारियों और भारतीय ग्राहकों के लिए वैश्विक वाणिज्य अवसरों को बढ़ाना है। यह साझेदारी यस बैंक की डिजिटल क्षमता के साथ-साथ ईबीएएनएक्स के व्यापक वैश्विक अनुभव और सीमा पार से भुगतान में दक्षता का लाभ उठाएगी, ताकि वैश्विक व्यापारियों को स्केलेबल भुगतान समाधानों के एक सेट तक निर्बाध पहुंच प्रदान की जा सके, जो एक अभिनव व्यापार वास्तुकला ढांचे के भीतर तैयार किया गया है और नवीनतम नियामक दिशानिर्देशों के साथ संरेखित है।

भारती एंटरप्राइजेज ने आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के शेयर 663 करोड़ रुपये में बेचे

सुनील भारती मित्तल की अगुवाई वाली भारती एंटरप्राइजेज ने खुले बाजार में लेनदेन के माध्यम से आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी के शेयर 663 करोड़ रुपये में बेच दिए। बीएसई पर थोक सौदों के बारे में उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, भारती एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने नौ अलग-अलग सौदों के जरिये आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के 38.50 लाख शेयर बेच दिए। यह बीमा कंपनी में 0.8 प्रतिशत हिस्सेदारी के बराबर है।

थॉमस कुक इंडिया ने TCPay लॉन्च किया

थॉमस कुक इंडिया ने प्रेषण प्रक्रिया को सरल और बढ़ाने के लिए डिज़ाइन की गई उपयोगकर्ता के अनुकूल डिजिटल सेवा TCPay के लॉन्च के साथ अंतर्राष्ट्रीय धन हस्तांतरण में क्रांति ला दी है। पारंपरिक रूप से, विदेशों में पैसे भेजना थकाने वाली पेपरवर्क और सीमित कार्यकाल के साथ जुड़ा होता था। TCPay के साथ, ग्राहक अब 24×7 रेमिटेंस का आनंद आसानी और कुशलता के साथ कर सकते हैं। TCPay थॉमस कुक के डिजिटल प्लेटफार्म्स पर एक सरल और सहज डिजिटल इंटरफेस प्रदान करता है, जिसमें FXNOW (B2C ऐप), पोर्टल, और सहायता के लिए कॉल सेंटर शामिल हैं। यह ग्राहकों के लिए बिना किसी परेशानी के अनुभव सुनिश्चित करता है।

बैटिलिप्स चंद्रायणी

कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के शोधकर्त्ताओं ने चंद्रयान-3 चंद्रमा मिशन के सम्मान में तमिलनाडुके दक्षिण-पूर्वी तट से नई खोजी गई समुद्री टार्डिग्रेड प्रजाति का नाम बैटिलिप्स चंद्रायणी (Batillipes Chandrayaani) रखा है। यह तमिलनाडु के मंडपम में उच्च और निम्न ज्वार के निशानों के बीच रेतीले क्षेत्र में पाया गया था। यह टार्डिग्रेड 39वें प्रकार का टार्डिग्रेड है जिसे बैटिलिप्स नाम से वर्गीकृत किया गया है। इसका एक सिर है जो एक समलंबाकार जैसा दिखता है और चीज़ों को महसूस करने के लिये नुकीली रीढ़ वाली चार जोड़ी टाँगें हैं।

मातृ दिवस : 12 मई 2024

12 मई 2024 को दुनिया भर में मातृ दिवस मनाया गया।। यह दिवस प्रत्येक वर्ष मई महीने के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। इस दिन सभी आयु वर्ग के लोग फूल, कार्ड, चॉकलेट या उपहार देकर माताओं के प्रति अपना प्यार और सम्मान व्यक्त करते हैं और ईश्‍वर के प्रति आभार व्‍यक्‍त करते हैं।

विश्व प्रवासी पक्षी दिवस 2024

विश्व प्रवासी पक्षी दिवस (WMBD) एक वार्षिक वैश्विक अभियान है जिसका उद्देश्य प्रवासी पक्षियों और उनके आवासों के संरक्षण के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। इस वर्ष, WMBD दो तिथियों पर मनाया जाएगा: शनिवार, 11 मई 2024 और शनिवार, 12 अक्टूबर 2024, विभिन्न गोलार्द्धों में पक्षी प्रवास के चक्रीय पैटर्न के साथ संरेखित करने के लिए। विश्व प्रवासी पक्षी दिवस 2024 का थीम “इंसेक्ट्स” है। WMBD विभिन्न क्षेत्रों में अलग-अलग प्रवासन पैटर्न को समायोजित करने के लिए मई और अक्टूबर में दूसरे शनिवार को प्रतिवर्ष मनाया जाता है। प्रत्येक वर्ष, प्रवासी पक्षियों और उनके आवासों की रक्षा की आवश्यकता पर जोर देने के लिए एक नया थीम चुना जाता है।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2024 RajasthanGyan All Rights Reserved.